ताज़ा खबर

कार्ति चिदंबरम का जीवन परिचय एवं विवाद | Karti Chidambaram Biography in Hind

कार्ति चिदंबरम का जीवन परिचय एवं विवाद  | Karti Chidambaram Case Details (INX Media) in Hindi

पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति पी. चिदंबरम को 28 फरवरी को ही चेन्नई हवाई अड्डे पर सीबीआई द्वारा पकड़ लिया गया है, सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक ये घोटाला कांग्रेस सरकार के समय में किया गया था. सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में पाया है कि इस घोटाले की राशि लगभग 305 करोड़ रूपय है.

कार्ति चिदंबरम

इस घोटाले में एफआईपीबी (फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड) की मंजूरी पाने के लिए कार्ति पी. चिदंबरम ने नियमों का उलंघन किया था, उसी समय इनके पिता भारत के वित्तमंत्री थे. इतना ही नहीं कार्ति पर आरोप हैं की इन्होंने अपने पिता के पद का गलत फायदा उठाकर इस घोटाले को अंजाम दिया था.

सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक कार्ति चिदंबरम की कंपनी का नाम आई.एन.एक्स मीडिया है जिसके लिए 305 करोड़ रुपय की मंजूरी मिली थी. जिसमें पी. चिदंबरम ने अपने पद का गलत इस्तेमाल किया था.

कौन है कार्ति चिदंबरम (Who is Karti Chidambaram)

कार्ति पी. चिदंबरम भारत की जानी मानी पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अच्छे सदस्य के रूप में कार्य करते रहे हैं, इनके बारें में कहा जाता है कि इन्होंने राजनीति काफी पहले से ही शुरू कर दी थी.  राजनीति के अलावा कार्ति एक अच्छे व्यापारी भी हैं, इतना ही नहीं ये कानून यानी कि वकालत की भी पढ़ाई कर रखी है और वकालत भी करते हैं. कांग्रेस के साथ कई वर्षों से जुड़े होने के बावजूद इनको असली पहचान तब मिली, जब इनको लोकसभा में सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया. इनको लोकसभा का सक्रिय सदस्य बनने का ये अवसर 2014 में शिवगंगा निर्वाचन क्षेत्र से मिला था.

कार्ति चिदंबरम ने अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए ए.एस.सी.(एडवांटेज स्ट्रैटिजिक कंसल्टेंसी), वसन हेल्थ केयर ग्रुप, एयरसेल कंपनी एवं अन्य कंपनियों में भी निवेश किया था. इनको राजनीतिक मामलों की अपेक्षा व्यापारिक क्षेत्र में अधिक जाना जाता है.

कार्ति चिदंबरम के ऊपर अपने शहर की कंपनियों को गैर कानूनी तरीके से मदद करने के आरोप भी लगाए गए हैं. इतना ही नहीं टैक्स की चोरी करवाने के मामले में भी कई बार इनका नाम सामने आया है, जिसमें इन्होंने अपने राजनीतिक पद का गलत तरीके से इस्तेमाल किया है. सूत्रों के अनुसार कार्ति चिदंबरम ने ना जाने कितनी कंपनियों की असंवैधानिक तरीके से आर्थिक एवं कानूनी मदद की है.

कार्ति चिदंबरम का जन्म, शिक्षा एवं परिवार  (Karti Chidambaram birth, education and family)

अपने 46 साल पूरे कर चुके कार्ति चिदंबरम का जन्म शिवगंगा तमिलनाडु राज्य में हुआ था, इनके जन्म दिन की तारीख 16 नवंबर सन् 1971 है. शिवगंगा तमिलनाडु से ही कार्ति ने अपने राजनैतिक सफर की भी शुरुआत की थी.

शिक्षा

इन्होंने अपनी निम्न स्तर की शिक्षा तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई से डॉन बोस्को स्कूल से की थी. इसके बाद कार्ति चिदंबरम ने टैक्सेज यूनिवर्सिटी ऑस्टिन से सन् 1993 में बी.बी.ए. किया एवं यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज से सन् 1995 में कानून की पढ़ाई की थी.

कार्ति चिदंबरम का परिवार

ब्राह्मण परिवार में जन्म लेने वाले कार्ति चिदंबरम के पिता का नाम पी. चिदंबरम है. कार्ति चिदंबरम की माता का नाम नलिनी चिदंबरम है. इनकी पत्नी श्रीनिधि हैं एवं इन दोनों को एक बेटी भी है जिसका नाम अदिति नलिनी चिदंबरम है.

कार्ति चिदंबरम के द्वारा किए गए घोटाले की पूरी जानकारी  (Karti Chidambaram scam full information)

  • इससे पहले सन् 2012 में ए.एस.सी. कंपनी के साथ मिलकर गैर-कानूनी तरीके से पैसों का लेनदेन किया था. जिस वजह से पहली बार कार्ति चिदंबरम पर पहली बार अपने पद का गलत इस्तेमाल करने के आरोप लगाए गए थे.
  • इनकी छवि खराब होती गई और सन् 2014 में कार्ति चिदंबरम ने अपनी पार्टी तमिलनाडु कांग्रेस की निजी जानकारी लीक कर दी थी. जिसके चलते इनके खिलाफ कांग्रेस ने कार्यवाही करते हुए इन्हें पार्टी से निकाल दिया था.
  • कार्ति ने वसन हेल्थ केयर ग्रुप की फॉरिन इंवेस्टमेंट पालिसी के लिए गैर कानूनी तरीके से आर्थिक मदद की थी, इसके लिए इन्होंने सेकोईअ कैपिटल इंडिया को दिया जाने वाला पैसा वसन हेल्थ केयर ग्रुप को दिलवा दिया था.
  • साल 2015 में एक बार फिर ईडी (एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट) यानी प्रवर्तन निदेशालय ने इनको एक और कपंनी की कानून तोड़कर मदद करने के लिए कानूनी नोटिस दी थी. जिस कंपनी की मदद कार्ति द्वारा की गई थी उसका नाम एयरसेल मैक्सिस है.
  • साल 2015 के अंत में फिर से ईडी एवं आईटी विभाग ने कार्ति चिदंबरम  पर एयरसेल के साथ मिलकर पैसों के लेनदेन में फेरबदल करने का आरोप लगाया था. उसके बाद कार्ति चिदंबरम के खिलाफ कानून से खिलवाड़ करने एवं पैसों के लेनदेन में गड़बड़ी करने पर ईडी एवं आईटी विभाग ने केस कर दिया था. इससे पहले भी इंडियन एक्सप्रेस ने भी चिदंबरम के खिलाफ स्पॉइलिंग इटरनेशनल से रिश्वत लेकर राजनैतिक रूप से मदद करवाने का आरोप लगा था.
  • सन् 2016 में पायनियर कंपनी की सहायता एवं सम्बन्ध को लेकर कार्ति चिदंबरम पर केस किया गया था, जो कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हेराफेरी में मदद करने मामला था. इसके आलावा टैक्स चोरी करने एवं हैवन देशों में पैसे निवेश करने के आरोप भी लगाए गए थे.
  • 16 मई 2017 को भारत की प्रमुख जांच एजेंसी सीबीआई ने भी इन पर भृष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए केस किया था, जिसकी जांच लगातार की जा रही थी.
  • अभी हाल में 28 फरवरी 2018 को यूनाइटेड किंगडम से लौटते समय चेन्नई एयरपोर्ट पर सीबीआई ने कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया, क्योंकि इनके ऊपर 305 करोड़ रुपय फॉरिन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट के जरिए घोटाला करने के आरोप हैं.

कार्ति चिदंबरम की पूरी कमाई (Kirti Chidambarm net worth)

सन् 2014 में कार्ति चिदंबरम के पास 59 करोड़ की संपत्ति होने का दावा किया गया था. लेकिन ये शत प्रतिशत सच है इसका दावा नहीं किया जा सकता है.

Other Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *