ताज़ा खबर

मेहुल चौकसी का जीवन परिचय | Mehul Choksi Fraud and Biography in Hindi

मेहुल चौकसी का जीवन परिचय (Mehul Choksi,  Fraud and Biography in Hindi)

देश के अब तक के सबसे बड़े बैंक घोटाले में से एक, पंजाब नेशनल बैंक जालसाजी के केस में 2 जो नाम उभरकर सामने आए हैं,वो है नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के नाम . मेहुल चौकसी नीरव मोदी के मामा है .इस मामले में मोदी के साथ वो भी गायब हैं,जिनकी तलाश की जा रही हैं,और इनसे सम्बन्धित सभी जगहों पर छापे डाले जा रहे है. इन पर पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ घोटाले का आरोप है,ये गीतांजलि जेम्स के मैनेजिंग डायरेक्टर है. पंजाब नेशनल बैंक द्वारा 2 एफआईआर लिखवाने  के  कारण प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने भी इनके खिलाफ केस लगाया है.

मेहुल चौकसी

मेहुल चौकसी और बैंक घोटाला (Mehul Choksi PNB Bank Scam)

ED का कहना है कि मोदी और चौकसी, दोनों को मनी लांड्री एक्ट के तहत समन दिया गया,और एक सप्ताह के भीतर पैसा लौटाने को कहा गया हैं.दोनों के देश में ना होने की स्थिति में इनकी फर्म को नोटिस भेजा गया है. ED ने अब तक मोदी और चौकसी के कई शोरूम्स, वर्कशॉप,ऑफिस और घर पर छापा मारकर लगभग 5100 करोड़ तक के हीरे,गहने और सोना एकत्रित किये है.

ED ने कहा हैं कि देश छोड़ने से पहले मोदी और चौकसी दोनों ने अपने कंपनी डायरेक्टर्स,परिवार के सदस्यों को रत्न और आभुषण को छुपाकर रखने को कहा था क्यूंकि उन्हें यह डर था कि जांच एजेंसियां इन जगहों पर छापे मारकर अपनी राशि को वापिस लेने का प्रयास करेगी. ED ने अभी तक 11 शहरों में 45 जगहों बैंगलोर,दिल्ली,अहमदाबाद,चंडीगढ़,कोलकाता,पटना,लखनऊ,मुंबई,चेन्नई,हैदराबाद और गुवाहटी शामिल है, पर छापे मारे हैं.

Mehul Choksi Biography In Hindi

मेहुल चौकसी के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी :

पूरा नाम मेहुल चौकसी
व्यवसाय हीरा व्यापारी
कंपनी का नाम गीतांजलि जेम्स
जन्म तारीक 5 मई 1960
पिता का नाम चिनूभाई चौकसी
पत्नी का नाम ज्ञात नहीं है
संतान 3
बेटे का नाम राहुल
ब्रांड का नाम “गिलि”
फ्रॉड नीरव मोदी के साथ पंजाब नेशनल बैंक स्कैम में शामिल
फ्रॉड की राशि 11,400 करोड़

कौन है मेहुल चौकसी ?(Who Is Mehul Choksi)

चौकसी भारत के मशहूर हीरा व्यापारी है जो कि “गीतांजली जेम्स लिमिटेड”  नाम की कंपनी के मालिक है,यह कंपनी हीरे जवाहरातों से बने उत्पादों को देश के बाहर भी निर्यात करती है जिनमे इटली,चाइना,जापान,थाईलैंड,हांगकांग जैसे नाम प्रमुख हैं. हीरे और गहनों के लिए गीतांजलि के कई ब्रांड्स जैसे गिली,नक्षत्र,अस्मि,माया,दिया,संगिनी इत्यादि भी है .

मेहुल चौकसी का परिवार (Mehul Choksi Family)

चौकसी का जन्म गुजरात के व्यापारी चिनुभाई चौकसी के यहाँ 5 मई 1960 को हुआ था, चौकसी जैन परिवार से आते है.चौकसी की लम्बाई 5 फुट 5 इंच और वजन लगभग 120किलो है,उनकी आँखे गहरे भूरी रंग की जबकि बाल काले है. चौकसी के 3 बच्चे है जिनमे 1 का नाम राहुल है और बाकि 2 बेटियां है जिनमे एक का नाम प्रियंका है. चौकसी को मेहुल भाई कहकर भी बुलाते है. मेहुल ने गुजरात के पालमपुर के जी.डी मोदी कॉलेज से पढाई की, फिर मुंबई यूनिवर्सिटी से पढाई को बीच में छोडकर अपने पिताजी के बिजनेस से बिजनेस सीखना शुरू कर दिया.

मेहुल का व्यापारिक करियर (Mehul’s Business Carrier)

चौकसी ने अपने पिता के साथ कारोबार में हाथ बताना शुरु किया जिसे उन्होंने साल 1960 में शुरू किया था. जिसके 26 साल बाद 1986 में चौकसी ने गीतांजलि जेम्स लांच किया, जो कि थोड़े समय में ही रफ़ और पॉलिश हीरे और जवाहरात को एक्सपोर्ट करने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनियों में शामिल हो गई. 90 के दशक की शुरुआत में मोदी में गहनों के व्यापार में रिटेल की सम्भावना को समझा,और गीतांजली ने 1994 में अपना ज्वैलरी ब्रांड “गिली” लांच किया. इसके मार्जिन्स ज्यादा थे और चौकसी के ब्रांड को मैनेजमेंट गुरु और बॉलीवुड की सेलिब्रिटी की मदद से आगे ले जाया गया,इसके बाद तो अगले दशक तक गीतांजलि  ने अपना व्यापार देश-विदेश तक फैला लिया था.

मेहुल की महत्वाकांक्षा और विवाद (Mehul’s Ambitions And Controversy)

अपने युवावस्था से ही मेहुल ज्वेलेरी की दुनिया में सबसे बड़े व्यपारी बनना चाहते थे. कुछ बॉलीवुड की सेलिब्रिटी जैसे कटरीना कैफ,ऐश्वर्या राय बच्चन जैसे बड़े नामों ने भी मेहुल के ज्वेलेरी का  विज्ञापन किया है. 2011 में मेहुल ने नई दिल्ली के एशिया पसिफ़िक एंटरप्रेन्युरशिप (Pacific Entrepreneurship) में अवार्ड भी जीता था.

मेहुल इससे पहले भी विवाद का हिस्सा तब बने थे जब गीतांजली के पूर्व डायरेक्टर संतोष श्रीवास्तव और अन्य फ्रैंचाइज़ी होल्डर ने कहा था कि मेहुल द्वारा बेचे गए ज्यादातर डायमंड अपनी सेलिंग प्राइस के मुकाबले ख़राब गुणवत्ता के साथ लैब में बनाए गए हैं.

फरवरी 2018 में पंजाब नेशनल बैंक ने मेहुल और उनके भांजे नीरव मोदी के खिलाफ 11400 करोड़ की धोखाधड़ी  का case दर्ज किया. बैंक ने ये भी कहा कि उन्होंने बैंक गारंटी या लेटर ऑफ़ अंडरटेकिंग (LoU) का गलत इस्तेमाल किया है.

Other Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *