ताज़ा खबर

3 साल मोदी सरकार की जानकारी | 3 Year Modi Government information in hindi

3 Saal Modi Sarkar (3 years modi government) information in hindi यदि हम मोदी सरकार के मैदान मे आने के पहले चुनाव प्रचार का समय याद करे, तो उस समय सबकी जुबान पर एक ही नारा था कि ‘अच्छे दिन आने वाले है’. इन्ही अच्छे दिनो की चाह मे जनता ने अपने लीडर के रूप मे मोदी जी को चुना और उन्हे मौका दिया, कि वे अपने अच्छे दिन लाने के सपने को पूरा कर पाये. अब मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल के 3 साल पूर्ण कर लिए हैं.

2 saal modi sarkar

3 साल मोदी सरकार की जानकारी

3 Year Modi Government information in hindi

अब वक़्त है आकलन का कि क्या सच मे हमारा अच्छे दिनो का सपना पूर्ण होगा या यह सपना सिर्फ सपना बनकर रह जाएगा. अपने इस आकलन मे हम यह देखते है कि हमने क्या पाया मोदी सरकार अपने किए वादो पर कितना खरा उतरी और आगे उसके क्या प्रयास है. इस आकलन मे सबसे पहले उन योजनाओ को शामिल करते है, जिसे मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल मे लागू करने मे सफल रही.

मोदी सरकार के द्वारा लागू की गयी योजनाए और अहम फैसले  (Modi sarkar yojana and decisions):

इन अलग अलग योजनाओ को हमने अलग अलग वर्गो मे विभाजित किया है :

  • बालिकाओ के लिए 
सुकन्या स्मृध्दि योजना   देश मे बालिकाओ के हित को देखते हुये ये योजना लागू की गयी थी, जिसके अंतर्गत बालिकाओ के नाम से खाते खोले गए. इस खाते पर 9.2% दर पर चक्रवर्ती ब्याज की घोषणा की गयी और इसे टैक्स मुक्त भी रखा गया.
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना   इस योजना की घोषणा प्रधान मंत्री जी ने पानीपत हरियाणा मे की थी. जिसके मुख्य दो उद्देश्य कन्या भ्रूण ह्त्या को रोकना और बेटियो की सुरक्षा था .
  • गरीबो और अल्पसंख्यकों के लिए
राष्ट्रीय स्वास्थ बीमा योजना   इस योजना के अंतर्गत गरीबो का मेडिकल इनशयोरेंस किया गया, इसका लाभ कर्मचारी वर्ग के अनेक लोग ले सकते है .
प्रधान मंत्री आवास योजना   इस योजना के अंतर्गत अगले 7 वर्षो मे भारत मे हर एक परिवार को अपना घर प्रदान करने का उद्देश्य रखा गया है.
अल्प संख्यक नयी मंजिल योजना   अल्प संख्यक छात्रो के शिक्षा के मार्ग मे आने वाली रुकावटो को दूर करने के उद्देश्य से यह योजना का आगाज किया गया. इस योजना मे ऐसे प्रयास किए गए, जिससे की छात्रो को कॉलेज की पढ़ाई के लिए भटकना ना पड़े और शीघ्र दाखीला मिल जाए.
जन ओषधि योजना   इस योजना के अंतर्गत आम इंसान को कम कीमत पर अच्छी दवाई उपलब्ध करने की पहल की गयी है.
पढ़ो परदेश स्कीम   यह स्कीम भी अल्प संख्यकों के लिए शुरू की गयी, इसके अंतर्गत विदेश मे अध्यन की इच्छा रखने वाले छात्रो को ऋण की ब्याज सबसिडी दी जाएगी.
प्रधान मंत्री उज्जवल योजना   इस योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा के अंतर्गत आने वाले परिवारों को फ्री एलपीजी कनैक्शन दिये जाएंगे.
  • शिक्षा संबंधित योजनाए
इबस्ता पोर्टल   यह भी डिजिटल इंडिया से जुड़ा हुआ एक प्रोजेक्ट है इस पोर्टल के जरिये छोटे शहरों और ग्राम वासियो को मदत मिलेगी उन्हे हर जानकारी इसके जरिये आसानी से मिल जाएगी परंतु इसके लिए सबसे पहले शिक्षा के क्षेत्र मे डिजिटल होना आवश्यक है.
विद्या लक्षमी पोर्टल   इस योजना के अंतर्गत छात्रो को लोन, ऋण से संबन्धित जानकारी इस पोर्टल के जरिये आसानी से मिल सकती है.
  • वृद्धो के लिए
अटल पेंशन योजना   वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट 2015 मे इस योजना की घोषणा की जिसका मुख्य उद्देश्य आम आदमी को बुढ़ापे मे कुछ राशी उसकी मदत के लिए प्रदान करना है.
प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना   जनता के भविष्य को ध्यान मे रखते हुये इस योजना को क्रियान्वयन मे लाया गया. इसके अंतर्गत कम प्रीमियम पर बीमा पॉलिसी उपलब्ध कराई गयी.
प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना   यह एक तरह की जीवन बीमा पॉलिसी है जिसके अंतर्गत किसी भी कारण से पॉलिसी धारक की मृत्यु होने पर बीमा राशी मिलने का प्रावधान है.
  • अर्थ व्यवस्था और नए उद्योगो और युवा शक्ति संबंधित योजनाए
प्रधान मंत्री मुद्रा बैंक योजना   छोटे व्यापारियो की मदत के उद्देश्य से इस योजना का आगाज किया गया. इस योजना के अंतर्गत 20 करोड़ के फ़ंड और 3 हजार करोड़ की वित्तीय मदत की घोषणा की गयी.
प्रधान मंत्री जनधन योजना   15 अगस्त 2014 के दिन प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की जिसके नियमानुसार प्रत्येक परिवार को अपना बैंक मे अकाउंट बनाना था जिसमे उन्हे 1 लाख रूपय की बीमा राशि और क्रेडिट कार्ड प्रदान किए गए.
गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम   इस स्कीम मे आपके पास रखे हुये सोने को बैंक मे रखने के एवज मे बैंक आपको ब्याज देगी तथा यह मिलने वाला ब्याज बिना किसी टैक्स के होगा.
गोल्ड बोंड स्कीम   इस स्कीम के अंतर्गत 5 ग्राम, 10 ग्राम 50 ग्राम और 100 ग्राम सोने के बोंड दिये जाएंगे. इसमे ग्राहक एक साल मे 100 ग्राम सोने के बोंड खरीद सकता है. इसके बदले ग्राहक को ब्याज दिया जाएगा.
प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना   यह योजना राष्ट्रीय कौशल विकास के उद्देश्य को लेकर लायी गयी एक योजना है. इसके अंतर्गत देश के युवा वर्ग को संगठित करके उनके कौशल को निखारकर उन्हे रोजगार प्रदान करना मुख्य उद्देश्य है.
प्रधान मंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना   इस योजना को खनिज क्षेत्र से जुड़े लोगो के कल्याण के लिए शुरू किया गया इस योजना के लिए फ़ंड जिला खनिज मूलधार से लिया जाएगा.
स्टार्ट अप इंडिया स्टेंड अप इंडिया   इसके अंतर्गत छोटे बड़े उद्योगों को शुरू करने के लिए सरकार द्वारा प्रोत्साहन दिया जाएगा . इसमे लोन सुविधा, मार्गदर्शन और अनुकूल वातावरण को शामिल किया गया है.
  • अन्य योजनाए (Modi Government other yojana and decisions)

डिजिटल लॉकर   डिजिटल लॉकर डिजिटल इंडिया की और पहला कदम था परंतु इसके लिए भी व्यक्ति के पास आधार कार्ड होना जरूरी है और इसके लिए व्यक्ति को थोड़ा बहुत टेक्नालॉजी का ज्ञान भी आवश्यक है.
स्वच्छ भारत अभियान   2 अक्टूबर 2014 को इस अभियान की शुरवात की गयी और इसमे सबसे पहले गंगा के तट को साफ किया गया और सन 2019 तक पूरे भारत को स्वच्छ बनाने की बात काही गयी.
स्मार्ट सिटि योजना   इस योजना के अंतर्गत पूरे भारत मे 100 शहरो को स्मार्ट सिटि बनाने की योजना है और जिसमे हर राज्य से कम से कम एक शहर शामिल किया गया है.
न्यू पेंशन स्कीम   इस योजना का मुख्य उद्देश्य वृद्धा अवस्था मे आर्थिक सहायता प्रदान करना है ताकि वृध्दा अवस्था मे व्यक्ति को जीवन यापन के लिए कुछ राशी मिल सके.
रक्षा बंधन योजना   इस योजना की शुरवात रक्षा बंधन के अवसर पर भाइयो को बहनो के प्रति कर्तव्य निष्ठ बनाने और बचत के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से की गयी थी. इसमे बहुत कम राशी 5000 रूपय पर एफ़डी प्रदान की गयी और इस पर जीवन बीमा पॉलिसी और दुर्घटना बीमा पॉलिसी देने की घोषणा की गयी.
डिजिटल इंडिया   इस व्यवस्था का मुख्य उद्देश्य ग्राम पंचायत को इंटरनेट के जरिये जोड़ा जाना है ताकि अर्थ व्यवस्था मे सुधार किया जा सके.
वन रेंक वन पेंशन स्कीम   यह सैन्य कर्मियों के लिए लायी गयी योजना है परंतु इस योजना का लाभ वीआरएस पूर्व रिटायरमेंट लेने वाले व्यक्ति नहीं ले पाएंगे .
फसल बीमा योजना   इस योजना का मुख्य उद्देश्य मौसम की मार से प्रभावित किसानो को लाभान्वित करना है. इसके जरिये करीब 13 करोड किसानो को खेती के लिए, लिए गए लोन मे राहत दी गयी.
एक भारत श्रेष्ठ भारत   इस योजना के अंतर्गत अलग अलग राज्य एक दूसरे की भाषा और सभ्यता का प्रचार करेंगे ताकि इनमे आपसी मतभेद को भूलकर एकता का भाव आ सके.
रियल स्टेट बिल   इस योजना के अंतर्गत आम आदमी को अपने घर के लिए बिल्डरों के द्वारा धोके का शिकार होने से बचाने के लिए कई कानून लागू किए गए तथा उसे कई अधिकार भी दिये गए.

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए कुछ अलग प्रयास  (Modi sarkar development, efforts and Achivements ):

  • अपने कार्यकाल मे अभी तक एक भी दिन की छुट्टी लिए बिना नरेंद्र मोदी जी ने एक अपने कार्य को पूर्ण लगन के साथ करने का प्रयास किया है, इसके चलते हुये उन्होने कई विदेश यात्राए की.
  • प्रधान मंत्री द्वारा नरेंद्र मोदी एप लॉंच किया गया :

अपने कार्य कल मे सबसे अच्छा और अलग काम मोदी जी ने अपना एप लॉंच करके किया है. इस एप के जरिये उनकी हर दिन की एक्टिविटी को इस एप मे अपडेट किया जाता है और इससे जुड़े लोग अपने प्रधान मंत्री द्वारा मैसेज और मेल प्राप्त करते है. इसे आप अपने मोबाइल के प्ले स्टोर मे जाकर डौंलोड़ कर सकते है.

  • स्वच्छ भारत की सफल शुरवात : स्वच्छता अभियान के चलते आजकल इंडिया मे कई जगह परिवर्तन हुये है. सबसे पहले देखे तो धार्मिक स्थल बनारस मे गंगा के घाट की स्थिति पहले से कई गुना सुधर गयी है और रेल्वे स्टेशन और सार्वजनिक स्थल भी अब पहले से ज्यादा साफ रहने लगे है, अगर सब कुछ इसी तरह प्रगति पर रहा और जनता का साथ रहा तो सही मे सं 2019 तक स्वच्छ भारत का सपना साकार होगा.
  • सयुक्त बैठक को संबोधित करने का मौका मिला : नरेंद्र मोदी संयुक्त बैठक को संबोधित करने वाले इंडिया के पांचवे प्रधान मंत्री है. जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्य मंत्री थे, उस समय उनकी अमेरिकी नीति को देखते हुये उन्हे यह आमत्रण दिया गया.
  • भीम एप्प लोंच किया : अपने तीसरे साल के कार्यकाल में मोदी जी ने भीम राव आंबेडकर जी के नाम पर भीम एप्प लोंच किया जोकि एक डिजिटल भुगतान एप्प है.

इतने सारे प्रयासो के बाद भी कई ऐसे वादे शेष है, जो जनता चाहती है कि उनके प्रधान मंत्री पूरा करे. इसमे सबसे अहम मुद्दा है, विदेशो से काला धन वापस लाने का हालाकी इस दिशा मे कई कदम उठाए गए है, परंतु अब भी फैसला आना बाकी है.

दूसरी परेशान करने वाली बात यह है कि अब जबकि आरक्षण को कम या खतम करने का वक़्त है, ऐसे समय मे गुजरात सरकार द्वारा पटीदारों को पुनः आरक्षण देने के लिए राजी होना. हमारे प्रधान मंत्री से यही विनती है कि वे अपने कार्यकाल मे आरक्षण संबंधित अहम फैसले ले ताकि जो लोग योग्य है, उन्हे उनका उचित स्थान शिक्षण संस्थानो और नौकरी मे मिले.

मोदी जी का प्रधानमंत्री बनने की तीसरी वर्षगांठ पर किये कार्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने आज भारत के सबसे बड़े पुल का उद्घाटन किया, जोकि असाम में ब्रम्हपुत्र नदी के ऊपर 9.15 किमी लम्बा ढोला – साडीया पुल है. प्रधानमंत्री के रूप में उनकी शपथ ग्रहण की तीसरी वर्षगांठ पर यह उनकी पहली सहभागी थी. यह पुल असाम और अरुणाचल प्रदेश के बीच कनेक्टिविटी बढ़ाएगा, और यात्रा के समय को कम कर सकता है. साथ ही यह पुल बड़े पैमाने पर आर्थिक विकास के लिए दरवाजा खोल सकता है. पुल का उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्री जी ने कुछ मिनट तक यात्रा की और पुल पर पैदल चले. इसके बाद एक सार्वजानिक बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि – पुल का उद्घाटन इस क्षेत्र के लोगों की लंबी प्रतीक्षा के अंत की ओर संकेत करता है. उन्होंने कहा कि – विकास के लिए बुनियादी ढांचा बेहद जरुरी है, और केंद्र सरकार का प्रयास लोगों के सपनों और इच्छाओं को पूरा करना है.

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी जी ने आज असाम में गोगामुख में भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान की आधारशिला रखी. इस अवसर पर एक बड़ी सार्वजानिक बैठक को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री ने असाम में राज्य सरकार और मुख्यमंत्री साराबानन्द सोनोवल को राज्य में उनके द्वारा किये गए कार्य के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा कि आईएआरआई की आधार शिला आज रखी गई, जिसमे भविष्य में सकारात्मक वातावरण में पूरे क्षेत्र को प्रभावित करने की क्षमता थी. उनका कहना था कि कृषि को 21वीं सदी आवश्यकताओं के अनुरूप विकसित करने की जरुरत है. किसानों को बदलती हुई तकनीक से लाभ होगा. उन्होंने क्षेत्र के विशिष्ट जरूरतों को ध्यान में रखते हुए आधुनिक कृषि और तकनीकी हस्तक्षेपों की आवश्यकता पर बल दिया. प्रधानमंत्री जी ने 2022 को आजादी की 75 वीं वर्षगांठ पर किसानों की आय दोगुना करने की बात की है.

मोदी सरकार के 2016-17 में किये गए मुख्य कार्य 

  • जीएसटी में सुधार की छवि है : संसद के अंतिम सत्र में लोगों की धारणा को बदल दिया है, जैसे सत्ताधारी पार्टी ने विपक्ष को संभाला है. मॉल और नौकरों के टैक्स बिल का मार्ग, जिसके दौरान सरकार को देखा गया था, सार्वजनिक धरना में विपक्षी दलों और राज्य सरकारों की चिंताओं को दूर करते हुए, अच्छी तरह से प्राप्त हुआ है.
  • कीमत में कमी लेकिन रहने की लागत में वृद्धी : मुद्रास्फीति के आंकड़े सरकार के लिए अपनी पीठ थपथपाने का अवसर देने के लिए पर्याप्त अनुकूल है, लेकिन लोग एक ही भावना को साँझा नहीं कर सकते. लगभग 66 प्रतिशत लोग मानते है कि मोदी सरकार के तीन वर्षों में जरूरी चीजों की कीमतों और जीवन व्यय की कीमतों में वृद्धी हुई है.
  • स्वच्छ भारत अभियान : हाल ही में जारी किये गए स्वच्छ सुर्वेक्ष्ण – 2017 ने बताया कि 75-80 प्रतिशत लोगों ने खा है कि स्वच्छ भारत ड्राइव ने अपने शहरों को क्लीन बना दिया है. लगभग 39 प्रतिशत लोगों ने स्वच्छता लाने के लिए स्वच्छ भारत अभियान को श्रेय दिया है. स्वच्छ भारत अभियान महत्व कविता व नारे यहाँ पढ़ें.
  • रोजगार निर्माण सबसे बड़ी चुनौती : पिछले साल के सर्वेक्षण के मुकाबले नौकरी सृजन ने सरकार के प्रयासों से नाखुश लोगों में 20 प्रतिशत की वृद्धी हुई है. सरकार ने बुनियादी ढांचे के लिए सकारात्मक प्रभाव पैदा किया है. और लोगों का मानना है कि सिंचाई, सड़कों और दूरसंचार क्षेत्र में बुनियादी ढांचा का विकास तेजी से हो रहा है.
  • विमुद्रीकरण : भ्रष्टाचार और काले धन को बाहर करने के लिए सरकार ने एक अहम फैसला लिया 500 और 1000 के नोट को बंद कर. यह मोदी जी द्वारा किया गया एक मुख्य कार्य था. विमुद्रिकरण क्या है उसके फ़ायदे एवं नुकसान यहाँ पढ़ें.
  • सर्जिकल स्ट्राइक्स : एक सर्वे से पता चला है कि 81 प्रतिशत लोगों का मानना है कि नरेंद्र मोदी सरकार के तहत दुनिया में भारत कमि छवि और प्रभाव में सुधार हुआ है. मोदी सरकार ने पड़ोसी देश पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक की. भारतीय सेना द्वारा हुआ सर्जिकल स्ट्राइक यहाँ पढ़ें.

इसके अलावा मोदी सरकार ने और भी बहुत से कार्य किये है. जिससे देश पिछले तीन सालों में काफी विकास की ओर अग्रसर हुआ है.

मोदी सरकार का 2016 -17 किये कार्य पर जनता की राय

एक सर्वे का समग्र परिणाम मोदी सरकार के लिए एक खुश तस्वीर प्रस्तुत करता है, क्योकि लगभग 61 प्रतिशत लोगों ने कहा है कि सरकार ने पिछले तीन सालों में उनकी अपेक्षाएं पूरी की है. 60 प्रतिशत से अधिक का समर्थन एक ऐसे देश में एक निर्वाचित सरकार के लिए सफलता के एक अच्छे उपाय के रूप में देखा जा सकता है, जहाँ सिर्फ 30 – 40 प्रतिशत वोट एक पार्टी या सत्ता की गठबंधन को मिलते है. लेकिन सर्वेक्षण के सुक्ष्म परिणाम मोदी सरकार के लिए चुनौती का सामना करना हो सकता है. लगभग 17 प्रतिशत लोगों का कहना है कि सर्कार ने तीन वर्षों में उनकी उम्मीदों को पर कर दिया है. पिछले साल, 18 प्रतिशत ने सोचा था कि सरकार अपनी अपेक्षाओं से परे प्रदर्शन कर रही है. 44 प्रतिशत लोगों का मन्ना है कि सरकार ने उम्मीद की रेखाओं पर प्रदर्शन किया. यह पिछले साल के सर्वेक्षण के मुकाबले दो प्रतिशत अंक नीचे है, जब 46 प्रतिशत लोगों ने यह राय दी थी. पिछले साल के सर्वेक्षण के दौरान 36 प्रतिशत लोगों ने असंतोष व्यक्त किया कि मोदी सरकार का प्रदर्शन अपेक्षा से कम है. हालाँकि मोदी सर्कार के लिए एक सकारात्मक खोज यह है कि करीब 59 प्रतिशत लोगों का मानना है किसर्कार चुनाव घोषणा पत्र में किये गए वाडे को पूरा करेगी.

 अन्य पढ़े:

Sneha

Sneha

स्नेहा दीपावली वेबसाइट की लेखिका है| जिनकी रूचि हिंदी भाषा मे है| यह दीपावली के लिए कई विषयों मे लिखती है|
Sneha

5 comments

  1. राम दास

    बहुत ही बढ़िया

  2. आप ने आम जनता के लिए शुरू की गई माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की योजनाओं को बहुत ही सरल और सारगर्भित ढंग से प्रस्तुत किया है।निश्चय ही ये लेख हमारे लिए लाभकारी हैं और देश की आम जनता को तरक्की के रास्ते पर ले जाने वाले हैं। सधन्यवाद आभार।

  3. Dear Sir,
    Sansad adarsh gram yojna ko aur raftar dene ki jarurat hai. Yadi village and villagers ka development sansado ke help se ho gya to bahut hi effective result milenge.

  4. Dear Sir,
    1. All yojna are very good, but more important to reach and explain to every people.
    2. More effective for kaushal vikas and skill development through middle & High school of india. I have more ideas to help for same.
    3. Taking feedback of all yojna from villagers.

  5. Sir
    Ham nivedan karate hai ki kai yojan chalaya jata hai to usaki January a am log tak panache .US yojana Sahi labh mile

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *