ताज़ा खबर

जिन्दा पकड़ाया पाकिस्तानी आतंकी कासिम खान

Ajmal Kasab 2 Kasim Khan Usman Aatankwadi in Hindi अजमल कसाब के बाद पहला आतंकी जिंदा पकड़ा गया | यह आतंकी जम्मू कश्मीर में पकड़ा गया | ये तीन आतंकी थे जिन्होंने पांच लोगो को बंधक बना रखा था जिनमे से तीन भागने में कामयाब रहे | इन दों बंधको ने तीन आतंकी में से एक को पकड़ लिया लेकिन अन्य दो मारे गये |

इन आतंकियों ने जम्मू कश्मीर के BSF पर निशाना साधा था जिसमे चार घंटे तक दोनों तारा से गोली बारी हुई | जिसमे 2 BSF जवान शहीद हो गए और दो आतंकी भी मारे गए | बताया जा रहा हैं सात साल पहले कसाब को जिंदा पकड़ा गया था | उसके बाद यह दूसरा जिंदा आतंकी पकड़ा गया हैं |

आतंकी से बातचीत करने पर इसने अपना नाम उस्मान उर्फ़ कासिम बताया हैं | यह उर्दू और पंजाबी दोनों भाषाओं को मिलाकर बोलता हैं | इसने खुद कहा हैं कि ये पाकिस्तान का रहने वाला हैं |

kasim khan usman ajmal kasab 2 in hindi

Ajmal Kasab 2 Kasim Khan Usman Aatankwadi in Hindi

कब हुआ यह हमला ?

यह हमला आज सुबह ही हुआ जिस वक्त BSF जवान एक बस में सवार होकर उधमपुर इलाके से गुजर रहे थे | वही आतंकी पूरी तैयारी से साथ इंतज़ार में थे | जैसी ही जवानो का समूह वहाँ से गुजरा आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी | सबसे पहले बस के टायर पर गोली मार कर उसे पंचर किया गया |बदले में BSF जवानों ने भी आतंकियों पर गोलीबारी की | जिसमे दो जवान शहीद हो गये | जिन में से एक जवान को गोली लगने के बाद उसने एक आतंकी के सिर पर गोली मारकर उसे मार गिराया | इस मुठभेड़ की जानकारी लोकल लोगो ने कमेटी तक पहुंचाई| कितने आतंकी थे यह कह पाना मुश्किल हैं | लेकिन उन में से दो वहीँ मार दिए गए और तीसरा आतंकी उस्मान उर्फ़ कासिम जिसे बंधको ने कब्जे में लिया  |

बंधको का मामला क्या हैं ?

जब यह मुठभेड़ चल रही थी| तब आतंकियों ने पांच लोगो को पकड़ लिया | इस तीसरे आतंकी कासिम को पांच लोगो के साथ जाने को कहा गया | कासिम ने 5 km की दुरी पर पाँचों पेड़ से बांधा | लेकिन तीन बंधक वहाँ से भाग निकले और आखरी बचे दो बंधको ने कासिम को जिन्दा पकड़ लिया | जब तक BSF के जवानो ने अन्य आतंकी को मार दिया |

बार- बार हुए इस तरह के हमलो के कारण कहा जा रहा हैं कि यह हमला अमरनाथ यात्रियों पर होना था क्यूंकि थोड़ी देर में उस स्थान से अमरनाथ यात्रियों की बस निकलने वाली थी लेकिन अभी किसी भी तरह का निष्कर्ष निकालना गलत हैं |

इस आतंकी मुठभेड़ की सूचना तुरंत PM मोदी को अजीत डोभाल द्वारा दी गई |

इस हमले को लेकर अधिकारी एवम ख़ुफ़िया एजेंसी चिंतित हैं क्यूंकि यह क्षेत्र पूरी तरह से सुरक्षित हैं | यहाँ 90s में हमले हुआ करते थे लेकिन अब यहाँ आतंकी पकड़ कमजोर थी | जिस तरह से आतंकियों ने सीधे और सामने से BSF जवानो पर गोलीबारी की इससे ज़ाहिर होता हैं ये लोग इस तरह से BSF के साथ एक लंबी मुठभेड़ का मन बनाकर आये थे | इसके पीछे किसी नये आतंकी संगठन का होना समझ आ रहा हैं |

पकडे गये इस आतंकी से पूछताज :

उसने अपना नाम उस्मान/ कासिम बताया हैं | उसकी उम्र सिर्फ 22 वर्ष हैं | इसने खुद कहा हैं यह पाकिस्तानी हैं | इसके पास AK 47 रायफल मिली हैं |

अन्य मारे गये आतंकियों का पोस्टमार्टम होना हैं | अभी बड़ी मात्रा में लोगो का प्रदर्शन जारी हैं इसलिये पोस्टमार्टम नहीं हो पाया |

इस तरह के हादसे बढ़ते ही जा रहे हैं | कहाँ और कैसे हम सब इतने असुरक्षित हो रहे हैं |

इसके पहले हुआ गुरदास पुर में आतंकी हमला | उस वक्त भी पुलिस पर निशाना सादा गया जिसमे SP दलजीत सिंह के साथ 6 जवान शहीद हो गये |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

service-charge

होटल व रेस्तरां में सर्विस चार्ज देना जरूरी नहीं |Service charge in Restaurants is illegal in hindi

Service charge in Restaurants और Hotel is illegal in hindi हम अपने आर्टिकल में आपको …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *