ताज़ा खबर

असदुद्दीन ओवैसी का जीवन परिचय | Asaduddin Owaisi Biography In Hindi

असदुद्दीन ओवैसी का जीवन परिचय | Asaduddin Owaisi Biography In Hindi

असदुद्दीन ओवैसी को अक्सर आप लोगों ने देश के मुसलमानों के हक के लिए लड़ते हुए देखा होगा और शायद इसलिए असदुद्दीन ओवैसी को मुसलमानों के नेता के तौर पर पहचाना जाता है. ओवैसी हमेशा से भारत के मुसलमानों की तरक्की के लिए जोर देते हैं. इसके अलावा जब भी देश में किसी भी तरह का कोई विवाद होता है तो ओवैसी हमेशा अपनी राय उस पर देते हुए नजर आते हैं. इतना ही नहीं असदुद्दीन ओवैसी हमेशा से ही बिना किसी के डर के अपने विचार लोगों के सामने प्रकट भी करते हैं. वहीं सरकार द्वारा लिए गए कई फैसलों के खिलाफ भी अपने असदुद्दीन ओवैसी को बोलते हुए देखा होगा. आखिर कौन है ये ओवैसी, उनके राजनीति सफर और उनके जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी को आज हम बताने जा रहे हैं.

Asaduddin Owaisi

असदुद्दीन ओवैसी से जुड़ी जानकारी (Asaduddin Owaisi information)

पूरा नाम असदुद्दीन ओवैसी
उपनाम असद भाई
जन्म स्थान हैदराबाद, तेलंगाना
जन्म तिथि 3 मई, 1969
आयु 48
पार्टी का नाम अखिल भारतीय मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन
पत्नी का नाम (Wife) फरहीन ओवैसी
बच्चे  6 बच्चे
पिता का नाम (Father Name) सुल्तान सलाहुद्दीन ओवैसी
माता का नाम (Mother) नजमुन्निसा ओवैसी
भाई के नाम (Brother) अकबरुद्दीन ओवैसी और बुरहानुद्दीन ओवैसी
पेशा राजनेता और वकील
लंबाई 5’9
बालों का रंग काला
आंखो का रंग काला
कुल संपत्ति करीब 1.5 करोड़ के आसपास

असदुद्दीन ओवैसी का परिवार (Asaduddin Owaisi Family information)

असदुद्दीन ओवैसी का जन्म साल 1969 में एक राजनीति से ताल्लुक रखने वाले परिवार में हुआ था. ओवैसी के दो भाई हैं जिनमें वो सबसे बड़े हैं. ओवैसी ने साल 1996 में फरहीन ओवैसी से विवाह किया था. इन दोनों के कुल छह बच्चे हैं जिनमें से एक बेटा और पांच बेटियां हैं. वहीं काफी कम लोगों को पता है कि ओवैसी के पिता के अलावा उनके दादा भी राजनीति से जुड़े हुए थे.

असदुद्दीन ओवैसी की पढ़ाई (Asaduddin Owaisi Education)

असदुद्दीन ओवैसी ने अपने शहर हैदराबाद से ही अपनी प्रांरभिक शिक्षा प्राप्त की है. ओवैसी के पास बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री है, ये डिग्री उन्होंने उस्मानिया विश्वविद्यालय से प्राप्त की है. इसके  अलावा उन्होंने लंदन के एक विश्वविद्यालय से अपनी वकालत की पढ़ाई पूरी की हैं.

असदुद्दीन ओवैसी का राजनीति सफर (Asaduddin Owaisi Political carrier In Hindi)

असदुद्दीन ओवैसी ने साल 1994 में राजनीति में कदम रखा था. उन्होंने आंध्र प्रदेश की चार मीनार विधानसभा सीट से पहली बार चुनाव लड़ा था और इस चुनाव में उनकी जीत हुई थी. वहीं साल 2004 में ओवैसी ने लोकसभा का चुनाव लड़ा था. उन्होंने ये चुनाव अपने शहर हैदराबाद से लड़ा था और अभी तक वो इसी जगह से लोकसभा का चुनाव लड़ते आ रहे हैं. इस सीट पर उनका कब्जा अभी तक कायम है. चुनाव लड़ने के अलावा ओवैसी सरकार द्वारा गठित की गई कई समिति के सदस्य भी रहे हैं.

असदुद्दीन ओवैसी से जुड़े विवाद (Asaduddin Owaisi Controversies)

  • भारत माता की जय कहने से किया था इंकार

असदुद्दीन ओवैसी अक्सर अपने भाषणों के चलते विवादों में घिरते चले आएं हैं. एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बयान दिया था कि वो किसी भी सूरत में भारत माता की जय नहीं कहेंगे. ये भाषण उनके द्वारा साल 2016 में महाराष्ट्र की एक रैली में दिया गया था. दरअसल उन्होंने ये बयान आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दिए गए एक बयान के बदले ये बात कही थी. मोहन द्वारा एक बयान दिया गया था और उस बयान के मुताबिक उनका मानना था, कि देश के नौजवानों को भारत माता की जय बोलनी चाहिए.

  • चुनाव आयोग ने की थी ओवैसी के खिलाफ शिकायत

साल 2009 में ओवैसी के खिलाफ देश के चुनाव आयोग द्वारा पुलिस में एक केस दर्ज करवाया गया था. चुनाव आयोग के अनुसार ओवैसी ने एक मतदान एजेंट का पीछा किया था और उसे मारने की धमकी भी दी थी.

  • मेडक मामले में गए थे जेल

मेडक जिले में एक सड़क काम के कार्य में बाधा डालने के आरोप के चलते ओवैसी और उनके छोटे भाई को जेल की हवा काटनी पड़ी थी. दरअसल इस जिले में एक सड़क चौड़ी की जा रही थी, जिसके लिए वहां पर एक मस्जिद को गिराया जा रहा था. मस्जिद के विध्वंस के विरोध में उनकी पार्टी द्वारा प्रर्दशन किया जा रहा था. जिसके बाद पुलिस ने उनपर आपराधिक धमकी, दंगे और दुश्मनी को बढ़ावा देने सहित कई केस दर्ज किए थे. इसी मामले में उन्हें 2013 में जेल जाना पड़ा था.

इसके अलावा साल 2014 में भी उनके द्वारा एक भड़काऊ बयान दिया गया था, ये बयान उन्होंने देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ दिया था. इसके अलावा एक बार ओवैसी ने बिना पुलिस के अनुमति के बिना एक रैली का आयोजन किया था और उस रैली में बिना लाइसेंस वाली बंदूक लाने के चलते उन्हें हिरासत में ले लिया गया था.

असदुद्दीन ओवैसी को मिले सम्मान (Asaduddin Owaisi Awards)

असदुद्दीन ओवैसी का नाता अक्सर विवादों से ही रहा है, लेकिन साल 2014 में असदुद्दीन ओवैसी को संसद रत्न पुरस्कार से नवाजा गया था. उन्हें ये सम्मान 15वीं लोकसभा के चुनाव में किए गए उनके प्रदर्शन के चलते दिया गया था.

मुसलमानों के नेता ओवैसी (muslims politician)

असदुद्दीन ओवैसी हमेशा से ही मुसलमानों का पक्ष लोगों के सामने रखते हुए आएं हैं. इतना ही नहीं भारत सरकार द्वारा हज यात्रा पर दी जाने वाली सब्सिडी को गलत बताते हुए उन्होंने कहा था कि सब्सिडी पर दिए जाने वाले पैसों को सरकार द्वारा मुस्लिम महिलाओं की शिक्षा पर खर्च करना चाहिए.

इतना ही नहीं मुंबई पर हुए आतंकी हमले पर भी ओवैसी ने कहा था, कि निर्दोष लोगों के हत्यारों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करनी चाहिए. जो हमारे देश के दुश्मन हैं, वो मुसलमानों के भी दुश्मन हैं. ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाना चाहिए.

अन्य पढ़े:

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *