ताज़ा खबर

एटीएम से पैसे कैसे निकालें | How To Withdraw Money From ATM in hindi

एटीएम से पैसे कैसे निकालें | How To Withdraw Money From ATM in hindi

डिजिटल होती इस दुनिया में एटीएम का महत्व बहुत बढ़ गया है. इसके प्रयोग से बैंकिंग पहले से अधिक आसान हो गयी है. इसकी सहायता से किसी भी समय एक एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं या बैंक के ई कार्नर में जा कर अपने अकाउंट में पैसा जमा भी कर सकते हैं. इस तरह बिना लाइन में खड़े हुए ही बैंक के महत्वपूर्ण कामों को निपटाया जा सकता है. इस समय चलने वाले सभी सरकारी तथा ग़ैर सरकारी बैंक अपने ग्राहकों को एटीएम की सुविधा प्रदान कर रहे है. इसके लिए बैंक सालाना तौर पर कुछ अतिरिक्त शुल्क भी काटता है. अतः कुछ शुल्क देकर एटीएम की सुविधा लेना तात्कालिक समय में एक समझदारी का काम है. 

एटीएम क्या है? (What Is ATM)

एटीएम एक मशीन है, जिसका पूरा नाम ‘ऑटोमेटेड टेलर मशीन’ है. इसका अविष्कार सन 1960 में ‘जॉन शेफर्ड – बर्रोन द्वारा किया गया था. यह एक ओटोमेटिक बैंकिंग मशीन है, जो ग्राहक को बैंक प्रतिनिधियों की मदद के बिना मूल लेनदेन को पूरा करने की अनुमति देती है. यह दो तरह की मशीन होती है, पहली वह जो ग्राहक को केवल पैसे निकालने और अपने अकाउंट बैलेंस की जानकारी के लिए होती है, और दूसरी बहुत ही जटिल होती है जो जमा को स्वीकार करती है, क्रेडिट कार्ड भुगतान सुविधा प्रदान करती है और खाता जानकारी की रिपोर्ट देती है. यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है, जिसका उपयोग केवल बैंक ग्राहकों द्वारा खाता लेनदेन को प्रोसेस करने के लिए किया जाता है. उपयोगकर्ता अपने खाते को एक विशेष प्रकार के प्लास्टिक कार्ड के माध्यम से एक्सेस करते है, जो चुम्बकीय पट्टी पर उपयोगकर्ता की जानकारी के साथ एनकोड किया जाता है. पट्टी में एक पहचान कोड होता है, जो मॉडेम द्वारा बैंक के केन्द्रीय कंप्यूटर में प्रेषित होता है. उपयोगकर्ता खाते में प्रवेश करने और खाते के लेनदेन की प्रक्रिया करने के लिए एटीएम मशीन में कार्ड को इन्सर्ट करते हैं.

एटीएम कार्ड क्या है?  (What Is ATM Card )

वस्तुतः एक एटीएम कार्ड वैसा पेमेंट कार्ड होता है, जो किसी आर्थिक संस्थान द्वारा अपने ग्राहकों के लिए ज़ारी किया जाता है, और जिसका प्रयोग ग्राहक एटीएम मशीन में पैसे निकालने, पैसे जमा करने, अकाउंट स्टेटमेंट पता करने आदि के लिए कर पाते हैं. एटीएम का पूरा नाम ‘आटोमेटिक टेलर मशीन’ है. एटीएम कार्ड मुख्यतः दो तरह के होते हैं, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड. एटीएम के लिए डेबिट कार्ड का इस्तेमाल अधिक होता है. जिसकी सहायता से आप उपरोक्त कार्यों को कर सकते हैं.

ATM Card money withdrawal in hindi

 

एटीएम से पैसे कैसे निकालें (How to Withdraw Money from ATM in hindi)

चूंकि इसकी सुविधा लोगों की बैंकिंग परेशानी को हल करने के लिए शुरू की गयी है, तो इसके प्रयोग की प्रक्रिया बहुत ही आसान बनायी गयी. ताकि अधिक से अधिक लोग इसका लाभ उठा सकें. इसके इस्तेमाल करने की प्रक्रिया का वर्णन नीचे किया जा रहा है,

  • सबसे पहले अपने आवास के सबसे पास वाले एटीएम को ढूंढ लें. जिस बैंक का कार्ड है, उस बैंक का ही एटीएम हो, तो बेहतर है. वैसे फिलहाल किसी भी एटीएम से किसी भी कार्ड की सहायता से पैसे उठाये जा सकते हैं, लेकिन इसके लिए अतिरिक्त चार्ज काटे जा सकते हैं.
  • अब अपना एटीएम कार्ड मशीन में डालें. जिस जगह पर एटीएम डालना होता है, वहाँ आम तौर पर हरी लाइट जलती रहती है. एटीएम को मशीन में सीधे तरीके से डालें वरना मशीन रीड नहीं कर पायेगा.
  • एटीएम रीड करने के बाद मशीन आपको भाषा चयन का विकल्प देगी. एटीएम में मुख्यतः भाषा अंग्रेजी और हिंदी ही चलती हैं. इन दोनों भाषाओँ में से एक अपनी सुविधानुसार चुन लें.
  • एक बार भाषा चुन लेने पर एटीएम आगे की कार्यवाही के लिए पिन की मांग करता है. ये पिन वही पिन है, जो बैंक द्वारा एटीएम के साथ या इसके सन्दर्भ में आपको दी जाती है.
  • पिन डालने के बाद आपके सामने एक नया पेज स्क्रीन पर खुल जाएगा. अब आपको अपने अकाउंट के प्रकार का चयन करना होगा. यदि आपका अकाउंट ‘सेविंग’ है, तो सेविंग अकाउंट चुने और यदि आपका अकाउंट ‘करंट’ है तो करंट अकाउंट पर क्लिक करें.
  • अकाउंट के प्रकार का चयन करने के बाद आपको वो राशि डालनी होगी, जितना आप निकालना चाहते हैं. ध्यान रहे कि विभिन्न बैंक और विभिन्न अकाउंट की पैसे निकालने की सीमा विभिन्न होती है.
  • एक बार राशि डाल कर ओके कर देने के बाद मशीन से आपकी डाली गयी राशि निकल आएगी. ध्यान रहे कि आपने जो राशि डाली है उससे अधिक राशि आपके अकाउंट में जमा होनी चाहिए.
  • इस तरह आपका पहला ट्रांजक्शन पूरा हो जाता है, यदि आप पुनः पैसे निकालना चाहते हैं, तो इसका भी विकल्प वहाँ दिया हुआ रहता है.

एटीएम की विशेषताएं (ATM Features)

  • एटीएम कार्ड में काले रग का मैग्नेटिक स्ट्रिप लगा हुआ होता है. इस स्ट्रिप में कार्ड से संलग्न अकाउंट की समस्त जानकारियाँ होती हैं.
  • एक बार एटीएम कार्ड इसकी मशीन में डालने पर मशीन इसमें निहित सभी डेटा रीड करती है और आगे की कार्यवाही पूरी करती है.
  • इस मशीन को इलेक्ट्रॉनिक डेटा मशीन कहते हैं.
  • इसके अलावा चिप आधारित एटीएम भी मौजूद है. ये एटीएम मैग्नेटिक स्ट्रिप वाले एटीएम कार्ड से अधिक सुरक्षित और महंगे है.
  • चिप आधारित एटीएम कार्ड अभी बहुत कम बैंकों में शुरू हुआ है.

एटीएम से लाभ (ATM Benefits

  • तात्कालिक समय में इसकी सुविधा देश की सभी छोटी बड़ी बैंकें दे रही हैं.
  • यह इस समय में एक बहुत बड़ी सुविधा है. इसकी सहायता से आप किसी भी समय अपने अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं.
  • एटीएम इस समय शहर में लगभग हर जगह मिल जाता है.
  • सबसे बड़ी बात ये है, कि इसके इस्तेमाल के लिए एक विशेष पिन का इस्तेमाल होता है, अतः यदि एटीएम खो भी जाए तो किसी तरह का डर नही रहता, क्योंकि उस पिन के बिना कोई भी पैसा नहीं निकाल सकता है.
  • एटीएम बहुत तेज़ काम करता है, अतः पैसे निकालने के लिए इंतज़ार नहीं करना पड़ता है.
  • एटीएम 24 घंटे उपलब्ध रहता है.

एटीएम का इत्तेमल करते समय रखने वाली सावधानियां (ATM Security)

जहाँ एक तरफ एटीएम इस्तेमाल करने के कई लाभ हैं वहीँ कुछ ऐसी बातें भी हैं, जिसे ध्यान में रखना बहुत आवश्यक है.

  • पैसे निकालते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें आपना पिन कोई और नहीं देख रहा हो.
  • अपने एटीएम की जानकारियाँ किसी और तक न पहुँचने दें.
  • एटीएम पिन को समय समय पर बदलते रहें.
  • एटीएम के लिये बैंक अलग से चार्ज लगाते हैं.
  • कभी कभी सिस्टम डाउन होने पर एटीएम मशीन काम करना बंद कर सकता है. वैसे में घबराने की बात नहीं होती है.
  • यदि आप अपना एटीएम पिन भूल जाते हैं, तो पैसा नहीं निकाल पाएंगे, अतः पिन हमेशा ध्यान में रखें.
  • पैसा निकलते समय सही एटीएम पिन डालें. ग़लत पिन डालने से एटीएम लॉक भी हो सकता है. जिसे पुनः शुरू कराने के लिए अपने बैंक अकाउंट की शाखा में आवेदन देना पड़ता है.

इस तरह से ये स्पष्ट है कि एटीएम कार्ड का प्रयोग करना बहुत आसान है. यदि ज़रा सी सावधानी से इसका प्रयोग किया जाए, तो काफी सुविधाएँ प्राप्त की जा सकती हैं.  

 

अन्य पढ़े :

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

2 comments

  1. Saving or current account ka matlab

  2. ज्ञानवर्द्धक आलेख पोस्ट किया है आपने.
    उम्मीद है कि आगे भी इसी तरह जीवनोपयोगी आलेख और सूचनाएं मिलती रहेंगी.

    आने वाले नए वर्ष 2015 की अग्रिम शुभकामनाओं सहित,

    अनिल साहू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *