ताज़ा खबर
Home / सीरियल अपडेट / Balika Vadhu 16th December 2013 Episode 1460 Update

Balika Vadhu 16th December 2013 Episode 1460 Update

balika vadhu 1

पहला भाग

माही, शिव से बात करता है कि उसे कोई फर्क नहीं पड़ता शिव उसका सगा भाई है या बड़े पापा का बेटा, उसे उससे वो प्यार और अपनापन मिला जो एक भाई से मिलता है कोई भी हालत हो , शिव उसका inspiration रहा है और रहेगा, पर वो उसे कहता है कि घर में जो माहौल है उसमे अगर कोई भी अपना behave change करेगा तो घर टूट जायेगा इसलिए शिव को सब सम्भालना होगा और यह काम वही कर सकता है |

जयत्सर में, बादशाह को मारने आये लोग बात कर रहे है| उनका सरदार अपने आदमी को बोलता है उन्हें सिखाया गया था कि काम हर हाल में पूरा होना चाहिए ,अगर न हो तो सज़ा मौत मिलती है और उसे मार डालता है, और उसकी body को ठिकाने लगाने को कहता है | वो अपने आदमियों से यह भी कहता है कि बादशाह नहीं मरा तो उनका मकसद अधुरा ही रह जायेगा और कल किसी भी कीमत पर उसे मारना है |

उदयपुर में , साँची kitchen में उसके और ईरा के लिए tea बना रही है | आनंदी उससे पूछती है कि वो यह सब क्यूँ कर रही है | वो कहती है वो ईरा का ध्यान रखना चाहती है ,ईरा उसकी सगी माँ है | आनंदी उसे समझाती है कि पूरा परिवार कोशिश कर रहा है ईरा को वापस पहले जैसा बनाने की पर वो उसे सबसे दूर कर रही है वो ईरा के करीब है पर उसे समझाने के बजाय उसे अकेला कर रही है | साँची कहती है आनंदी बस अपनी असली सास का ध्यान रखे ,ईरा को वो देख लेगी और वो आनंदी को कहती है वो एक बहुत बुरी बहु है और बस अच्छा बनने का नाटक कर रही है |

जयत्सर बड़ी हवेली में, बसंत और भैरव काम के लिए जाने की बात कर रहे है, तभी कल्याणी देवी कहती है क्या बसंत अकेला जा सकता है, उसे भैरव के साथ कही जाना है | भैरव पूछता है उसे कहाँ जाना है ? कल्याणी देवी कहती है उसे गंगा के बारे में बात करने एक पण्डित के पास जाना है ताकि वो कोई उचित ऊपाय बता सके | भैरव कहता है जब doctor कुछ नहीं कर पा रहे तो पण्डित क्या करेगा ? सुमित्रा कहती है जाने में भी क्या हर्ज है | बसंत भी यही कहता है | भैरव भी मान जाता है |

उदयपुर में, शिव के लिए टिफिन ready कर मीनू उसे देती है तभी वो कहता है वो सबके साथ बैठ कर ब्रेकफास्ट करना चाहता है | सब बहुत खुश हो जाते है और एक साथ बैठ कर ब्रेकफास्ट करते है |

दूसरा भाग

साँची कैफ़े हाउस में अपने दोस्तों के साथ बैठी है वहाँ उसका new friend सौरभ भी है और साँची उससे काफी impresed है और उसकी तारीफ करती है, वो कहता है वो हाथ देखना जानता है और वो साँची का हाथ देखता है इतने में उसके दुसरे दोस्त उन दोनों को अकेला छोड़ कर चले जाते है | सौरब उसे कहता है कि उसकी रेखाए कहती है कि उसका किसी ने दिल तोड़ा है और यह भी बताता है कि उसकी life में जल्दी ही कोई और आने वाला है वो कहती है वो इस सबसे दूर ही रहती है | इस तरह वो दोनों बाते कर रहे है |

जयत्सर में , कल्याणी देवी पण्डित के पास जाने के लिए ready है और भैरव को आवाज देती है | वो भैरवी से बाते करती है और नंदू को कहती है कि वो फर्श पर फैला कलर साफ करदे क्यूंकि भैरवी छोटी है उससे उसे बीमारी हो सकती है | नंदू फर्श साफ करता है और दादीसा से drawing book के लिए रुपय लेता है, जिसमे से कुछ रूपए वो अपनी बहन की गुडिया के लिए गुल्लक में डालेगा |भैरव आजाता है और कल्याणी और भैरव पंडित के पास चले जाते है |

तीसरा भाग

आनंदी, ईरा के room में जाती है, धोने के कपड़े मांगती है और ईरा को बताती है कि साँची को पता था कि उसे medicine दी जा रही है इसलिए उसने कभी medicine नहीं खाई | ईरा कहती है उसे लगता है कि साँची को जरुरत भी नहीं वो ठीक है और ईरा कभी नहीं चाहती थी कि साँची को कोई medicine दी जाये और वो यहाँ तक कह देती है कि medicine की जरुरत आनंदी को है वो चाहती तो ईरा को सब सच पहले ही बता सकती थी कि शिव उसका बेटा नहीं है | आनंदी कहती है वो खुद पूरा सच नहीं जानती थी कैसे बताती | ईरा कहती है आनंदी कभी तो अपनी गलती मान जाया करे ,वो हमेशा सही हो जरुरी नहीं | आनंदी सोचती है वो कैसे बताती, ईरा की हालत बहुत खराब है ,सच जानने के बाद और उसका बस चलता तो वो शिव को भी सच नहीं बताती |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

kahani-ghar-ghar-ki-serial

कहानी घर घर की ओल्ड स्टार प्लस सीरियल | Kahani Ghar Ghar ki Old Serial In Hindi

Kahani Ghar Ghar ki Old Star Plus Serial In Hindi सन 2000 में भारत के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *