ताज़ा खबर
Home / मनोरंजन / Balika Vadhu 23th December 2013 Episode 1465 Update

Balika Vadhu 23th December 2013 Episode 1465 Update

metromasti_photos
पहला भाग
अनाथालय में,शिव और आनंदी है और अनुजा को गोद लेना है एडमिनिस्ट्रेटर भी यही चाहती है तभी वहां एक couple आता है जो अपने आपको अनुजा के असली माता पिता कह रहे है | वो woman ने बताया,अनुजा उसकी बेटी है जिसे उसने कचरे में फेंक दिया था,क्यूंकि उसकी शादी नहीं हुई थी और उसने परिस्थिती का गुस्सा उस पर निकाल दिया |शिव उसे बोलता है कि वो एक बच्ची के साथ ऐसा कर सकते है वो मर भी सकती थी |वो दोनों माफ़ी मांगते है |आनंदी कहती है माता-पिता अगर भूल सुधारना चाहते है तो मौका देना चाहिए और उनकी सजा बच्ची को नहीं दे सकते | एडमिनिस्ट्रेटर कहती है यूँही किसी को बच्ची नही दे सकते, उसके लिए test करवाने होंगे| उन दोनों ने कहा वो हर तरह के test के लिए ready है और जब तक बेटी अमानत के रूप में अनाथालय में रखे | शिव,एडमिनिस्ट्रेटर से अच्छे से जाँच करके बेटी सोंपने का बोलते है |एडमिनिस्ट्रेटर कहती है कि वो समझती है आनंदी और शिव को अनुजा न मिलने के कारण दुखी है पर वो जल्दी ही उन्हें कोई उस age के बच्चे के मिलने के बाद उन्हें बताएगी |

जयत्सर में, गंगा परेशान है क्यूंकि जगदीश ने उसे test करवाने का कहा है वो सोचती है कि उसे अपनी weakness को दूर करने के लिए कुछ करना होगा |

सुमित्रा माखन को कुछ कपड़े देती है बच्चों में बांटने के लिए | कल्याणी देवी रोकती है और सुमित्रा से पूछती है वो यह कपडे क्यु दे रही है यह उसने गंगा और जगदीश के बच्चे के लिए रखे थे| सुमित्रा ने कहा कि उसे इन कपड़ो के देख कर याद आता है कि गंगा माँ नहीं बन सकती है | कल्याणी कहती है उसे विश्वास नहीं खोना चाहिए उसे देवी माँ पर भरोसा करना चाहिए |

दूसरा भाग
मीनू news देख रही है उसे जयत्सर के हमले के बारे में और अधिक पता चलता है कि बादशाह के कारण हमला हुआ वो सरहद पार से आया था पर उसे कुछ याद नहीं पर शायद उसका ताल्लुक उदयपुर से है और उसकी photo दिखाते है जिसे देख मीनू कुछ परेशान है और अपने room में जाती है और एक photograph निकालती है और उसे news paper में आये बादशाह के photograph से match करती है वो उस photograph पर दाड़ी मुछ draw करती है जिससे उसे पता चलता है कि उसका पति अनूप जिन्दा है |
शिव Delhi पंहुचा अपने friend से मिला और वहाँ उसे बादशाह भी मिला |
उदयपुर में, सभी hall में है तभी मीनू आती है और बताती है कि अनूप जिन्दा है और वो photographes दिखाती है |

तीसरा भाग
मीनू photograph सबको दिखाती है, सबको यकीन हो जाता है, सब बहुत खुश है, ईरा मीनू को गले लगाती है, कहती है उनका अनूप जिन्दा है | सब बहुत खुश है सबकी आँखों में ख़ुशी के आंसू है उन्होंने 25 years पहले खोये अनूप के जिन्दा होने की कल्पना भी नहीं की थी वो war में शहीद हो गया था | तभी मीनू को याद आता है कि शिव भी delhi में है इसलिए दद्दु उसे call करते है पर call नहीं लग रहा, अब वो शिव के friend को call करते है, उसे कहते है कि शिव को रोंके उसके पिता जिन्दा है |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

hum-paanch

हम पांच जी टीवी सीरियल | Hum Paanch ZEE TV Old Serial In Hindi

Hum Paanch ZEE TV Old Serial In Hindi हम पांच एक ऐसा सीरियल है, जिसे …

One comment

  1. Ah yes, nicely put, evneroey.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *