ताज़ा खबर

बैंक एग्जाम की तैयारी करने के टिप्स | Bank exam preparation tips in hindi

Bank exam preparation tips in hindi आज के समय में हर युवा बैंक की नौकरी चाहता है. प्राइवेट सेक्टर की झंझट से दूर, वे सरकारी बैंक की नौकरी चाहते है. 2010 में आये आईटी सेक्टर में रिशेसन के बाद से सभी युवा घबरा गए है. इंजिनियर से लेकर आम ग्रेजुएट भी आज के समय में बैंक की नौकरी चाहता है. बैंक में काम करने का समय निश्चित होता है, साथ ही पेंशन, पीएफ के भी फायदे मिलते है. आजकल प्राइवेट सरकारी बैंक की भरमार है, जो आये दिन नयी भर्ती करते रहते है. दूसरी सरकारी नौकरी की तरह बैंक की नौकरी में भी अलग अलग पोजीशन, योग्यता, जॉब प्रोफाइल, सैलरी होती है. लेकिन फ्रेशर (fresher) के लिए केवल तीन प्रोफाइल है –

Bank exam preparation

बैंक एग्जाम की तैयारी करने के टिप्स 

Bank exam preparation tips in hindi

इन प्रोफाइल के लिए पीओ एग्जाम, क्लर्क एग्जाम, आईबीपीएस (IBPS) व RRB एग्जाम आयोजित किये जाते है. पीओ व क्लर्क एग्जाम के लिए साल में 2 बार परीक्षा होती है, जबकि स्पेशलिस्ट ऑफिसर के लिए साल में एक बार परीक्षा होती है. आप जब पेपर देना चाहते है, निश्चित कर तैयारी शुरू कर दें. बैंक के पेपर के ये सारे विषय कवर किये जाते है –

क्रमांक बैंक पेपर में आने वाले सब्जेक्ट
1. रीजनिंग
2. एप्टीटूड (quantitative aptitude) या नुमेरिकल रीजनिंग
3. कंप्यूटर ज्ञान
5. सामान्य ज्ञान (general awareness)
6. इंग्लिश

बैंक की तैयारी के लिए नीचे आपको विस्तार से बताया जा रहा है.

  1. प्लान करें – तैयारी करने का पहला स्टेप है, आपको पहले अपनी जॉब प्रोफाइल सुनिश्चित करनी होगी. एग्जाम से जुड़ी सारी बातें ध्यान से पढ़ ले, और एग्जाम के फॉर्म भर कर, समय देखें कि कितना आपको तैयारी के लिए मिलता है. आपको ये भी प्लान करना होगा  कि आप बैंक की तैयारी खुद से करना चाहते हो, या किसी संसथान में जाकर इसकी तैयारी करना चाहते हो.
  2. संस्थान में जाकर बैंक की तैयारी – बैंक की तैयारी के लिए आज अनेकों इंस्टिट्यूट हर शहर में मौजूद है, यहाँ तक की छोटे से छोटे गाँव शहर में ये आपको मिल जायेंगें. आप अपनी इच्छा के अनुसार इनका चुनाव कर सकते है. फीस जमा करने से पहले 3 दिन की डेमो क्लास लें, अगर पसंद आये तो ही आगे जाएँ. यहाँ की फीस 6 हजार से 10 हजार होती है. कोचिंग में हर हफ्ते टेस्ट होते है, जिससे आप अपनी तैयारी का आकलन कर सकते है.
  3. बैंक की कोचिंग जाने के नुकसान –

बैंक की ये कोचिंग आज के समय में पैसा कमाने का जरिया बन गई है, पढाई के नाम पर सिलेबस किट आपको पकड़ा दिया जायेगा, और 1-2 सवाल क्लास में हल कराकर बाकि आपको सेल्फ स्टडी के लिए कहा जायेगा.

  • समय की बर्बादी
  • पैसों की बर्बादी
  • ध्यान भटकता है
  • कोचिंग वाले हमेशा यही बोलते है, कि वे आपको शोर्ट ट्रिक सिखायेंगें. लेकिन सही मानों तो शोर्ट ट्रिक से सही जबाब की संभावना बहुत कम होती है. सेल्फ ट्रिक आप अपने अभ्यास से ही सिख सकते है.
  • कोचिंग के टीचर को अगर सारी ट्रिक इतने अच्छे से आती है, तो बैंक में 40 हजार की नौकरी छोड़ वो 300-400 रूपए पर क्लास क्यों ले रहा है. दरअसल वो टीचर खुद बैंक की तैयारी कर रहा स्टूडेंट होता है, जिसका चुनाव नहीं होता है और वो कोचिंग शुरू कर देता है. कोचिंग के बहकावे में न आकर सेल्फ स्टडी में ध्यान लगायें.
  1. सेल्फ स्टडी – बैंक की तैयारी खुद से घर पर भी की जा सकती है, इसके लिए आपको थोड़ी समझदारी और एक सही टाइम टेबल की जरुरत है. सेल्फ स्टडी के फायदे –
  • आप अपनी पढाई अपनी स्पीड के अनुसार कर सकते है. जिस विषय में आपको लगता है, अधिक समय की जरुरत है, उसे अधिक दें. इसके लिए आपको किसी से पूछना नहीं पड़ेगा.
  • आप अपनी पसंद का स्टडी मटेरियल पढ़ सकते है.
  • समय बचता है, जिसका उपयोग आप अपने कमजोर विषय में देकर कर सकते है.
  • सबसे महत्वपूर्ण, पैसों की भी वचत होती है.
  1. सभी विषयों पर ध्यान दें – बैंक में जो विषय आते है, उसे उपर बताया गया है. आपको अपनी इच्छा अनुसार एक-एक सब्जेक्ट को समय देना, जो कठिन है, उसे अधिक, जो सरल है उसे कम. हर सब्जेक्ट की कैसे तैयारी करें, मैं आपको बताती हूँ –
  • रीजनिंग (reasoning) – यह बैंक के पेपर में मुख्य हिस्सा होता है. इसकी अच्छी पकड़ से आप अच्छे नंबर ला सकते है. पेपर के इस हिस्से में सवाल के 4 विकल्प होते है, जिसमें से एक चुनना होता है. इसमें रिश्तेदार, दिशा, आकृति के बारे में सवाल होते है. रीजनिंग में शोर्ट ट्रिक बहुत चलती है, जिसे आप अधिक प्रैक्टिस से सीख सकते है. रीजनिंग को हमेशा अकेले में, शांत माहोल में, एकाग्र होकर करना चाहिए. रीजनिंग की अनेकों किताब बाजार में उपलब्ध है, आप इन बुक या स्टडी मटेरियल की बुक से इसे करें.
  • एप्टीटूड (quantitative aptitude) या नुमेरिकल रीजनिंग – इसमें गणित से जुड़े सवाल आते है. इसके अंदर वर्ग, ज्यामिति, बीज गणित, अंक प्रणाली, अनुपात, प्रतिशत, ब्याज मूलधन से जुड़े सवाल, समीकरण आते है. इस सेक्शन को हल करने के लिए जरुरी है कि आपका मैथ्स अच्छा होना चाहिय. आप अगर स्कूल, कॉलेज में है, और साथ साथ बैंक की तैयारी कर रहें है, तो आप गणित विषय में तभी से अधिक ध्यान देने लगें. अगर बेस अच्छा होगा तो, गणित कभी कठिन नहीं लगता, बल्कि पसंदीदा सब्जेक्ट में शामिल हो जाता है. कॉमर्स, बायो, आर्ट्स वाले जिनने मैथ्स नहीं पढ़ा है, उन्हें यहाँ तकलीफ हो सकती है. लेकिन ये मुश्किल नहीं है. अगर आप सेल्फ स्टडी कर रहें है, तो आप इस सब्जेक्ट के लिए कोचिंग लगा सकते है, जिससे आपको आसानी होगी. मैथ्स के एक ही तरह के सवालों को अधिक से अधिक सोल्व करना शुरू करें.
  • इंग्लिश – बैंक के पेपर में इंग्लिश स्कोरिंग सब्जेक्ट होता है. अगर आपकी इंलिश अच्छी है, तो आप अधिक अंक लाकर बैंक का पेपर पास कर सकते है. बैंक के एग्जाम में अधिकतर लोग ऐसे होते है, जो इंग्लिश में ध्यान नहीं देते और सिर्फ पास होने जितना पढाई करते है. अगर आपकी इंग्लिश अच्छी है तो इससे आपको फायदा मिलेगा. आप इंग्लिश के लिए बैंक की कोचिंग में जा सकते है, जहाँ आप सिर्फ इंग्लिश भी पढ़ सकते है. बैंक के पेपर में इंग्लिश शब्द की मीनिंग, ग्रामर, पैराग्राफ आता था.
  • सामान्य ज्ञान (general knowledge) – बैंक के पेपर में सामान्य जागरूगता (general awarness) के बारे में भी सवाल आते है. इसमें राजनीती, व्यक्ति विशेष के बारे में, खेल, बाजार, कृषि के बारे में पुछा जाता है. करंट अफ्फैर के बारे में आता है. इसलिए पेपर के 6 महीने पहले से इस विषय पर भी विशेष ध्यान दे, न्यूज़, समाचार पत्र, बुक्स के द्वारा इसकी जानकारी हासिल करें. आप जरुरी बातों को नोट करते जाएँ, जिससे रिवीजन के समय पढने में आसानी होगी.
  • कंप्यूटर – आज के समय सारे काम कंप्यूटर में होते है, ऐसे में बैंक भी पीछे नहीं है. अब बैंक का सारा काम कंप्यूटर के द्वारा ही होता है, इसलिए परीक्षार्थी से कंप्यूटर से जुड़े सवाल किये जाते है. इसमें कंप्यूटर के बारे बहुत आसान, मामूली सवाल आते है, जिनकी बारे में थोडा बहुत पढ़ कर आप इसे समझ जायेंगें. यह भी स्कोरिंग सब्जेक्ट होता है.
  1. एक्स्ट्रा प्रयास करें – आप तैयारी का कोई भी जरिया चुने, लेकिन खुद की अलग से तैयारी बहुत जरुरी होती है.
  • एग्जाम पैटर्न को समझें,
  • कम समय में ज्यादा से ज्यादा सवाल हल करें, आप स्टॉप वाच रखे, फिर देखें, कितने समय में आप कितने सवाल हल कर पा रही है.
  • रोज पढाई करे, इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा
  • जिस बैंक की परीक्षा आप देना चाहते है और जिस बैंक को आप ज्वाइन करना चाहते है, उसकी पूरी इन्फॉर्मेशन निकाल कर अच्छे से पढ़े.
  • पिछले सालों के पेपर सोल्व करें.
  • टाइम टेबल बनायें, रोज का रूटीन बनाकर उसे फॉलो करें
  • ऑनलाइन टेस्ट दें
  • जो दोस्त इसकी तैयारी कर रहें है, उनके साथ कभी कभी पढाई करें.

बैंक की तैयारी का हर कोई का अपना तरीका होता है, ये मैंने अपने अनुभव से शेयर किया है. अगर आपके पास कोई और इन्फॉर्मेशन है तो वो हमारे साथ साझा करें.

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

यह भी देखे

Install WordPress on Hostgator

होस्टगैटर में वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे इनस्टॉल करें | How to install WordPress Website on Hostgator in hindi

How to install WordPress Website on Hostgator in hindi वर्डप्रेस की सहायता से अपने डिजिटल …

One comment

  1. Very helping post for preparing bank exams..
    I want to add 1 more thing here it is true to join coaching class.. but their materials can be good and can help many student.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *