ताज़ा खबर

भारत 22 ईटीएफ में शामिल होने वाले शेयरों की सूची | Bharat 22 ETF in hindi

भारत 22 ईटीएफ में शामिल होने वाले शेयरों की सूची | Bharat 22 ETF in hindi

 वित्त मंत्री अरुण जेटली ने निवेश प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए 4 अगस्त 2017 को दुसरे भारत 22 एक्सचेंज ट्रेड फण्ड की घोषणा की है, जो कई तरह के पोर्टफोलियो के साथ सामने आया है. सरकार का ये कदम विनिवेश को आगे बढ़ाने और टारगेट को पूरा करने के लिए है. सरकार का टारगेट 72,500 तक का है, जो 2017-18 तक के लिए तय किया गया है, और भारत 22 के साथ पूरा किया जा सकेगा. ईटीएफ के अंतर्गत 22 ब्लू चिप कंपनीयां है, जिसमें सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइज (सीपीएसई), पब्लिक सेक्टर बैंक (पीएसबी) साथ ही SUUTI भी होगा. कहा जा रहा है स्टॉक मार्केट में भारत की बड़ी सफलता साबित होगी, इसमें निवेशक दूसरों के मुकाबले 15% अतिरिक्त फायदा पायेंगें. आम बजट 2017-18 यहाँ पढ़ें.

भारत 22 ईटीएफ में निवेश

भारत 22 ईटीएफ

Bharat 22 ETF in hindi

एक्सचेंज ट्रेड फण्ड (ईटीएफ) क्या है (What is ETF)

ईटीएफ शेयर्स का सेट होता है, जो म्यूच्यूअल फण्ड से अलग होता है. यह एक मार्किट सिक्युरिटी है, जो इंटेक्स, बांड्स को ट्रैक करती है. म्यूच्यूअल फण्ड की अपेक्षा ये स्टॉक एक्सचेंज में कॉमन स्टॉक है. ईटीएफ हर समय क्या ख़रीदा और बेचा गया उसको जांचता रहता है, और यह म्युचुअल फंड के विपरीत ईटीएफ में साधारणतया ज्यादा है.

पहला ईटीएफ से अलग                                                  

जैसा की सन 2014 में सरकार ने पहले ईटीएफ के लांच के समय 3000 करोड़ बढ़ाये थे. इसके साथ ही साल 2017 में 2 फॉलो ओन ऑफर के साथ अब तक ईटीएफ में 8500 करोड़ बढ़ाये जा चुके है. अब ये देखना होगा की भारत 22 किस तरह पुराने ईटीएफ से अलग है.

निवेश सचिव सचिन कुमार का कहना है कि नए फण्ड में विविधता होगी, और माना जा रहा है कि ये पहले के ईटीएफ से अच्छा परफॉर्म करेगा.

जेटली जी ने कहा है कि ईटीएफ पोर्टफोलियो के अंतर्गत 6 सेक्टर है, जिसमें बुनियादी सामग्री, ऊर्जा, वित्त, एफएमसीजी, साथ ही औद्योगिक और उपयोगी उद्योग भी है. इसमें 20 प्रतिशत की एक क्षेत्रीय कैपिंग और 15 प्रतिशत की एक ही कंपनी की स्टॉक कैपिंग होगी.

इसके अलावा जेटली जी ने ये भी कहा है कि भारत 22 में 4 बैंकिंग स्टोक शामिल है – स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ़ बरोदा, इंडियन बैंक. इसमें ONGC, IOC, NALCO एवं कोल इंडिया को शामिल नहीं किया गया है. नब्बे प्रतिशत इक्विटी इसमें शामिल है, जो भविष्य में ट्रेड करेगी.

वित्त मंत्री ने ये भी कहा है कि ICICI प्रूडेंशियल इसके फण्ड को देखेगा. सीपीएसई ईटीएफ का प्रबंधन रिलायंस निप्पॉन लाइफ द्वारा किया जाता है.

यहां भारत -22 में शामिल होने वाले शेयरों की सूची है –

  • ITC लिमिटेड – 15.2%
  • स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया –6%
  • पॉवर ग्रिड कोप –9%
  • एक्सिस बैंक – 7.7%
  • NTCP – 6.7%
  • ONGC – 5.3%
  • इंडियन आयल कोर्प – 4.4%
  • भारत पेट्रोलियम कोर्प – 4.4%
  • NALCO – 4.4%
  • कोल इंडिया – 3.3%
  • भारत इलेक्ट्रॉनिक- 3.3%
  • इंजिनियर्स इंडिया लिमिटेड-1.5%
  • बैंक ऑफ़ बरोदरा-1.4%
  • रूलर इलेक्ट्रीशियन कोर्प – 1.3%
  • NHPC – 1.2%
  • पॉवर फाइनेंस कोर्प – 1%
  • NBCC – 0.6%
  • NLC इंडिया लिमिटेड- 0.3%
  • इंडियन बैंक- 0.2%
  • SJVN – 0.2%

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *