ताज़ा खबर

बिपाशा बासु का जीवन परिचय | Bipasha Basu biography in hindi

Bipasha Basu biography in hindi बिपाशा बासु भारतीय सिनेमा में एक जाना पहचाना नाम है. बिपाशा बासु एक सांवली रंगत की एक खुबसूरत हिरोइन है. इन्होने बहुत सारी बॉलीवुड फिल्मे की है इसके अलावा ये तमिल, तेलगु, अंग्रेजी और बांग्ला फिल्मों में भी काम कर चुकी है. अपने अभिनय क्षमता के आधार पर ये सबसे ज्यादा मेहनताना पाने वाली अभिनेत्रियों की सूची में अपना नाम दर्ज करा चुकी है. ये अपनी फिल्मों के लिये कई सारे पुरस्कार भी जीत चुकी है. इनको दर्शक थ्रिलर और हॉरर फिल्मों में ज्यादा देखते है, क्योंकि ये इस तरह की ज्यादातर फिल्मों में काम कर चुकी है. उनके गाल पर पड़ने वाले डिम्पल और बोल्ड अभिनय की वजह से मीडिया उन्हें सेक्सी बिपाशा के नाम से संबोधित करती है. बिपाशा बासु फिल्मों में काम करने के अलावा फिटनेस का ख्याल रखने के लिए लोगों को उत्साहित करती है.

Bipasha Basu

बिपाशा बासु का जीवन परिचय

Bipasha Basu biography in hindi

बिपाशा बासु का जन्म और शिक्षा (Bipasha Basu born and education)

बिपाशा बासु का जन्म 7 जनवरी 1978 को नई दिल्ली में हुआ था. बचपन में उनकी शिक्षा दीक्षा कक्षा 1 से लेकर 4 तक दिल्ली के एपीजे हाई स्कूल में हुई, क्योंकि उन्होंने पहले अपने बचपन के 8 साल दिल्ली के ही पम्पोश एन्क्लेव के नेहरु प्लेस में बिताया है. उसके बाद वो कोलकाता आ गई जहाँ पर उनकी पढाई कोलकाता के विधाननगर के स्कूल भवनस गंगाबुक्स कनोरिया विद्यामंदिर में ही हुई है. यहाँ पर बिपाशा बासु ने 5 से लेकर बारहवीं तक की पढाई की. बिपाशा बासु अपने स्कूल की हेड गर्ल बनी, उनकी कमांडिंग गुण के वजह से उन्हें वहाँ लेडी गूंडा कहा जाता है.

उनकी बारहवीं की पढाई के लिए उन्होंने अपना नामांकन चिकित्सा विज्ञान में कराया था, लेकिन बाद में इसको बदलकर इस विषय को वाणिज्य कर लिया था. बिपाशा बासु एक बच्चे के रूप में बचपन से ही टॉम बॉय की तरह रहती और दिखाती थी, कोई भी लड़के अगर शरारत करते या दुर्व्यवहार करते तो बिपाशा उन्हें सबक सिखाने से बाज नहीं आती थी. कॉलेज की पढाई उन्होंने भवानीपुर एजुकेशन सोसाइटी से की. जो की कोलकाता में स्थित है.

बिपाशा बासु का पारिवारिक जीवन (Bipasha Basu family)

उनके परिवार में उनके माता पिता के अलावा उनकी दो बहनें भी है. एक बहन बिपाशा से बड़ी है जिनका नाम बिदिशा है और एक छोटी बहन है जिसका नाम विजेता है. इनके पिता का नाम हीरक बासु है वो एक सिविल इंजिनियर है तथा उनकी माता जी का नाम ममता बासु है और वो एक गृहणी है.

बिपाशा बासु का व्यक्तिगत जीवन (Bipasha Basu personal life)

इन्होने अभिनेता करण सिंह ग्रोवर के साथ 2016 में शादी कर ली है, तब से इनके नाम के आगे इनके पति का उपनाम भी जुड़ गया है अब इनका नाम बिपाशा बासु सिंह ग्रोवर हो गया है. बिपाशा बासु अपनी मुखरता अर्थात जो भी बात हो उसे स्पष्ट शब्दों में बोलना, इसके लिए भी ज्यादा पसंद की जाती है वह नारीवाद और पशुओं के ऊपर हो रहे दुराचार या उनके अधिकारों के बारे में भी खुलकर बोलती है. बिपाशा अपने नाम का अर्थ बताते हुए कहती है की इसका मतलब गहरी चाहत होता है और बिपाशा एक नदी का नाम है. बिपाशा बासु ने अपनी सांवली त्वचा के बारे में बताते हुए कहा कि पहले उन्हें उनकी सांवली रंगत को अच्छा नहीं माना जाता था. इनके बारे में कुछ व्यक्तिगत जानकारी इस प्रकार है-

नाम बिपाशा बासु
उपनाम बिप्स, बिप्प्य, बिप्स्य, बोन्नी  
व्यवसाय मॉडल, अभनेत्री 
वजन 57 किलो ग्राम
लम्बाई 5 फीट 7 इंच
आँखों का रंग गहरा भूरा
बालों का रंग गहरा भूरा
शारीरिक बनावट सीना 34, कमर 26, हिप्स 34  
राशि मकर
गृह नगर कोलकाता, पश्चिम बंगाल 
धर्म हिन्दू
नागरिकता भारतीय
शौक डांस करना और पढना
पसंद तैरना, कोलकाता में घूमना, कसरत करना  
नापसंद मेकअप करने के बाद फिल्म सेट पर इंतजार करना
पसंदीदा बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ खान
पसंदीदा हॉलीवुड अभिनेता ब्रेड पिट
पसंदीदा अभनेत्री प्रियंका चोपड़ा
पसंदीदा रंग गुलाबी
पसंदीदा यात्रा का स्थान पेरिस
वैवाहिक स्थिति विवाहित
पसंदीदा टीवी शो सेक्स एंड द सिटी
पसंदीदा पेय पदार्थ नीबू की चाय
पसंदीदा खाना बिरयानी, तेह पोस्टो, मोतीचूर के लड्डू  
पसंदीदा लेखक रोबिन कुक, जॉन ग्रीषम 
गाडियों का संग्रह ऑडी क्यू 7, मर्सडिज एस-क्लास, वोल्कास्वगें बीतले    
सैलरी प्रत्येक फिल्म के लिए 1 से 2 करोड़ तक का मेहनताना
कुल कमाई 100 करोड़
विवाह की तारीख 30 अप्रैल, 2016 
पता 105/बी, आशियाना एस्टेट, जॉन बापिस्ट रोड, बांद्रा, मुम्बई     

बिपाशा बासु का मॉडलिंग करियर (Bipasha Basu modelling career)

अपने करियर की शुरुआत उन्होंने 1996 में कोलकाता में गोदरेज सिंथोल के सुपर मॉडल प्रतियोगिता को जीत कर की थी, जोकि बोर्ड के द्वारा संचालित किया गया था, जिससे मिआमि में विश्व के फोर्ड सुपर मॉडल के रूप में उन्होंने भारत का प्रतिनिधित्व किया. मॉडल बनने का सुझाव कोलकाता के एक होटल में देख कर मॉडल मेहर जेसिया रामपाल ने बिपाशा को दिया था और उन्होंने उसे माना जो कि उनके लिए फायदेमंद साबित हुआ. फिर वो एक फ़ैशन मॉडल के रूप में मॉडलिंग की दुनिया में स्थापित हो गई. इसके बाद से उन्हें फिल्मों के प्रस्ताव आने शुरू हो गए. फिल्मों के साथ साथ बिपाशा बासु ने कई अपने फिटनेस के वीडियो जारी किये है. वो कई तरह के ब्रांड की एम्बेसडर भी है. सुपर मॉडल प्रतियोगिता में विनोद खन्ना ने उन्हें अपने बेटे अक्षय खन्ना के साथ फ़िल्म हिमालय पुत्र में लॉन्च करना चाहा, लेकिन बिपाशा ने इस फ़िल्म के लिए मना कर दिया था, क्योंकि उन्हें लगा की उनकी भूमिका बहुत छोटी है.

बिपाशा बासु की फिल्मोग्राफी (Bipasha Basu filmography)

बिपाशा बासु द्वारा अभिनीत फिल्म इस प्रकार है-

  • 2001 से 2002 तक उनके फिल्मों का सफ़र :

बिपाशा बासु ने फिल्मों में अपने अभिनय की शुरुआत 2001 में की. बिपाशा बासु ने विजय ग्लानी द्वारा निर्मित फ़िल्म ‘अजनबी’ में काम किया. इस फ़िल्म में इनके हीरो अक्षय कुमार थे, इस फ़िल्म का निर्देशन अब्बास मस्तान के द्वारा किया गया था. यह फ़िल्म एक अमेरिकन फ़िल्म जिसका नाम कंसेंटिंग एडल्ट्स था, उस से प्रभावित होकर बनाई गई थी. इस फ़िल्म में बिपाशा बासु ने नकारात्मक भूमिका निभाई थी, यह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर कुछ अच्छा कमाल नहीं कर पाई, लेकिन आलोचकों के द्वारा इसकी प्रतिकूल समीक्षा की गई थी. इस फ़िल्म के लिए उन्हें पुरस्कार भी प्राप्त हुआ था. अक्षय कुमार का जीवन परिचय यहाँ पढ़ें.

2002 में बिपाशा बासु की फ़िल्म ‘राज’ आई यह एक थ्रिलर फ़िल्म थी. जोकि काफी सफल फ़िल्म रही. इस फ़िल्म को विक्रम भट्ट के द्वारा निर्देशित किया गया था, इस फ़िल्म की सफलता ने बिपाशा बासु को बॉलीवुड की स्थापित हिरोइन में शामिल कर दिया. आलोचकों ने भी इस फ़िल्म की काफी सराहना की, इसके लिए उन्हें सकारात्मक सराहना मिली. इस फ़िल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए फ़िल्म फेयर अवार्ड के लिए नामांकित किया गया था. संजय गढ़वी की फ़िल्म ‘मेरे यार की शादी है’ में भी उन्होंने सहायक की भूमिका की थी, जिसके लिए उनकी सराहना की गई थी. यह फ़िल्म व्यावसायिक तौर पर सफल रही थी. उसके बाद उन्होंने डेविड धवन की फ़िल्म ‘चोर मचाये शोर’ में काम किया, यह फ़िल्म व्यावसायिक रूप से असफल रही थी. इसके साथ ही विपाशा बासु तेलगु फिल्मों में भी काम कर चुकी है, उनकी तेलगु में फ़िल्म आई थी जिसका नाम था ‘तक्कारी डोंगा’, जिसमे हीरो महेश बाबु थे. और नायिका लिसा रे थी, इस फ़िल्म में उन्होंने सहायक अभिनेत्री की भूमिका को निभाया था, यह फ़िल्म भी बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं हो पाई थी.

  • 2003 से 2005 तक का उनकी फिल्मों का सफ़र :

2003 में उनकी एक फ़िल्म आई जिसका नाम ‘जिस्म’. इस फ़िल्म में इनके हीरो जॉन अब्राहम थे, यह एक भूत की डरावनी फ़िल्म थी जिसको पूजा भट्ट ने बनाया था. इस फ़िल्म के लिए आलोचकों ने सकारात्मक सराहना की यह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर काफी सफल रही. इस फ़िल्म को चैनल 4 के के पोल में 100 सफल फिल्मों की सूची में से 92 वे नम्बर रखा था. इस फिल्म में उन्होंने एक ऐसी पत्नी की भूमिका निभाई जो अपने पति से धोखा करते हुए उसे मारना चाहती है. बॉलीवुड के समीक्षक सारण आदर्श ने उन्हें उनकी आवाज और सेक्सी लुक की वजह से जीनत अमान और परवीन बबी जैसी प्रभावशाली अभिनेत्री के साथ उनकी तुलना की.

2004 में बिपाशा की 4 फिल्मे आई जिनके नाम है ‘एतबार’, ‘रुद्राक्ष’, ‘रक्त’, ‘मदहोशी’ ये चारों फ़िल्में बॉक्स ऑफिस पर कुछ अच्छा कमाल नहीं कर पाई. उनकी फिल्म एतबार में एक ऐसी नव युवती की भूमिका निभाई है जो की एक मनोरोगी के प्यार में पड़ जाती है. इस फिल्म के लिए आलोचकों ने टिप्पणी की, यह फिल्म में पात्रो ने दर्शको को बांध कर नहीं रख पाई, इसलिए यह असफल रही. यह फिल्म विक्रम भट्ट ने बनाई थी. फिर उनकी फिल्म रुद्राक्ष आई जिसके निर्माता मणि शंकर थे जो की भारतीय महाकाव्य रामायण पर आधारित थी, इस फिल्म के लिए भी आलोचकों ने मिली जुली प्रतिक्रिया दी. उसके बाद उनकी फिल्म आई रक्त, जिसमे उन्होंने एक टैरो कार्ड रीडर की भूमिका निभाई. इसमें उनके किरदार को एक खून के रहस्य से पर्दा उठाने की कोशिश में लगा हुआ दिखाया गया था. इस फिल्म के बारे में प्लेनेट बॉलीवुड की एक आलोचक जिनका नाम श्रुति हसन है ने कहा कि बिपाशा बासु ने लोगों को इस फिल्म के जरिये एक अलग रूप में आकर्षित किया है. इसके साथ ही उनकी एक और फिल्म आई जिसका नाम था मदहोशी. इस फिल्म में इनके हीरो जॉन अब्राहम थे. इस फिल्म को अनिल शर्मा ने बनाया था. इस फिल्म में उन्होंने एक मानसिक रूप से बीमार महिला के किरदार को जीवंत किया था.

फिर उनकी फिल्म आई ‘बरसात’ जोकि 2005 में आई थी, इस फिल्म में हीरो बॉबी देओल थे. यह फिल्म एक त्रिकोणीय प्रेम कहानी पर आधारित थी. इस फिल्म में प्रियंका चोपड़ा भी थी. इस फिल्म के बारे में तरण आदर्श ने कहा कि इसमें बिपाशा सिर्फ अंतिम सीन में ही थोड़ी उभरती हुई दिखी है. यह फिल्म भी कुछ खास सफल नहीं रही. प्रियंका चोपड़ा का जीवन परिचय यहाँ पढ़े.

फिर उन्होंने तमिल फिल्मों का रुख किया और तमिल में उनकी एक फिल्म आई जिसका नाम था ‘साचें’. यह फिल्म हिट रही. इसके बाद उन्होंने प्रकाश झा द्वारा निर्मित फिल्म की जिसका नाम था ‘अपहरण’. यह फिल्म बहुत ही सफल रही. इस फिल्म ने राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार को प्राप्त किया, यह पुरस्कार इस फिल्म की सबसे अच्छी कहानी के लिए मिला था. इसके बाद बिपाशा बासु ने सोनू निगम के अलबम ‘किस्मत में तू’ के लिए अभिनय किया. फिर उन्हें जय सेंस के संगीत वीडियो स्टोलेन में एक अतिथि किरदार के रूप में देखा गया.

  • 2005 से 2009 तक का उनके फिल्मों का सफ़र :

बिपाशा बासु की फिल्म 2005 में आई ‘नो एंट्री’ जो की बॉक्स ऑफिस पर बहुत ही सफल फिल्म रही. इस फिल्म ने 750 मिलियन का रोजगार किया और सर्वाधिक कमाई करने वाली फिल्म बन गयी. इस फिल्म में उनके द्वारा एक बार गर्ल के किरदार को किया गया था, जो की दो पुरुषों की पत्नी होने का अभिनय करती है. इस फिल्म के लिए उन्हें पुरस्कार के लिए नामांकन भी प्राप्त हुआ था. 

2006 में उनकी चार फ़िल्में आई ‘फिर हेरा फेरी’, ‘ओमकारा’, ‘धूम 2’ और ‘कॉर्पोरेट’. इन फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन किया और व्यावसायिक रूप से भी सफल रही. फिल्म ‘फिर हेरा फेरी’ तो उस साल की सबसे अधिक कमाई करने वाली 9 वी फिल्म बन गयी. इस फिल्म में उनके हीरो अक्षय कुमार थे. बिपाशा ने इस फिल्म में एक चोरनी या ठगी करने वाली के किरदार को अभिनीत किया था. उसके बाद मधुर भंडारकर की फिल्म ‘कॉर्पोरेट’ में बिपाशा ने काम किया, जिसमे उन्होंने एक व्यावसायिका की भूमिका की थी. इस फिल्म को आलोचकों की सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली. इसके बारे में आलोचक अर्पणा ने कहा कि इस फिल्म में जो उन्होंने महत्वकांक्षी औरत की भूमिका की है वह तारीफ की हक़दार है. इस फिल्म के लिए उन्हें दूसरी बार फिल्म फेयर के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के रूप में नामांकित किया गया था.

विशाल भारद्वाज के निर्देशन में उनकी फिल्म आई ‘ओमकारा’, जिसमे उनकी भूमिका को लोगों ने काफ़ी पसंद किया और इस फिल्म का एक गाना था जिसके बोल थे ‘बीडी जलाई ले’ इसको देश के साथ ही विदेशों में भी काफी पसंद किया गया. सीएनएन आईबीएन के आलोचक राजीव मसंद ने कहा कि बिपाशा को फिल्म को मसालेदार बनाने के लिए लाया जाता है, और वो ऐसा करने में सफल भी हो जाती है.

इसके बाद उनकी फिल्म आई ‘धूम 2’. जिसको आदित्य चोपड़ा ने बनाया था, जिसकी समीक्षा करते हुए द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया के निखत आजमी ने कहा कि बिपाशा अपनी बिकनी अवतार में दर्शकों को बांधने में सफल रही है. फिर उनकी फिल्म 2007 में ‘धन धना धन गोल’ आई जिसको रोंनी स्क्रूवाला ने बनाया था, यह फिल्म औसतन रही. लेकिन इस फिल्म का एक गाना जिसके बोल थे ‘बिलों रानी‘ को खूब सराहना मिली. इसके बाद से उन्हें लोगों के द्वारा ‘बिलों रानी’ एक उपनाम भी मिल गया.

2008 में अब्बास मस्तान की एक फिल्म आई जिसका नाम रेस था. इस फिल्म में इनके किरदार का नाम सोनिया था, जोकि दो भाइयों के प्रेम के बीच फंस गयी है. इस फिल्म में उनके साथ हीरो के रूप में सैफ अली खान और अक्षय खन्ना है. इस फिल्म ने सफल होने के साथ ही बॉक्स ऑफिस पर 680 मिलियन की कमाई की और साथ ही यह उस साल की बॉलीवुड की चौथी सबसे सफल फिल्म रही. आलोचकों ने भी उनकी तारीफ करते हुए कहा कि यह उनकी अब तक की सबसे बेहतरीन फिल्म रही है.

इसके बाद उनकी फिल्म आई ‘बचना ऐ हसीनों’, जिसको सिद्धार्थ आनंद के द्वारा बनाया गया था. इस फिल्म में उन्होंने एक सुपर मॉडल के किरदार को जीवंत किया था. इस फिल्म के लिए उनको दूसरी बार सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए फिल्म फेयर अवार्ड के लिए नामांकित किया गया था. यह फिल्म व्यावसायिक रूप से काफी सफल रही. फिर उनकी फिल्म 2009 में आई जिसका नाम था ‘आ देखें ज़रा’ जो की असफल रही. फिर इसी वर्ष रोहित शेट्टी द्वारा निर्देशित फिल्म आई ‘आल द बेस्ट : फन बैगिन्स’, जिसमे उनके द्वारा निभाई गयी कॉमिक किरदार को लोगों ने खूब पसंद किया. फिर वह बंगाली फिल्म शोब चरित्रों काल्पोनिक में काम की. यह फिल्म रितुपर्णो घोष ने बनाई थी. जिसके बाद आलोचक सुभाष के झा ने उनकी तुलना शबाना आज़मी के साथ की थी.

  • 2010 से अब तक उनके फिल्मों का सफ़र :

2010 में उनकी फिल्म ‘पंख’ आई. फिर राहुल ढोलकिया के निर्देशन में उन्होंने ‘लम्हा’ फिल्म को किया, यह फिल्म अपने विषय को लेकर थोड़ी विवादास्पद भी रही. बाद में उनकी प्रियदर्शन के निर्देशन में फिल्म आई ‘आक्रोश’. जिसके लिए आलोचकों ने मिली जुली प्रतिक्रिया दी. 2011 में उनकी फिल्म ‘दम मारो दम’ को आलोचकों ने खूब सराहा. फिर उनकी फिल्म आई ‘प्लेयर्स’ जोकि अब्बास मस्तान के द्वारा निर्देशित की गई थी, यह फिल्म 2012 में रिलीज हुई थी.

विक्रम भट्ट के द्वारा निर्देशित फिल्म ‘राज़ 3’ में उन्होंने काम किया. जो कि बॉक्स ऑफिस पर बहुत ही सफल फिल्म रही. यह एक हॉरर थ्रिलर फिल्म थी, इस फिल्म ने अकेले भारत में 730 मिलियन की कमाई की. आईएएनएस के समीक्षक सुभास के झा ने इस फिल्म में उनकी भूमिका के लिए सकारात्मक समीक्षा की. फिर वो ‘रेस 2 में एक अतिथि किरदार की भूमिका में दिखी. इसके बाद वो एक और हॉरर फिल्म में दिखी जिसका नाम था ‘आत्मा’. इस फिल्म को सुपर्ण शर्मा ने निर्देशित किया था और कुमार मंगत और अभिषेक पाठक ने निर्मित किया था.

इसके बाद 2014 में बिपाशा की फिल्म आई थी ‘हमशक्ल’, जो की असफल फिल्म रही थी. इस फिल्म को साजिद खान ने निर्देशित किया था. इसके बाद उन्होंने पहली बार एक अंग्रेजी फिल्म में काम किया जिसका नाम था ‘द लवर्स’, जोकि रोनाल्ड जोफ्फे की ड्रामा पर आधारित थी. यह फिल्म 13 मार्च 2015 में रिलीज हुई थी. 2015 में ही उन्होंने अपने पति के साथ एक फिल्म बनाई थी जिसका नाम था ‘अलोन’. यह फिल्म भूषण पटेल की हॉरर फिल्म थी. इस फिल्म के लिए उन्हें आलोचकों की मिली जुली प्रतिक्रिया प्राप्त हुई.                            

बिपाशा बासु को मिले अवार्ड और उपलब्धियाँ (Bipasha Basu Awards)

  • बिपाशा बासु द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया के 2011 के 50 सबसे आकर्षक महिलाओं की सूची में से 8 वें नम्बर पर थी, 2012 में तेरहवां और 2013 में सातवें स्थान पर थी.
  • इसके साथ ही यू के  की पत्रिका इस्टर्न आई के द्वारा उन्हें 2005  और 2007 की सबसे सेक्सी एशियाई महिला के रूप में मुद्रित किया.

ये सभी बिपाशा बासु की उपलब्धियों में सम्मिलित है. बिपाशा को कुछ फिल्मों के लिए फिल्म फेयर अवार्ड भी मिले.      

वर्ष फ़िल्म अवार्ड
2001 अजनबी सर्वश्रेष्ठ महिला पदार्पण
2003 जिस्म सर्वश्रेष्ठ खलनायिका

बिपाशा बासु के चर्चित बोल (Bipasha Basu quotes)

  1. बिपाशा ने कहा है कि मेरा ये मानना है की हमे अपने जीवन को पुरे आनंद और मजे के साथ जोर जोर से हँसते हुए थोड़ी पगालपंती के साथ जीना चाहिए, और मैं ऐसा कर भी रही हूँ.
  2. मै लोगों पर आँख बंद कर के विश्वाश कर लेती हौं अगर वो मुझे किसी भी तरह से दुखी भी करे तो मैं उनसे दुरी नहीं बना सकती और न ही उन्हें बदल सकती हूँ. मै इसलिए लोगों पर विश्वास कर लेती हूँ क्योंकि मेरे प्यार करने का तरीका यही है.
  3. कुछ भी ऐसा नहीं है जिसको आप बचा के रख सकते है इसके लिए चाहे आप कितना भी कोशिश कर ले उस कोशिश का कोई मतलब नहीं बनता है.
  4. लोगों के अनुसार अगर एक लड़की शर्ट और स्कर्ट पहन ले तो वह ज्यादा आकर्षित दिखेगी, लेकिन मेरा ये मानना है कि शर्ट और स्कर्ट की तुलना में एक साड़ी में ज्यादा आकर्षक दिखेगी और अगर वो साड़ी गीली हो तो और भी ज्यादा आकर्षित दिखेगी.
  5. मै वैसी मनोरंजक फ़िल्में करना चाहती हूँ जहाँ पर एक अभिनेता के समान ही एक औरत को भी सामान नजरों से देखा जाये.
  6. लम्बे समय तक भारतीय महिलाओं को अपने को ठीक रखने के लिए सुडौल काया की चाहत रही है, लेकिन अब आधुनिक भारत की महिला अपने शरीर को एक अच्छे शेप अर्थात आकार में देखना चाहती है. मै ऐसा इसलिए नहीं कह रही हूँ कि मै पतली होने का समर्थन कर रही हूँ. आज सभी की चाहत पतले होने की हो गयी है. भारत भी इस सोच में पीछे नहीं है.
  7. मै वैसी ही फिल्मे करती हूँ जो दर्शकों का मनोरंजन करे और साथ ही मनोरंजन के मूल्य पर खरा उतरे बाकि की चीजें मेरे लिए कोई मायने नहीं रखती है.
  8. मैंने कुछ भड़कीली और कठोर फ़िल्में भी की है लेकिन मै खुश हूँ, क्योकि वो सभी मेरे निर्णय थे उन्हीं फिल्मों ने मेरी पहचान मुझसे करा दी जो मैं हूँ.
  9. मै जब पैसों से अपने आप को एक फिल्म बनाने के लायक समझूंगी, तब मै एक फिल्म बनाउंगी जो कि खेल जैसे कि रेसर या मैराथन के धावक पर आधारित होगी.
  10. आप अकेले जन्म लेते है और अकेले मरते है लेकिन मुझे ये समझ नहीं आता कि एक रिश्ते में होने के बाद भी कोई अकेले कैसे रह लेते है. लेकिन ये सही है कि अकेले रहने पर तनाव आपके जीवन में कम होता है मै इसे स्वीकारती और मानती हूँ.               

बिपाशा बासु विवादों में (Bipasha Basu controversy)

फिल्मों का विवादों से पुराना नाता है, बिपाशा के साथ भी विवाद का जुड़ाव रहा है. पहला विवाद उनके साथ डीनों मोरिया का नाम उनके बॉय फ्रेंड के रूप में जुडा फिर उनके कुछ फोटोग्राफ जो कि किसी पत्रिका में छपे थे, उसको लेकर भी विवाद हुए थे जिस वजह से कुछ प्रदर्शनकारी उनके घर तक प्रदर्शन करने पहुंच गए थे. बिपाशा का नाम उनके कई सह अभिनेताओं के साथ जुड़ा हुआ है, जिनमे अभिनेता जॉन अब्राहम के साथ उनके रिश्ते काफी समय तक जुड़े रहे. ये दोनों अपने रिश्ते को लेकर काफ़ी गंभीर भी थे, लेकिन किसी कारण वश दोनों का ब्रेकअप हो गया उसके बाद जॉन ने प्रिया रुन्चाल से शादी कर ली.

जॉन से ब्रेकअप के बाद उनका नाम हरमन बवेजा के साथ भी जुड़ा. इसके साथ ही उनका नाम जोश हर्त्नेट जोकि हॉलीवुड अभिनेता है उनके साथ भी जुडा. उसके बाद उन्होंने शादी कर ली.  उनके साथ निर्माता साजिद खान के साथ अनबन की बाते भी विवादों में रही थी, जिस वजह से उन्होंने फिल्म हमशक्ल का प्रमोशन नहीं किया था. उनके साथ एक और विवाद जुड़ा जो कि एक टेप जारी किया गया, जिसमे उनकी और नेता अमर सिंह के बीच वार्तालाप को सुना गया था. लेकिन अमर सिंह ने इसे नाकारते हुए कहा था कि मेरे साथ जिसकी बात हुई थी वो अभिनेत्री बिपाशा बासु नहीं बल्कि बिपाशा नाम की दूसरी लड़की थी. इस तरह बिपाशा कई विवादों से घिर चुकी हैं.          

अन्य पढ़ें –

Surbhi

सुरभिदीपावली वेबसाइट की लेखिका है| जिनको जीवनी व हिंदी के अन्य सभी विषयों मे लिखने का शोक है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *