ताज़ा खबर

लौकी और उसके जूस के फायदे | Lauki and juice benefits in hindi

Lauki (bottle gourd) and Lauki juice benefits in hindi लौकी  एक  बड़ा  फल  हैं,  जिसकी  परत  सामान्यतः  मोटी  हैं.  यह  बेल  के  रूप  में  उगती  हैं.  लौकी  एक  बहुत  ही  फायदेमंद  सब्जी  हैं,  जिसमे  भरपूर  मात्रा  में  पानी  और  पोषक  तत्व  पाए  जाते  हैं.  साथ  ही  इसका  ज्यूस  भी  बहुत  लाभदायक  होता  हैं.  यह  ऊपर  से  कुछ  पीले  और  हरे  रंग  की  होती  हैं  और  इसे  छिलने  पर  इसके   अन्दर  का  गूदा  [ Flesh ]  सफ़ेद  रंग  का  होता  हैं  और  इसमें  पाए  जाने  वाले  बीज  भी   सफ़ेद  रंग  के  होते   हैं.  इसकी  खेती  नम  और  आर्द्र  क्षेत्रों  में  की  जाती  हैं,  जैसे कि  भारत,  श्रीलंका,  इंडोनेशिया,  मलेशिया,  फिलिपिन्स,  चाइना,  अफ्रीका  और  दक्षिणी  अमेरिका,  आदि.  लौकी  को  दूधि  और  घिया  भी  कहा  जाता  हैं.  इसमें  अनेक  विटामिन  और  खनिज  पदार्थ  पाए  जाते  हैं,  जैसे : केल्शियम,  मैग्नेशियम,  फास्फोरस,  विटामिन  A  और  विटामिन  C,  आदि;  जो  शरीर  के  लिए  बहुत  ही  फायदेमंद  हैं.

लौकी और उसके जूस के फायदे 

Lauki and juice benefits in hindi

लौकी  की  सब्जी  और   इसके  ज्यूस  दोनों  से  ही  अनेक  प्रकार  के  फायदे  होते  हैं.  लौकी  का  ज्यूस  इससे  होने  वाले  फायदों  के  कारण  चिकित्सा  विज्ञान  में  भी  यह बहुत  महत्व  रखता  हैं.  लौकी   का  ज्यूस  पानी   का  अच्छा  माध्यम  हैं,  जो  कि  शरीर  के  सामान्य  से  अधिक  तापमान  को  कम  करने  में  सहायक  होता  हैं.  प्रतिदिन  1  गिलास  लौकी  का  ज्यूस  पीने  से  आप  अपने  शरीर  की  अतिरिक्त  चर्बी  को  कम  कर  सकते  हैं.

Lauki  juice

लौकी  हमारे  पेट  के  लिए  भी  लाभदायी  हैं,  यह  आसानी  से  हजम  हो  जाती  हैं   और  साथ  ही  यह  पाचन  क्रिया  को  सुचारू  रूप  से  चलाने  में  मदद  करती  हैं.

नीचे  कुछ  कारण  दिए  जा रहे  हैं,  जिनसे  स्पष्ट  होता  हैं  कि  क्यों  हमे  अपने  भोजन  में  लौकी  को  शामिल  करना  चाहिए.  इसे  भोजन  में  सब्जी  या  ज्यूस  के  रूप  में   शामिल   करते  हैं,   दोनों  के  ही  अपने – अपने  फायदे  हैं.

साधारण  लौकी  के  फायदे  (Lauki ke Fayde):

  • लौकी को  उबाल  कर  कम  मसालों  के  साथ  सब्जी  बनाकर  खाने  से  तनाव  कम  करने  में  और  पित्त  को  बाहर  निकालने  में  उपयोगी  औषधि  साबित  होती  हैं.
  • लौकी में  पोटेशियम  नामक  पोषक  तत्व  पाया  जाता  हैं,  जो  किडनी  सम्बन्धी  बिमारियों  के  उपचार  में  बहुत  उपयोगी  होता  हैं.
  • लौकी के  सेवन  से,  समय  से  पूर्व  बालों  के  सफ़ेद  होने  की  समस्या  से  निजात मिलती  है.
  • यह ब्लड  शुगर  को  नियंत्रित  करने  में  सहायक  हैं.

लौकी  के  ज्यूस  के  फायदे  (Lauki juice benefits ):

  • वजन घटाने  में  कारगर : लौकी  में  मोटापे  को  कम  करने  वाले  तत्व  पाए  जाते  हैं,  यही  कारण  हैं  कि   यह  वजन  घटाने में  उपयोगी  हैं. लौकी  में  लगभग  97%  पानी  होता  हैं  और  इसे  खाने  के  बाद  लम्बे  समय  तक  भूख  पर  भी  नियंत्रण  रहता  हैं,   जिस  कारण  खाने – पीने  पर  नियंत्रण  रहता  हैं  और  इससे  भी  मोटापा  नहीं  बढ़ता. लौकी  का  ज्यूस  खाली  पेट  लेने  से  वजन  कम  होता  हैं.
  • मूत्र सम्बन्धी  समस्या  का  समाधान : यदि  मूत्र  त्याग  करते  समय  जलन  की  समस्या  हो  तो  एक  गिलास  लौकी  का  ज्यूस  नियमित  रूप  से  सेवन  करने  पर  इससे  राहत  मिलती  हैं.
  • ह्रदय के  लिए  लाभदायक : अगर  किसी  खाद्य  पदार्थ  में  कोलेस्ट्रोल  न  हो,  तो  वो   ह्रदय  के  लिए  बहुत  अच्छा  होता  हैं.  लौकी  भी  इन्ही  खाद्य  पदार्थो  में  से  एक  हैं. साथ  ही   इसमें  फाइबर,  एंटी –ओक्सिडेंट  एवं   विटामिन – C  भी  पाया  जाता  हैं,  जो   कि  ह्रदय  के  लिए  बहुत  ही  फायदेमंद  होते  हैं.  साथ  ही  रक्तदाब  [ Blood  Pressure]  को  भी  नियंत्रित  करने  में  सहायक  हैं.
  • अनिद्रा की  समस्या  का  समाधान : यदि  किसी  व्यक्ति  को  नींद  न  आने  की  समस्या  हैं,  तो  उसे  लौकी  का  ज्यूस  साबुत  तिल [ Sesame Seed]  अथवा  इसके  तेल  के  साथ  ग्रहण  करने  से  इस  समस्या  को  दूर  करने  में  मदद  मिलती  हैं  और  बेहतर  नींद  आती  हैं.
  • शरीर में  पानी  की  कमी  को  दूर  करना : यदि  किसी  व्यक्ति  के  शरीर  में  पानी  की  कमी  हो  जाती  हैं, जैसे बहुत  ज्यादा  पसीना  आना,  डायरिया  होना  या  थकान  महसूस  हो  तो  इसे  दूर  करने  का  उपाय  हैं –  एक  गिलास  लौकी   का  ज्यूस.   जो  कि  डायबिटीज़  के  मरीजों  में  आम  होती  हैं,  को  भी  कम  करने  का  काम  करता  हैं.  डायरिया  होने  पर  यह  जीवन  रक्षक  घोल  का  काम  करता  हैं.
  • पेट रोग  में  लाभदायक : लौकी  में  पेट  रोगों  को  ठीक  करने  की  भी  क्षमता  होती  हैं.  जिन  लोगों  में  पेट  सम्बन्धी  परेशानी  होती  हैं,  जैसे :  गैस,  अपच,  और  कब्ज,  आदि  होने  पर,  वे  लौकी  को धोकर  छिलके  सहित  गरम   पानी  में  डालकर उसका  ज्यूस  निकालें.  एक  कप  ज्यूस  नियमित  रूप  से  लेने  पर  परेशानी  में  आराम  मिलता  हैं  और  एसिडिटी  भी  कम  होती  हैं.
  • रुसी [ Dandruff ] का  इलाज : आपके  बाल  और  इनकी  जड़ें  भी  शरीर  का  महत्वपूर्ण  हिस्सा  हैं  और  इनमे  कोई  तकलीफ  हो  तो,   आपको  पूर्ण  रूप  से  स्वस्थ  नहीं  माना  जा  सकता. रुसी  होने  पर  आपकी  बालों  की   जड़ें  मृत  त्वचा  से   ढँक  जाती  हैं,  जो  समस्या  को  और  भी  बढ़ा  देते  हैं.  इससे  उबरने  के  लिए  लौकी  के  ज्यूस   को   आंवला  ज्यूस  के  साथ  मिलाकर  मालिश  करना  असरकारक  होता  है.
  • यह तोंद (पेट)  कम  करता  हैं  और  कई  पोषक  तत्वों  से  भरपूर  होने  के  कारण  आपको  स्वस्थ  रखता  हैं.
  • लौकी के  ज्यूस  में  फाइबर  अधिक  मात्रा  में  पाया  जाता  हैं,  जो  पाचन  क्रिया  को  सुचारू  रूप  से  चलाने  में  सहायक  होता  हैं,  जिससे  मेटाबोलिज्म  भी  अच्छा  रहता  हैं,
  • प्रसिध्द न्यूट्रीशनस्ट  शुबी  हुसैन  के  अनुसार  इसके  नियमित  सेवन  से  एसिडिटी  और  अपच  जैसी  समस्या  का   भी   सामना  नहीं  करना  पड़ता.

इस  प्रकार  दोनों  ही  रूपों   में  लौकी  फायदेमंद  हैं,  परन्तु  इसे  उपयोग  में  लेने  से  पूर्व  निम्न  बातों  का  विशेष  रूप  से  ध्यान  रखना  चाहिए :

  • लौकी का  ज्युस  बनाने  से  पहले  उसे  टेस्ट  कर लेना  चाहिए,  अगर  ये  कड़वी  हो  तो  इसका  उपयोग  नहीं  करना  चाहिए.
  • लौकी के  ज्यूस  के  साथ कोई  अन्य  किसी सब्जी, या फल के ज्यूस  को  मिक्स  नहीं  करना  चाहिए.

U.S.  के  कृषि – विभाग   के  आंकड़ों  के  अनुसार  100  ग्राम  लौकी  में  निम्न  पोषक  तत्व,  विटामिन  और  खनिज  पदार्थ  होते  हैं :

क्रमांक पोषक  तत्व मात्रा
1 पानी 96  ग्राम
2 एनर्जी 14  कैलोरी
3 प्रोटीन 0.62  ग्राम
4 वसा 0.02  ग्राम
5 कार्बोहाईड्रेट 3.39  ग्राम
6 फाइबर 0.5  ग्राम

 

क्रमांक खनिज  पदार्थ मात्रा
1 केल्शियम 26  मिली  ग्राम
2 लौह  तत्व 0.20  मिली  ग्राम
3 मैग्नीशियम 11 मिली  ग्राम
4 फास्फोरस 13 मिली  ग्राम
5 पोटेशियम 150  मिली  ग्राम
6 सोडियम 2  मिली  ग्राम
7 जिंक 0.70मिली  ग्राम

 

क्रमांक विटामिन मात्रा
1 विटामिन  C 10.1  मिली  ग्राम
2 थायमिन 0.029  मिली  ग्राम
3 राइबोफ्लेविन 0.022  मिली  ग्राम
4 नियासिन 0.320  मिली  ग्राम
5 विटामिन B – 6 0.04 मिली  ग्राम
6 फोलेट, DFE 6 mcg
7 विटामिन A 16  IU

इस  प्रकार  इससे  होने  वाले  लाभों  को  देखते  हुए  हमें  लौकी  को  हमारे  भोजन  में  आवश्यक  रूप  से  शामिल  करना  चाहिए.

Vini

विनी दीपावली वेबसाइट की लेखिका है, जिनको लिखने का शौक है, इसलिए वे दीपावली साईट के लिए कुछ विषयोंपर लिखती है|

यह भी देखे

BlackShilajit

शिलाजीत आयुर्वेदिक औषधि के फ़ायदे | Benefits of Ayurvedic Medicine Shilajit in hindi

Benefits of Ayurvedic Medicine Shilajit in hindi संस्कृत के ‘शिलाजतु’ शब्द से बने शब्द “शिलाजित” …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *