ताज़ा खबर

कैमरन बैनक्रॉफ्ट और कैप्टन स्टीव स्मिथ ने बॉल टेम्परिंग करने का अपराध स्वीकार किया | Cameron Bancroft Steve Smith Admit Ball Tampering In 3rd Test Match In Hindi

कैमरन बैनक्रॉफ्ट और कैप्टन स्टीव स्मिथ ने बॉल टेम्परिंग करने का अपराध स्वीकार किया | Cameron Bancroft Steve Smith Admit Ball Tampering In 3rd Test Match In Hindi

दक्षिण अफ्रीका में चल रहे तीसरे टेस्ट मैच के दौरान गेंद के साथ छेड़खानी करने का मामला सामने आया है, शनिवार 24 मार्च 2018 को कैप्टाउन में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच में टेस्ट मैच चल रहा था, जिसमें ऑस्ट्रेलिया के ओपनर बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट को गेंद पर एक पीला पदार्थ रगड़ते हुए देखा गया था. इस पदार्थ की मदद से कैमरन गेंद को बदलवाना चाहते थे. वहीँ कुछ लोगों का कहना है कि गेंदबाजी में कुछ फायदा उठाने के लिए ऐसा किया गया. क्योंकि गेंद की टेम्परिंग करने से गेंद तोड़ा रुक कर आती है एवं साथ में एक्स्ट्रा स्विंग भी करने लगती है जिससे बल्लेबाज को गेंद समझने में परेशानी हो सकती है और बल्लेबाज आउट भी हो सकता है.  लेकिन कैमरन अपने इस कार्य को करने में कामयाब ना हो सके. वहीँ इस मामले में कहा जा रहा है कि सीनियर्स प्लेयर ने ही कैमरन को बॉल टेम्परिंग करने का आदेश दिया था.

इसके अलावा पहले इस मामले को छिपाने की कोशिश की गई थी, लेकिन कैमरे में पूरी तस्वीरें कैद होने के बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरन इस बात को नहीं ठुकरा सके कि उन्होंने गेंद के साथ छेड़खानी की थी.

Cameron Bancroft Steve Smith Admit Ball Tampering In 3rd Test Match In Hindi

कैमरन बैनक्रॉफ्ट एवं स्टीव स्मिथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मानी गलती  (Smith and Cameron Bancroft admit ball tampering during press-conference)

टेस्ट मैच के तीसरे दिन की समाप्ति के बाद स्मिथ और कैमरन ने अपनी गलती को मीडिया के सामने कबूला है. इतना ही नहीं स्मिथ के द्वारा कहा गया कि इस मामले के बारे में उन्हें पहले से ही जानकारी थी और ये उनकी पूरी ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का गलत कदम था. इसके आलावा स्मिथ और कैमरन दोनों ने बयान देते हुए कहा कि वो ऐसा आईन्दा नहीं होने देंगे, क्योंकि इस तरह के कार्य खेल भावना को ठेस पहुंचाते हैं.

इस मामले में दो विचार सामने आये है पहले विचार में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर मोइजिस हेनरिक्स ने ट्वीट किया है कि वह मानते हैं कि ‘वरिष्ठ खिलाड़ियों के साथ इस तरह की चीटिंग करने को लेकर कोई भी बैठक नहीं हुई थी.’ शायद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान ने अपने युवा खिलाड़ी कैमरन को बचाने के लिए उनका साथ दिया है. वहीँ दूसरी तरफ स्मिथ ने कबूला है कि कैमरन को बॉल टेम्परिंग करने के लिए कहा गया था, जिसकी उन्हें पूरी जानकारी थी.

बॉल टेम्परिंग का पूरा मामला क्या है (Full information about ball tampering case in cricket)

  • दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन में तीसरे दिन अफ्रीका अपनी दूसरी पारी में 238 रन बना चुकी है. इसी मैच के दौरान ही कैमरे की मदद से कैमरन को अपनी जेब से पीले रंग का पदार्थ निकालते हुए देखा गया और फिर कैमरन ने इसे गेंद पर रगड़ा, जो कि पूरी तरह से टीवी कमरे में रिकॉर्ड हो गया. उसके बाद जब इस वीडियो को मैच ग्राउंड में लगी स्क्रीन पर दिखाया गया तो दक्षिण अफ्रीका सपोर्टर्स ने शोर मचाना शुरू कर दिया. फिर अंपायर के निर्णय के बाद माहौल शांत हुआ.
  • जब अम्पायर्स निगेल लांग और रिचर्ड इलिंगवर्थ ने कैमरन को बुला कर जवाब मांगा तो कैमरन ने अपने सनग्लासेस को साफ करने का बहाना बनाकर मामले को रफा दफा कर दिया. जिसके बाद अम्पायर्स ने मैच को फिर से चालू रखने की अनुमति दे दी और मैच के बाद जाँच पड़ताल होने की सम्भावना व्यक्त की गई.
  • अपनी मीडिया के साथ बातचीत के दौरान स्मिथ ने कहा कि वो अपनी कप्तानी से इस्तीफ़ा नहीं देने वाले हैं. हालांकि आईसीसी ने कैमरन के खिलाफ कड़े कदम उठाने का फैसला लिया गया है. लेकिन बॉल टेम्परिंग के इस केस को लेकर स्मिथ ने कहा कि वो इस काम में अपनी टीम मैनेजमेंट का बराबर साथ देने की वजह से शर्मिंदा हैं.

कैमरन बैनक्रॉफ्ट और कैप्टन स्टीव स्मिथ को कितनी सजा मिली  (Steve Smith suspended for one Test, Bancroft handed three demerit points)

  • इस मामले में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ को आईसीसी ने दोषी करार देते हुए एक टेस्ट मैच निलंबित कर दिया है. इसके साथ-साथ स्मिथ को अपने इस टेस्ट मैच की फीस का 100 प्रतिशत जुर्माना भी देना होगा. क्योंकि इनके ऊपर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केप टाउन टेस्ट मैच के दौरान गेंद के साथ छेड़छाड़ करने एवं खेलभावनाओं को ठुकराते हुए चीटिंग करने का आरोप साबित हो गया है.
  • आईसीसी के चीफ एग्जीक्यूटिव डेविड रिचर्डसन ने खिलाड़ियों और खिलाड़ी का समर्थन करने के लिए आईसीसी आचार संहिता के अनुच्छेद 2.1 के तहत स्मिथ के खिलाफ आरोप लगाया गया. उसके बाद स्मिथ ने अपने खिलाफ इस चार्ज को स्वीकार किया एवं दो सस्पेन्शन पॉइंट को भी माना, जिसके फलस्वरुप वो अगला टेस्ट मैच नहीं खेल पाएंगे और साथ में चार डीमैरिट पॉइंट भी स्मिथ के रिकॉर्ड में जोड़े गए है. क्योंकि इसके लिए पूरी जिम्मेदारी स्मिथ के द्वारा ली गई, कि उनके खिलाड़ी ने जो भी किया है उनकी सहमति से ही किया है.
  • इतना ही नहीं स्मिथ को एक और झटका आईपीएल-18 में भी लगा है जहाँ स्मिथ को राजस्थान रॉयल्स का कप्तान बनाया जाना था, उनसे इस पद को छीनकर अब राजस्थान की कप्तानी का मौका अजिंक्य रहाणे को दिया गया है.
  • शनिवार को तीसरे दिन के खेल के दौरान आईसीसी आचार संहिता के अंतर्गत स्तर 2 के नियमों का उल्लंघन करने के लिए कैमरन को दोषी पाते हुए तीन डीमेरिट पॉइंट दिए गए हैं. जिसके चलते ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज कैमरन को मैच फीस का 75 प्रतिशत जुर्माना भरने का आदेश दिया गया है.
  • इन सब बातों के अलावा रिचर्डसन ने कहा कि ‘ गेंद को टेम्परिंग करने का पूरा फैसला ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट के लीडरशिप ग्रुप द्वारा लिया गया था, जो कि खेल की भावनाओं को आहत करने वाला कार्य है.’ जिसके चलते क्रिकेट की मर्यादा पर सवाल खड़े हो सकते हैं. इसलिए इसके लिए नियमानुसार सजा देना आवश्यक है.

ऑस्ट्रेलिया के उपकप्तान को माना जा रहा है मास्टरमाइंड (Ball-tampering spotlight has turned to David Warner)

स्मिथ और कैमरन के बाद अब बॉल टेम्परिंग के मामले में ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज डेविड वार्नर को भी घसीटा जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक डेविड वार्नर को गेंद से छेड़छाड़ करके टेस्ट मैच के परिणाम में बदलाव लाने की कोशिश करने वाला मास्टरमाइंड माना जा रहा है. लेकिन अभी तक इस बात की पुख्ता जानकारी नहीं मिल सकी है. इसके अतिरिक्त इस खबर को कुछ लोगों द्वारा अफवाह भी बताया जा रहा है. लेकिन अगर इस मामले की जाँच में वार्नर को दोषी पाया जाता है तो उन पर कड़ी कार्यवाही हो सकती है.

वार्नर स्मिथ एवं कैमरन पर लग सकता है एक साल का प्रतिबन्ध (Steve Smith, David Warner and Bancroft could be suspended for up to a year)

  • ऑस्ट्रेलियाई मीडिया अनुमान लगा रही है कि स्कैंडल में फसे स्मिथ, वार्नर और कैमरन बैंन्क्रॉफ्ट को एक साल तक क्रिकेट से निलंबित किया जा सकता है. अगर ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड द्वारा ऐसा फैसला लिया जता है तो इन तीनों के करियर का सबसे बड़ा ड्राबैक बन सकता है.
  • अभी शुक्रवार यानी 30 मार्च को होने वाले चौथे टेस्ट मैच में वार्नर को ऑस्ट्रेलिया टीम की कप्तानी से दूर रखा गया है, जबकि वार्नर ऑस्ट्रेलिया के वाईस कैप्टन है और कप्तान स्मिथ पर इस टेस्ट के लिए बैन भी लगा हुआ है. इसलिए कप्तानी करने को वार्नर को ही दिया जाना था, लेकिन बॉल टेम्परिंग के मामले में वार्नर का नाम आने से इन्हें कप्तानी नहीं दी गई है. बल्कि स्मिथ के ना होते हुए वार्नर को कप्तानी ना देकर माइकल क्लार्क को ऑस्ट्रेलिया का कप्तान बनाया गया है.

ऑस्ट्रेलिया के कोच के रूप में डैरेन लेहमन का इइस्तीफ़ा (Darren Lehmann to resign as Australia coach)

अभी हाल में ही यानी 27 अप्रैल को ऑस्ट्रेलिया के कोच द्वारा अपने पद से इस्तीफ़ा देने की खबर भी सामने आ रही है. हालांकि इस बात को लेकर भी अभी जाँच चल रही है कि क्या ऑस्ट्रेलिया के कोच को भी इस बॉल टेम्परिंग चीटिंग की जानकारी थी या नहीं. अगर कोच को भी इस चीटिंग की जानकारी थी तो डैरेन लेहमन को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *