ताज़ा खबर

डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना 2018 | Digi Yatra Unique Identity [DY ID] Paperless Boarding Domestic Flights in Hindi

आधार आधारित डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना 2018 [घरेलू उड़ान पेपरलेस बोर्डिंग] Digi Yatra Unique Identity [DY ID] for Paperless Boarding In Domestic Flights 2018 in hindi [How to apply, Procedure, How to book, QR code, How to generate ID]

आरामदायक यात्रा के लिए, परिवहन प्रणाली में आधुनिकीकरण और तकनीकी प्रगति के कई मार्गों का चयन किया गया है. उड़ान की टिकिट की कीमतों में गिरावट के साथ, बहुत से लोग किसी भी एयरलाइन कंपनी के द्वारा यात्रा करने के लिए सक्षम हैं. लेकिन कुछ लोग इसकी जाँच प्रक्रिया एवं डॉक्यूमेंटेशन से परेशान हैं. इस बाधा को दूर करने के लिए भारत में एक नये प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई है, जिसका नाम घरेलू यात्रियों के लिए डिजी यात्रा आईडी योजना है.

Digi Yatra Unique Identity

योजना की शुरुआत (Digi Yatra ID Scheme Launched)

योजना से जुड़ी कुछ जानकारी इस प्रकार है-

क्र. म. जानकारी बिंदु जानकारी
1. योजना का नाम डिजी यात्रा योजना (घरेलू यात्रियों के लिए डिजी यात्रा आईडी)
2. योजना की घोषणा मई, 2018
3. योजना घोषित की गई विमानन मंत्रालय द्वारा
4. योजना का अंतिम फैसला एएआई (एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया)
5. योजना का स्टेटस इसे जल्द से जल्द कार्यान्वित किया जायेगा.

योजना से मुख्य लाभ (Digi Yatra ID Scheme Benefits)

इस नई और यूनिक योजना के कार्यान्वयन के पीछे मुख्य उद्देश्य, एयर यात्रा की प्रक्रिया को पेपरलेस और आसान बनाना है. सभी दस्तावेज बिना किसी पेपर के क्यूआर कोड में संगृहीत होंगे. यह ना सिर्फ यात्रियों के लिए आसान होगा, बल्कि अच्छी सेवा देने के लिए एयरलाइन कंपनी के लिए भी अच्छा होगा.

योजना की विशेषताएँ (Digi Yatra ID Scheme Features)

  1. एयर यात्रा प्रक्रिया को व्यवस्थित बनाना :- बहुत से लोगों को हवाई जहाज में यात्रा करते हुए कई परेशनियों का सामना करना पड़ता है. चेकिंग, टिकट बुकिंग एवं बोर्डिंग प्रक्रिया को व्यवस्थित बनाने के लिए डिजी यात्रा योजना शुरू की गई.
  2. सिर्फ घरेलू यात्रियों के लिए :- इस नई योजना का लाभ केवल वे यात्री उठा सकते हैं जो भारत की सरहद के अंदर ही यात्रा करना चाहते हैं. सुरक्षा कारणों की वजह से यह योजना विदेश में यात्रा करने के लिए नहीं है.
  3. नए पोर्टल की शुरुआत :– विमानन मंत्रालय ने पहले से ही एयरसेवा पोर्टल को ऑपरेट करना शुरू कर दिया है. यह वेबसाइट एयरलाइन कंपनी के खिलाफ किसी भी प्रकार की शिकायत दर्ज़ करने के लिए यात्रियों द्वारा उपयोग की जा सकती थी. अब इस नई योजना के साथ, मंत्रालय ने इस पोर्टल को एयरसेवा 2 पोर्टल के साथ बदल दिया है. इसमें शिकायतें दर्ज़ करने के साथ ही डिजी यात्रा के लिए लिंक भी शामिल होगी.
  4. प्रक्रिया को पेपरलेस बनाना :– इस योजना की सहायता से, अब पहचान के लिए पहचान पत्रों के प्रमाणों की प्रति को ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी. यहाँ तक की यात्रियों को टिकट का प्रिंटआउट करने की भी कोई आवश्यकता नहीं होगी.
  5. योजना के तहत सारे एअरपोर्ट आयेंगे :- इसके साथ यह भी उल्लेख किया गया है कि यात्रियों को अच्छी सेवा देने के लिए देश के सभी एयरपोर्ट्स में इस प्रोजेक्ट का कार्यान्वयन होगा.

डिजी यात्रा आईडी के साथ घरेलू उड़ान की टिकट बुक कैसे करें ? (How to Book Domestic Flight Tickets with Digi Yatra ID)

  1. यदि कोई यात्री डिजी यात्रा आईडी का उपयोग करना चाहते है, तो उसे अपनी सारी जानकारी एयरसेवा 2 पोर्टल पर अपलोड करनी होगी.
  2. एक बार अपना नामांकन पूरा कर लेने के बाद, पोर्टल में आपकी एक यूनिक आईडी उत्पन्न होगी. यह टिकट बुकिंग या प्रक्रिया की वास्तविक जाँच के दौरान काम आएगी.
  3. पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन तभी पूरा होगा, जब रुचिकर यात्री वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या अन्य आईडी जैसे दस्तावेज उत्पन्न करता है.
  4. एक बार सिस्टम द्वारा जानकारी की जाँच एवं आईडी प्रमाणित कर लेने के बाद, यह अपने आप ही डिजी यात्रा आईडी कोड उत्पन्न कर देगा.
  5. इस कोड के साथ आसानी से टिकट बुकिंग की प्रक्रिया हो सकती है.
  6. यात्रा वाले दिन, प्रत्येक यात्री को टिकट के साथ कुछ आईडी दस्तावेज ले कर जाने की आवश्यकता पड़ेगी. इन दस्तावेजों की केवल पहली बार आवश्यकता होगी.
  7. एयरलाइन कर्मियों द्वारा इन दस्तावेजों की जाँच एवं प्रत्येक यात्री की आँखों की पुतली को स्कैन किया जायेगा. एक बार सारी जानकारी रिकॉर्ड हो जाने के बाद, यह सिस्टम में अपलोड कर दी जाएगी.
  8. अगली बार से इन दस्तावेजों की आवश्यकता नहीं होगी. एक बार क्यूआर कोड स्कैन हो जाने के बाद यात्री की सारी जानकारी स्क्रीन पर सामने आ जाएगी.

हवाई जहाज की बोर्डिंग के लिए डिजी यात्रा का उपयोग कैसे करें ? (How to Use Digi Yatra ID For Boarding the Airplane)

  1. यात्रियों की सुविधाओं के लिए, सभी एयरपोर्ट्स में कई सारे ई – गेट्स स्थापित किये जायेंगे. ये सभी गेट्स स्कैनर्स से सुसज्जित होंगे, जो बारकोड या क्यूआर कोड को रीड करने के लिए होंगे. डिजी यात्रा आईडी को इस बार कोड के साथ प्रदर्शित किया जायेगा.
  2. यदि कोई व्यक्ति पहली बार के लिए डिजी यात्रा आईडी का उपयोग करने जा रहा है तो, उसे एअरपोर्ट पर फोटो आईडी प्रमाण ले जाना होगा. यह प्रमाणीकरण के लिए उपयोग किया जायेगा.
  3. एक बार ई – गेट में जाँच पूरी हो जाने के बाद, यात्री को प्रक्रिया में मैनुअल जाँच के माध्यम से अब नहीं जाना होगा. सिर्फ क्यूआर कोड के स्कैन हो जाने से न सिर्फ जाँच प्रक्रिया यहाँ तक की बोर्डिंग प्रक्रिया भी पूरी हो जाएगी.
  4. यात्रियों के बारे में बायोमेट्रिक जानकारी एयरलाइन्स सिस्टम में मौजूद होगी. क्योंकि यात्री क्यूआर कोड स्कैन करते हैं, तो वे फ्लाइट, सीट नंबर, गेट बंद होने का समय एवं सम्बंधित टर्मिनस के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे.
  5. पहले, इसकी टिकट पर उत्पादन की आवश्यकता थी. डिजी यात्रा आईडी के कार्यान्वयन का धन्यवाद, कि यह प्रक्रिया बिना किसी पेपर के उपयोग के साथ पूरी हो सकती है.

इस योजना के साथ, यात्री कम से कम दस्तावेजों के सम्बन्ध में हलकी यात्रा करने में सक्षम हो जायेंगे. जल्दबाजी में कुछ महत्वपूर्ण पेपर छूट जाते हैं, इसके परिणामस्वरुप फ्लाइट छूट सकती है. लेकिन इस बार कोड के साथ, सभी मुद्दों को पीछे छोड़ दिया जा सकता है.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *