ताज़ा खबर

एबोला वायरस (Ebola Virus) बना अन्तराष्ट्रीय चिंता का विषय

Ebola Virus यह एक अत्यंत खतरनाक वायरस हैं जिसकी अन्तराष्ट्रीय स्तर तक फ़ैलने की आशंका अब बढ़ती ही जा रही हैं | अब तक इस घातक वायरस के कारण अफ़्रीकी देशो में लगभग 1000 लोगो की मृत्यु हो चुकी  हैं | इस कारण यह पूरी दुनियां के लिए एक गहन चिंता का विषय बन चूका हैं | प्रारंभ में इसे बहुत गंभीरता से नहीं लिया गया था और सोचा जा रहा था कि इसका प्रभाव सिमीत क्षेत्र तक ही रहेगा, पर अब Ebola Virus के इस भयावह रूप को देखने के बाद यह पूरी दुनिया के लिए खोफ का विषय बन गया हैं | मरने वालों की प्रतिदिन बढ़ती तादात को देखते हुए इस वायरस के बढ़ते विशाल रूप की कल्पना एक बड़ी महामारी की तरफ संकेत कर रही हैं और जल्द ही अन्य देश की सीमा इसकी चपेट में आ सकती हैं |

अन्तराष्ट्रीय स्तर पर सभी देशो से इससे सावधान होने की अपील की गई हैं | शरुवाती वक्त में पश्चिमी अफ़्रीकी देशो में इसके आक्रमण को सहजता से लिया गया परन्तु इससे बढ़ने वाले विनाश को देखते हुए अंराष्ट्रीय स्तर पर इस समस्या का समाधान करना आवश्यक हैं |

ebolaoutbreak

सबसे बड़ी चिंता का विषय यह हैं कि अब तक एबोला वायरस के फैलने और उसके उत्पन्न होने का सही कारण पता नहीं चल पाया हैं और बिना इस जानकारी के इस वायरस पर नियंत्रण पाना अत्यंत कठिन हैं | सभी शोधकर्ताओं द्वारा इस वायरस को जानने का प्रयास किया जा रहा हैं लेकिन अब तक केवल यह पता चला हैं कि सबसे पहले यह जिसे हुआ था उसकी बॉडी में यह वायरस एक जानवर के संपर्क में आने से आया था और यह एक संक्रमित वायरस हैं अर्थात यह एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति के सम्पर्क में आने से फैलता हैं |

अभी किसी भी परिस्थती को जान पाना मुश्किल हैं पर संकेत काफी गलत ईशारा कर रहे हैं एबोला वायरस के कारण अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर WHO द्वारा आपातकाल की घोषणा की गई हैं | अन्तराष्ट्रीय संगठन इतनी आसानी से ऐसी घोषणा नहीं करता | अब से पहले स्वाइन फ्लू तथा पोलियो वायरस के घातक आक्रमण के वक्त ऐसी घोषणा की गई थी | इससे अनुमान लगाया जा सकता हैं कि यह एक गहरी चिंता का विषय हैं |

यह वायरस Nigeria में फैला हैं और यहाँ जनसख्या काफी अधिक होने के कारण जनहानि कि आशंका अधिक हैं | Nigeria से सभी देशो का सम्पर्क हैं इसलिए लोगो के जरिये यह वायरस अनेक जगह तक पहुच सकता हैं जों कि एक विकट समस्या हैं साथ ही वायरस के फैलने की उचित जानकारी ना मिलने के कारण उपचार भी केवल अनुमानित तौर पर किया जा रहा हैं | उपचार के परिणाम किस दिशा में होंगे इसकी कोई सम्भावित कल्पना नहीं की जा सकती |

गर्सित व्यक्ति को खुद ही अपनी देखभाल करना पड़ रहा हैं क्यूंकि जन सम्पर्क से यह वायरस और अधिक तेजी से फ़ैल रहा हैं और कोशिश यही हैं कि स्वस्थ्य व्यक्तियों को इस वायरस से दूर रखा जा सके | सभी देशो के लिए अब यह एक समय हैं जल्द से जल्द इस वायरस के कारण को  जानना आवश्यक हैं जिससे कि उपचार का उचित मार्ग तय किया जा सके |

 

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

Singhara

सिंघारा के फायदे | Singhara Fruit Benefits In Hindi

Singhara (Water Caltrop) Fruit Benefits In Hindi सिंघारा को पानी फल, वाटर चेस्टनट , वाटर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *