ताज़ा खबर

फेसबुक का इतिहास | Facebook History In Hindi

Facebook History In Hindi फेसबुक, बहुप्रसिद्ध व चर्चित एक ऐसी सोशल नेटवर्किंग साइट है जिसने, अनगिनत लोगों को अपनों से मिलवाया है. फिर वह चाहे पुराने दोस्त हो, दूरदराज रहने वाले परिवार के सदस्य हो, या अन्य कोई करीबी जो दुनिया के किसी भी कोने मे हो, जिसे व्यक्ति ने सिर्फ याद ही किया हो, उसे भी Facebook के माध्यम से खोज सकते है. Facebook एक ऐसी सोशल साइट है जिसके, माध्यम से हर पल की खबर अच्छी हो या बुरी , मेसेज या पिक्चर के माध्यम से शेयर कर सकते है.

बदलते वक्त के साथ Facebook ने खुद को बहुत Updated कर लिया है. जिस पर व्यक्ति को हर छोटी से छोटी बात, न्यूज़ रिपोर्ट, शॉपिंग आईडिया, क्राफ्ट, कुकिंग, विडियो और भी छोटी से छोटी बात का पता Facebook से लगाया जा सकता है.

फेसबुक का इतिहास

Facebook history in hindi

आज हम अपने इस अंक मे फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट के इतिहास (History) की चर्चा करेंगे.

  • फेसबुक के जनक का संक्षिप्त परिचय
  • फेसबुक का इतिहास
  • फेसबुक की शुरू से आज तक के प्रमुख बिन्दु

 फेसबुक के जनक का संक्षिप्त परिचय

फेसबुक के संस्थापक (sansthapak), मार्क इलियट जुकेरबर्ग है. इनका जन्म 14 मई 1984 को न्यूयार्क,अमेरिका मे हुआ था. हावर्ड विश्वविद्यालय मे, शिक्षा ग्रहण करते Facebook नामक एक साइट बनाई. जुकेरबर्ग Facebook के प्रमुख संस्थापक होने के साथ विश्व के सबसे कम उम्र के अरबपति मे से एक है.

फेसबुक का इतिहास (Facebook kya hai)

फेसबुक का इतिहास बहुत ज्यादा पुराना तो नही है, परन्तु बहुत रोचक है. क्योंकि, फेसबुक ने बहुत कम समय मे बहुत जल्दी तरक्की हासिल की है. Facebook का निर्माण, मार्क इलियट जुकेरबर्ग ने, अपने साथियों एडुआर्ड़ो सवेरिन ने व्यवसायिक पहलुओं, डीउस्टिन मोस्कोवीटज ने प्रोग्रामिग़ , एंड्रयू मककोल्लुम ने ग्राफिक्स आर्टिस्ट तथा च्रिस ह्यूज ने जुकेरबर्ग की वेबसाइट के प्रमोशन मे साहयता की. इन सबके साथ मिल कर 4 फरवरी 2004 को किया. शुरू मे, हावर्ड विश्वविद्यालय मे ही इसकी समिति बनाई गई. धीरे-धीरे बोस्टन, आइवी लीग, स्टेनफोर्ड जैसे कई विश्वविद्यालयों मे इसका विस्तार किया गया. 2004 मे, कैलीफोर्निया स्थित मुख्यालय मे ,जुकेरबर्ग को अध्यक्ष के रूप मे चुना गया. इसे बहुत सुचारू रूप से निर्माण कर आगे बढाया गया है.

facebook itihas history hindi

फेसबुक की शुरू से आज तक के प्रमुख बिन्दु

  • अगस्त, 2005 मे इसे खरीद कर Facebook.com के नाम से रजिस्टर्ड किया गया. सितम्बर, 2005 मे इस पर हस्ताक्षर हुए. उसके बाद से अमेरिका व ब्रिटेन के सभी विश्वविद्यालय मे इसका प्रसार शुरू हुआ. उसके बाद धीरे-धीरे कर सम्पूर्ण विश्व मे इसका प्रसार शुरू हुआ.
  • सितम्बर,2006 मे यह विस्तृत रूप मे, पूरे देश के सामने आया. तथा पंजीकृत बहुत पुराने ईमेल के पते के साथ, इस पर अपनी ईमेल आइडी बना कर इसे उपयोग किया जाने लगा. इसके साथ ही फेसबुक बड़ी-बड़ी वेबसाइट से जुड़ने लगी.
  • 2007 मे, Facebook की प्रसिद्धि को देखते हुये कई बड़ी व्यापारिक कंपनिया व्यापार को बढ़ावा देने के लिए फेसबुक से जुड़ गई. जिससे फेसबुक को अरबोँ रुपयों का फायदा होने लगा. 2007 मे ही माइक्रोसॉफ्ट ने Facebook को खरीद कर इसे अंतर्राष्ट्रीय विज्ञापन के अधिकार प्राप्त कर इसमें शामिल किया.
  • 2008 मे, आयरलैण्ड के डबलिन मे Facebook का अन्तर्राष्ट्रीय मुख्यालय खोलना तय हुआ. इसके साथ ही इसका उन्नति का ग्राफ बहुत तेजी से बड़ा.
  • बढ़ती उन्नति के 2009 मे Facebook ने सारे रिकॉर्ड तोड़े और इस साइट पर यूजर्स की संख्या लाखों-करोड़ों मे पहुच गई.
  • 2010 मे Facebook को लोगों की पसंद देखते हुए कई बड़ी मोबाईल कम्पनीयो, ऑनलाइन शॉपिंग कम्पनीयो के साझा कर बहुत बड़ी डील करी.
  • 2011 मे, फेसबुक के बढ़ते उपयोग को देखते हुये, यूजर पर्सनल डाटा की सुरक्षा के लिए कुछ बदलाव किये.जिसके अंतर्गत यूजर अपने हिसाब से अपने अकाउंट की सेटिंग कर सकता है. जिससे साइबर क्राइम न हो पाये.
  • 2012 मे, Facebook ने अपना खुद का रिकॉर्ड तोडा.तथा अमेरिका मे इसके शेयर की कीमत बढ़ कर आसमान छुने लगी.
  • 2013 से आज तारीख तक Facebook की एक आम रिपोर्ट भी निकाले, तो इसकी ख्याति इतनी बढ़ गई है, जिसे हर दूसरा व्यक्ति फेसबुक से परिचित है, और इसे उपयोग भी करता है.

हर तरीके से एक सामान्य मेसेज से ले कर, फोटो, विडियो, आवश्यक जानकारी, जोक्स, कविताएँ, कहानी-किस्से, कुकिंग की रेसिपी देखने से बनाने तक की विडियो, पूरे विश्व की तस्वीरे से विडियो तक, यहा तक की परीक्षा की तैयारी, शॉपिंग अन्य अनगिनत चीज़े जो की हम Facebook के माध्यम से देख ढूढ़ और पूछ सकते है.

अन्य पढ़े:

Priyanka
Follow me

Priyanka

प्रियंका दीपावली वेबसाइट की लेखिका है| जिनकी रूचि बैंकिंग व फाइनेंस के विषयों मे विशेष है| यह दीपावली साईट के लिए कई विषयों मे आर्टिकल लिखती है|
Priyanka
Follow me

यह भी देखे

vikramaditya

राजा विक्रमादित्य का इतिहास | Maharaja Vikramaditya history in hindi

Maharaja Vikramaditya history in hindi राजा विक्रमादित्य भारत के महान शासकों में एक थे. उन्हें एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *