ताज़ा खबर

फादर्स डे का महत्व और पिता पर शायरी | Fathers Day Importance Celebration and Shayari in hindi

फादर्स डे का महत्व, मानाने का तरीका और पिता पर शायरी | Father’s Day Importance Celebration and Shayari in hindi

पश्चिमी सभ्यता के अनुकरण के साथ हमारे देश में भी कई ऐसे दिन मनाये जाने लगे है. फादर डे भी इसी तरह का एक दिवस है, इस दिन सभी संतान अपने पिता के प्रति अपनी कृतज्ञता दर्शाते हैं. इस दिवस के पालन से बच्चों और पिता में सम्बन्ध और गहरे होते हैं.

फादर्स डे क्या है (What is Father’s Day)

फादर्स डे अपने पिता को स्पेशल महसूस कराने का दिन होता है. इस दिन बच्चे अपने पिता के प्रति अपने आदर को तरह तरह के माध्यम से दर्शाते हैं. फादर्स डे अंतर्राष्ट्रीय तौर पर मनाया जाने वाला दिवस है, अतः यह दिवस इसी दिन पूरे विश्व में मनाया जाता है. फादर्स डे प्रतिवर्ष 18 जून को मनाया जाता है. विश्व कैंसर अवेयरनेस डे यहाँ पढ़ें.

फादर्स डे क्यों मनाया जाता है (Why Father’s Day is Celebrated)

फादर्स डे मनाने के पीछे इसका एक महत्वपूर्ण इतिहास है. इस दिवस के मनाने का पहला आईडिया सोनोरा लौइस स्मार्ट डोड के दिमाग़ में आया. इन्होने ही पहली बार एक विशेष दिन अपने पिता विलियम स्मार्ट को विशेष रूप से सम्मानित करने की योजना बनायी. चूँकि यह अपने पिता को सम्मान देने की एक नयी प्रणाली थी, जिसमे क्रिएटिविटी को भी स्थान प्राप्त हो रहा था, इस वजह से यह दिन काफ़ी मशहूर हुआ और लोगों ने इस दिवस का मनाना औपचारिक रूप से शुरू किया.

सोनोरा ने यह दिवस जून के पहले रविवार को मनाने की योजना बनायी, क्योंकि यह दिवस इनके पिता के जन्मदिवस के क़रीब था. इस तरह से यह दिवस पहली बार 19 जून 1910 को वाशिंगटन के स्पोकेन में मनाया गया. वर्ष 1966 में प्रेसिडेंट लिंडन जॉनसन ने जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे का आयोजन किया. इसके उपरान्त वर्ष 1972 में प्रेसिंडेंट रिचर्ड निक्सन ने फादर्स डे को औपचारिक छुट्टी का दिन घोषित किया.     

फादर्स डे कैसे मनाया जाता है (How to Celebrate Father’s Day)

माँ के बाद अगर कोई हमारे दिल के अत्याधिक करीब होता है, वो है हमारे पिता. पिता का प्यार माँ की तरह दिखता नहीं है, लेकिन पिता ही है जो हमें अंदर से मजबूत बनाते है, दुनिया में अच्छे बुरे की परख हमें पिता ही देते है. कहते है बेटियां अपने पिता के बहुत करीब होती है. बेटी हमेंशा अपने पिता जैसा जीवन साथ चाहती है. पिता के लिए उसकी बेटी हमेशा एक राजकुमारी होती है. बेटे भी अपने पिता को देख कर बड़े होते है, जैसी उनकी आदतें होती है, वही अपनाते है. पिता अपनी ख़ुशी छोड़ अपने बच्चों के लिए मेहनत करते है, त्याग, सदभावना की भावना उनके अंदर होती है. इसी पिता के प्यार को सम्मान देने के लिए फादर्स डे मनाया जाता है. माँ पर हिंदी कविता जानने के लिए पढ़े.

फादर्स डे मनाने के तरह तरह के तरीक़े आजकल लोग इस्तेमाल करते हैं. फादर्स डे का दिन जितना किसी पिता के लिए महत्वपूर्ण होता है, उतना ही उनके बच्चों के लिए महत्वपूर्ण होता है. फादर्स डे के दिन अपने आदर को प्रकट करने के लिए आप निम्नलिखित तरीक़े अपना सकते हैं.

  • इस दिन आप अपने पिता को सुन्दर फादर्स डे का कार्ड देकर उनका मान बढ़ा सकते हैं. बाज़ार में कई कार्ड्स की दुकाने हैं, जहाँ से आप फादर डे थीम पर तरह तरह के कार्ड प्राप्त कर सकते हैं.
  • कई बार ऐसी स्थिति हो जाती है कि बच्चे पिता को वह सभी बातें नहीं कह पाते हैं, जो वे अपने पिता के प्रति सोचते हैं. अतः इन कार्ड में आप अपने पिता के लिए अपने मन की बात भी लिख सकते हैं. मन की बात प्रधानमंत्री रेडियो शो यहाँ पढ़ें.
  • आप अपने पिता के लिए ख़ुद से कवितायें लिख कर भी अपना प्रेम व्यक्त कर सकते हैं. यह एक अनोखी प्रक्रिया होगी, जिसके अंतर्गत आपके समस्त भाव एक सुन्दर रूप में समने आयेंगे.
  • आप अपने जमा किये अथवा कमाए पैसे की सहायता से अपने पिता को गिफ्ट दे सकते हैं. आपको यह तो पता ही होगा कि आपके पिता की सबसे पसंदीदा चीज़ अथवा मिठाई आदि क्या है. आप अपने पैसे से अपने पिता के लिए यह ख़रीद सकते हैं.
  • आप चाहें तो अपने पिता के लिए छोटी सी सरप्राइज पार्टी भी रख सकते हैं. इससे आपके पिता को यह ज्ञात होगा कि आप जिम्मेवार हो चुके हैं.
  • इस दिन आप अपने पिता को उनके पसंदीदा स्थान पर भ्रमण कराने के लिए ले जा सकते हैं, अथवा ऐसी जगह जहाँ पर आपके पिता जाना चाहते हैं पर अब तक नहीं जा पायें हैं. इससे यह दिन आप और आपके पिता के लिए यादगार हो जायेगा.  

फादर्स डे का महत्व (Father’s Day Importance)

समय के साथ आजकल के लोग इतने व्यस्त हो गये हैं, कि अपने सपने के पीछे घर को समय नहीं दे पाते हैं. यद्यपि वे अपने माता पिता से बहुत अधिक प्रेम करते हैं, किन्तु वे अपने प्रेम को दर्शाने का समय नहीं पा सकते है. ऐसे में यह एक दिन बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है. इस दिन सभी बच्चे अपने पिता के प्रति कृतज्ञता जाहिर करने के लिए या तो औपचारिक छुट्टी लेते हैं, अथवा सरकार की तरफ से स्वयं छुट्टी घोषित की जाती है. इस दिन बच्चे सारा दिन अपने पिता के साथ गुजारते हैं, जिससे उनके बीच आई दूरियां कम हो जाती है. इस दिन बच्चे चाहे विदेश में भी होते हैं, तो इस दिन के बहाने अपने घर वापस आ जाते है. जिस तरह माँ पर मदर्स डे मनाया जाता है और इसका जीवन में अत्यधिक महत्व है, उसी तरह इस दिन का भी महत्व लोगों में बहुत अधिक है, इसलिए लोग फादर्स डे के रूप में इसे सेलिब्रेट करते हैं.

फादर्स डे 2017 में कब मनाया जाता है ? क्यूँ मनाया जाता है ? (Fathers day  2018 date)

हर साल जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे कुछ देशों में मनाया जाता है. कई जगह ये अलग दिन मनाया जाता है. मदर्स डे शुरू होने के बाद ग्रेस गोल्डन क्लेटन द्वारा 5 जुलाई 1908 को पहली बार अमेरिका के वर्गिना में एक चर्च में फादर्स डे मनाया गया.  ग्रेस गोल्डन क्लेटन ने 1907 में अपने पिता को एक ब्लास्ट में खो दिया था. उन्होंने अपने पिता और उन सभी पिता को सम्मान देने के लिए चर्च में पास्टर को बोलकर एक सभा का आयोजन किया. इसके बाद कुछ साल तक इसे नहीं मनाया गया.

19 जून 1910 में वाशिंगटन में इसे फिर से मनाया गया. अतः ऑफिसियली पहला फादर्स डे 19 जून 1910 को मनाया गया था.

भारत में फादर्स डे (Fathers day in India) –

भारत में फादर्स डे के दिन कोई पब्लिक हॉलिडे नहीं होता है, लेकिन कुछ सालों से सोशल मीडिया के द्वारा ये काफी प्रचलित हो गया है. इस दिन सभी अपने पापा के साथ फोटो शेयर करते है, मेसेज के द्वारा उन्हें बधाई देते है. कुछ स्कूलों में फादर्स डे पर स्पेशल प्रोग्राम का भी आयोजन किया जाता है.

हर बच्चे की लाइफ में उनके पिता का विशेष स्थान होता है. पिता वो पहला आदमी होता है, जिसे बच्चे देखते है, उनका हाथ पकड़कर चलना सीखते है. पहली बार उनके साथ स्कूल जाते है. जिनके पास पिता नहीं होते है, वे उनकी कमी को अच्छे से समझ सकता है.

Father s Day Hindi Shayari

फादर्स डे स्पेशल पिता पर शायरी ( Fathers Day Special Shayari )

आज भी वो प्यारी मुस्कान याद आती हैं
जो मेरी शरारतों से पापा के चेहरे पर खिल जाती थी

अपने कंधो पर बैठा कर वो मुझे दुनियाँ की सैर कराते थे
जहाँ भी जाते मेरे लिए ढेर सारे तोहफे लाते थे

मेरे हर जन्मदिन पर वो मुझे साथ मंदिर ले जाते थे
मेरे हर रिजल्ट का बखान पूरी दुनियाँ में कर जाते थे

मेरी जिंदगी के सारे सपने उनकी आँखों में पल रहे थे
मेरे लिए खुशियों का आशियाना वो हर पल बुन रहे थे

मेरे सपने उनके साथ चले गये मेरे पापा मुझे छोड़ गये
अब आँखों में शरारत नहीं बस आंसू ही दीखते हैं

एक बार तो वापस आ जाओ पापा
हैप्पी फादर्स डे तो सुन जाओ पापा

अन्य पढ़े:

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

One comment

  1. pita ka jeevan mei alag hi mahtv hai
    | pita humare pehle hero hote hai jinhe dekh kr hum bade hote hai| or fir hum apne pita jaisa hi jeevansathi ki chah rakhte hai
    |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *