ताज़ा खबर
Home / मनोरंजन / फौजी टीवी सीरियल | Fauji TV Serial in hindi

फौजी टीवी सीरियल | Fauji TV Serial in hindi

Fauji TV Serial series in hindi 80 के दशक में किसी के घर टेलीविजन होना बहुत बड़ी बात होती थी और उस समय आज की तरह इतने सीरियल नहीं होते थे. वो समय था – रामायण और महाभारत जैसे धार्मिक कार्यक्रमों के प्रसारण का. यदि हम अपने घर के बड़े – बुजुर्गों से पूछे तो पता चलता हैं कि उस समय जब रामायण और महाभारत दूरदर्शन पर प्रसारित होते थे, लोग अपने सभी कामकाज छोड़कर इन्हें देखने बैठ जाते थे, सड़के सूनसान हो जाया करती थी और चूँकि उस समय हर घर में टेलीविजन नहीं होता था, तो सारे मोहल्ले के लोग उस व्यक्ति के यहाँ इकठ्ठे होते थे, जिसके घर में टेलीविजन हो और वहाँ वो सभी साथ में ये धारावाहिक देखा करते थे.

fauji serial

टेलीविजन पर हार – फूल चढ़ाये जाते थे और जैसे ही कलाकार अरुण गोविल अर्थात् रामायण के भगवान श्री राम की एंट्री होती थी, लोग उनके दर्शन होते ही टी. वी. के सामने श्रध्दा – पूर्वक प्रणाम किया करते थे. अर्थात् एक प्रकार से यह टेलीविजन की दुनिया का धार्मिक युग था. अब इस दौर में यदि आज की तरह का कोई सीरियल बनता, जिसमें सिर्फ परिवारों के बीच बढ़ते तनाव और मन – मुटाव को दिखाया जाता, तो वो कभी सफल नहीं हो पता. परन्तु इस समय धर्म की दिशा से कुछ अलग महत्व रखने वाला एक सीरियल आया और साथ ही वह प्रसिद्ध भी हुआ, उस सीरियल का नाम था –फौजी.

फौजी टीवी सीरियल  (Fauji tv serial in hindi)

फौजी शब्द सुनते ही हमारे मन में एक छवि आती हैं – हमारे देश की सेना के वीर जवानों की, जो हमारे देश की सीमाओं पर दिन – रात, चौबीसों घंटे पहरा देकर हमारी और हमारे देश की सुरक्षा करते हैं. हम स्वतंत्रता से अपना जीवन जी सकें, इसके लिए वे अपने जीवन की भी परवाह नहीं करते और हँसते –हँसते भारत माँ के चरणों में अपने प्राण न्यौछावर कर देते हैं. इसी पृष्ठभूमि को ध्यान में रखकर ये सीरीयल बनाया गया था.

फौजी सीरियल की कहानी : संक्षिप्त में  (Fauji tv serial story)

इस सीरियल की कहानी कमांडो स्कूल में ट्रेनिंग लेने वाले दल [Batch] की है. इसमें प्रशिक्षार्थियों [Trainees] से सैनिक बनने तक के सफ़र में घटित होने वाली संभावित घटनाओं को दर्शाया गया हैं कि किस प्रकार एक आम इन्सान कठिनाइयों और मुश्किलों का सामना करते हुए, एक बहादुर सैनिक बन पाता हैं. इस सीरियल ने हमारे फौजी भाइयों के जीवन के एक महत्वपूर्ण चरण को बहुत ही अच्छे ढंग से पेश किया हैं. इसमें अभिनेता शाहरुख़ खान ने अभिमन्यु राय नामक किरदार निभाया हैं, जो एक अच्छा ट्रेनी हैं, परन्तु थोडा शरारती भी हैं. इसका बड़ा भाई हैं – विक्रम, जो कि सीनियर ट्रेनिंग ऑफिसर भी हैं और जो शाहरुख का भाई होने के बावजूद, उन पर ट्रेनिंग में कोई लापरवाही या ढील बरदाश्त नहीं करता.

सीरियल में इस सख्ती को दर्शाने के लिए एक घटना क्रम दर्शाया गया हैं, जिसमे विक्रम द्वारा अभिमन्यु को एक कड़ी सजा दी जाती हैं और बाद में वो इस बात को भूल जाते हैं, और वहीँ दूसरी ओर अभिमन्यु इस सजा को मानते हुए काफी देर तक इसका पालन करता हैं और लगभग बेहोश होने जैसी हालत में पहुँच जाता हैं और तब विक्रम को इसके बारे में याद आता हैं और तब जाकर वे अभिमन्यु की सजा को ख़त्म करते हैं.

फौजी सीरियल के निर्माण के बारे में संक्षिप्त वर्णन निम्न प्रकार से हैं (Fauji serial important information) -:

क्रमांक कार्य – क्षेत्र कार्य – स्थल और सम्बंधित कलाकार
1. शैली [Genre] एक्शन, सीरियल ड्रामा
2. निर्माता [Created by] न्यू फिल्म एडिक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड
3. लेखक [Written by] लेफ्टिनेंट कर्नल आर. के. कपूर, संगीता अय्यर, अमीना शेरवानी
4. निर्देशन [Directed by] लेफ्टिनेंट कर्नल आर. के. कपूर एवं मिलिन कपूर
5. कलाकार [Star caste] शाहरुख़ खान, राकेश शर्मा, विक्रम चोपड़ा एवं अन्य साथी कलाकार
6. ओपनिंग थीम “ फौजी ”
7. कम्पोज़र शंकर – एहसान – लॉय
8. निर्माणकर्ता राष्ट्र [Country of Origin] भारत
9. मूल भाषा [Original Language] हिंदी
10. कुल एपिसोड 13
11. रनिंग टाइम लगभग 24 मिनिट
12. मुख्य नेटवर्क [Original Network] दूरदर्शन
13. पिक्चर फ़ॉर्मेट 480i [ SDTV ]
14. प्रथम प्रसारण [Original Release] सन 1988

सन 1988 में न्यू फिल्म एडिक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड [Producer] द्वारा ‘फौजी’ नामक सीरियल बनाया गया था और कर्नल राज कपूर ने इस सीरियल का निर्देशन [Direction] किया था. इसमें मुख्य भूमिका निभाई थी – बोलीवुड के बादशाह शाहरुख़ खान ने. आज जिसे हम रोमांस किंग कहते हैं, उन्होंने उस समय एक फौजी ट्रेनी की भूमिका निभाई थी और इसे जीवंत कर दिया था. इसी भूमिका ने उन्हें सफलता दिलाई और फिर उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. शाहरुख़ खान के कलाकर के रूप में करियर का प्रारंभ [Debut] इस सीरियल को ही माना जाता हैं क्योंकि यह बहुत प्रसिद्ध हुआ था और इसी से उन्हें पहचान भी मिली थी. परन्तु ऐसा नहीं हैं. इसके पहले भी शाहरुख़ ने एक सीरियल किया था, जिसका नाम था ‘दिल दरिया’, इस सीरियल में उन्हें नोटिस ही नहीं किया गया था. शाहरुख़ ने बाद में भी कुछ सीरियल किये, जिसमें ‘सर्कस नामक सीरियल बहुत ही प्रसिद्ध हुआ था.

फौजी में शाहरुख़ खान का किरदार (Shahrukh khan in fauji) –

शाहरुख़ खान के किरदार का नाम ‘अभिमन्यु राय’ था. यह किरदार भारतीय सेना के मुंबई सफरमैना [Bombay Sappers] के लेफ्टिनेंट कर्नल संजय बैनर्जी द्वारा शोषित [Exploit] दर्शाया गया हैं.

सीरियल के अन्य किरदार भी महत्वपूर्ण हैं. वे किरदार और कलाकारों के नाम अग्रलिखित हैं (Fauji serial star cast) –

क्रमांक सीरियल के किरदारों के नाम किरदार निभाने वाले कलाकार का नाम
1. मेजर विक्रम राय राकेश शर्मा
2. किरण कोचप अमीना शेरवानी
3. केप्टन मधु राठौर मंजुला अवतार
4. यासीन खान विश्वजीत प्रधान
5. एन के किशोर संजय तनेजा
6. लेफ्टिनेंट वरुनेश्वर सिंघजी परमेश्वर सिंघजी चव्हान विक्रम चोपड़ा
7. लेफ्टिनेंट पीटर मोंटिरो गौतम भारद्वाज
8. मेजर नारायणन ए. कन्नन
9. लेफ्टिनेंट देवेन्दर सिंह अजय त्रिहन
10. लेफ्टिनेंट अरुण सोनल डबराल
11. मेजर सोधी रणबीर सिंह
12. बम स्क्वाड [Bomb Squad] नीरज जोशी

यह सीरियल कुल 13 एपिसोड का था. जिसमे उपरोक्त वर्णित कलाकारों ने अपनी भूमिकाओं में जान डाल दी.

फौजी सीरियल के किरदारों का संक्षिप्त वर्णन : इस सीरियल के किरदारों में थोड़ी एकरूपता और थोडा रूढ़िवादी [Stereotype] रूप देखने को मिला. इनका संक्षिप्त वर्णन निम्ननुसार हैं -:

  • इस सीरियल में कमांडो देव ने गंभीर भूमिका निभाई हैं, जो ग्रेडिंग के लिए चिंतित दिखाए गये हैं.
  • किरण के बॉस – उमेश, जो कहानी में मात्र एक प्रेम त्रिकोण [Love Triangle] उत्पन्न करते हैं.
  • इसमें बलिदानी मुस्लिम जवान के बारे में भी बताया गया हैं.
  • एक लड़ाकू बंगाली दम्पति [Couple], जो वास्तव में हास्य उत्पन्न करने का कार्य करते हैं.
  • कर्नल नारायणन का लोकप्रिय संवाद – “ कोई शक या सवाल ”.
  • सीरियल में ट्रेनी [Trainees] के अनेक मित्र दिखाए गये हैं, जिन्हें मिलिट्री की भाषा में ‘बडीज़’ [Buddies] कहा गया हैं.

इस प्रकार इस सीरियल ‘फौजी’ से हमें हमारे देश के वीर जवानों के जीवन की एक झलक देखने को मिलती हैं.

Vini

विनी दीपावली वेबसाइट की लेखिका है, जिनको लिखने का शौक है, इसलिए वे दीपावली साईट के लिए कुछ विषयोंपर लिखती है|

यह भी देखे

kahani-ghar-ghar-ki-serial

कहानी घर घर की ओल्ड स्टार प्लस सीरियल | Kahani Ghar Ghar ki Old Serial In Hindi

Kahani Ghar Ghar ki Old Star Plus Serial In Hindi सन 2000 में भारत के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *