ताज़ा खबर
Home / कविताये / गणतंत्र दिवस हिंदी कविता

गणतंत्र दिवस हिंदी कविता

गणतंत्र ( Gantantra Divas)की माया हिंदी कविता जो यह कहती हैं कि अब हम सभी ने एकता के बल को देखा हैं 30 वर्षो के बाद जब एक जुट होकर मतदान किया तब मोदी सरकार को गद्दी पर बैठाया हैं | मानते हैं मोदी लहर हैं हम सभी उनके साथ हैं देश के विकास के लिए सभी भारतवासी अपना योगदान देंगे पर मोदी इस, बार मोदी इस बार, बहुत सुन लिया हमने, अब अगर काम करेंगे मोदी देश के हीत में, तब ही मोदी होंगे अगली बार | वास्तविक्ता तो हम नहीं जानते पर आये दिन सम्प्रदायिक विवादों से घिरे हुए हैं हम देशवासी तरक्की से ज्यादा शांति में विश्वास रखते है और सांप्रदायिक लड़ाई हमें कभी शांति नहीं दे सकती |

हमें नरेंद्र मोदी जी पर पूरा विश्वास हैं जो मतदान से ज़ाहिर भी हुआ हैं पर अगर सांप्रदायिक व्यव्हार को वे अपने आचरण में लाते हैं तो यह दुखदायी हैं क्यूंकि देश धर्मनिरपेक्षता पर बना हैं | चाहकर भी इसे कोई झुटला नहीं सकता | यहाँ सभी को सही तरह से रहने का हक़ हैं आपस की लड़ाई का फायदा हमेशा तीसरे को मिलता हैं जो कि 200 वर्षो की गुलामी ने सिद्ध किया हैं | फुट डालों और राज करों यही अंग्रेजों का नारा था | और आज भी कहीं हम आपसी लड़ाई में पीछे ना रह जाए क्यूंकि हम सभी जानते हैं अगर देश गुलाम न होता तो देश विकसित देशो की गिनती में आता |

 बहुत मुश्किल से एक पूर्ण बहुमत की सरकार बनी हैं अपने 5 वर्षों का सही तरह उपयोग करे हम सभी देशवासी को मार्गदर्शन दे सभी देश के साथ हैं पर हमें आपसी लड़ाई के इस भँवर में ना फँसाये | हम शांति चाहते हैं और इंसानियत के साथ जीना चाहते हैं | 

Gantantra Divas kavita Poem In Hindi

गणतंत्र की माया

आज मेरे देश में गणतंत्र हैं आया
   देश में हर तरफ लोकतंत्र हैं छाया

ना करना अब हमसे कोई सवाल

स्वइच्छा किया हैं हमने मतदान

अब न सुनेंगे कोई बहाना
लोकतंत्र ही हैं शक्ति भलीभांति जाना 

अगर की अपनी मनमानी
सुनेंगे नहीं कोई कहानी 

   फिर से उठालेंगे हथियार 
मतदान हैं हमारा अधिकार 

 अगर आना हैं अगली बार
 विकास करो मोदी इस बार

कर्णिका पाठक

अपनी भावना व्यक्त की हैं मैंने इस पंक्तियों में हो सकता हैं कई लोग मुझसे सहमत ना हो पर मैं जिस शहर में रहती हूँ वहां आये दिन हिन्दू मुस्लिम झगड़े होते हैं जो एक खोफ की तरह बन चुके हैं और ये खोफ किसी भी तरह की शांति नहीं देता | 

अगर आपमें से कोई इस आपसी झगड़े के बारे में कुछ भी कहना चाहता हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखे |

Poem In Hindi यह ब्लॉग कैसा लगा हमे लिखे |

साथ ही अगर आप लिखने के शौक़ीन हैं तब deepawali.add@gmail.com पर सम्पर्क करें आपकी कृति नाम और फोटो के साथ published की जाएगी |

अन्य पढ़े :

 

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

bewafa bewafai shayari

बेवफ़ा / बेवफ़ाई पर शायरी

बेवफ़ाई इश्क का एक ऐसा मंजर हैं जो या तो तोड़ देता हैं या जोड़ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *