ताज़ा खबर

स्वास्थ बीमा क्या है? इसके प्रकार , योग्यता तथा लाभ के बारे में जानकारी | What is health Insurance, eligibility Criteria, type, importance, benefits in hindi

स्वास्थ बीमा क्या है? इसके प्रकार , योग्यता तथा लाभ के बारे में जानकारी | What is health Insurance |  eligibility Criteria | type | importance | benefits Information in hindi

तात्कालिक समय में लोगों के जीवन में भविष्य सम्बन्धी कई चिंताएं होती हैं. इन चिंताओं को देखते हुए कई सरकारी तथा ग़ैर सरकारी बैंक ने विभिन्न तरह की बीमाओं की सुविधा एवं सेवा का अविर्भाव किया है. इन बीमा पालिसी पर निवेश करते हुए हम अपने भविष्य को सुनियोजित कर सकते है. यहाँ स्वास्थ्य बीमा के बारे में कुछ जानकारी दी जा रही है.

स्वास्थ बीमा क्या हैं (What is Health Insurance)

स्वास्थ्य बीमा एक तरह की बीमा सेवा है, जिसमे कोई भी अपने मेडिकल और सर्जिकल खर्चों को नियोजित कर सकता है. विभिन्न तरह के आर्थिक संस्थानों द्वारा इनके लिए विभिन्न तरह की योजनायें होती हैं. मुख्यतः यह बीमा ग्राहक को दुर्घटना या किसी रोग के समय हॉस्पिटलाइज़ेशन, एम्बुलेंस, नर्सिंग केयर, सर्जरी, मेडिकल बिल आदि के भुगतान में सहायता करती है. इन सभी लाभ को पाने के लिए सिर्फ और सिर्फ एक ही काम करना होता है कि अपनी आमदनी के मुताबिक स्वास्थ्य बीमा ख़रीदनी होती है. बीमा देने वाली कंपनी इन सभी ज़िम्मेवारियों को बेहद अच्छे तरीके से निभाता है. कुछ निश्चित बीमा योजना समय समय पर स्वास्थ जांच कराने के लिए भी पैसे देते हैं. अवधि बीमा योजना यहाँ पढ़ें.

Health Insurance

स्वास्थ बीमा के प्रकार (Type of Health Insurance in hindi)

विभिन्न तरह की आवश्यकताओं और अलग अलग उम्रों की आवश्यताओं को देखते हुए विभिन्न तरह की बीमा योजनायें हैं. नीचे एक एक करके मुख्य बीमा योजनाओं का ज़िक्र किया जा रहा है –

  • व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा :
  • ‘स्टार क्रिटीकेयर प्लस’ : स्टार स्वास्थ्य बीमा के तहत यह योजना पूरी तरह से व्यक्तिगत स्वास्थ बीमा योजना है.
  • ‘अपोलो म्युनिक इजी हेल्थ प्रीमियम’ : देश के 800 से अधिक शहरों में लगभग 4500 से अधिक हॉस्पिटल में व्यवस्था और लगभग 10,000 डाक्टरों की सेवा के साथ अपोलो म्युनिक एक बहुत अच्छा व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा है. इसमें किसी तरह के ‘हिडन चार्जेस’ बिलकुल भी नहीं लगता है.
  • फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा :
  • ‘मैक्स ब्युपा हेल्थ फैमिली फर्स्ट’ : ये प्लान मुख्यतः भारत के जॉइंट फैमिली के लिए तैयार किया गया है. इसमें परिवार के अधिकतम 14 लोगों को शामिल किया जा सकता है. कई तरह के लाभदायक प्लान के साथ ये भारतीय परिवारों के लिए बेहद अच्छा साबित होता है.
  • ‘बजाज अलायन्स हेल्थ गार्ड फैमिली फ्लोटर आप्शन’ : यह प्लान बजाज अलायन्स द्वारा नियोजित की गयी है. इसमें हर तरह के हॉस्पिटलाइजेशन के दौरान सभी तरह के ख़र्च इस बीमा के ग्राहकों के लिए है.
  • सीनियर सिटीजन स्वास्थ्य बीमा योजना :

नौकरी से रिटायर के बाद, यानि उम्र बढ़ने पर लोगों को होने वाली विभिन्न तरह की स्वास्थ सम्बन्धी परेशानियों के लिए कई बीमा कंपनियों ने कई तरह के बीमा प्लान बनाए हैं. इसके लिए स्टार हेल्थ केयर कंपनी के द्वारा ‘सीनियर सिटीजन रेड कारपेट इन्स्युरेंस’ और न्यू इंडिया अस्सुरेंस कंपनी लिमिटेड की तरफ से ‘द न्यू इंडिया सीनियर सिटीजन मेडी क्लेम पालिसी’ भी इसके लिए बेहद उम्दा बीमा योजनायें है. इसके अलावा सीनियर सिटीजन के लिए वरिष्ठ पेंशन बीमा योजना भी बनाई गई है.

  • क्रिटिकल इलनेस इन्सुरांस प्लान्स :
  • रेलिगेयर हेल्थ अस्योर : तात्कालिक समय में विभिन्न तरह के रोग विभिन्न कारणों से वजूद में आने लगे हैं. कई रोग जानलेवा भी है. इस तरह के जानलेवा बीमारियों के लिए भी बीमा प्लान बनाए हैं. इसी में एक है रेलिगेयर हेल्थ इन्स्युरेंस. ये आमतौर पर एक व्यक्तिगत एक्सीडेंट प्लान है जो जानलेवा बीमारियों के लिए काम करता है.
  • एचडीएफ़सी एर्गो हेल्थ क्रिटिकल इलनेस प्लैटिनम : ये प्लान एचडीएफ़सी एर्गो की तरफ से मुहैया कराया जाता है, जिससे 15 विभिन्न क्रिटिकल बीमारियों के दौरान लाभ पाया जा सकता है.
  • अपोलो म्युनिक ऑप्टीमल वाइटल : अपोलो म्युनिक स्वास्थ्य बीमा की तरफ से ये एक अच्छा इस्स्युरेंस प्लान है. इस इन्स्युरेंस की सबसे आकर्षक बात ये है कि इसमें स्पेशलिस्ट डॉक्टरों से ई- आप्शन के द्वारा कन्सल्ट कर सकते हैं और उनसे अपनी स्वास्थ सम्बन्धी सवालात कर सकते हैं.
  • कैशलेस मेडिक्लैम पॉलिसीस :

रॉयल सुन्दरम टोटल हेल्थ प्लस और भारत अक्सा हेल्थ इन्सुरांस, भारत में इस तरह के हेल्थ इन्स्युरेंसर की सेवा देते है. कैशलेस मेडिक्लैम में उस तरह की दुर्घटनाओं में काम आता है जिसमे एक साथ बहुत अधिक पैसा लगता है. ऐसे संकटकाल में कैशलेस मेडिक्लैम पालिसी बहुत काम आती है. कैशलेस भुगतान करने के तरीके यहाँ पढ़ें.   

स्वास्थ बीमा की योग्यता (Health Insurance eligibility)

स्वास्थ्य बीमा पाने के लिए विभिन्न तरह के आर्थिक संस्थानों के विभिन्न तरह की योग्यता की मांग होती है. यहाँ कुछ विशेष मांगों को दिया जा रहा है.

  • सबसे अच्छा इंडीविसुअल स्वास्थ्य बीमा प्लान
प्लान अपोलो म्युनिक इजी हेल्थ आईसीआईसीआई लोम्बारड रेलिगेयर केयर मैक्स बुपा हेल्थ बजाज अलायन्स
न्यूनतम आयु 18 वर्ष / 5 वर्ष (बच्चों के लिए) 18 वर्ष/ 6 वर्ष (बच्चों के लिए) 18 वर्ष/ 91 दिन (शिशु के लिए) 18 वर्ष/ 3 महीने (शिशु के लिए) 18 वर्ष/ 3 महीने (शिशु के लिए)
अधिकतम आयु 65 वर्ष कोई सीमा नहीं कोई सीमा नहीं कोई सीमा नहीं 65 वर्ष
न्यूनतम राशि रू 1,00,000 रू 1,00.000 रू 3,00,000 रू 2,00,000 रू 2,00,000
अधिकतम राशि रू 50,00,000 रू 10,00,000 रू 60,00,000 रू 1,00,00,000 रू 1,00,00,000
प्रतीक्षा अवधि 3 वर्ष 2 से 4 वर्ष (कवरेज आप्शन पर आधारित) 4 वर्ष 3 या 4 वर्ष (मेडिकल स्तिथि पर आधारित) 2 वर्ष

     

  • फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा के लिए :
प्लान अपोलो म्युनिक  स्टार फैमिली हेल्थ ऑप्टीमल रेलिगेयर केयर मैक्स बुपा हेल्थ कोम्पनियन रॉयल सुन्दरम लाइफलाइन इलीट
न्यूनतम आयु 18 वर्ष/ 5 वर्ष (बच्चों के लिए) 18 वर्ष/ 16 दिन (नवजात शिशु के लिए) 18 वर्ष/ 3 महीने (बच्चों के लिए) 18 वर्ष/ 3 महीने (बच्चों के लिए 18 वर्ष/ 3 महीने (बच्चों के लिए
अधिकतम आयु 65 वर्ष 65 वर्ष वयस्कों के लिए कोई सीमा नहीं/ बच्चों के लिए अधिकतम 25 वर्ष वयस्कों के लिए कोई सीमा नहीं/ बच्चों के लिए 21 वर्ष वयस्कों के लिए कोई सीमा नहीं/ बच्चों के लिए 21 वर्ष
न्यूनतम राशि रू 3,00,000 रू 2,00,000 रू 3,00,000 रू 2,00,000 रू 25,00,000
अधिकतम राशि रू 50,00,000 रू 15,00,000 रू 60,00,000 रू 1,00,00,000 रू 1,50,00,000
सदस्यों की संख्या कुल 6 कुल 5 कुल 6 कुल 4 कुल 5
प्रतीक्षा अवधि चिकित्सा शर्तों या पहले से मौजूदा बिमारियों के लिए 3 साल चिकित्सा शर्तों या पहले से मौजूदा बिमारियों के लिए 4 साल और निर्दिष्ट बिमारियों के लिए 2 साल चिकित्सा शर्तों या पहले से मौजूदा बिमारियों के लिए 4 साल और निर्दिष्ट बिमारियों के लिए 2 साल चिकित्सा शर्तों या पहले से मौजूदा बिमारियों के लिए 4 साल और निर्दिष्ट बिमारियों के लिए चुने गए संस्करण के आधार पर 3 या 2 साल चिकित्सा शर्तों या पहले से मौजूदा बिमारियों के लिए 2 साल

 

  • सीनियर सिटीजन स्वास्थ्य बीमा प्लान :
प्लान अपोलो म्युनिक ऑप्टीमल सीनियर बजाज अलायन्स सिल्वर हेल्थ स्टार सीनियर सिटीजन रेड कारपेट मैक्स ब्युपा हार्टबीट इंडिविजुअल गोल्ड नेशनल इन्स्युरेंस वरिष्ठ मेडिक्लैम
न्यूनतम उम्र 61 वर्ष 46 वर्ष 60 वर्ष 3 महीना 60 वर्ष
अधिकतम उम्र कोई सीमा नहीं 70 वर्ष 75 वर्ष 65 वर्ष कोई सीमा नहीं
न्यूनतम राशि रू 2,00,000 रू 50,000 रू 1,00,000 रू 5,00,000 मेडिक्लैम : रू 1,00,000/ क्रिटिकल इलनेस : रू 2,00,000/
अधिकतम राशि रू 5,00,000 रू 5,00,000 रू 10,00,000 रू 50,00,000 मेडिक्लैम : रू 1,00,000/ क्रिटिकल इलनेस : रू 2,00,000
प्रतीक्षा अवधि   पूर्व मेडिकल कंडीशन के साथ 3 साल पूर्व मेडिकल कंडीशन के साथ 1 साल पूर्व मेडिकल कंडीशन के साथ 2 साल 1 साल पूर्व मेडिकल कंडीशन के साथ 1 वर्ष का मुफ्त क्लेम

 

  • क्रिटिकल इलनेस के लिए :
प्लान अपोलो म्युनिक ऑप्टीमल वाइटल रेलिगेयर अस्स्योर एचडीएफ़सी एर्गो बजाज एलियांज मैक्स बुपा स्वास्थ्य बीमा
न्यूनतम उम्र 18 वर्ष 18 वर्ष 18 वर्ष/ 5 वर्ष (आश्रितों के लिए) 18 वर्ष/ 6 वर्ष बच्चों के लिए 18 वर्ष
अधिकतम उम्र 65 वर्ष 65 वर्ष 65 वर्ष 65 वर्ष 65 वर्ष
न्यूनतम राशि रू 1,00,000 रू 5,00,000 रू 2,50,000 रू 1,00,000 रू 3,00,000
अधिकतम राशि रू 50,00,000 रू 1,00,00,000 रू 10,00,000 रू 50,00,000 रू 10,00,000
क्रिटिकल इलनेस की संख्या 37 20 15 10 20
प्रतीक्षा अवधि पूर्व मेडिकल कंडीशन पर 4 वर्ष पूर्व मेडिकल कंडीशन पर 4 वर्ष 90 दिन 90 दिन पूर्व मेडिकल कंडीशन पर 4 वर्ष

स्वास्थ्य बीमा से लाभ (Health Insurance benefits)

स्वास्थ्य बीमा कराने से कई लाभ प्राप्त होते हैं. इसका अधिक फायदा आपातकालीन समय में होता है. इसके कुछ फायदे निम्नलिखित हैं. 

  • ऑनलाइन सुविधाएँ : सबसे बड़ी बात ये है कि स्वास्थ्य बीमा अब ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है, जो पहले किसी एजेंट द्वारा खरीदा जाता था. ऑनलाइन से एक लाभ यह हुआ कि ग्राहक एजेंट की लुभावनी बातो से परे यथार्थ के धरातल पर रहकर बीमा सम्बंधित सभी जानकारियां स्वयं जान पायेंगे और अपनी आवश्यकतानुसार अपने लिए सही बीमा का चयन करेंगे.
  • विभिन्न प्रीमियम भुगतान : भारत की कई बीमा कंपनियां यूँ तो एक ही तरह की सुविधाएँ देती हैं, किन्तु इसी के बीच कुछ कम्पनियां मसलन भारती अक्सा और स्टार स्वास्थ्य बीमा कई तरह की ‘जोन बेस्ड प्रीमियम’ भी निकालती हैं. ये प्रीमियम विभिन्न शहरों और महानगरों के लिए भिन्न भिन्न होते हैं. आम तौर पर यह देखा जाता है कि महानगरों की स्वास्थ्य बीमाएं आम शहरों की बीमाओं से अधिक कीमती होती हैं.
  • रिन्यूअल सेवा : पुरानी बीमा व्यवस्था के विपरीत तात्कालिक समय की कई स्वास्थ सम्बन्धी बीमायें अधिक सहज और फ्लेक्सिबल रूप में आने लगी है. पुरानी बीमा व्यवस्था में अधिकतम उम्र की सीमा होती थी, किन्तु तात्कालिक कई स्वास्थ बीमाओं की सेवा इस शर्त से मुक्त है, और ग्राहक अपने जीवनकाल में किसी भी समय यह प्लान रिन्यू करा सकता है.
  • ओपीडी ख़र्च में मदद : जहाँ पारम्परिक बीमाओं में हॉस्पिटलाइज्ड आदमी 24 घंटे बाद इन्स्युरेंस कर पाता है, वहीँ कुछ स्वास्थ्य बीमा कंपनियां तात्कालिक सहयोग देने की सुविधा भी दे रही है. इस सुविधा के अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा कम्पनियाँ ग्राहक के तमाम ओपीडी खर्चे देता है. इस समय आईसीआईसीआई और स्टार हेल्थ केयर ये सुविधा दे रहा है.
  • कैशलेस सर्विस : कई बीमा कंपनियों का बड़े बड़े अस्पतालों से सीधा- सीधा सम्बन्ध है, जो खुद से संलग्न अस्पतालों में अपने बीमा ग्राहकों को कैशलेस सेवा मुहैया कराते हैं. अतः ग्राहकों को आवश्यक समय में कैश के लिए चिंता करने की ज़रुरत नहीं होती है.
  • टैक्स लाभ : सेक्शन 80D के अनुसार बीमा ग्राहक को कुछ कर लाभ भी प्राप्त हो सकता है. ग्राहक को इस सेक्शन के तहत रू 55,000 तक का लाभ मिल सकता है.

स्वास्थ्य बीमा की जानने योग्य बातें (Health Insurance important facts)

पिछ्ले 2 दशक में स्वास्थ सम्बन्धी खर्चों में लगातार वृद्धि हुई है. इस तरह छोटे से छोटे स्वास्थ सम्बन्धी परेशानियों में भी अधिक से अधिक पैसे ख़र्च होने लगे हैं. अतः स्वास्थ्य बीमा इस समय में बहुत कारगर सिद्ध होता है, किन्तु प्लान लेने से पहले प्लान से सम्बंधित सभी आवश्यक तथ्यों को जानना बहुत ज़रूरी है. बीमा सम्बंधित निर्देशों, नियमो तथा शर्तों को जानना बेहद आवश्यक है. विभिन्न प्लान के विभिन्न नियम होते हैं. जैसे–

  • कैशलेस हॉस्पिटलाईज़ेशन, प्लांड हॉस्पिटलाइज़ेशन, इमरजेंसी हॉस्पिटलाईज़ेशन आदि के विषय में पूरी बातें पता करनी आवश्यक होती हैं.
  • किस भी हेल्थकेयर पालिसी कवरेज को जानना और समझना एक ग्राहक के लिए बहुत ज़रूरी होता है.
  • ग्राहक को यह जानना आवश्यक है कि पूर्व मेडिकल स्थिति को कवर किया गया है या नहीं. ग्राहक को उन सभी मेडिकल खर्चों को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है जिसका प्रयोग न किया गया हो.
  • ग्राहकों को बीमा खरीदते समय इस बात का ख़ास ध्यान रखना चाहिए कि ख़रीदी जा रही बीमा को-इन्स्युरेंस है या नहीं. साथ ही बीमा की अंतिम तारिख को ध्यान में रखते हुए बीमा अपडेट कराते रहना चाहिए.       

अन्य पढ़े :

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *