ताज़ा खबर

हीरो फिल्म समीछा एवम कास्ट

Deepawali रेटिंग – 2.5 स्टार

इतने दिनों से जिस फिल्म का जोर शोर से प्रचार चल रहा था, आख़िरकार आ ही गई वो हमारे सामने, टीवी के हर सीरियल रियलिटी शो, व मीडिया के सामने जम कर प्रमोशन हुआ हीरो फिल्म का| हीरो फिल्म सलमान खान के प्रोडक्शन हाउस की है| फिल्म में सलमान ने 2 नए चेहरे लांच किये है सूरज पांचोली और अथिया शेट्टी| ये दोनों ही बॉलीवुड के बड़े कलाकारों के बच्चे है, सूरज आदित्य पांचोली के बेटे है व अथिया सुनील शेट्टी की बेटी है| इन्हें भले ही अभी इनके पिता के नाम से जाना जाता है, लेकिन वह दिन दूर नहीं जब ये अपनी खुद की पहचान बना लेंगे| फिल्म 1983 में आई सुभाष घई की हिट फिल “हीरो” का रीमेक है, फिल्म की कहानी वही है बस इसे नए रंग रूप व नए चेहरे के साथ पेश किया गया है|

हीरो मूवी निर्देशक समीक्षा (Hero Film Director Review)–

डायरेक्टर – निखिल अडवानी

1983 की हीरो को बॉलीवुड के शो मैन सुभाष घई ने डायरेक्ट किया था, इसलिए नयी हीरो के डायरेक्टर से भी उसी तरह की अपेछा की जा रही है| इस बार फिल्म हीरो को सलमान खान ने निखिल अडवानी के हाथों में सौंप दी| निखिल एक बहुत अच्छे डायरेक्टर है, इससे पहले इन्होंने कल हो ना हो, सलामें इश्क, पटियाला हाउस डायरेक्ट की है| निखिल ने फिल्म में दोनों लीड के बीच की केमिस्ट्री को बखूभी प्रस्तुत किया है, दोनों के बीच जितने भी रोमेंटिक सीन थे, उन्हें काफी अच्छे से शॉट किये गए है| फिल्म में एक्शन, ड्रामा व रोमांस है, लेकिन फिल्म में ये सब होचपोच है| निखिल ने फिल्म के स्क्रीनप्ले पर ध्यान नहीं दिया है, फिल्म में सब कुछ होते हुए भी सही ढंग से प्रस्तुत नहीं हुई है| फिल्म में निखिल ने दोनों नए कलाकार से बखूबी काम कराने की कोशिश की है| जिस में काफी हद तक सफल भी रहे है| फिल्म की कहानी तो वही है बस नया रंग रूप मिला है तो इस पर निखिल को कोई काम नहीं करना पड़ा है|

 

hero film movie review cast in hindi  

हीरो मूवी से संबंधित अन्य जानकारी –

कलाकार सूरज पांचोली, अथिया शेट्टी, तिग्मांशु धुलिया, कदर खान, आदित्य पांचोली, शरद केलकर, सलमान खान (cameo)
निर्माता सलमान खान, सुभाष घई
निर्देशक निखिल अडवानी
लेखक उमेश बिस्त, निखिल अडवानी
संगीत सचिन-जिगर, मीत brothers, अमाल मालिक
रिलीज़ डेट 11 सितम्बर 2015

 

हीरो फिल्म कहानी की  समीक्षा (Hero 2015 movie review )

कुछ थोड़े बदलाव के साथ नए हीरो की कहानी पुराने हीरो की तरह ही है| कहानी शुरू होती है पाशा (आदित्य पांचोली) से जो जेल में है, इसे जेल में IG पुलिस श्रीकांत माथुर (तिग्मांशु) डलवाता है| पाशा एक बहुत बड़ा डॉन होता है, जो बुरे काम करता है| सूरज (सूरज पांचोली) पाशा का दाहिना हाथ होता है जो उसके बेटे की तरह ही होता है| सूरज एक लोकल गुंडा होता है, लेकिन दिल का अच्छा होता है, जो कभी किसी कमजोर को परेशान नहीं करता, वह पाशा की हर बात मानता है| जेल से निकलने के लिए पाशा सूरज को IG की बेटी का अपहरण करने बोलता है| सुरज उसकी बात मान जाता है और नकली पुलिस बन कर राधा (अथिया) को किडनैप कर लेता है| राधा को लगता है वह उसके पापा का आदमी है और ख़ुशी ख़ुशी उसके साथ शहर से बाहर चली जाती है, सूरज उसे ऐसा शो भी नहीं करता, कि वह किडनेपर है| सूरज की style बॉडी देख राधा को उससे प्यार हो जाता है| राधा की मासूमियत सूरज को भाती है और वह भी उसे चाहने लगता है, प्यार में पड़ कर सूरज राधा को अपनी सारी सच्चाई बता देता है| अपने प्यार के लिए सूरज पूरी दुनिया से लड़ने को तैयार हो जाता है एवं अपने आप को पुलिस के सामने सरेंडर भी कर देता, जिससे उसे 2 साल की जेल हो जाती है| राधा का पिता उसे पढने के लिए पेरिस भेज देता है, यह सोच कर कि वह सूरज को भूल जाएगी| सूरज के अच्छे चाल चरन के कारण उसे 6 महीने पहले जेल से रिहा कर दिया जाता है| राधा भी भारत वापस आ जाती है और सूरज को एक अच्छा इन्सान बनने में मदद करती है ताकि वह अपने पिता के सामने उससे शादी की बात कर सके| सूरज एक अच्छा इन्सान बन पायेगा? ये बात सुनकर पाशा क्या करेगा? IG अपनी बेटी की की शादी एक गुंडे से करेगा? ये सब सवालों का जवाब आपको सिनेमाघर में मिलेगा|

सिर्फ बेसिक कहानी की बात की जाये तो यह पुराणी फिल्मों की तरह ही है, गुंडा हीरो लड़की का किडनैप करता है, फिर प्यार करता है और अच्छा इन्सान बनता है लेकिन बाप नहीं मानता है| इस बेसिक स्टोरी पर हमारे बॉलीवुड में दर्जनों फ़िल्में आ चुकी है, लेकिन आज भी दर्शक रोमांस एक्शन साथ में पसंद करते है| पिछली हीरो में जैकी श्रोफ main लीड थे और उनके निर्देशक का नाम भी जैकी था, इस फिल्म में भी रील और रियल हीरो का नाम सूरज है| पिछली हीरो में हेरोइन मिनाक्षी शेषाद्री थी जो राधा थी, इस बार अथिया राधा है|

फिल्म को नया रूप देने की कोशिश तो की गई है, लेकिन इसमें पूरी तरह से सफलता किसी ने नहीं पाई है, फिल्म के लेखक ने फिल्म में ऐसा एक भी दमदार डायलोग नहीं रखा कि जिसके बाद दर्शक सीटी बजा दें| कोई भी मजेदार पंचलाइन नहीं है| फिल्म में आज के हिसाब से किरदार गढ़ने की कोशिश की गई है लेकिन पुराने को भी नहीं छोड़ा गया है| एक तरह राधा सेल्फी लेने वाली इन्स्ताग्राम चलाने वाली लड़की है वही दूसरी ओर नोनवेज, शराब, गन्दी बातों और मुहं बनाना, ये बात कुछ हजम नहीं होती है|

हीरो फिल्म कलाकारों की समीक्षा (Hero 2015  film Cast)-

फ़िल्मी बैकग्राउंड होने का फायदा नए चेहरों को जरुर मिलता है| यही फायदा सुरज अथिया को भी हुआ है, सलमान खान जैसे बड़े कलाकार उनके मेंटर बन गए| सूरज ने पहली फिल्म के हिसाब से अच्छा काम किया है, पहली ही फिल्म में दमदार एक्टिंग इमोशन की अपेछा हमें नहीं करनी चाहिए| सुरज ने अथिया के साथ वाले सीन तो अच्छे किये है लेकिन अन्य कलाकारों के साथ वाले सीन में वे थोड़ा असहज महसूस करते दिखाई पड़ते है| लेकिन सूरज की  style, बॉडी आज की लड़कियों को कायल कर देगी और यही चीज उन्हें आगे मौका भी देगी| फिल्म में सूरज के रोने वाले सीन में वे सबको रुला जाते है, emotional एक्ट को भी इतने अच्छे से करना सबके बस की बात नहीं|

अथिया राधा के रूप में जची है, लेकिन उन पर सूरज से कम ध्यान दिया गया है| डायलोग डिलीवरी में अथिया को अभी बहुत काम करना होगा, अपनी परफॉरमेंस से भी कुछ कमाल नहीं दिखा पाई है| उनको अभी बस 3-4 एक्सप्रेशन ही आते है, जिसे उन्होंने पूरी फिल्म में उपयोग किया है| अथिया को इस इंडस्ट्री में रहने के लिए बहुत काम करना होगा क्यूंकि उनके type की अलिया भट्ट आलरेडी हमारी इंडस्ट्री में है|

तिग्मांशु धुलिया IG श्रीकांत के रूप में अच्छे लगे है| उनकी पिछली फिल्म मांझी व वास्सेपुर में वे जल्लाद मुखिया बने थे| पहली बार वे पुलिस के रूप में आये है| निर्देशक को इनसे इनकी काबिलियत के अनुसार और काम करवाना था, जिससे इनका किरदार और निखर जाता|

आदित्य पांचोली ने पाशा के किरदार के साथ बिल्कुल इंसाफ नहीं किया है, पिछली हीरो में यह किरदार अमरीश पूरी ने निभाया था, आदित्य उनका 50% भी नहीं कर पाए है| इतना अच्छा किरदार और नाम मिलने के बावजूद आदित्य पीछे रह गए|

टीवी कलाकार शरद केलकर, अनीता हन्संदानी ने सहायक किरदार के रूप में अच्छा काम किया है|

हीरो फिल्म संगीत समीक्षा( Hero 2015 Movie Songs Review) –

फिल्म का संगीत अच्छा है, दर्शक इसे एन्जॉय करेंगें| लेकिन कुछ गाने जबरदस्ती डाले गए है, कहानी चलती रहती है और अचानक फिर बीच में गाना आ जाता है, जो एक लय ब्रेक करता है| फिल्म का टाइटल सोंग मै तेरा हीरो सलमान खान ने खुद गया है, जिसको बहुत अच्छा रिस्पांस मिल रहा है| गाने के बोल भी बहुत सुंदर है|

हीरो फिल्म ओवरआल परफॉरमेंस –

हीरो कल हो ना हो व D डे की तरह निखिल की सफल फिल्म साबित नहीं हुई| फिल्म थोड़ी बहुत आपका मनोरंजन कर सकती है| फिल्म को अथिया व सूरज को प्रमोट करने का विडियो कह सकते है| लेकिन यह एक typical बॉलीवुड फिल्म है, जिसमें एक्शन रोमांस ड्रामा सब है, जिसे आप पूरे परिवार के साथ एन्जॉय कर सकते है| फिल्म को एक बार तो देखा ही जा सकता है|

अन्य पढ़े:

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

यह भी देखे

bagum jaan

बेग़म जान फिल्म रिव्यु और उसके प्रसिद्ध डायलोग | Begum Jaan movie Review and famous dialogues in hindi

Begum Jaan movie review and famous dialogues in hindi इन दिनों इस फिल्म के डायलॉग कई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *