ताज़ा खबर
Home / टिप्स और ट्रिक्स / आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय | Increase Self Confidence Tips In Hindi

आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय | Increase Self Confidence Tips In Hindi

How to Increase Self Confidence Tips In Hindi आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय आसान तरीके लिखे गये हैं जो मेरे अनुभव के आधार पर हैं और इनसे मुझे सो प्रतिशत लाभ मिला हैं इसलिए अब मैं यह आप सबसे शेयर कर रही हूँ |

आत्मविश्वास जीवन का आधार हैं अगर इसमें कमी होती हैं तो जीवन का आधार हिल जाता हैं | किसी में कितना ही बड़ा गुण क्यूँ ना हो अगर उसमे आत्मविश्वास नहीं है तो वह गुमनामी की जिन्दगी जीता हैं |

Increase Self Confidence Tips

मुझमे भी आत्मविश्वास की बहुत कमी थी | एक वक्त था जब मैं घर में माँ, पापा और भाई के अलावा किसी से बात नहीं करती थी और स्कूल में भी चुप रहती थी लेकिन अक्सर ही उन विद्यार्थियों को देखकर, जो कई तरह की शाला गतिविधियों में भाग लेते थे, मेरा भी मन करता था कि मैं भी उनके समान पढाई के अलावा अन्य कुछ गतिविधियों में हिस्सा लू |लेकिन मुझे बहुत डर लगता था | मैं कभी कक्षा में आगे जा कर बोलने की हिम्मत नहीं कर पाती थी |

लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि आज मैं कई शादियों में संगीत सेरेमनी में होस्टिंग करती हूँ | मुझे हिंदी कविता लिखने का शौक हैं और इसी के ज़रिये मैंने सबसे पहले अपनी मौसी के घर की शादी के संगीत फंक्शन में माइक हाथ में लेकर पुरे फंक्शन का सञ्चालन किया था| पहली कविता पढ़ते वक्त मेरे कान में एक अजीब सी आवाजे आ रही थी | डर के कारण मेरी आवाज़ कांप रही थी और मुझे सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी लेकिन मेरी कुछ लाइन्स सुनने के बाद जब सभी श्रोताओं ने तालियाँ बजाई| मुझमे हिम्मत आ गई और धीरे-धीरे आज में इस मुकाम पर हूँ कि कहीं भी किसी भी फंक्शन का सञ्चालन पुरे कॉन्फिडेंस के साथ कर सकती हूँ | बस मुझे दुःख इस बात का हैं कि अगर यह डर स्कूल, कॉलेज के दिनों में चला जाता तो मैं अपनी इच्छायें पूरी कर पाती लेकिन देर आये दुरुस्त आये | आज जब तालियाँ बजती हैं और मेरी माँ के चेहरे पर मुस्कान आती हैं तो मुझे कुछ याद नहीं आता और वो पल मेरे लिए याद बन जाता हैं |

अपने बच्चो को इस तरह से पुरे आत्मविश्वास के साथ अपने पैरो पर खड़ा देखते हैं तो सबसे ज्यादा ख़ुशी माता-पिता को ही होती हैं |इसलिए माता-पिता को सचेत रहते हुए बचपन में ही अपने बच्चो का आत्मविश्वास बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिये |

आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय आसान तरीके

कहते हैं बच्चे गीली मिट्टी की तरह होते हैं उन्हें जिस रूप में भी ढाले वे वही रूप ले लेते हैं | यह ध्यान में रखते हुए माता-पिता को बचपन से ही बच्चों में आत्मविश्वास बढ़ाने के तरफ ध्यान देना चाहिये |

 Increase Self Confidence In Children Tips In Hindi

बच्चो में आत्मविश्वास बढ़ाने के आसान तरीके
How to Increase Self Confidence In Children Tips

  • बच्चे जब बोलने लगते हैं उसके बाद जब भी आपके घर कोई आये बच्चो को उनका वेलकम करना अर्थात नमस्ते करना या चरण स्पर्श करना सिखायें और उनमें इस आदत को बढ़ाये | इससे उनमें किसी से बात करने की झिझक कम होगी | और वे संस्कारी भी बनेंगे | ऐसा करने से बच्चो में आत्मविश्वास बढ़ेगा |
  • घर में गेस्ट अथवा घर के सदस्यों के सामने बच्चो को कभी- कभी पोएम, डांस या जो भी वे करते हैं उनसे करवाएं और जैसा भी परफॉरमेंस दिया हो ताली जरुर बजाएं | इससे उनका उत्साह बढ़ता हैं |उनसे ऐसा करवाने से उनमें आत्मविश्वास बढ़ता हैं लेकिन हमेशा उनके पीछे ना पड़े बच्चो को इस बात से चिढ़ाए नहीं |
  • स्कूल में पढाई के अलावा एक्स्ट्रा गतिविधी में बच्चो को जरुर आगे बढ़ाये | इससे आपको बच्चे का इंटरेस्ट भी पता चलेगा और घर के अलावा अजनबी लोगो के बीच एक्टिविटी करने से उनमें हिम्मत बढ़ेगी, आत्मविश्वास बढ़ेगा | और उनमें कुछ करने का जस्बा आएगा |
  • जब आपका बच्चा थोड़ा बड़ा समझने लायक लगभग 7 वर्ष का हो तब बच्चे पर छोटी- छोटी ज़िम्मेदारी डाले जैसे उनका बेग तैयार करना, खुद स्कूल के लिए तैयार होना, सफाई का ध्यान रखना आदि ऐसे काम करने से बच्चे के मन में उत्साह आता हैं वो ज़िम्मेदारी का अहसास करते हैं और इससे भी उनमे आत्मविश्वास बढ़ता हैं |
  • बच्चो को हार जीत के दलदल में कभी ना डाले उन्हें एक्टिविटी करने दे लेकिन उन पर जीतने दबाव ना बनाये | आप सोचते हैं ऐसा करने से वो अच्छा करेंगे लेकिन कई बार इसके दुष्प्रभाव भी सामने आते हैं जैसे जीतने के बाद वे अपने आपको अन्य बच्चों से श्रेष्ठ समझने लगते हैं या हराने पर निराश हो जाते हैं | कभी-कभी डीप्रेस भी हो जाते हैं इसलिए बच्चो को सभी चीजे नॉर्मल तरीके से ही सिखायें | जिस बच्चे में यह जस्बा होता हैं उनमे आत्मविश्वास की प्रचुर मात्रा होती हैं |
  • बच्चे के अच्छे प्रदर्शन पर उनका उत्साह बढ़ाने के लिए उनकी तारीफ करें लेकिन इसमें समझदारी रखे | ऐसा ना हो कि बच्चा अहंकारी बने और अपने आपको को श्रेष्ठ समझने लगे क्यूंकि अगर यह भाव बच्चे में आ गया तो वो कभी आगे नहीं बढ़ सकेगा | उसमे कुछ भी सीखने की ललक कम हो जाएगी क्यूंकि वो अपने आपको श्रेष्ठ समझने लगेगा |
  • एक महत्वपूर्ण बात बच्चो के मन के मुताबिक ही चले | उन्हें बहुत अधिक किसी बात के लिए फोर्स ना करें | उनमें उत्साह जगायें, कभी-कभी अन्य एक्टिव बच्चे से उनकी तुलना करें जिससे उनमे भी करने की ललक जागे | लेकिन सावधानी से, इससे बच्चे में नकारात्मक भाव उत्पन्न ना हो |
  • सबसे जरुरी, अपने बच्चे के दोस्त बने | उनसे ऐसा व्यवहार रखे कि वे आपसे अपनी ख़ुशी, परेशानी और गलतियाँ सब कुछ बिना हिचक शेयर करें |इससे आपको बच्चे को समझने में आसानी होगी अगर बच्चा अपने में कम आत्मविश्वास महसूस कर रहा हैं तो आप उसकी मदद कर सकेंगे | अगर वो अहंकारी बन रहा हैं तो आप उसे समझा सकेंगे | इस तरह बच्चो के दोस्त बनने के अनेक फायदे हैं लेकिन एक डर की भी जरुरत हैं कई बार बच्चे का दोस्त बनने में बच्चे सिर पर चढ़ जाते हैं और फिर उनमें डर खत्म हो जाता हैं और ऐसे में उन्हें कुछ भी समझा पाना मुश्किल हो जाता हैं |

यह सभी पॉइंट्स को ध्यान में रखते हुए और अपने जीवन के अनुभव के हिसाब से अपने बच्चे की परवरिश करे |अगर इन सभी बिन्दुओं पर आपने काम किया हैं और बचपन से ही आपके बच्चे में सकारात्मक आत्मविश्वास हैं तो समझ जाईये आपके बच्चे ने जीवन की एक चुनौति पूरी कर ली हैं क्यूंकि आत्मविश्वास सफल जीवन की नींव हैं |

How to Increase Self Confidence Tips

यह तो थी अपने बच्चो में आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये पर आसान टिप्स | लेकिन आत्मविश्वास की कमी बड़े होने पर भी महसूस होती हैं और उस वक्त अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने एवम बनाये रखने के लिए भी कुछ आसान तरीके आगे लिखे गये हैं |

अपने आप से झूठ ना बोले :

सबसे पहले अपने अंदर की कमी, डर और आत्मविश्वास में कमी के बारे में खुद से कहे उसे अच्छे से स्वीकार करे और ठान ले कि इसे हर हाल में ठीक करना हैं | जैसे मैं खुद बचपन से मोटी थी जिसके कारण घर से बाहर भी नहीं निकलती थी ना किसी से ज्यादा बात करती थी इसी तरह मैंने अपना ग्रेज्यूएशन पूरा कर लिया लेकिन उसके बाद मैंने ठान ली और अपना वजन कम किया जिससे मुझमे कुछ भी कर सकने का आत्मविश्वास पैदा हुआ साथ ही अपने आपसे प्यार करने लगी | इसलिए जरुरी हैं अपनी कमी को समझे और उसे दूर करने का प्रयास करें |

ऑय कॉन्टेक्ट करे :

किसी से भी बात करते वक़्त उससे नजरे मिलाकर बात करे आपमें अपने आप ही आत्मविश्वास की वृध्दि महसूस होगी |और किसी से बात करते वक्त ना डरे | सामने जो हैं वो भी एक इन्सान हैं और उनमें भी समझ हैं अगर आप नए हैं तो वे समझेंगे आपकी परेशानी को |

अपनों के बीच से शुरुवात करें :

अगर आपमें आत्मविश्वास की कमी हैं जैसे आप कई लोगो के बीच बोल नहीं पाते| ऐसे में बोलने की शुरुवात घर के सदस्यों एवम दोस्तों के बीच करे और मजाक उड़ने से ना डरे |घर के छोटे-छोटे फंक्शन में अपना योगदान दे और अपना सो प्रतिशत लगायें इससे आपका आत्मविश्वास बढेगा |

जिम्मेदारी ले :

घर, स्कूल, कॉलेज अथवा ऑफिस जैसी जगहों पर किसी भी गतिविधी में ज़िम्मेदारी ले और उसे जोश के साथ पूरा करे | इससे भी आपमें आत्मविश्वास पनपता हैं|

स्ट्रेटेजी बनाये :

कोई भी काम करने के लिए एक रफ पृष्ठ भूमि बनाये जिसमे कार्य का पूरा ब्यौरा शामिल करे और परिणाम का भी एक अनुमान लगाये अगर इसी ट्रैक पर काम करेंगे तो आपको सही गलत का परिचय होगा और इससे आपमें आत्मविश्वास आएगा |

नकारात्मक सोच से दूर रहे :

किसी भी काम के ना हो पाने की आशा लेकर काम ना करें ऐसा करने से आपका आत्मविश्वास और उत्साह दोनों कम होगा हमेशा काम के होने की जितनी भी गुंजाईश हैं उसे लेकर चले |

आँख खोल कर सपने देखे :

आप जो काम नहीं कर पाते कल्पना करे कि आप वो ही काम कर रहे हैं जिससे सभी खुश हैं आप भी खुश हैं और सभी आपकी तारीफ कर रहे हैं इससे आपमें सकारात्मक भाव आता हैं जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़ता हैं |

गलती करने से ना डरे :

इसके लिए एक किस्सा बताती हूँ | एक बार अपने एक दोस्त को मैंने कहा मुझसे प्रेजेंटेशन नहीं देते बनता मुझसे किसी के सामने बोला नहीं जाता मेरी आवाज में कम्पन्न होता हैं इस पर उसने हँसते हुए कहा कि क्या डरना ज्यादा से ज्यादा तू नहीं बोल पाएगी और तुझे डाट पड़ेगी लेकिन कोई तुझे मरेगा नहीं | कम से कम तू कोशिश करेगी तो गुंजाईश हैं अगली बार कर पायेगी | उसकी यह लाइन मेरे दिमाग में बैठ गई और मैने अपने सबसे बड़े डर को दूर किया टाइम लगा पर आज मुझे कही भी कभी भी बोलने को बोल दीजिये मैं वो कर सकती हूँ | उसी तरह मैं आपसे कहती हूँ कि गलती होने पर डरने या घबराने की जरुरत नहीं हैं अगर ऐसा हुआ तो आप कभी कोशिश नहीं करेंगे इसलिए अपने दरवाजे खुद बंद ना करें |

 फ़ैल होने से ना डरे   :

हमेशा सही परिणाम की कल्पना ना करे | कभी-कभी निराशा भी मिलती हैं पर उसे स्वीकार करें क्यूंकि गलती से ही इंसान सीखता हैं जो नीचे गिरते हैं वो ही बुलंदियाँ छूते हैं इसलिए फ़ैल होने से अपने आत्मविश्वास को कम ना होने दे बल्कि अपनी गलती का अवलोकन करे और उसे सुधारे |

अच्छे लोगो का अनुसरण करें :

अपने से बेहतर व्यक्ति के अच्छे गुणों को अपने जीवन में शामिल करें | महापुरुषों की जीवनशैली जाने और उन्हें अपने जीवन में उतारे इससे आपमें अच्छी आदतों का विकास होता हैं जिससे अच्छे परिणाम आते हैं और आप अपने आप में आत्मविश्वास का अनुभव करते हैं |

समय के साथ खुद में बदलाव लाये 

समय के हिसाब से खुद को ढाले जैसे बोल चाल, पहनावा और फेशन | ये सभी जरुरी हैं भले ही बहुत अधिक नहीं लेकिन बदलाव से आप खुद में उत्साह महसूस करेंगे |स्टाइलिश रहने से भी आत्मविश्वास बढता हैं |

यह सभी टिप्स आसानी से आप अपने जीवन में उतार सकते हैं इससे आप खुद में आत्मविश्वास के सस्थ उत्साह और ख़ुशी एवम संतुष्टी का भाव भी महसूस करेंगे | आत्मविश्वास एक बहुत जरुरी चीज़ हैं इसके होने से ज़िन्दगी की कई मुश्किलें आसन हो जाती हैं |

आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए कुछ ध्यान एवम योग भी करें |

How to Increase Self Confidence Tips

क्रमांक मेडिटेशन एवम योग क्रिया एवम लाभ
1 ध्यान करें  ध्यान मुद्रा में बैठकर अपने अंगूठे और तर्जनी को जोड़कर घुटने पर रखे | सुखासन में बैठे और आँखे बंद करके अपना ध्यान दोनों भोहों के बीच केन्द्रित करें |इससे आपमें सकारात्मक भाव आता हैं जो आत्मविश्वास (Self Confidence) बढ़ाने में सहायक होता हैं | 
2 ज़ोर-ज़ोर से चिल्लायें  घर की छत या किसी खुली जगह में सुबह के समय जोर जोर से चिल्लाये इससे मन का डर दूर होता हैं और आत्मविश्वास बढ़ता हैं | 
3 सुदर्शन क्रिया करे  यह सुदर्शन क्रिया हैं जिसके बारे में सर्च करे या किसी योग गुरु के सीखे और उसे अपने जीवन में शामिल करे | सुदर्शन क्रिया शारीरिक, मानसिक सभी परेशानी का एक बहुत अच्छा हल हैं इससे मनुष्य की सभी इन्द्रियाँ नियंत्रित होती हैं जिससे गुस्से में कमी, आत्मविश्वास में वृद्धि एवम मन प्रसन्नचित्त रहता हैं |
4 प्राणायाम करे  नियमित प्राणायाम करें | जिसमे भ्रामी एवम अनोम विलोम अवश्य करे | इससे चित्त शांत रहता हैं | और सभी काम करने का जस्बा पैदा होता हैं जो आत्मविश्वास बढ़ाने में सहायक होता हैं |
5 सूर्य नमस्कार करे  सूर्य नमस्कार के सभी स्टेप्स को ध्यान रखते हुए श्वसन क्रिया के साथ करने से एकाग्रता बढ़ती हैं इससे मनुष्य में आत्मविश्वास आता हैं |

जीवन में किसी भी परेशानी का हल ना हो ऐसा नहीं हैं कई कमिया तो सकारात्मक विचारों से ही पूरी हो जाती हैं | आत्मविश्वास की कमी तब ही होती हैं जब हम किसी बात से डरते हैं या अपने आपमें कमी महसूस करते हैं | और इन दोनों ही कारणों को ख़त्म करना आपके हाथ में हैं |

आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए सबसे पहले खुद पर यकीन करे और अपनी कमी को पूरा करने की कोशिश में लग जायें | और अगर आप सफल ना भी हो तो ना डरे हर व्यक्ति सभी कार्यों के लिए नहीं बना होता हैं आपने कोशिश की यही सबसे बड़ी जीत हैं |

How to Increase Self Confidence Tips अगर आपको इस आर्टिकल से हेल्प मिली हैं तो कमेंट अवश्य करे |

अन्य पढ़े

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

Handwriting Improvement tips

लिखावट सुधारने के तरीके | Handwriting Improvement tips in hindi

How to improve Handwriting tips in hindi लिखावट किसी भी इंसान का पहला इम्प्रैशन होती …

2 comments

  1. Muzme atmvishvas bahot kam tha lekin apane jo atmavishvas badane ke upay kahe hai isase muzme atmavishvas aya ki mai apna atmavishvas asani se badha sakta hu……. THANK YOU

  2. Mujhe Aapki web bahut pasand aai ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *