ताज़ा खबर

हम लोग टीवी सीरियल | Hum Log TV Serial in hindi

Hum Log TV Serial in hindi  1984 की गर्मी की शाम से Basesar Ram और उनकी family ने television के माध्यम से भारतीय परिवारों के drawing room पर दस्तक दी| आज लगभग 30 साल बाद भी बड़की, छुटकी, दादी, नन्हे और भी सभी character को भारतीय परिवार भूल नहीं पाया है| Hum Log indian television का पहला धारावाहिक था| 7 जुलाई 1984 में दूरदर्र्शन पर ये पहली बार प्रसारित हुआ था| दूरदर्र्शन उस समय का एक अकेला channel हुआ करता था|

humlog1

TV serial का idea सबसे पहले सूचना एवं प्रसार मंत्री Vasant Sathe के दिमाग में आया था| 1982 में वे Mexican गए थे वहां से आने के बाद उनके दिमाग में ये ख्याल आया क्यों कि ज़िन्दगी से जुड़ी बातें, ज्ञान की बातों को serial के माध्यम से tv पर दिखाया जाये और उन्होंने Hum Log को शुरू करने का idea दिया| जिसे Manohar Shyam Joshi ने लिखा था एवं filmmaker P. Kumar Vasudev ने direct किया था| इस series को music Anil Vishwas ने दिया था| इस series के बाद तो मानो जैसे धारावाहिकों की बाढ आ गई| 156 episode का ये धारावाहिक 30 min के लिए आता था, इसका last episode 1 घंटे का था|
Serial की कहानी 1980 दशक के एक भारतीय मध्यम वर्गीय परिवार की थी| जिसमे उनकी ज़िन्दगी से जुड़े उतार चड़ाव को दिखाया जाता था| serial के अंत में महान actor Ashok kumar जी serial से जुड़ी बातें दर्शको से हिंदी मुहावरों और अपनी कविता के माध्यम से करते| Ashok kumar जी जैसे महान कलाकार का इस serial से जुड़ना खुद में serial की एक सफलता थी| शुरुवात में serial को कम ही लोग देखते थे वे उससे जुड़ नहीं पाए थे दर्शको को लगता था कि ये सच्ची कहानी जो कही घटित हो रही है और उसे tv पे दिखाया जा रहा है| ये उस समय का पहला serial था जो telecast हो रहा था तो director और producer खुद भी इसकी सफलता को लेकर doubt में थे| लेकिन उनकी चिंता जल्दी ही दूर हो गई, serial बहुत hit हुआ और इसके एक एक पात्र को लोग crazy की तरह चाहने लगे| serial के मुख्य किरदार ने बहुत से awards जीते| serial के character से दर्शक जुड़ने लगे थे और पूरी team को उनके काम के लिए सराहा जा रहा था|
7 July 1984 को launch हुए Hum Log को लगभग 50 lakh लो देखा करते थे| एक research paper के survey के अनुसार भारत के जिन हिस्सों में हिंदी नहीं बोली जाती थी वहां पर भी serial की rating 20 से 40% देखी गई और उत्तर भारत में जहाँ हिंदी बोली जाती थी वहां तो 60 – 90% rating देखने को मिली थी| Ashok kumar जी को तो लगभग 4 lakh letter हर week मिलते थे जिसमें युवा लड़की और लड़का उनसे बोलते थे कि वे उनके parents को समझाए ताकि वे अपनी मर्जी से शादी कर सके| serial 1985 में end हो गया था फिर भी Ashok kumar जी को 1998 तक लोग letter लिखते रहे| उन्होंने university of Texas के एक प्रोफेसर Singhal से खुद कहा था कि 50 साल के फ़िल्मी career से ज्यादा उपलब्धि और इज्जत उन्हें 18 month किये serial Hum Log से मिली है|
Tv series का शुभारंभ हुआ और advertising industry को एक नया platform मिल गया अपने products के बारे में पुरे भारत को बताने का| सबसे पहला add Maggie का बना जो Hum Log serial के time slot में दिखाया जाता था| जैसे जैसे Hum Log के दर्शक बढ़े Maggie को भी फायदा होता गया| Maggie का फायदा देख और भी company आ गई अपनी किस्मत आजमाने, फिर तो एक लहर सी आ गई adds की| serial की hit ने लोगों को एक मौका दिया और फिर बहुत से लोग अपने खुद के serial direct और produce करने लगे एक new concept के साथ|
आज 30 साल complete होने को है, आज के दशक में जहाँ 200 से ज्यादा channel tv में आते है तब भी Basesar Ram और उसकी family को दर्शकों के दिलों से निकलना नामुमकिन है|

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

kahani-ghar-ghar-ki-serial

कहानी घर घर की ओल्ड स्टार प्लस सीरियल | Kahani Ghar Ghar ki Old Serial In Hindi

Kahani Ghar Ghar ki Old Star Plus Serial In Hindi सन 2000 में भारत के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *