ताज़ा खबर

अभिमान का स्वरूप नकारात्मक नहीं होता – एक रोचक कहानी

“Hubris is not Always Negative” 
अभिमान का स्वरूप नकारात्मक नहीं होता, कभी-कभी ज्ञानी भी अभिमानी बन जाता है |

Ek rochak kahani

एक संत अपने शिष्यों के साथ देश भ्रमण पर निकले थे |संत ने यह संकल्प किया था कि वह किसी से भिक्षा मांग कर अपना पेट नहीं भरेंगे उन्हें जो भी बिना मांगे मिलेगा, बस वही ग्रहण करेंगे | इसी तरह उन्हें एक महीने कुछ भी प्राप्त नहीं हुआ और उस saint ने एक महीने तक कुछ नहीं खाया पिया | इसका उनके स्वास्थ्य पर कुछ भी असर नहीं हुआ उनके चहरे का तेज वैसा ही रहा |

थोड़ी देर चलने पर संत को एक विवाहित जोड़ा दिखाई दिया तब ही संत ने रुककर उस जोड़े से भोजन की याचना की लेकिन ने मना कर दिया और आगे जाने को कहा | संत भी मुस्कुराते हुए आगे बढ़ गए |

यह पूरी घटना संत के शिष्य देख रहे थे और वे सभी surprised थे क्यूंकि संत ने तो याचना ना मांगने का निश्चय किया था | इसलिए शिष्यों ने संत से पूछा हे ! गुरु देव आपने इस विवाहित जोड़े से भिक्षा क्यूँ मांगी ? तब संत ने विनम्र भाव से उत्तर दिया – पुत्र ! बहुत दिनों से भिक्षा ना मांगने के कारण मुझे भिक्षा ना मांगने का अहंकार हो गया था इसलिए मैंने अपना प्रण तोड़ा और भिक्षा मांगी और जब उस जोड़े ने मुझे भिक्षा नहीं दी तब मेरा अहम् टूट गया और अब मुझे आत्मीय संतोष मिला हैं |

Moral Of The Story:

अभिमान का स्वरुप हमेशा नकारात्मक नहीं होता | कभी कभी महान व्यक्ति की महानता भी अहम् का रूप बन जाती हैं | ज्ञानी वही हैं जो अपने अन्दर की बुराई को जाने और उसे खुद ही सुधारे |  

Hubris is not always negative. At times, a great abstinent is become a boastful. A great man is only one who accepts their mistakes and corrects them himself.

अन्य हिंदी कहानियाँ एवम प्रेरणादायक प्रसंग के लिए चेक करे हमारा मास्टर पेज

Hindi Kahani

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

One comment

  1. एडसेंस चलाने के लिए आपने हिंदी के साथ अंगेजी शब्दों का घाल मेल किया हैं वो बहुत गजब हैं 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *