ताज़ा खबर

जंगल बुक टीवी सीरीज इतिहास | Jungle book series history in hindi

Jungle book series history in hindi आज की दौड़ती भागती ज़िन्दगी में हम सब बिजी हो गए है, हफ्ते भर काम करना और फिर सन्डे को आराम से सोना बस यही रह गया है. पहले सन्डे का मतलब होता था, दूरदर्शन में आने वाले कार्यक्रम को देखना. बचपन की याद करते है, तो मन में ख़ुशी की लहर सी आ जाती है. हम बच्चे पहले दिन भर स्कूल में रहते और शाम होते ही बाहर खेलने चले जाते थे, लेकीन अब के बच्चे टेक्निकल हो गए. आउटडोर खेल की जगह घर में टीवी,प्ले स्टेशन, मोबाइल, लैपटॉप ने ले ली है. बच्चे अब इसी में गेम खेलना पसंद करते है. मेरा जन्म 90 के दशक में हुआ था, उस समय टीवी का नया दौर था. मोहल्ले में किसी एक घर में ही टीवी पाया जाता था, जिसमें सिर्फ एक चैनल आता था, दूरदर्शन. उस समय दूरदर्शन पर

आदि सीरियल आया करते थे, जिन्हें देखकर हमारा मन प्रफुल्लित हो उठता था. बचपन के वो दिन बड़े सुहावने थे.

जंगल बुक टीवी सीरीज इतिहास

Jungle book series history in hindi

उस समय टीवी पर एक कार्टून सीरीज भी आती थी, जिसका नाम था जंगल बुक. जंगल बुक ब्लॉकबस्टर सीरीज रही है, जिसे उस समय का हर बच्चा बड़े चाव से देखता था. जंगल बुक का मुख्य किरदार मौगली उन सभी बच्चों का अपना दोस्त बन गया था. यह हर सन्डे दिन में 12 से 1 आता था, उस समय हर बच्चा इसे देखने के लिए अपने सारे काम छोड़ देता था. फिर अगले दिन स्कूल में अपने दोस्तों के साथ मौगली के बारे में बातें करतें.

जंगल बुक इतिहास (The jungle book tv series History)–

सबसे पहले जंगल बुक को 1894 में रुडयार्ड किपलिंग ने लिखा था, जिसे उनके पिता ने पब्लिश किया था. किपलिंग का जन्म भारत के मुंबई में हुआ था, उन्होंने अपने बचपन के 5-6 साल यहीं भारत में गुजारे थे, जिससे वे भारत को करीब से जानते थे, व् यहाँ की सभ्यता से भलीभांति परिचित थे. इसके बाद वे इंग्लैंड चले गए, जहाँ 10 साल रहने के बाद वे फिर भारत आ गए. यहाँ उन्होंने 6-7 साल काम किया था. जंगल बुक को किपलिंग ने 2 भाग में लिखा था, पहला भाग 1894 में आया व् दूसरा 1895 में आया था.  अपने अलग तरह के विषय के कारण ये काफी चर्चा में रही और इस पर ढेरों प्रोडूसर, डायरेक्टर की नजर पड़ी. वे इस पर फिल्म, टीवी सीरीज बनाना चाहते थे. इस पर पहली फिल्म 1937 में रोबर्ट जे के द्वारा एलीफैंट बॉय के नाम से बनाई गई थी.

Jungle book series

जंगल बुक पर एनिमेटेड सीरीज 1989 में बनी, जिसे जापान में रिलीज़ किया गया था, यह 52 एपिसोड में बनाई गई थी. इस सीरीज को वाल्ट डिज्नी पिक्चर के साथ फुमियो कुरोकावा ने डायरेक्ट किया था. इसे कार्टून सीरीज के रूप में किमिओ याबुकी द्वारा फिर से लिखा गया था. भारत में इसे सबसे पहले 1993 में दिखाया गया था, जिसे पूरा एक साल हर रविवार 52 एपिसोड में दिखाया गया था. मौगली, बघीरा,बल्लू, शेरखान, अकेला, चमेली, लीला बहुत फेमस किरदार थे, इसको देखकर बच्चे घर में भी जंगल बुक खेला करते थे, और इसके किरदार को अलग अलग रूप में निभाया करते थे. उस समय ब्लैक एंड वाइट टीवी पर इस शो का मजा लेने का अलग ही अनुभव था.

जंगल बुक की कहानी (The jungle book story ) –

किपलिंग भारत में जन्मे थे, उनका यहाँ से एक अलग ही लगाव था. यही वजह है उन्होंने अपनी सबसे फेमस बुक में भारत को मुख्य स्थान दिया. किपलिंग के अनुसार मौगली की कहानी सच्ची है, भारत में रहने के दौरान उन्होंने सुना था कि मौगली नाम का एक लड़का, पेंच नेशनल पार्क जो मध्यप्रदेश के सिवनी में है, वहां रहता है. जिसके पास असाधारण कौशल था, वह आसानी से बड़े बड़े पेड़ों पर चढ़ जाता, बड़े बड़े जानवर से शिकार कर लेता. मौगली को देख सबको लगा कि वो किसी दिव्य शक्ति के द्वारा ये काम करता है, लेकिन उसके चेकउप के दौरान ये पता चला कि ये साधारण मनुष्य है, जिसके पास हुनर है. मौगली को फारेस्ट में काम करने का भी ऑफर दिया गया था. लेकिन उसकी सच्चाई जानकर उसे जंगल में भेड़िये के झुण्ड में वापस भेज दिया गया.

इसी के बाद किपलिंग को जंगल बुक लिखने का ख्याल आया, उन्होंने मौगली के बचपन को अपने शब्दों में ढाला. जंगल बुक भारत के एक जंगल की कहानी है, जिसमें सभी जानवर रहते है. एक मनुष्य का बच्चा अपने माँ बाप से बिछड़ के इस जंगल में गुम हो जाता है. ये बच्चा इतना छोटा, नासमझ होता है कि इसे किसी जानवर से डर नहीं लगता, बल्कि वो सबसे बड़े प्यार से मिलता था. जंगल के खूखांर जानवर भी इस बच्चे की मासूमियत देख पिघल जाते है, और सब इससे प्यार कर बैठते है. लेकिन शेरखान (शेर) के अंदर दिल नहीं होता, वो जानवर इस मनुष्य के बच्चे को अपना शिकार समझता है और इसे खा जाना चाहता है.

मौगली की परवरिश भेड़ों का जोड़ा करता है, वे उन्हें माँ बाप की तरह पालते है. बघीरा काला तेंदुआ होता है, जो मोगली का अच्छा दोस्त होता है. बल्लू नाम का भालू भी मौगली का अच्छा दोस्त होता है. ये सभी मौगली की शेरखान से रक्षा करते थे.

दी जंगल बुक कैरक्टर (The jungle book cast)–

चरित्र  किरदार  कलाकारों के नाम जिन्होंने आवाज दी है
मौगली   इन्सान का बच्चा  
अकेला   भेड़, मौगली का पिता  
बघीरा   तेंदुआ ओम पूरी
बल्लू   भालू इरफ़ान खान
शेरखान   शेर नाना पाटेकर
रक्षा   भेड़, मौगली की माँ शेफाली शाह
का   अजगर प्रियंका चोपड़ा

हिंदी कार्टून में इसे नामी कलाकारों ने आवाज दी थी, जिसमें मुख्य रूप से नाना पाटेकर का नाम है, जिन्होंने शेरखान के लिए आवाज दी थी. इसके अलावा विनोद कुलकर्णी, उदय सबनीस, दीपा साही, वीरेंद्र सक्सेना, उदय सभिनाश, कमलाकर सोंताके. इसके हिंदी संस्करण में म्यूजिक विशाल भरद्वाज ने दिया था व् इसका गाना ‘जंगल जंगल बात चली है पता चला है..’ फेमस लेखक गुलजार साहब ने लिखा था.

दी जंगल बुक फिल्म 2016 (The jungle book movie 2016)–

अप्रैल 2016 में दी जंगल बुक को जॉन फ़व्रेऔ के द्वारा बनाया गया और रिलीज़ किया गया. इसे प्रोडूस वाल्ट डिज्नी पिक्चर ने किया है. फिल्म को बड़े लेवल पर बनाया गया जिसे काफी पसंद किया जा रहा है. भारत में ये 8 अप्रैल को रिलीज़ की गई है. फिल्म में नील सेठी ने मौगली का किरदार निभाया है, इस बाल कलाकार ने जबरजस्त एक्टिंग की है. जिसे सब काफी पसंद कर रहे है. फिल्म में बड़े बड़े कलाकारों ने अपनी आवाज दी है, जिसमें मुख्यतः प्रियंका चोपड़ा, इरफ़ान खान, ओम पूरी, शेफाली शाह व् नाना पाटेकर के नाम है.

  • प्रियंका चोपड़ा ने अजगर ‘का’ को आवाज दी है.
  • इरफ़ान खान ने भालू ‘बल्लू’ को आवाज दी है.
  • ओम पूरी ने काला तेंदुआ बघीरा को आवाज दी है.
  • शेफाली शाह ने भेड़ रक्षा को आवाज दी है.
  • नाना पाटेकर ने शेरखान को आवाज दी है. नाना ने इससे पहले एनिमेटेड कार्टून सीरीज में भी शेरखान को अपनी आवाज दी थी.

जंगल बुक आज भी बच्चों के द्वारा उतनी ही पसंद की जाती है, जितने 90 के दशक में. आज इस पर बहुत से मोबाइल व् विडियो गेम भी बन चुके है.

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

यह भी देखे

stone boy

द स्टोन बॉय टीवी सीरीज | The Stone Boy TV series in hindi

The Stone Boy TV series in hindi 1991 में दूरदर्शन पर स्टोन बॉय टीवी सीरीज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *