ताज़ा खबर

कमलेश नागरकोटी का जीवन परिचय | Cricketer Kamlesh Nagarkoti Biography, bowling speed, wickets in Hindi

 अंडर-19 टीम के गेंदबाज कमलेश नागरकोटी का जीवन परिचय | Kamlesh Nagarkoti cricketer Biography, bowling speed, wickets in Hindi

भारतीय अंडर-19 टीम के गेंदबाज कमलेश नागरकोटी की तेज गेंदबाजी से विरोधी टीमों को अच्छी खासी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है. इस नए गेंदबाज की गेंद की गति भारतीय क्रिकेट टीम के पहले गेंदबाजों की तुलना में काफी अच्छी है. अभी हाल में कमलेश भारतीय अंडर-19 टीम से अंडर-19 वर्ल्ड कप खेलने गए हुए हैं. जहां ये अपनी गेंदबाजी का अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और भारत टीम की ये कप जीताने में मदद कर रहे हैं. वहीं आज हम आपको इस गेंदबाज के जीवन से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण चीजें बताने जा रहे हैं.

Cricketer Kamlesh Nagarkoti

कमलेश नागरकोटी का जीवन परिचय | Kamlesh Nagarkoti Short Biography in Hindi

पूरा नाम कमलेश लछम नागरकोटी
आयु 18 वर्ष
जन्म तारीख 18 दिसंबर, 1999
बल्लेबाजी, गेंदबाजी दाएं हाथ से
ऊंचाई 5  फिट 8  इंच
पेशा क्रिकेटर (तेज गेंदबाज)
वजन 62 किलो
जन्म स्थान बाड़मेर राजस्थान, उत्तराखंड(पुष्टि नहीं हुई है)
कोच सुरेंद्र सिंह राठौड़

कमलेश का जन्म एवं शिक्षा (Kamlesh Nagarkoti birth place and education)

कमलेश का जन्म 18 दिसंबर 1999 को बाड़मेर, राजस्थान के एक राजपूत परिवार में हुआ था. इनका परिवार सबसे पहले उत्तराखंड में रहता था, लेकिन कमलेश को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए इनका परिवार उत्तराखंड से जयपुर में रहने चला गया. वहीं कमलेश ने अभी 12 कक्षा तक की शिक्षा हासिल कर रखी है.

कमलेश नागरकोटी का परिवार (Kamlesh Nagarkoti Family)

इनके पिता का नाम लछम नागरकोटी है, जबकि इनकी मां एक ग्रहणी है. इनके परिवारिक नाम कम्मू है. इनके परिवार ने कमलेश का साथ देते हुए इन्हें क्रिकेट खेलने की अनुमति दी थी. इतना ही नहीं इनको जयपुर में क्रिकेट प्रशिक्षण केंद्र में प्रवेश दिलाया था. जहां से इन्होंने अपने क्रिकेट के करियर की शुरुआत की थी.

कमलेश का करियर (Kamlesh Nagarkoti cricket career)

कमलेश का नाम इनकी तेज तर्रार गेंदबाजी की वजह से सबके सामने आया है. इन्होंने अपने करियर का पहला मैच राजस्थान की टीम की तरफ से खेला था. कहा जाता है कि जब कमलेश 13 साल के थे तो इन्होंने राजस्थान अंडर-14 के लिए ट्रायल (इम्तिहान) दिया था. जिसमें इनको उस समय टीम में चयनित नहीं किया गया था. उसके बाद इनके कोच सुरेंद्र सिंह राठौड़ ने इनकी मदद की और तेजी के साथ गेंदबाजी में संयम लाने को कहा, जिसके चलते इन्होंने इनस्विंग एवं ऑउटस्विंग दोनों तरह की खूबियों का अपनी गेंदबाजी में मिश्रण किया. इस मेहनत और सुधार के चलते इनको राजस्थान की टीम U-16 एवं U-19 में जगह मिली, इतना ही नहीं इनको भारत की अंडर-19 टीम की तरफ से खेलने के लिए न्यूजीलैंड भेजा गया है.

कमलेश का ‘क्लास ए’ करियर (Kamlesh Nagarkoti’s First-class Cricket Career)

कमलेश द्वारा फर्स्ट क्लास क्रिकेट में काफी अच्छा प्रदर्शन किया गया है. इन्होंने भारत के लिए ग्रुप A से अभी तक 6 मैच खेले हैं, जिसमें इनका औसत 20.77 एवं इकॉनमी 4.89 की रही है, इन्होंने कुल 9 विकेट हासिल किये हैं. इस दौरान इनका बेहतरीन प्रदर्शन 30 रन देकर 3 विकेट हासिल करना है. इन्होंने ग्रुप A का पहला मैच राजस्थान टीम  से मुंबई के खिलाफ 26 फरवरी 2017 में खेला था.

कमलेश की गेंदबाजी की गति (Kamlesh Nagarkoti bowling speed)

लम्बे कद के इस खिलाड़ी की गेंद की गति लगभग 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार तक पहुंच जाती है. चार ओवर फेकने के बाद भी इनकी गति 145 किलोमीटर प्रति घंटे का आंकड़ा छू लेती है, जो कि काफी सराहनीय है. अगर इनकी गेंदबाजी में औसतम गति की बात करें तो 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार पार हो जाती है. इतनी कम उम्र में इतना हुनर होने के चलते इनको पूरे देश के महानतम खिलाड़ियों ने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए एक अच्छा भविष्य बताया है.

कमलेश की सबसे तेज गेंद (Kamlesh Nagarkoti fastest ball)

अभी हाल में ही इन्होंने एक गेंद की थी, जिसने 149 किलोमीटर की रफ़्तार पकड़ी थी. वहीं  भारतीय क्रिकेट की बात करें तो पहले के इतिहास में तेज तर्रार गेंदबाजों की कमी खलती रही है. जिसके चलते कमलेश को ही एक बेहतर विकल्प की तरह देखा जा रहा है.

गेंदबाजी करने का तरीका (Kamlesh Nagarkoti bowling action)

  • कमलेश इस समय शिवम मावी के साथ भारत अंडर-19 टीम में तेज गेंदबाजी की अगुआई कर रहे हैं. शिवम मावी भी भारतीय U-19 टीम के एक तेज गेंदबाज हैं. कमलेश दाएं हाथ के गेंदबाज है, एवं ये बल्लेबाजी भी दाएं हाथ से करते हैं. इनकी गेंदबाजी की खास बात है कि 145 से लेकर 149 किलोमीटर प्रति घंटे की गति कायम रख सकते हैं. इसके साथ ही गेंद की लाइन और लेंथ बरकार रखते हैं जो कि किसी भी बेहतरीन गेंदबाज की निशानी हैं.
  • अभी हाल में भारत के गेंदबाज मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर 135 से लेकर 140 किलोमीटर प्रति घंटे की गति ही कायम रख पाते हैं. हालांकि इन दोनों की लाइन और लेंथ काफी अच्छी है जिससे ये दोनों किसी भी टीम के बल्लेबाजों को पस्त कर सकते हैं.

भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग द्वारा कमलेश की तारीफ

भारत के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने एक ट्वीट के जरिये कमलेश और शिवम की तारीफ करते हुए विराट कोहली को इन दो नए हुनरबाजों की तरफ ध्यान देने को कहा. भारत के काफी खिलाड़ी अंडर-19 टीम से आये है, जिनमें विराट कोहली, उन्मुक्तचंद एवं कुलदीप यादव शामिल हैं. इसलिए उम्मीद की जा रही है कि इन दोनों को भी एक बार मौका दिया जा सकता है. वहीं भारत के पूर्व धुआंधार बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी इन दोनों की जमकर तारीफ की है. इसके साथ ही राहुल द्रविड़ भी इनके प्रदर्शन के चलते खुश है.

अभी तक का अंडर-19 टीम में प्रदर्शन (u19 team India 2018 world cup)

14 जनवरी 2018 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए मैच में इन्होंने अपनी गेंदबाजी में गति और संयम के चलते विपक्षी टीम के छक्के छुड़ा दिए. इन्होंने मात्र 29 रन देकर 3 विकेट झटके. वहीं 16 जनवरी 2018 को पापुआ न्यू गिनी अंडर-19 टीम के खिलाफ 6 ओवरों में 17 रन खर्च करके एक विकेट लिया, जिसमें इन्होंने 3 मेडन ओवर भी फेके. दोनों मैचों में ही भारत को शानदार जीत मिली है. हालांकि अभी हाल में इन्होंने दो मैच और खेले है, जिनमें 16 जनवरी को एक विकेट और 19 जनवरी को जिम्बाब्बे के खिलाफ कोई विकेट नहीं मिला.

आईपीएल में कमलेश की मांग (Kamlesh Nagarkoti ipl)

आईपीएल में तेज गेंदबाजों की कमी हर एक टीम को खलती है, इसलिए कई आईपीएल टीमों ने इनके ऊपर नजर रखी हुई है. खासतौर पर राजस्थान रॉयल्स की नजर इस खिलाड़ी पर है. गौरतलब है कि इस टीम के खेलने पर बैन लगा था. वहीं इस टीम की वापसी इस साल इन मैचों में हो रही है. राजस्थान टीम इस बार इस खिलाड़ी को अपनी टीम का महारथी बनाना चाहती है.

अन्य पढ़े:

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *