ताज़ा खबर

Kya Kejriwal Delhi ke CM Banege?

महानायक बने Kejriwal
28.12.2013 saturday को Aam Adami party के leader शपथ लेने वाले है, उसके पहले Friday 27.12.2013 को Zee news ने एक बड़ा खुलासा किया, जिसके बाद Kejriwal और उनकी team के साथ आम आदमी की आँखे भी खुल जाती है | राजनीति की गंदगी खुद नेता के ज़ुबानी सुनने से ऐसा लगता है जैसे किसी मंदिर के पुजारी को भगवान में विश्वास ना हो |
zee news के reporters ने अपने sting operation के जरिये,Delhi के पांच विधायकों के दिल की बात को जुबाँ पर लाकर जनता के सामने रखा |
1. Jay Kishan: यह पांचवी बार सुल्तानपुर माजरा दिल्ली से विधायक बने |इनसे जब reporters ने मुलाकात की तब कुछ अहम् सवालों के जवाब में इन्होने kejriwal को “बंदर” कहा और उन्हें सदन के अंदर ही “जूता मारने” की बात कही | एक तरफ यह खुद जनता के द्वारा चुने गए है लेकिन जनता को “बन्दर” बोलने में इन्हें कोई शर्म नहीं | इन्होने ने kejriwal को समर्थन तो दिया पर साफ़ साफ़ कह रहे है कि यह उनका साथ नहीं देंगे |सदन में Kejriwal द्वारा पेश किये जाने वाले बिल को यह कभी स्वीकृति नहीं देंगे | विधायक कोटे को मौहल्ला समीति को देने की बात पर Kishan साहब कुछ ज्यादा ही सक्ते में है और कहते है कि यह कोई kejriwal के पिताजी की सरकार नहीं है, साथ ही इन्होने Kejriwal को सदन के दौरान “जूता मारने” की भी बात की| इनके अनुसार विधायक फंड MLA की जागीर है | इन्होने यह भी कहा कि Kejriwal की सरकार 1 या 2 years से ज्यादा नहीं चलेगी |
2.Aasif Mohammad Khan: यह दिल्ली के औंखला से दूसरी बार विधायक के पद पर चुने गए | इनसे जब पूछा गया कि यह Kejriwal को क्यूँ support दे रहे है तो इन्होने सीधे ही कद दिया निपटाने के लिए | Kejriwal ने जो शर्तो की चिट्ठी भेजी थी, उस बारे में पूछ गया तब इन्होने Kejriwal को “पागल” कहा और यह भी स्वीकार किया कि Kejriwal को “राजनीति का ज्ञान नहीं” है |
3.Hasan Ahamad : यह दिल्ली के मुस्तानाबाद के दूसरी बार जीते विधायक है | इनसे विधायक फंड खत्म करने के बारे में पूछा गया तो इन्होने कहा,अगर विधायक फंड खत्म होगा तो Kejriwal भी खत्म हो जायेगा, इन्होने कहा Kejriwal को training की जरूरत है उन्हें politics का कोई ज्ञान नहीं और विधायक फंड अगर मोहल्ला समिती को दिया जाता है तो वे ही उसे खा जायेंगे |
4.Devendra Yadav : यह दिल्ली के बादली के विधायक है | इनके विचार की दुसरे विधायको से अलग नहीं है इनके अनुसार “सरकार जनता से राय लेकर नहीं चलाई” जाती और Kejriwal ने जो भी वादे किये है उन्हें सपने में भी पूरा नहीं किया जा सकता | इन्होने यह भी कहा कि party कभी भी “समर्थन वापस”ले सकती है |
5.Chaudhari Matin Ahamad : यह दिल्ली के जीलम के विधायक है | इनसे पूछा गया किस कारण support दिया तो यह कहते है “मजा” लेने के लिए |इन्होने कहा वैसे party नहीं चाहती कि Kejriwal सरकार बनाये पर इन्होने Kejriwal को सबक सिखाने के लिए समर्थन दिया |
media ने अपने इस telecast के दौरान Kejriwal से सवाल किया कि “क्या वह अब भी सरकार बनायेंगे “? कुछ सवाल Rahul Gandhi, Sonia और Man Mohan singh से भी किये गए कि “उनके इन विधायको की और party की सोच के बारे में उनकी क्या राय है” ?
अब कुछ विचार जो इस news को देखने के बाद एक आम आदमी सोचता है |
1. विधायक ने कहा कि “सरकार जनता से पूछ कर नहीं चलाई जाती” तो please वह यह भी बात दे कि “लोकतंत्र ” का क्या मतलब है ?
2. विधायक कहते है Kejriwal को politics का ज्ञान नहीं, अगर उसे ज्ञान नहीं है और विधायक खुद बहुत ज्ञानी है तो उनकी सरकार की इतनी शर्मनाक हार के बारे में क्या कहेंगे ?
3. विधायक ने कहा “बंदर के हाथ में उस्तुरा” : पिछले कई सालो से शिला दीक्षित की सरकार ने क्यूँ ऐसा प्रदर्शन किया जो आज उन्हें एक नयी party ने दांतों तले चने चबवा दिए |
4. विधायक कहते है सदन में जूता मरेंगे : क्या भूल गए है यह सदन इनके पिताजी का नहीं Aap party ने 28 सीट पर जीत हासिल की है |
5. विधायक के अनुसार Kejriwal को ज्ञान नहीं : एक उच्च शिक्षित IIT के छात्र और पूर्व IPS officer को ज्ञान नहीं , शायद सही है Kejriwal को अब तक भ्रष्टाचार ज्ञान नहीं है |
लोक तांत्रिक देश है पर इन सभी राजनेताओं ने public को बंदर ही समझ रखा है |अभी केवल दिल्ली जगी है अब पुरे देश की बारी है |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *