ताज़ा खबर

LIC जीवन प्रगति बिमा प्लान 838 संबंधी महत्वपूर्ण बाते | LIC Jeevan Pragati Plan 838 Features Benefits in hindi

LIC Jeevan Pragati Plan 838 Features Benefits in Hindi एलआईसी जीवन प्रगति बिमा प्लान 838 की सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से लिखी गई हैं .
जीवन प्रगति LIC बीमा एक महत्वपूर्ण बिमा पॉलिसी हैं जो कि बहुत बड़ी मात्रा में ग्राहकों को पर्याप्त बीमाकृत राशि देती हैं . यह योजना पूरी तरह शेयर मार्केट से स्वतंत्र हैं साथ ही इस योजना के अंतर्गत  बीमाकृत राशि प्रति वर्ष बढ़ती जाती हैं  . इस योजना के अंतर्गत मुख्य लाभ हैं कि यह योजना प्रत्येक गुजरते वर्ष के साथ मुद्रास्फीति बचाव के अंतर्गत बीमा कवरेज प्रदान करेगी .साथ ही इस योजना के तहत ग्राहक अन्य लाभ भी उठा सकते हैं . यह योजना उन ग्राहकों के लिए बहुत अच्छी हैं जो सेविंग के साथ – साथ अपने परिवार के लिए सुरक्षा बीमा कवरेज भी चाहते हैं  . यह योजना पूरी तरह से शेयर मार्केट से अलग हैं लेकिन फिर भी इससे कई लाभ उठाये जा सकते हैं . यह एक बेहतर एक्सीडेंटल बीमा योजना हैं जो कि पाँच वर्षो में लगातार बढ़ता रहेगा .

lic jeevan pragati plan 838

LIC Jeevan Pragati Plan 838 Features Benefits in Hindi
एलआईसी जीवन प्रगति बिमा प्लान 838

  • जीवन प्रगति बीमा लॉन्च दिनांक :

यह जीवन प्रगति LIC बीमा पॉलिसी 3 फरवरी 2016 को लागू की गई हैं . यह योजना कुछ नये और महत्वपूर्ण फीचर के साथ लॉन्च की जा रही हैं जो कि एलआईसी की पूरी प्रक्रिया को बदल देगी .

  • जीवन प्रगति बीमा मुख्य बिंदु :

इस योजना में नियमों के तहत मृत्यु होने पर किसी भी व्यक्ति को बिमा राशि का भुगतान किया जायेगा जिसके तहत बिमा राशी और कुछ अतिरिक्त बोनस के साथ रिविज़नरी बोनस शामिल होगा .इसके आलावा फाइनल बोनस विचाराधीन होगा जो कि यह देखकर दिया जायेगा कि नॉमिनी इसका हकदार हैं या नहीं . यह राशि मृत्यु के पांच वर्षो तक बढ़ती रहेगी . यह राशी वार्षिक प्रीमियम से दस गुना अधिक होगी .किया जाने वाला भुगतान पॉलिसी के टाइम ड्यूरेशन पर निर्भर करता हैं उदहारण के लिये अगर पॉलिसी पाँच वर्षों की हैं तो कुल मूल बीमा राशि से 100% लाभ प्राप्त होगा . अगर पॉलिसी 5 से 10 वर्षों की हैं तो बिमा राशि का 125 % लाभ प्राप्त होगा . अगर पॉलिसी 11 से 15 वर्षों की हैं तो बिमा राशि का 150% लाभ प्राप्त होगा . अगर पॉलिसी 16 से 20 वर्षों की हैं तो बिमा राशि का 200% लाभ प्राप्त होगा .

  • मेच्युरीटी बेनिफिट
  1. यदि धारक पॉलिसी के मेच्युर होने तक जीवित हैं तब भी परिपक्व राशि नॉमिनी को ऑफर की जायेगी, उसमे अतिरिक्त बोनस के साथ, revisionary बोनस भी जोड़ा जायेगा .
  2. यह प्रगति जीवन बीमा पॉलिसी स्वतः ही पांच वर्षों में दिए जाने वाले कवरेज को बढ़ा देगी .
  • जीवन प्रगति बीमा योग्यता :
  • इस योजना का लाभ 12 से 45 वर्ष का व्यक्ति ले सकता हैं .
  • इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम 15 लाख रूपये मिलेंगे एवम अधिकतम की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई हैं .
  • प्रीमियम पेमेंट मोड :

योजना के अंतर्गत प्रीमियम मोड मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक एवम सालाना होगा . एक माह की रियायती अवधि / ग्रेस पीरियड दिया जायेगा . लेकिन त्रैमासिक, अर्धवार्षिक के लिए पेमेंट 30 दिनों के भीतर ही करना अनिवार्य हैं जबकि मासिक पेमेंट मोड में यह ग्रेस पीरियड 15 दिनों का दिया गया हैं . अगर ग्रेस पीरियड में प्रीमियम भुगतान के पहले ग्राहक की मृत्यु हो जाती हैं तब पॉलिसी में in-force नियम के तहत पूरा लाभ दिया जायेगा . लेकिन इस सन्दर्भ में अनपेड प्रीमियम को काट लिया जायेगा .यह नियम उन ग्राहक पर भी लागू होगा जिनकी मृत्यु हो जाने के कारण उन्होंने एक भी प्रीमियम ना भरा हो .

अगर ग्रेस पीरियड के भीतर प्रीमियम ना भरा गया तो पॉलिसी समाप्त कर दी जायेगी . यह ग्रेस पीरियड अवधि राइडर प्रीमियम के लिए भी लागू की जायेगी .

  • अलग अलग छूट अथवा आधार योजना
  1. अगर पॉलिसी 1 cr की है तब तब मिलने वाली सुनिश्चित राशी पर 2.25% की छूट मिलेगी .
  2. अगर आपकी पॉलिसी रेंज 500000-990000 हैं तब मिलने वाली सुनिश्चित राशी पर 2% की छूट मिलेगी .
  3. अगर आपकी पॉलिसी रेंज 300000-490000 हैं तब मिलने वाली सुनिश्चित राशी पर 1.50% की छूट मिलेगी .
  4. अगर आपकी पॉलिसी रेंज 150000-290000 हैं तब आपको कोई छूट नहीं मिलेगी .
  5. त्रेमासिक एवम मासिक मोड पर कोई छूट उपलब्ध नहीं हैं .
  6. अर्ध वार्षिक प्रीमियम मोड के लिए आपको 15 % की छुट मिलेगी .
  7. अगर आप वार्षिक प्रीमियम मोड चुनते हैं तो आपको प्रीमियम में 2% की छुट मिलेगी .
  • मिलने वाले अन्य लाभ :
  1. अगर आप अन्य लाभ का फायदा लेना चाहते हैं तब आपको कुछ अतिरिक्त राशि जमा करनी होगी जो कि आपको पॉलिसी खत्म होने पर वापस मिल जायेगी .
  2. पॉलिसी के तीन वर्ष पुरे होने पर आप उस पर लोन ले सकते हैं .
  3. अगर आप चाहे तो तीन वर्ष पुरे होने पर पॉलिसी खत्म भी कर सकते हैं लेकिन इसके लिये आपको 3 वर्ष का पूरा प्रीमियम भरना होगा
  4. नीति FUP के तहत पॉलिसी को 2 साल के भीतर पुनर्जीवित किया जा सकता है  तब कर लाभ प्रचलित दरों के अनुसार मिलेगा .
  5. अन्य जानकारी :
1  न्यूनतम मूल बीमा राशि 1,50,000/
2 अधिकतम मूल बीमा राशि नों लिमिट (10000 का गुणज)
3 न्यूनतम पॉलिसी अवधि 12
4 अधिकतम पॉलिसी अवधि 45
5 पॉलिसी लेने की न्यूनतम आयु 12 वर्ष पूरी होने के बाद
6 अधिकतम आयु 45 वर्ष
7 पॉलिसी परिपक्व होने पर धारक की अधिकतम आयु 65 वर्ष
8 प्रीमियम मोड मासिक, त्रैमासिक, अर्द्धवार्षिक, बार्षिक
9 न्यूनतम दुर्घटना हितलाभ बीमा राशि 10 हजार
10 अधिकतम दुर्घटना हितलाभ बीमा राशि 1 करोड़

lic jeevan pragati plan 838 के तहत ग्राहक को बहुत से लाभ मिलेंगे . यह LIC की अच्छी योजना हैं जिसमे अन्य योजनाओं से अधिक लाभ एवम छुट हैं . जीवन बीमा पॉलिसी निहायती जरुरी आवश्यक्ता हैं . आज के समय में हर व्यक्ति को किसी न किसी पॉलिसी में निवेश करना चाहिये . महंगाई के इस दौर में बीमारी और दुर्घटना व्यक्ति की रीढ़ की हड्डी पर वार करती हैं ऐसे में इस तरह की पॉलिसी बहुत सहारा देती हैं . सभी को अपनी जरुरत के हिसाब से बीमा पॉलिसी का हिस्सा बनना चाहिये . साथ ही अपने आस पास के लोगो को भी इस ओर जाने का आग्रह करना चाहिये .

आज के समय में पॉलिसी लेना तो अनिवार्य हो गया हैं लेकिन किसी भी तरह की पॉलिसी लेने से पहले उसके सारे नियम समझे . कोई भी पॉलिसी नुकसान नहीं देती लेकिन जटिल हो सकती हैं जो कई बार ग्राहकों को बाद में पसंद नहीं आती, इसलिये पॉलिसी को ठीक से समझने के बाद ही ख़रीदे .

अन्य पढ़े :

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

FATCA-India

भारत में फॉरेन एकाउंट टैक्स कॉम्पलेंस एक्ट विनियम जानकारी व लाभ | Foreign Account Tax Compliance Act or FATCA Regulations India information benefits in hindi

Foreign Account Tax Compliance Act (FATCA) regulations India information benefits in hindi एफएटीसीए का पूरा नाम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *