ताज़ा खबर

2016-17 के सुर्ख़ियों में रहने वाले भारतीय व्यक्तित्व | Limelight Personality of India 2016-17 in hindi

2016-17 के सुर्ख़ियों में रहने वाले भारतीय व्यक्तित्व | Limelight Personality of India 2016-17 in hindi

हर साल अपने साथ कुछ अच्छी कुछ बुरी यादें ले कर आता है. हर साल का अपना इतिहास होता है.  इस साल को कुछ लोगों के अभूतपूर्व योगदान और उनके द्वारा किये विशिष्ट कार्य के लिए सदेव स्मरण किया जाएगा. देश को और अपने जीवन को सकारात्मक दिशा की ओर ले जाने की मुहीम में जुटे कुछ लोगों ने अपनी सच्चाई, कार्य के प्रति लगन के बदौलत ऐसा मुकाम हासिल कर लिया, जो हर किसी की किस्मत में नहीं.

बूँद बूँद झरते हुए इस साल के आईने में कुछ चेहरे तैर रहे है वे चेहरे जिन्होंने इस आम साल को खास बना दिया अपने कठिन परिश्रम और संकल्प से. प्रत्येक क्षेत्र में कोई न कोई ऐसा व्यक्तित्व होता है, जो किसी भी कारण से हमेशा सुर्ख़ियों में रहता है, जिनमे से कुछ व्यक्तित्व की चर्चा यहाँ की गई है. आइये देखें वे कौन से चेहरे है जिन्होंने इतिहास के पन्नो में अपना नाम स्वर्ण अक्षरों से लिख दिया. नीचे हमने उनके शुरुवाती दिनों से अब तक चर्चा में बने रहने के कारणों का उल्लेख किया है :-

  • फ़िल्म जगत से जुड़े प्रसिद्ध व्यक्तित्व (Film World Famous Personality in hindi) :

फिल्म जगत से जुड़े सुर्ख़ियों में रहने वाले भारतीय व्यक्तित्व इस प्रकार है :

  1. ऐश्वर्या राय बच्चन : ऐश्वर्या अपनी सुन्दरता और अभिनय क्षमता की वजह से हमेशा से ही लोगों के आकर्षण का कारण रही है, मीडिया में ये काफ़ी सुर्ख़ियों में रहती है. हालही में सुर्ख़ियों में रहने के कारण यह है कि ऐश्वर्या राय बच्चन ने मेलबर्न में आईएफएफएम 2017 के भारतीय फ़िल्म महोत्सव में भाग लिया. ऐश्वर्या पहली ऐसी भारतीय अभिनेत्री है जो आईएफएफएम में भारतीय ध्वज को फहराई. उनकी उत्कृष्टता के लिए उन्हें ग्लोबल सिनेमा पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
  2. प्रियंका चोपड़ा : दुनियाभर में प्रियंका चोपड़ा मनोरंजन की दुनिया में कामयाबी बनाने में सफ़ल रही है. हाल ही में वे अमेरिकी टीवी श्रृंखला ‘क्वांटिको’ में अपने अभिनय को लेकर चर्चा में रही है. इस तरह वह अमेरिकी टीवी श्रृंखला में काम करने वाली पहली भारतीय अभिनेत्री बन गयी है. 2016 में भारत सरकार ने उन्हें चौथे उच्चतम नागरिक पुरस्कार पद्मा श्री से सम्मानित किया, साथ ही टाइम्स पत्रिका ने दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में प्रियंका चोपड़ा को जगह दी है.
  3. अनुष्का शर्मा : अनुष्का शर्मा अपनी फिल्म सुल्तान और ए दिल है मुश्किल फ़िल्म को लेकर चर्चा में रही इस फ़िल्म की सबने सराहना की और इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छा प्रदर्शन किया.

Limelight Personality of India

  • खेल जगत से जुड़े प्रसिद्ध व्यक्तित्व (Sport World Famous Personalities) :

खेल जगत से जुड़े सुर्ख़ियों में रहने वाले भारतीय व्यक्तित्व इस प्रकार है :

  1. सचिन तेंदुलकर : सचिन अपने करियर के शुरुवाती समय से लेकर अब तक सुर्ख़ियों में बने रहते है, हालही में सुर्ख़ियों में बने रहने के कारण यह है कि सचिन विसडेन क्रिकेट रेटिंग में नंबर एक स्थान पर रह चुके है. सचिन मनोनीत सांसद भी है. वे आईसीसी महिला विश्व कप 2017 के लिए यूनिसेफ के राजदूत नियुक्त किये गए, इसमें महिला टीम सेमीफाइनल तक गयी थी. वे मीडिया के आकर्षण का केंद्र हमेशा से रहे है. सचिन यूएन के सुपर डैड अभियान का हिस्सा है जिसका उदेश्य पिता द्वारा बच्चों के भविष्य के विकास के लिए उनके अनुभवों के महत्व को जागरूक करना है.
  2. विराट कोहली : विराट कोहली का एक कप्तान के रूप में रिकॉर्ड अनुकरणीय है, उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने वेस्ट इंडीज़ से मैच श्रृंखला जीती है. न्यूजीलैंड और इंग्लैंड को उनके घरेलू मैदान पर हराने में कामयाब रहे है. एक बल्लेबाज के रूप में उनका रिकॉर्ड उत्कृष्ट रहा है, जिसमे टेस्ट में चार शतक और एक दिवसीय में तीन शतक शामिल है. ब्रेडमैन के बाद लगातार चार सीरीज में दोहरा शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज होने के साथ ही प्यूमा के साथ 100 करोड़ रूपये के अनुबंध पर हस्ताक्षर करने वाले पहले भारतीय खिलाडी बनने की वजह से भी खूब चर्चा में रहे है.
  3. पी.वी. सिंधु : पी वी सिंधु पहली ऐसी भारतीय महिला खिलाड़ी है जिन्होंने ग्रीष्मकालीन बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप जीत कर रजत पदक प्राप्त किया है. वह ओलंपिक पदक जीतने वाली दो भारतीय खिलाडियों में से एक है दूसरी खिलाडी सयाना नेहवाल है. सिंधु को 2016 में राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार भी दिया गया. इसके अलावा वे पद्मा श्री और अर्जुन अवार्ड से भी सम्मानित हो चुकी है. सिंधु वर्तमान में बीडब्ल्यूएफ की विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर है.    
  • व्यापरिक जगत से जुड़े प्रसिद्ध व्यक्तित्व (Business World Famous Personality) :

व्यापारिक जगत से जुड़े सुर्ख़ियों में रहने वाले भारतीय व्यक्तित्व इस प्रकार है :

  1. मुकेश अंबानी : नेटवर्क के क्षेत्र में जिओ 4 जी फ़ोन सेवा की शुरुआत करने की वजह से मुकेश अंबानी सबसे ज्यादा चर्चित व्यापारिक व्यक्तित्व बन गए हैं, जिओ ने 6 महीने से भी कम समय में अपनी 10 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों की संख्या बना ली है. वर्तमान में भारतीय बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्री नामक संस्था ने 44.7 अरब डॉलर की कमाई की है. मुकेश अंबानी की गैस क्षेत्र की संस्था भारत सरकार से अपनी लागत को वापस लेने के लिए क़ानूनी लडाई लड़ रही है, इसलिए भी वह चर्चा में हैं. हरुन ग्लोबल की अमीरों की सूची में मुकेश अंबानी 1,75,400 करोड़ रूपये की कमाई के साथ सबसे अमीर भारतीय बने हुए है. उनकी कंपनी अन्य कंपनियों के लिए एक आदर्श मॉडल है.    
  2. गौतम अदानी : अदानी ग्रुप के चेयरमैन और संस्थापक अदानी पोर्ट्स एंड एसइजेड के शेयरों की कीमत में कमी के बावजूद भी इस साल एक मजबूत कारोबारी टाइकुन बने हुए है. अदानी ऑस्ट्रेलिया में एक कोयला खनन परियोजना शुरू करने वाले है इसके लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया सरकार से पहले ही अनुमति ले ली है, हालाँकि अदानी के ही इस परियोजना को एक स्थानीय पर्यावरण समूह ने क़ानूनी चुनौती दी थी, लेकिन पहले अनुमति लेने की वजह से अदालत ने उस चुनौती को ख़ारिज कर दिया. भारत में भी अदानी तमिलनाडु, राजस्थान और गुजरात में सौर ऊर्जा परियोजना की शाखा बनाने की योजना कर रहे है. फोर्ब्स की सूची के अनुसार 2014 तक उनकी संपत्ति का अनुमान 7.1 अरब डॉलर था.           
  • राजनीतिक जगत के प्रसिद्ध व्यक्तित्व :

राजनीतीक जगत से जुड़े सुर्ख़ियों में रहने वाले भारतीय व्यक्तित्व इस प्रकार है :

  1. नरेन्द्र मोदी : भारतीय राजनीती में नरेन्द्र मोदी सबसे ज्यादा सुर्ख़ियों में रहने वाले व्यक्तित्व है, ये मीडिया में हमेशा सुर्ख़ियों में अपने राजनीतिक निर्णय की वजह से बने रहते है. भारत में नकली मुद्रा और काले धन के खिलाफ़ प्रधानमंत्री ने 8 नवम्बर 2016 को 500 और 1000 रुपये के नोटों के पुनर्निर्माण के लिए एक साहसिक कदम उठाया. इस कदम ने नरेन्द्र मोदी की भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी लोकप्रियता में वृद्धि की. यह माना जाता है कि आतंकवादियों ने अर्थव्यवस्था को क्षति पहुंचाने और अपने आतंकी शिविरों में अधिक भरती के लिए नकली मुद्रा का इस्तेमाल किया था. कहा जाता है कि डीमोनीटाईजेशन के बाद इन मुद्दों पर नियंत्रण पा लिया गया है. इन कार्यों की सराहना दुनिया के कई समाचार पत्रों ने किया.
  • प्रधानमंत्री मोदी भारतीय विदेश नीति के तहत भारतीय अर्थव्यवस्था में विदेशी निवेश को आकर्षित करने की कोशिश कर रहे है. उन्होंने मेक इन इण्डिया और डिजिटल इण्डिया जैसी पहल कि शुरुआत की है, जिस से देश में नौकरियों की सम्भावना बढेगी. मोदी ने संयुक्त अरब अमीरात, ईरान जैसे इस्लामिक देशों से अपने विदेश नीति के तहत संबंध में सुधार किया है. वे जी 20, ब्रिक्स और आशियान शिखर सम्मलेन में शामिल हुए है. मोदी के तहत भारतीय विदेश नीति का दूसरा मुख्य बिंदु बांग्लादेश के साथ भूमि एक्सचेंज डील रहा है.
  • जब प्रधानमंत्री मोदी सत्ता में आये तो उनकी प्राथमिकता थी कि पाकिस्तान सहित पडोसी देशो के साथ अच्छे सम्बन्ध हो, लेकिन पाकिस्तान के उरी हमले के बाद भारत ने भी मुहतोड़ जवाब देते हुए सर्जिकल हड़ताल की, जिसकी ख़बर अंतराष्ट्रीय चैनल पर प्रसारित हुई और इससे नरेन्द्र मोदी को नई लोकप्रियता मिली क्योकिं उन्होंने आतंकवादियों के ख़िलाफ़ काम किया था.
  • मोदी जब से सत्ता में आये है उनकी कुछ योजनाओं में प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छता अभियान जैसी कार्य योजनायें चर्चित रही है. उपरोक्त पहलुओं के कारण निश्चित रूप से प्रधानमंत्री लोकप्रिय वैश्विक नेता बन गए है. उनके फेसबुक अकाउंट में 40 लाख से ज्यादा अनुयायी है, इससे उनकी सोशल मीडिया में लोकप्रियता का अंदाज़ा लगाया जा सकता है.
  • टाइम मैगजीन ने 2017 में विश्व के 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में नरेन्द्र मोदी का नाम रखा है. 2015 में फोर्ब्स पत्रिका ने दुनिया के 15 शक्तिशाली व्यक्तियों की सूची में उन्हें शामिल किया था, इसके साथ ही उनकी लोकप्रियता का अंदाज़ा इस से भी लगाया जा सकता है कि लन्दन के प्रसिद्ध वैक्स संग्राहलय में उनकी एक मोम प्रतिमा का प्रदर्शन किया गया था. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मीडिया में आये दिन चर्चा में बने रहते है.
  1. नीतीश कुमार : वर्तमान में नीतीश कुमार महागठबंधन की सरकार से संबंध विच्छेद को लेकर सुर्ख़ियों में बने हुए है. 26 जुलाई 2017 को नीतीश कुमार ने कांग्रेस और जनता दल के महागठबंधन से संबंध विच्छेद करते हुए महागठबंधन की सरकार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया और भाजपा पार्टी के साथ समझौता कर उसमे शामिल हो गए. 27 जुलाई को बंगाल और बिहार के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने नीतीश कुमार को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में भारतीय जनता पार्टी के साथ उनकी जनता दल की भागीदारी के रूप में शपथ ली. इसके साथ ही नीतीश कुमार ने बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में छठी बार शपथ ग्रहण किया है. विपक्ष का चेहरा और भाजपा के विरोधी होने के बावजूद उन्होंने भारत के राष्ट्रपति के लिए भाजपा की ओर से नामित उम्मीदवार के लिए अपनी सहमती जताई थी, इस वजह से भी वह चर्चा में रहे थे.
  2. रामनाथ कोविंद : राष्ट्रपति उम्मीदवार के दलित चेहरे के रूप में कोविंद भारतीय मीडिया में चर्चित रहे. कोविंद को 1994 में राज्यसभा सदस्य और भाजपा का राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया गया, 1997 में वह राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने और साथ ही 2002 में उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में देश का प्रतिनिधित्व किया. राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के नामांकन के समय रामनाथ कोविंद बिहार के राज्यपाल के रूप में अपनी सेवा दे रहे थे. अपने सार्वजनिक और राजनीतिक जीवन में कोविंद अपनी ईमानदारी के लिए जाने जाते है. एनडीए के राष्ट्रपति पद के रूप में दलित उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने 20 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति चुनाव जीता. इसके साथ ही वह भारत के 14 वें राष्ट्रपति बन गए. 17 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति चुनाव हुए और लगभग 99 % वेटिंग दर्ज हुई, राष्ट्रपति चुनाव के वेटों की गिनती संसद भवन परिसर में हुई थी, जिसमे रामनाथ कोविंद ने विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को 1086 वेटों से हरा कर राष्ट्रपति चुनाव जीत लिया.
  3. लालू प्रसाद यादव : भारतीय राजनीति में अपने निराले अंदाज़ से लालू प्रसाद यादव हमेशा से ही सुर्ख़ियों में बने रहते है, अभी वह आय से अधिक संपत्ति और चारा घोटाले की सीबीआई जाँच को लेकर चर्चा में रहे है, 2000 में झारखण्ड गठन के बाद चारा, चिकित्सा और पशुपालन उपकरणों की खरीद में लगभग 900 करोड़ रुपये की वित्तीय अनियमितता के आरोपों के मामले में 8 मई 2017 को सर्वोच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद के खिलाफ़ जाँच के आदेश दिए और साथ ही अदालत ने नौ महीने के भीतर परीक्षण पूरा करने का भी निर्देश दिया. लालू के परिवार के सदस्यों के खिलाफ़ भी कर चोरी का मामला सामने आया है, 12 जून को बेनामी संपत्ति मामले में आई-टी डिपार्टमेंट ने लालू की बेटी मिसा भारती को सम्मन जारी किया है.
  4. वेंकैया नायडू : नरेन्द्र मोदी की सरकार में सबसे मुखर व्यक्तित्व रहे वैंकया नायडू हाल ही में अपने उपराष्ट्रपति की उम्मीदवारी को लेकर चर्चा में रहे है. नायडू जय आन्ध्र आंदोलन में अपनी भूमिका के लिए और जयप्रकाश नारायण छात्र संघर्ष समिति में अपने योगदान की वजह से सुर्ख़ियों में आये. अपने तीन दशक के लम्बे सफ़ल राजनीतिक जीवन को उन्होंने अपनाया है. वे 2002 से 2004 तक भाजपा के अध्यक्ष रहे, अटल बिहारी सरकार में वह केन्द्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में ग्रामीण विकास मंत्री थे. वर्तमान में नरेन्द्र मोदी सरकार में उन्होंने गृह और शहरी विकास मंत्री तथा सूचना और प्रसारण मंत्री के रूप में सेवा दी. 5 अगस्त 2017 को विपक्षी उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गाँधी को हराकर नायडू ने उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में जीत दर्ज की. पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुप्पवारापू वेंकैया नायडू ने 11 अगस्त 2017 को भारत के 13 वें उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की है. राष्ट्रपति भवन में एक विशेष समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा पद और गोपनीयता की शपथ उन्हें दिलाई गयी, समारोह के बाद नायडू ने संसद भवन में राज्य सभा अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाला. अपने कार्यभार को सँभालने से पहले नायडू ने राजघाट में महात्मा गाँधी, डीडीयू पार्क में दीनदयाल उपाध्याय और पटेल चौक में सरदार बल्लभभाई पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की.
  5. योगी आदित्यनाथ : योगी आदित्यनाथ कई कारणों से सुर्ख़ियों में बने हुए है. सन 1989 में गोरखपुर लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद पहली बार 12 वीं लोकसभा के सबसे कम उम्र के सदस्य बने. तब से अब तक योगी कभी हारे नहीं है. 19 मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में योगी ने शपथ ग्रहण की. शपथ ग्रहण के कुछ दिनों बाद योगी आदित्यनाथ की योजनायें जैसे अवैध घरों के निर्माण एवं गाय की तस्करी पर प्रतिबन्ध और उत्तर प्रदेश में रोमियों विरोधी अभियान चलाने जैसी कई वजहों से वे सुर्ख़ियों में रहे. राज्य पुलिस को राज्य में छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकने के लिए रोमियो विरोधी दस्ते बनाने का निर्देश दिया. 4 अप्रैल 2017 को योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश राज्य में किसानों के 30,729 करोड़ रूपये का ऋण माफ़ कर दिया.

अन्य पढ़ें

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *