ताज़ा खबर

Mahabharat 27th December 2013 Episode 75 Update

imagesmahabharat

महाभारत
विदुर को कर्ण के इस तरह परेशान चेहरे को देख कुछ संदेह होता है इसलिए वह अपने गुप्तचर को कर्ण पर ध्यान रखने का बोलता है | कर्ण अपने माता पिता के पास जाता है जिन्होंने उसका पालन किया और वह बहुत दुखी है वह एक शूरवीर है इसलिए दुर्योधन की कूटनीति उसे ठीक नहीं लग रही | अपने माता पिता से वह बहुत दुखी होकर बात करता है | उसके पिता शुशेन उससे कहते है कि कर्ण धर्म अधर्म के विषय में उलझा हुआ है | कर्ण कहता है दुर्योधन उसका मित्र है और वो उसे धोखा नहीं दे सकता , वह जानता है कि उसका मित्र अधर्म कर रहा है | उसका पिता उसे समझाता है और यह सभी विदुर का भेजा हुआ गुप्तचर सुन रहा है |
पांडव वारणावत पहुँचते है प्रजाजन बहुत ख़ुशी से स्वागत करते है | पुरोचन पांडवो और कुन्ती को लक्ष्याग्रह के दर्शन बहुत ही अदभुत तरीके से कराता है वह दर्पण में चन्द्रमा की रौशनी की दिशा को इस तरह महल पर डालता है कि महल जगमगा उठता है और पांडव और कुन्ती यह दृश्य देख बहुत अच्छा महसूस करते है |
कुन्ती कहती है वह महल में प्रवेश करने से पूर्व दीपक जलाना चाहती है यह सुनकर पुरोचन भयभीत हो जाता है | पुरोचन उन्हें महल में लेकर जाता है कुन्ती दीपक प्रज्वलित करती है | पुरोचन स्वयम कंडील से उन्हें महल दिखाता है |
सहदेव को वहां कुछ ठीक नहीं लगता और वह रात को महल में रुकना नहीं चाहता पर दुसरे भाई उसे किसी तरह मना लेते है | महल की अदभुत पृकृति को देख युधिष्ठिर पुरोचन से पूछता है कि जब अमावस होती है तब वह यहाँ कैसे प्रकाश लाते है पर पुरोचन उसे किसी तरह समझा देता है |
कुन्ती अपने पुत्रों के साथ महल के अन्दर आ जाती है तभी उसे याद आता है कि वह पुरोचन से पूछना भूल गई है कि उन्हें कंडील कहाँ रखना है और वापस आती है उसी दौरान पुरोचन कंडील को फर्श पर गिरा देता है और ज्वलनशील फर्श आग पकड़ लेता है जिससे बाहर निकलने की पुरोचन कोशिश कर रहा है |
याद रखने योग्य: कोरवों की इस साजिश में उनका साथ वारणावत के पुरोचन ने दिया था | कर्ण के पालन पोषण करने वाली माता का नाम राधा और पिता का नाम शुषेण (भीष्म का सारथी) है और वास्तव में वह कुन्ती का पुत्र है जिसे उसने सूर्य देवता से मन्त्र शक्ति, जो की उसे दुर्वासा ऋषि द्वारा प्राप्त थी, प्राप्त किया था, कर्ण पांडवो का बड़ा भाई है |
precap: विदुर का भेजा हुआ गुप्तचर उसे कर्ण द्वारा कही हुई बात बताता है |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *