ताज़ा खबर
Home / निबंध / मोबाइल पर निबंध | Mobile phone essay in hindi

मोबाइल पर निबंध | Mobile phone essay in hindi

Mobile phone advantages and disadvantages essay in hindi मोबाइल फोन आज के समय में सबसे उपयोगी और जरुरी वस्तु हो गई है. दुनिया में आज के समय में हर दुसरे इन्सान के पास मोबाइल फोन है. पहले एक जगह से दूसरी जगह बात करने के लिए चिट्ठियां चला करती थी, फोन में टेलीग्राम हुआ करते थे, जिसमें नंबर लगाकर घंटों, या कई दिन तक इंतजार के बाद बात हो पाती थी. फिर कुछ समय बाद घर में फोन आ गया, जिसे लैंडलाइन कहा गया. लैंडलाइन के द्वारा देश, विदेश में सब जगह बात होने लगी. फिर कुछ समय बाद विज्ञान ने और तरक्की की और वायरलेस फोन का निर्माण हुआ, जिसे मोबाइल कहा गया.

mobile phones

मोबाइल के फायदे और नुकसान पर निबंध 

Mobile phone advantages and disadvantages essay in hindi

मोबाइल आज के समय में मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन है. मोबाइल फोन एक ऐसी चीज है, जो इन्सान के साथ चोबीस घंटे रहती है. यह आज के समय में सबकी आदत बन गई, जिसे लोग चाह कर भी नहीं छोड़ पाते है. मोबाइल के नेटवर्क ने देश दुनिया में काफी तरक्की कर ली है, इसके टावर आजकल गाँव गाँव में खड़े है, जिससे नेटवर्क में कोई परेशानी नहीं आती है. इसके द्वारा हम कभी भी किसी से बात कर सकते है. मोबाइल के अनेकों फायदे है, लेकिन ये भी सच है इससे नुकसान भी बहुत है. और सबसे अधिक इसके नुकसान बच्चों के जीवन में पड़ रहा है. आज हम आपको इसके फायदे व नुकसान दोनों के बारे में बतायेंगें.

मोबाइल के फायदे (Mobile phone benefits) –

  1. मोबाइल है मल्टीटास्किंग – मोबाइल आज सिर्फ बात करने का जरिया नहीं है, इसकी जगह स्मार्टफोन ने ली है. जो मनुष्य की तरह स्मार्टली काम करता है. मोबाइल ने अलार्म घडी की जगह ले ली है, मोबाइल के द्वारा अच्छी से अच्छी फोटो खींच सकते है, विडियो बना सकते है. मोबाइल में तरह तरह के गेम भी होते है, आप इसमें मेल भी चेक कर सकते है. इसे छोटा कंप्यूटर कहा जाता है. ऍफ़ एम् (FM), म्यूजिक प्लेयर, मूवी सब इसमें आसानी से चलती है.
  2. आसान कम्युनिकेशन – बात करने के लिए आज हर कोई छोटा, बड़ा, सस्ता महंगा मोबाइल रखता है. मोबाइल को कभी भी साथ में ले जाया जा सकता है, साथ ही किसी मुसीबत के होने पर इसके द्वारा हम आसानी से किसी से कांटेक्ट कर सकते है.
  3. टेक्नोलॉजी से जुड़ाव – मोबाइल टेक्नोलॉजी का नायाब नमूना है, जो विज्ञान का चमत्कार है. मोबाइल में इन्टरनेट की सहायता से देश दुनिया के बारे में जाना जा सकता है. सोशल मीडिया के द्वारा दूर बैठे, दोस्त, रिश्तेदार से जुड़ा जा सकता है, उनके बारे में हमेशा अपडेट रहती है. मोबाइल जीपीएस नेवीगेशन भी होता है, जिससे हम रास्ता पता कर सकते है. कही किसी जगह भटकने पर मोबाइल हमें सही रास्ता भी दिखा देता है. मोबाइल से एक दुसरे को देखकर बात कर सकते है, विडियो भेज सकते है.
  4. ज्ञान बढ़ता है – पहले किसी चीज को जानने के लिए या तो हम अपने टीचर से पूछते थे, या बड़े या माँ बाप से. पहले ज्ञान किसी के द्वारा या सिर्फ किताब से मिलता था, पुस्तकालय जाकर किताब से ज्ञान लेना होता था, लेकिन अब बात अलग है, अब किसी भी बात को जानने के लिए क्या बच्चा क्या बड़ा सब तुरंत गूगल करते है. मोबाइल में इन्टरनेट के द्वारा हम ज्ञान की बातें, यहाँ वहां की न्यूज़ और भी सब कुछ जान सकते है. बच्चे पुस्तक की बजाय मोबाइल खोलते है. किसी सब्जेक्ट में परेशानी होने पर बच्चे तुरंत अपने दोस्त को फोन करके उसका जबाब पता कर लेते है, और लाइव चैट के द्वारा आमने सामने बैठ पढाई कर लेते है.
  5. मोबाइल है तो सब कुछ है – अगर किसी के पास मोबाइल है मतलब उसके पास सब कुछ है. सुबह वो अलार्म से आपको उठाएगा, इसमें रिमाइंडर के तौर पर जरुरी बातें सेव कर सकते है. यह एक डायरी है, जिसमें नंबर सेव हो जाते है, फोटो और बहुत कुछ सेव हो जाता है. इसमें कैलकुलेटर भी होता है, इसके साथ ही आप किसी चीज की रिकॉर्डिंग भी कर सकते है. मोबाइल एप्प की सहायता से अपने बैंक अकाउंट देख सकते है, घर में cctv कैमरा लगाकर उसका फुटेज भी देख सकते है. मोबाइल में एक दुसरे को फनी मेसेज, जोक्स, विडियो भी भेज सकते है, जिससे लोगों को आजकल थोडा बहुत हंसने का मौका मिल जाता है.

मोबाइल फोन के नुकसान (Mobile phone disadvantages) –

  1. ध्यान भटकाता है – मोबाइल होने से सारा ध्यान उसी पर लगा रहता है, विद्यार्थी के जीवन में तो ये सबसे अधिक दुष्प्रभाव डालता है. आजकल छोटे से लेकर सभी बच्चे अच्छे से मोबाइल चला लेते, और दिन भर गेम, विडियो चलाते रहते है. बच्चो में इसकी बहुत गन्दी आदत लग रही है, जिससे वे पढाई एवं दूसरी चीजों में ध्यान ही नहीं लगा पाते है. बच्चे बाहर जाकर खेलने की बजाय मोबाइल में ही लगे रहते है. बच्चों को मोबाइल की गन्दी आदत से बचाना चाइये, उनके लिए मोबाइल चलाने का समय निश्चित कर देना चाहिए.
  2. सेहत में नुकसान – लगातार मोबाइल चलाने से आँखों को नुकसान होता है. बच्चे एक टकटकी लगाये गेम खेलते है, जिससे कम उम्र में ही बच्चों की आँखें ख़राब होने की शिकायत आजकल बढ़ती ही जा रही है. एक सर्वे के अनुसार मोबाइल से निकलने वाली किरणें शरीर पर घटक प्रभाव करती है, जिससे बड़ी बड़ी बीमारियों के खतरे बढ़ रहे है. मोबाइल कई बार जानलेवा भी साबित होता है. मोबाइल की बैट्री का आजकल भरोसा नहीं रहता है, और हम इसकी सावधानी पर ध्यान भी नहीं देते है. मोबाइल बैटरी फटने से कई लोग को घातक नुकसान हुए है, जिसकी ख़बरें समाचार पत्र पर आये दिन आती रहती है.
  3. समय का दुरुपयोग मोबाइल एक गन्दी लत है, जो पड़ जाये तो छुटाना मुश्किल है. लोग आजकल कहते है, जैसे नशा मुक्ति केंद्र होते है, वैसे मोबाइल मुक्ति केंद्र भी होना चाइये. दिनभर मोबाइल में लगे रहने से बच्चे ढंग से पढाई नहीं करते, लोग अपना काम काज छोड़ मोबाइल की दुनिया में लगे रहते है, जिससे समय बर्बाद होता है. लोग मोबाइल को देर रात तक चलाते रहते है, जिससे नींद पूरी नहीं और शारीरिक परेशानियाँ सामने आती है.
  4. अपनों से दूर करता है – मोबाइल में लगे रहने से लोग अपने परिवार से दूर होते जा रहे है. आजकल सभी की आदत होती है, दिन भर काम करके घर लौटकर मोबाइल हाथ में ले लेते है और परिवार वालों के साथ बैठ कर भी किसी और दुनिया में रहते है. कहते है मोबाइल बाहरी दुनिया से तो जोड़ता है, लेकिन अपने आसपास की दुनिया से दूर करता जा रहा है. लोग फॅमिली टाइम को जरुरी नहीं समझते है, लेकिन ये बहुत जरुरी है.
  5. एक्सीडेंट होते है – लोग गाड़ी चलाते समय भी मोबाइल का प्रयोग करते है, जो की बिलकुल गलत है. इससे आये दिन बड़ी बड़ी दुर्घटना की खबर आती है. गाड़ी चलाते वक़्त मोबाइल का प्रयोग बिलकुल नहीं करना चाहिए, इससे ध्यान भटकता है.
  6. गलत आदतें पड़ रही है – मोबाइल में बहुत सी अवांछित चीजें भी होती है, जिसे बच्चों को नहीं देखना चाहिए. आजकल कम उम्र में ही सबके पास मोबाइल होता है, और फिर वे दुनिया की बातों में आकर गंदे गंदे मेसेज, विडियो एक दुसरे को भेजते है, जिससे बच्चे समय से पहले ही बिगड़ने लगे है.

मोबाइल फोन इतिहास (Mobile phone history) –

पहला मोबाइल फोन बना 1973
पहला मोबाइल फोन कंपनी मोटोरोला
पहला मोबाइल भारत में 31 जुलाई, 1995

मोबाइल हमारी सुविधा के लिए है, इसके नुकसान को ध्यान में रखकर इसका प्रयोग किया जाना चाहिए.

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

यह भी देखे

My Favourite Season Essay

मेरा प्रिय मौसम पर निबंध | My Favourite Season Essay in hindi

My Favourite Season Essay in hindi मेरा प्रिय मौसम वर्षा ऋतु है. क्यूकि वर्षा ऋतु …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *