ताज़ा खबर
Home / कविताये / Modern Relation Poem Hindi

Modern Relation Poem Hindi

आधुनिक रिश्ते
(Modern Relation in Hindi)

वक्त के बदलते रूप के कारण आज सबसे ज्यादा relation ही effect हुए हैं  | घर के सगे सम्बन्धियों (relatives) को आज की new generation महज़ दूर के relative या जानने वाला मानते हैं | पहले कई पीढ़ियों (generation) तक relation निभाए जाते थे, अब तो सगे भाई को भी बस खास मौकों (occasionally) पर याद किया जाता हैं |

एक झंझट की तरह ही रह गए हैं रिश्ते | आज का व्यक्ति इन्हें महज़ एक जंजीर मानता हैं और हर वक्त इन जंजीरों से आजाद (independent) हो जाना चाहता हैं यह क्यूँ हैं ? वक़्त की कमी (busy schedule) के कारण ? या निजी स्वार्थ (selfish nature) के कारण ? रिश्ते (relation) जो मजबूती के आधार (foundation) थे, आज लाचार () हैं | इस बात का अहसास उन बुजुर्ग लोगो को हैं जिन्होंने रिश्तों को संजो कर रखा था अपना जीवन अपनों को दिया था | आज बिखरते समाज को देख सबसे ज्यादा बुजुर्ग ही दुखी हैं |


tree

आधुनिक रिश्ते  

खून के रिश्ते भी अनजान हो गए,
ना जाने हम कितने पराये हो गए |

इंसान के खो जाने पर भी रिश्ते जिया करते थे,
आज रिश्तो को मारकर इंसान जिया करते हैं|

ये वक्त की तेज रफ़्तार हैं,या इंसान का बदलता इमान|

जो हर रिश्ता, बस टूटने को बनता हैं,
जो साँसों के टूटने का इंतजार भी नहीं करता हैं

बेंबस और लाचारी का चौला ओढ़े रिश्ते,
वक्त के मोहताज हैं या इंसान के|

यह प्रश्न हर उन ढलती आँखों में हैं,
जिसने परिवार को एक माला में पिरोया था ||

By : कर्णिका पाठक

अगर आप इसी तरह की हिंदी story दुनियाँ के सामने रखना चाहते हैं तो आप अपना content हमें deepawali.add@gmail.com इस id पर mail कर सकते हैं जिसे हम आपकी फोटोग्राफ़र और नाम के साथ publish करेंगे | यह हमारे लिए गौरव की बात होगी |

If any viewer wants to share his story with us, then, he can send his content at deepawali.add@gmail.com . We will publish it with his Name and photograph. It would be privilege for us.

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

bewafa bewafai shayari

बेवफ़ा / बेवफ़ाई पर शायरी

बेवफ़ाई इश्क का एक ऐसा मंजर हैं जो या तो तोड़ देता हैं या जोड़ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *