ताज़ा खबर

नेशनल समोसा वीक सेलिब्रेशन इन यूनाइटेड किंगडम | National Samosa Week Celebration In United Kingdom In Hindi :

नेशनल समोसा वीक सेलिब्रेशन इन यूनाइटेड किंगडम | National Samosa Week Celebration In United Kingdom In Hindi

समोसे का नाम सुनते ही भारत के प्रसिद्ध पकवान याद आ जाते हैं. भारत के लोग भले ही अपने काम या अन्य कारणों से बाहर रहने लगे हो, परंतु उनका अपने रीती रिवाजों, त्योहारों और खाने से गहरा नाता है. इसी कारण से आप यहाँ के प्रचलित नाश्ते समोसे का लुफ्त बाहर अन्य देशो में भी उठा सकते है. भारत के नागरिक कही पर भी रहें, पर वे खाने के शौकीन होते है, इसिलिये भारतीय जो की यूनाइटेड किंगडम में रहते है, वे वहाँ के गार्डनों में करी वीक सेलिब्रेट करते है. इसी प्रकार नेशनल समोसा वीक भी एक फूड फेस्टिवल है और इसमे  लोगो के पेट द्वारा उनका दिल जितने की कोशिश की जाती है.

नेशनल समोसा वीक

सेलिब्रेशन की तारीक (Date of the Celebration) :

नेशनल समोसा वीक वर्ष 2018 में 9 अप्रैल से 13 अप्रैल तक लीसेस्टर में सेलिब्रेट किया जायेगा. यूनाइटेड किंगडम के इस एरिया में रहने वाले लोगों में भारतीय, पाकिस्तानी और बंगलादेशी लोग ज्यादा है. इसलिए नेशनल समोसा वीक की आयोजन कमिटी को यह विश्वास है कि नेशनल समोसा वीक भी करी फेस्टिवल की तरह सफल रहेगा.

भाग लेने वाले शहर (Participating Cities) :

अब तक आयोजन कमिटी के द्वारा इसमे भाग लेने के लिए 6 शहरो को कन्फर्म किया गया है.

  1. बिर्मिंघम (Birmingham),
  2. नोत्तिन्घम्शिरे रेडलेट (Nottinghamshire Radlett),
  3. मेनचेस्टर (Manchester),
  4. कोवेंट्री (Coventry) आदि शहरो ने अपना नाम इस फेस्टिवल के लिए रजिस्टर करवा दिया है.

नेशनल समोसा वीक की जानकारी और इतिहास (Information about National Samosa Week and History in hindi):

अगर आप इतिहास में जाएंगे तो आप पाएंगे कि समोसा या एक त्रिकोण आकार का कुछ फिलिंग किया हुआ तला हुआ पदार्थ मध्य पूर्व में बनाया जाता था. इस जगह के व्यापारी जब अपने व्यापार के लिए लंबी दूरी की यात्रा करते थे, वे यात्रा के दौरान अपनी भूख शांत करने के लिए इस नाश्ते का प्रयोग करते थे. जब ये लोग भारत आये तो इस  त्रिकोणीय पदार्थ के बारे में यहाँ के लोगो को पता चला और उन्होंने इसे अपनी खाने की लिस्ट में शामिल करने में ज्यादा टाइम नहीं लगाया.

यूनाइटेड किंगडम में रहने वाले लोगों में भारतीयों का प्रतिशत ज्यादा होने के कारण, वहाँ के लोग भारतीय सभ्यता और यहाँ का खाना, यह सभी चीजे अपनाते है. रोमिल गुलजार ही वह व्यक्ति है जिन्होंने इस समोसा फेस्टिवल की शुरुआत यूनाइटेड किंगडम में की, समोसा फेस्टिवल के अलावा इन्होने करी अवार्ड की शुरुआत भी यहाँ कर चुके है. “पुकार न्यूज़” जो कि लीसेस्टर में प्रसारित होता है, इसके द्वारा नेशनल समोसा वीक का प्रचार उस एरिया में किया गया.

नेशनल समोसा वीक के दौरान विभिन्न लोग और रेस्टोरेंट यहाँ आकर समोसे बनाते है और उसे लोगो को बेचकर इस प्रतियोगिता में शामिल होते है. इस फेस्टिवल में लोग वेजिटेबल समोसे के अलावा इसकी फिलिंग में किसी भी तरह का बदलाव कर सकते है. इस फेस्टिवल की आयोजन कमिटी भाग लेने वाले लोगों को जितना चाहे और जितनी जगह चाहे समोसा बेचने की छुट देती है उनका उद्देश्य इसके द्वारा चैरिटी के लिए अधिक धन एकत्रित करना है.

नेशनल समोसा वीक का उद्देश्य (Objective of the National samosa Week ):

नेशनल समोसा वीक फेस्टिवल के आयोजन का मुख्य उद्देश्य चैरिटी के लिए पैसे एकत्रित करना है. इस फेस्टिवल में समोसा बेचकर जो भी पैसा इकठ्ठा किया जाता है वो विभिन्न चैरिटेबल संस्थाओं को दिया जाता है. इसके द्वारा जो भी लाभ होता है वो एलएएमपी  (LAMP) जो कि एक मेंटल हेल्थ चैरिटी है और सीओंपीस (COPS) जो कि पुलिस सर्वाइवल केयर के लिए चलाई जाती है, में बराबर बाटा जाता है. इसका दूसरा ग्रुप मृत पुलिस वालोँ के परिवार के लिए काम करता है. ये लोग उन पुलिस वालों के परिवार की वित्तीय सहायता करते है जो कि ड्यूटी पर शहीद हो जाते है. इसके अलावा इस समोसा वीक फेस्टिवल का अन्य उद्देश्य विभिन्न कम्युनिटी के लोगो को एक साथ एक जगह इकठ्ठा करना है ताकि वे लोग एक दुसरे से मिल सके और मेलजोल बढ़ा सके.

यूके में आयोजित होने वाले अन्य फूड फेस्टिवल (Other Such Food Festivals in UK) :

यह देखा गया है कि यूके के लोग दुनिया के विभिन्न भागो का खाना पसंद करते है. नेशनल समोसा वीक के प्रारंभ होने से पहले लीसेस्टर के लोग स्वादिष्ट करी का फायदा उठाते थे. इसी करी फेस्टिवल के कारण विभिन्न स्वादिष्ट करी को यहाँ के प्रसिध्द रेस्टोरेंट के मेन्यु में शामिल किया गया है. भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के लोगों के यहाँ विभिन्न प्रकार की करी बनाई जाती है, जिसे इस करी फेस्टिवल के द्वारा लीसेस्टर के लोगो ने भी पसंद किया और अपने घरो में अपनाया.

जितने वाले के लिए इनाम (Prize for the Winners):

इस फेस्टिवल के दौरान आयोजन कमिटी के द्वारा एक ड्रा रखा जाता है ताकि हर भाग लेने वाले व्यक्ति के पास जितने के समान अवसर उपलब्ध हो. इस फूड फेस्टिवल के विजेता को, आयोजन कमिटी के द्वारा लीसेस्टर करी अवार्ड्स के टिकट उपलब्ध कराये जाते है ताकि वे वहाँ जाकर इसे एन्जॉय कर सके. यह अवार्ड सेरेमनी इस वर्ष 22 अप्रैल को संपन्न होगी.

खाने ने हमेशा से लोगों को नजदीक लाने में विशेष योगदान दिया हैं . भारत के साथ साथ कई ऐसे देश है जहां के कुछ समुदाय अब यूके को ही अपना घर मानने लगे है. ये विभिन्न समुदाय के लोग उनके परम्परा, रीती रिवाज और सभ्यता यहाँ इस फूड फेस्टिवल में एक साथ इकठ्ठे होकर एक दुसरे से साझा करते है. यही ये लोग एक दुसरे के साथ दूरियों को मिटाकर संपर्क में आते है.

अन्य पढ़े:

  1. जलियांवाला बाग हत्याकांड की कहानी 
  2. अमित शाह की जीवनी व उनसे जुड़े विवाद 
  3. कृषि ऋण समाधान योजना मध्य प्रदेश 
Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *