ताज़ा खबर

ऑनलाइन शॉपिंग करने के बेहतरीन तरीके | Tips of Online shopping in Hindi

Online shopping tips in Hindi की सहायता से आप इंटरनेट मे प्राप्त किसी भी सामान को आसानी से खरीद सकते है| ऑनलाइन शॉपिंग  goods तथा service विक्रेता क्ंपनियो द्वारा शुरू कार्य है|

ऑनलाइन शॉपिंग क्या है ( What is Online Shopping ):

ऑनलाइन शॉपिंग का मतलब इंटरनेट पर चिजे या सर्विस खरीदने से है ऑनलाइन शॉपिंग के जरिये आप घर बैठे कोई भी चीज खरीद सकते है । जब word wide web का concept आया, तब ही से goods तथा service विक्रेता क्ंपनियो ने अपना समान उन यूसर को ऑनलाइन बेचना शुरू किया| जो घर पर या ऑफिस मे अपना वक़्त कम्प्युटर या लैपटाप पर गुजारते है। इस ऑनलाइन शॉपिंग के जरिये ग्राहक कई सारे प्रॉडक्ट घर बैठे ऑनलाइन खरीद सकते है| जैसे हाउस होल्ड मटेरियल, फूड आइटम, कपड़े, फर्नीचर आदि। परंतु अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करना चाहते है, तो यह जरूरी है कि आपको इंटरनेट का यूस करते आता हो तथा आपके पास चीजों की पेमेंट करने के लिए कोई कार्ड हो जैसे डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड आदि।

Online shopping in Hindi

 

ऑनलाइन शॉपिंग की शुरवात :

ऑनलाइन शॉपिंग की शुरवात 1979 मे माइकल आल्डरिच ने की । उन्होने इसके लिए टेलीविज़न का इस्तेमाल किया तथा टीवी पर चिजे देखकर ग्राहक अपना ऑर्डर टेलीफ़ोन के मध्यम से दे सकते थे। मार्च सान 1980 मे उन्होने redifon’s office revolution की शुरवात की जिसके जरिये consumer, कस्टमर, एजेंट, डिस्ट्रीबूटर, सप्लायर्स तथा सर्विस कपनीस आपस मे ऑनलाइन कनैक्ट हो सकती थी। पहले word wide web सर्वर तथा ब्राउज़र टिम बुरनेर्स ली के द्वारा 1990 मे बनाया गया। तथा इसका ओफ़्फ़िशियल यूस 1991 मे हुआ।

ऑनलाइन शॉपिंग  के फायदे ( Online shopping Advantages) :

ऑनलाइन शॉपिंग  मे हम आपको इसके फायदे नीचे बताये है| हर चीज़े के कुछ अपने फायदे और नुकसान होते है|

  • ऑनलाइन शॉपिंग से आप 24 घंटे मे किसी भी समय शॉपिंग कर सकते है परंतु अगर आप किसी शॉप से समान खरीदते है तो एसा नही होता आपको शॉप खुलने के समय ही शॉपिंग करनी पड़ती है।
  • ऑनलाइन शॉपिंग के जरिये आपको बहोत सारे प्रोडक्टस की लिस्ट उपलब्ध होती है तो आप चाहे तो प्रोडक्टस की आपस मे कम्पेयर कर सकते है।
  • आप अगर ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आप प्रॉडक्ट के प्राइस को भी कम्पेयर कर सकते है।
  • अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आपके टाइम की बचत होती है आप घर बैठे ही कम समय मे अपने सिस्टम से शॉपिंग कर सकते है।
  • अगर आप घर पर बैठकर अपने कम्प्युटर से ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आप शॉपिंग माल मे पार्किंग के लिए हो रही दिक्कत से बच जाते है।
  • अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आपको बिलिंग के समय लाइन मे लाग्ने की दिक्कत नही उठानी पड़ती।
  • अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आपका समान कंपनी द्वारा आपके घर पर पहुचाया जाता है इसके विपरीत अगर आप शॉपिंग मॉल या शॉप पर जाकर शॉपिंग करते है तो आपको अपना समान खुद लाना होता है ।
  • अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है और आप अपने समान से संतुष्ट नही है तो आप अपना समान रिटर्न कर सकते है आपको अपना पैसा वापस मिल जाता है।

ऑनलाइन शॉपिंग के नुकसान ( Online shopping disadvantages) :

ऑनलाइन शॉपिंग  मे हम आपको इसके कुछ नुकसान बताएंगे| ऑनलाइन शॉपिंग  के अगर कुछ फायदे है तो कुछ नुक्सार भी है|

  •  अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग  करते है तो आप नॉर्मल शॉपिंग की तरह चीजों को छूकर नही परख सकते आपको अपनी शॉपिंग चीजों को स्क्रीन एर देखकर ही करना पड़ती है जब इसके विपरीत साधारण शॉपिंग मे आप चीजों को छूकर देख सकते है, कपड़ो को पहनकर ट्राइ कर सकते है, उनका मटेरियल जाच सकते है आदि ।
  • जब आप ऑनलाइन शौपिंग  करते है तो आप अपना पेमेंट भी ऑनलाइन करते है तो इसमे आपके साथ फ़्रौड की संभावना बनी रहती है।
  • जब आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है और आपको समान पसंद नही आता या किसी कारण वश आपको समान वापस करना हो तो आपको अपना समान वापस करने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है तथा आपका पैसा वापस आना भी थोड़ा मुश्किल होता है क्यूकी पैसा वापस भी आपके अकाउंट मे ही आता है ।
  • अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आपको अपना समान प्राप्त करने के लिए कुछ समय की प्रतीक्षा करनी पड़ती है जब अगर आप नॉर्मल शॉप से शॉपिंग करते है तो आप अपना समान तुरंत प्राप्त कर सकते है।

ऑनलाइन शॉपिंग ( Online shopping in Hindi ) के आर्टिकल के अनुसार इन सभी advantages तथा disadvantages के बावजूद भी ऑनलाइन शॉपिंग आजकल बहुत ट्रेंड मे है कई सारे कस्टमर आने बिज़ि शेडयुल के कारण ऑनलाइन शॉपिंग यूस करने लगे है बदलते हुये ऑनलाइन यूसर को देखकर ऐसा लगता है की आजकल नये कस्टमर की फ़र्स्ट चॉइस ऑनलाइन शॉपिंग ही है । जैसे जैसे धीरे धीरे लोग सिस्टम से फ्रेंडली होते जा रहे है वे ऑनलाइन शॉपिंग को भी पसंद करने लगे है आजकल तो अगर लोग खाली बैठे होते है तब भी उनका सबसे अच्छा टाइम पास ऑनलाइन शॉपिंग ही है खाली समय मे लोग अलग अलग वैबसाइट पर जाकर प्रॉडक्ट चेक करते है तथा उन्हे खरीदते है।

ऑनलाइन शॉपिंग के लिए सिम्पल स्टेप्स  (Online shopping in Hindi):

  1. अपना शॉपिंग का समय निर्धारित करे : ऑनलाइन शॉपिंग का सबसे अच्छा फायदा यही है की आप अपने समय के अनुसार शॉपिंग कर सकते है । परंतु ऑनलाइन शॉपिंग मे किसी भी वस्तु की डिलेवरी सबसे जल्दी शॉपिंग के दूसरे दिन तक मिल सकती है और यह टाइम आपके शॉपिंग करने के दो घंटे बाद से स्टार्ट होता है । अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो वस्तु की घर तक डिलिवरी के लिए चार्ज साइट पर साफ साफ डिक्लेयर किए जाते है तो यह कस्टमर को पहले ही कन्फ़र्म कर लेना चाहिए की उसे डिलिवरी के लिए कितने पैसे देने होंगे या देने भी होंगे या नहीं।
  2. शॉपिंग स्टार्ट करे : जब आप अपनी शॉपिंग स्टार्ट करे तो जिस आइटम को आप खरीदना चाहते है उसे सर्च बार मे टाइप करे या उसे किसी साइट पर विभिन्न केटेगीरी मे से सर्च करे या फिर आप किसी advertisement पर भी क्लिक करके अपना सामान सिलैक्ट कर सकते है तथा अपना सामान खरीद सकते है । जब आप अपने लिए शॉपिंग करते है तो आप जिस आइटम को पसंद करते है तो आप उस पर क्लिक करके उस आइटम को साफ रूप से विभिन्न तरह से तथा ज़ूम करके देख सकते है जीस्से उस आइटम की आपके दिमाग मे इमेज क्लियर हो जाती है ।
  3. अपना पेमेंट का टाइप सिलैक्ट करे : जब आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आप अपने पेमेंट का टाइप खुद सिलैक्ट कर सकते है आप चाहे तो क्रेडिट कार्ड के थ्रु या डेबिट कार्ड के थ्रु पेमेंट कर सकते या फिर आप चाहे तो अपना पेमेंट वस्तु की डिलीवरी के समय कैश मे भी कर सकते है । जब आप अपना पेमेंट क्रेडिट या डेबिट कार्ड के द्वारा करते है तो आपके अकाउंट से पैसा तब तक नहीं जाता जब तक की वस्तु की डिलिवरी आपके घर तक नहीं हो जाती ।
  4. अपने ऑर्डर की पुनः जाच करे : जब आप अपना ऑर्डर प्लेस कर देते है और आप उस ऑर्डर मे संशोधन करना चाहते है तो आपके पास इसका opection होता है परंतु यह ध्यान रखे की यह संशोधन एक निश्चित समय के भीतर ही किया जाना चाहिए । उस समय मे जब आप ऑर्डर कर देते है और वस्तु आपके घर आ जाती है और आपको वस्तु पसंद नही या फिर आपके साइज़ के हिसाब से वस्तु फिट नहीं है तब भी आप वस्तु चेंज या वापस कर सकते है ।
  5. अपनी शॉपिंग रिसीव करे : जब सभी पूर्व प्रोसैस कंप्लीट हो जाती है तब वस्तु आपके घर पहुचती है तथा आप अपनी शॉपिंग किया हुआ आइटम आपने घर पर प्राप्त कर सकते है । जब विक्रेता company सामान डिलीवर करती है है तो यह उसकी ज़िम्मेदारी होती है की डिलिवरी के वक़्त वस्तु का कोई नुकसान नहीं हो या सही वस्तु ग्राहक के घर तक पहुचे । अगर डिलिवरी मे कोई नुकसान या गलती होती है तो इसकी पूर्ण ज़िम्मेदारी विक्रेता या डिलिवरी करने वाली कंपनी की होती है ।
  6. शॉपिंग के बाद ऑर्डर प्लेसमेंट के समय पेमेंट : यह ऑनलाइन शॉपिंग की सबसे अच्छी सुविधा है की आप अपना पेमेंट वस्तु की डिलिवरी के समय कर सकते है । अगर ग्राहक पेमेंट डिलिवरी के टाइम करता है तो उसे किसी प्रकार के फ़्रौड का खतरा नहीं होता तथा साथ ही साथ वह व्यक्ति अपना सामान प्राप्त करने के बाद उसे चेक करके पेमेंट कर सकता है।

अन्य पढ़े:

Sneha

Sneha

स्नेहा दीपावली वेबसाइट की लेखिका है| जिनकी रूचि हिंदी भाषा मे है| यह दीपावली के लिए कई विषयों मे लिखती है|
Sneha

यह भी देखे

Guide-to-Install-WordPress-on-Dreamhost

ड्रीमहोस्ट पर वर्डप्रेस वेबसाइट को कैसें इंस्टॉल करें | How to install WordPress Website on Dreamhost in hindi

How to install WordPress Website on Dreamhost in hindi अपनी वेबसाइट होने का सपना हरेक वह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *