ताज़ा खबर

महान फुटबॉलर पेले का जीवन परिचय | Pele Footballer Biography in hindi

Pele Footballer Biography in hindi पेले, 20 वीं शताब्दी के ब्राज़ील के जाने माने और एक महान स्पोर्टिंग फिगर एवं फुटबॉल खिलाड़ी थे, जिन्हें अपने सक्रिय वर्षों के दौरान “फुटबॉल का राजा” कहा जाता था. उन्हें व्यापक रूप से हर वक्त फुटबॉल प्रसंशकों, आलोचकों, विशेषज्ञों और खिलाड़ियों में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी माना जाता था. इन्होंने अपनी इम्पेक्केबल स्टाइल, एलेक्ट्रिफ्यिंग खेल और प्रभावशाली प्रदर्शन के साथ 1363 खेलों में कुल 1281 गोल किये. इन्होंने बहुत से रिकोर्ड भी बनाये. यह उनकी खेल के लिए गहरी लगन थी और शानदार गोल स्कोरिंग की आदत थी, जिसने इन्हें दुनिया भर में एक स्टार बना दिया. आसाधारण हैडिंग एबिलिटी, शक्तिशाली शॉट और अडिग गोल स्कोरिंग के लिए उनकी प्रशंसा भी की जाती थी. अपने बेहतरीन खेल से उन्होंने लोगों के दिलों में जगह बना ली.

pele

महान फुटबॉलर पेले का जीवन परिचय (Pele Footballer Biography in hindi)

पेले फुटबॉलर का जीवन परिचय निम्न सूची में दर्शाया गया है-

क्र.म. जीवन परिचय बिंदु जीवन परिचय
1. नाम पेले
2. पूरा नाम एडसन अरांटीस डो नैसीमेंटो
3. जन्म 23 अक्टूबर सन 1940
4. जन्म स्थान ट्रेस कोरकोएस, ब्राज़ील
5. राष्ट्रीयता ब्राजीलियन
6. पेशा फुटबॉल खिलाड़ी
7. पिता डॉनडीनहो
8. माता डोना सेलेस्टी अरांटीस
9. साथी क्सुक्सा
10. पत्नी इनकी 3 पत्नियाँ थीं
11. बच्चे 3 बेटे, 3 बेटी
12. प्लेयिंग पोसीशन फॉरवर्ड, अटैकिंग मिडफील्डर

इनके सम्पूर्ण जीवन परिचय के बारे में निम्न आधार पर दर्शाया गया है.

पेले का जन्म और शुरूआती जीवन (Pele’s early life) –

पेले का जन्म 23 अक्टूबर सन 1940 को ट्रेस कोरकोएस, ब्राज़ील में हुआ. इसके पिता डॉनडीनहो तथा माता डोना सेलेस्टी अरांटेस थीं. ये अपने माता – पिता के पहले बेटे है. इनका एक छोटा भाई भी है. इनके पिता डॉनडीनहो भी एक फुटबॉल खिलाड़ी थे. वास्तव में इनका निक नाम डीको था, किन्तु इनके पसंदीदा फुटबॉल खिलाड़ी “वास्को डा गामा ‘बिले’” के बाद से इनके दोस्तों ने गलत उच्चारण करते हुए इन्हें “पेले” कहना शुरू कर दिया. तभी से इन्हें पेले कहा जाने लगा.

गरीबी में रहते हुए, इन्होंने एक बच्चे के रूप में अतिरिक्त पैसे कमाने के लिए विभिन्न छोटे मोटे काम अपने हाथों में लिए. उन्होंने शुरुआत में अपने पिता से फुटबॉल में शिक्षा प्राप्त की और अपनी जवानी में विभिन्न अमेटयूर टीम के लिए खेला. खेल के लिए प्रतिभा और अपनी खुद की एक शैली के साथ इन्हें बौरू एथलेटिक क्लब जूनियर में जगह मिली, जहाँ इन्हें वाल्डेमर डी ब्रिटो द्वारा प्रशिक्षित किया गया था. उन्होंने सन 1954 से 1956 तक लगातार तीन जीत के लिए टीम का नेतृत्व किया. इसके अतिरिक्त इन्होंने कई स्थानीय इंडोर फुटबॉल प्रतियोगितायें और चैंपियनशिप भी जीतीं. इस तरह इन्होंने अपने शुरूआती जीवन को जिया.

पेले का कैरियर (Pele career highlights) –

  • पेले का 1950s के दशक में कैरियर

पेले के कैरियर की शुरुआत तब हुई, जब फुटबॉल स्टार डी ब्रिटो को यह यकीन हो गया कि उनके पास अभूतपूर्व प्रतिभा विद्यमान है. उन्होंने सैंटोस के लिए पेले को ले लिया, जहाँ उन्हें पेशेवर क्लब, सैंटोस एफ़सी में शामिल किया गया था. पेले ने जून सन 1956 में कॉन्ट्रैक्ट को साइन कर लिया और सितंबर में उन्होंने अपना पहला पेशेवर खेल खेला. खेल में उन्होंने अपना पहला पेशेवर गोल कोरिन्थिंस सेंटो आंद्रे के खिलाफ किया. सन 1957 की शुरुआत में, उन्होंने नियमित रूप से टीम में जगह बना ली और जल्द ही वे लीग के टॉप स्कोरर बन गए. यह उनका उल्लेखनीय प्रदर्शन था, जिससे उन्हें ब्राज़ील की राष्ट्रीय टीम में एक स्थान दिया गया. इन्होंने जुलाई सन 1957 में अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय खेल अर्जेंटीना के खिलाफ खेला. यह खेल ब्राजील 2 – 1 से हार गई थी, किन्तु यहाँ उन्होंने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय गोल किया था. इस प्रकार वे अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल खेल में स्कोर करने के लिए सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने.

वर्ष 1958 उनके लिए उपलब्धियों का वर्ष था. इतना ही नहीं इन्होंने सैंटोस की, ब्राजील में एक टॉप फ्लाइट पेशेवर फुटबॉल लीग में कम्पेओनटो पौलिस्ता के लिए 58 गोल के साथ जीत दर्ज करने में मदद की थी. यह उपलब्धी आज तक की बेमिसाल उपलब्धी थी, वे भी ब्राज़ील टीम का एक हिस्सा थे, जिन्होंने वर्ल्डकप जीता. पेले ने सन 1958 में हुए वर्ल्डकप के क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल में महत्वपूर्ण योगदान दिया, और 4 मैचों में 6 गोल किये. उन्होंने सन 1958 के वर्ल्डकप में कई रिकॉर्ड तोड़े.

  • पेले का 1960s के दशक में कैरियर

सैंटोस सन 1959 में उनके पौलिस्ता के ख़िताब को बरकरार रखने में असमर्थ थे, जिससे उनकी सफलता के सपने की दोड़ पर रोक लग गई थी. लेकिन सन 1960 में उन्होंने अपनी पूरी ताकत के साथ खेल को जारी रखा और खेल के मैदान में अपना आसाधारण प्रदर्शन दिखाया, जिससे सैंटोस को यह खिताब वापस पाने में मदद मिली. क्लब ने एक टॉप स्कोरर के रूप में उनके साथ टाका ब्रासील जीता. यह वह जीत थी जिसमे सैंटोस को कोपा लीबरताडोरेस, दक्षिण अमेरिका के प्रमुख क्लब फुटबॉल टूर्नामेंट खेलने में मदद मिली थी. वर्ष 1962 उनके कैरियर का सबसे अच्छा क्लब वर्ष था. उन्होंने न केवल सैंटोस को कोपा लीबरताडोरेस प्रतियोगिता में एक रोमांचक जीत दर्ज करने के लिए निर्देशित किया, बल्कि उन्होंने क्लब की सन 1962 इंटरकांटिनेंटल कप और कम्पेओनटो ब्रसिलिएरो पर जीत दिलाने में मदद की.

सन 1962 वर्ल्डकप में, उन्हें बहुत चोटें लगी, जिससे वे इस टूर्नामेंट से अधिकतर बाहर बने रहे. वर्ष 1963 में पिछले वर्ष की सफलता को दोहराने के रूप में सैंटोस, कोपा लीबरताडोरेस का एक सफल डीफेन्डिंग चैंपियन बन गया. हालाँकि क्लब पौलिस्ता ट्रोफी हासिल करने में असमर्थ रहा, किन्तु उन्होंने टाका ब्राज़ील, इंटरकांटिनेंटल कप और रिओ – साओ पाउलो टूर्नामेंट में अपनी जीत दर्ज की. सन 1964 और 1965 में यह उनकी पोस्ट जीत दर्ज हुई, यह उनका क्लब को उचाईयों पर ले जाने में योगदान था. वे बल्गेरियाई द्वारा लगातार दूषण के कारण घायल हो गये, जिससे सन 1966 का वर्ल्डकप पेले के लिए अधिक दर्द ले कर आया. इसका परिणाम यह निकला कि पहले चरण के बाद उन्हें विश्वकप में ब्राज़ील टीम से बाहर कर दिया गया. सन 1969 में उन्होंने मरकाना स्टेडियम में पेनाल्टी किक से वास्को डी गामा के खिलाफ अपना 1000 वां गोल किया. इस तरह इनका 1960s के दशक का कैरियर रहा.

  • पेले का 1970s के दशक में कैरियर

सन 1970 का वर्ल्डकप आखिरी वर्ल्डकप था, जिसमे पेले ने हिस्सा लिया. उन्होंने सभी मैच खेले और इस टूर्नामेंट में ब्राजील की ओर से 14 से 19 गोल कर अपना योगदान दिया. ब्राजील ने यह वर्ल्डकप जीता. पेले को अपने प्रभावशाली प्रदर्शन और व्यापक योगदान के लिए “प्लेयर ऑफ़ दी टूर्नामेंट” का नाम दिया गया था. पेले का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आखिरी मैच 18 जुलाई सन 1971 को रिओ डी जनेइरो में युगोस्लाविया के खिलाफ था. अपने क्लब के वर्ष के रूप में, सन 1974 का सीजन उनका आखिरी सीजन था, जिसमें उन्होंने रिटायर होने से पहले सैंटोस के लिए खेला था. सन 1976 में, वे न्यूयॉर्क के कॉसमॉस के साथ एक कॉन्ट्रैक्ट साइन करने से सेमी – रिटायरमेंट से निकले. उन्होंने क्लब के साथ अपने आखिरी सीजन में सन 1977 NASL चैंपियनशिप के लिए क्लब का नेतृत्व किया.

अधिकारिक तौर पर 1 अक्टूबर सन 1977 में उन्होंने अपना आखिरी मैच खेला. यह मैच कॉसमॉस और सैंटोस के बीच प्रदर्शनी मैच था. उन्होंने पहला आधा मैच कॉसमॉस के लिए तथा दूसरा आधा मैच सैंटोस के लिए खेला. उनका आखिरी अधिकारी गोल पहले आधे समय में सैंटोस के खिलाफ एक डायरेक्ट फ्री किक था. यह मैच कॉसमॉस ने 2 – 1 से जीता था.

यह उनका बेहद सफल फुटबॉल का कैरियर रहा, वे सन 1992 में इकोलॉजी और पर्यावरण के लिए UN एम्बेसडर के रूप में नियुक्त किये गये. इसके बाद सन 1995 में, वे यूनेस्को गुडविल एम्बेसडर के रूप में नियुक्त किये गए. इस तरह इनका फुटबॉल में कैरियर रहा.

पेले का व्यक्तिगत जीवन (Pele personal life) –

पेले अपने व्यक्तिगत जीवन में बहुत ही खुले विचारों वाले थे. उनकी 3 शादियाँ हुई. उनकी पहली शादी रोज़मेरी डोस रईस चोल्बी के साथ सन 1966 में हुई. इससे उन्हें 2 बेटियां भी हुई, किन्तु सन 1982 में उनका तलाक़ हो गया. सन 1981 से 1986 तक वे उनकी दोस्त क्सुक्सा के साथ रोमांटिकली इन्वोलव्ड थे, जिससे उन्हें एक मॉडल बनने के लिए सहायता प्राप्त हुई. क्सुक्सा सिर्फ 17 वर्ष की थीं, जब पेले ने उनके साथ डेट शुरू की. इसके बाद सन 1994 में, उन्होंने मनोवैज्ञानिक और सुसमाचार गायक अस्सिरिया लेमोस सेइक्सास के साथ शादी की. उन्होंने 2 जुड़वाँ बच्चों को जन्म दिया. इसके बाद वे अलग – अलग हो गए. हालही में सन 2016 को पेले ने मर्सिया ओकी से शादी की है. यह उनका अब तक का व्यक्तिगत जीवन रहा.

पेले की उपलब्धियाँ (Pele achievements) –

पेले ने अपने कैरियर में बहुत ही उपलब्धियाँ हासिल कीं, जोकि इस प्रकार हैं-

  • अपने प्रभावशाली लाइन – अप से जीत के लिए और खेल को नई उचाईयों पर ले जाने के लिए कैतापुल्टिंग में उन्होंने असाधारण भूमिका निभाई, जिससे उन्हें बहुत से प्रतिष्ठित सम्मान और डेकोरेशन्स प्राप्त हुए, उनमें ब्राज़ील का स्वर्ण पदक, ब्रिटिश साम्राज्य के ऑर्डर के नाइट कमांडर और बीबीसी लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड भी शामिल हैं.
  • सन 1999 में सदी के फुटबॉल खिलाड़ी के रूप में IFFHS ने उन्हें वोट दिया. इसके अतिरिक्त, इन्हें अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति और रायटर्स न्यूज़ एजेंसी द्वारा “सदी के एथलीट” के रूप में निर्वाचित भी किया गया था.
  • सन 2010 में, वे न्यूयॉर्क के कॉसमॉस के आनरेरी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किये गये थे.
  • सन 2012 में, अपने खेल की उपलब्धियों के रूप में, उन्हें मानवीय और पर्यावर्णीय कारणों के लिए महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए एडिनबर्ग विश्वविद्यालय से आनरेरी डिग्री से सम्मानित किया गया.

पेले के बारे में कुछ रोचक तथ्य (Pele unknown facts) –

पेले के बारे में कुछ रोचक तथ्य इस प्रकार हैं-

  • पेले ने ब्राज़ील के लिए 77 गोल सहित, 1283 प्रथम श्रेणी के गोल स्कोर किये.
  • इन्होंने 3 वर्ल्डकप, 2 वर्ल्डकप चैंपियनशिप और 9 साओ पाउलो स्टेट चैंपियनशिप जीतीं.
  • पेले का नाम, अमेरिकी इनवेन्टर थॉमस एडिसन के बाद रखा गया, इसका असली नाम एडसन अरांटेस डो नास्कीमेंटो है.
  • पेले सिर्फ 15 साल के थे जब उन्होंने सैंटोस को साइन किया. उन्होंने 7 सितम्बर सन 1956 को FC कोरिन्थिंस के खिलाफ अपना पहला मैच खेला जिसमे उन्होंने 4 गोल किये.
  • 17 साल की उम्र में पेले वर्ल्डकप के सबसे कम उम्र के विजेता बन गये. उन्होंने इसके फाइनल में भी होम साइड स्वीडेन के खिलाफ 2 गोल किये.
  • पेले सन 1995 में ब्राज़ील के खेल मंत्री के रूप में नियुक्त किये गये थे, सन 1998 तक वे इसमें सेवारत थे.
  • सन 1997 में उन्हें ब्रिटिश नाइटहुड आनरेरी दिया गया.
  • सन 1999 में उन्हें अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति द्वारा “सदी के एथलीट” के लिए निर्वाचित किया गया.
  • 19 नवंबर सन 1969, में उन्होंने अपना कैरियर का 1000 वां गोल स्कोर किया. इसके लिए सैंटोस ने उस दिन “पेले दिवस” भी मनाया.
  • पेले ने एक बार कहा कि – “स्कोर करने के लिए पैनाल्टी एक कायर तरीका है”.
  • 1 अगस्त सन 2010 में पेले को न्यूयॉर्क के कॉसमॉस के आनरेरी अध्यक्ष के रूप में इंट्रोड्यूस किया गया था.
  • सन 1970 के वर्ल्डकप के फाइनल में इटली के खिलाफ पेले ने अपना 100 वां वर्ल्डकप गोल किया था.
  • रैपर प्रास द्वारा “घेटो सुपरस्टार” सोंग में पेले का उल्लेख किया गया.
  • ब्राज़ील में उन्हें अक्सर “पेरोला नेग्र” कहा जाता है जिसका मतलब ब्लैक पर्ल होता है.
  • सन 1993 में, पेले को फेम के राष्ट्रीय फुटबॉल हॉल में शामिल किया गया.
  • पेले एक अकेले खिलाड़ी है जोकि 3 वर्ल्डकप जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे.

अन्य पढ़ें –

Surbhi

सुरभिदीपावली वेबसाइट की लेखिका है| जिनको जीवनी व हिंदी के अन्य सभी विषयों मे लिखने का शोक है|

यह भी देखे

dinesh sharma

दिनेश शर्मा का जीवन परिचय | Dinesh Sharma biography in hindi

Dinesh sharma biography in hindi दिनेश शर्मा  भारतीय राजनीत में एक पुराने नाम हैं. अपने पिता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *