ताज़ा खबर

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/ नेशनल सिक्यूरिटी डे यह दिवस देश के सिक्यूरिटी विभाग एवम उन सभी सोल्जर को जाता हैं जो देश को सुरक्षा देते हैं. इन सभी के कारण ही देश की सीमायें सुरक्षित रहती हैं और इन्ही के कारण देश में शांति एवम आवाम में सुरक्षा का भाव होता हैं . इस दिन हम सभी देशवासी, इन सभी सुरक्षाबलों का तहे दिल से अभिवादन करते हैं .

Rashtriya Surksha Diwas National Security Day Hindi

  • कब मनाया जाता हैं राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/ नेशनल सिक्यूरिटी डे ?

यह महत्वपूर्ण दिवस 4 मार्च को पुरे भारत देश में मनाया जाता हैं .यह दिवस उन सभी बलिदानियों को समर्पित हैं जिन्होंने अपना रक्त देकर भी देश की सुरक्षा की . इस दिन हिंदुस्तान उनके हौसले और जस्बे को सलाम करता हैं . ऐसे शहीद की शहादत को कोई कैसे शब्दों में बताये, ये तो दिल में जगह बनाते हैं, अपने कर्मो से ये आवाम के दिलों में बस जाते हैं .

  • कैसे मनाया जाता हैं राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/ नेशनल सिक्यूरिटी डे ?

यह दिवस पहली बार 4 मार्च 1966 में मनाया गया था जिसमे 8 हजार सदस्य शामिल हुये थे उस समय यह दिवस देश के लोगो को सुरक्षा के प्रति जागृत करने के उद्देश्य से लाया गया था जिसमे उन्हें देश में, समाज में कैसे एक दुसरे की सुरक्षा को ध्यान में रखकर कार्य करना चाहिये उस दिशा में प्रेरित किया गया था .

rashtriya suraksha diwas

अब राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस यह त्यौहार केवल एक दिन नहीं बल्कि पुरे सप्ताह अर्थात 4 मार्च से 10 मार्च तक मनाया जाता हैं .

  • वर्तमान उद्देश्य :
  • स्वच्छता :

देश की सुरक्षा में केवल दुश्मनों से देश को सुरक्षित रखना ही नहीं आता, बल्कि देश में लोगो को बिमारियों से सुरक्षति रखना भी सुरक्षा के अंतर्गत आता हैं . राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस सभी को इस दिशा में अपना कदम बढ़ाने का रास्ता दिखाता हैं . देश को स्वच्छ रखना भी सुरक्षा के अंतर्गत शामिल हैं जिसमे सरकार और जनता के साथ- साथ उद्योगपति जिम्मेदार हैं और इन सभी को एक साथ मिलकर देश में स्वच्छता संबंधी सुरक्षा लाना अनिवार्य हैं इस प्रकार यह भी स्वछता भी सुरक्षा दिवस का उद्देश्य हैं .

  • खाद्य पदार्थ :

आज के समय में मिलावटी वस्तुओं का बोलबाला अधिक हैं इससे भी कई बीमारियाँ हो रही हैं और इससे नयी नस्ल कमजोर होती जा रही है इससे भी देश को सुरक्षित रखना हम सबका का कर्तव्य हैं . यह भी सुरक्षा का एक अंग हैं .

  • गरीबी :

देश में गरीबों की संख्या भी बहुत अधिक हैं जिसके कारण वे असुरक्षित हैं . उनके लिए भी सोचना हम सभी का कर्तव्य हैं . किसी ना किसी तरह से गरीबों को भूखा ना रहना पड़े और उन्हें आजीविका का कोई जरिया मिल सके इसके लिए भी हम सभी को एक होना आवश्यक हैं यह भी सुरक्षा का ही भाग हैं .

  • नारि सुरक्षा :

इस सुरक्षा का वहन भी हम सभी को मिलकर करना होगा . घटना घटने के बाद सजा देना तो न्याय पालिका का काम हैं लेकिन हम सभी को होने वाली इन घटनाओं को ही समाप्त करने के विषय में सोचना और कार्य करना जरुरी हैं . तब ही राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/ नेशनल सिक्यूरिटी डे जैसे दिन का होना कारगर साबित होगा .

ऐसे कई विषय हो सकते हैं जिनको तय करके हम राष्ट्रिय सुरक्षा दिवस के दिन एकजुट होकर इन पर कार्य करे ताकि देश के ऐसे असुरक्षित मुद्दे समाप्त हो सके .यह सभी थे वे मुद्दे जो देश के भीतर हैं इसके आलावा वे मुद्दे जिनके लिए हम सुरक्षा शब्द को परिभाषित करते हैं वो हैं देश की सुरक्षा .

भारत एक बहुत बड़ा देश हैं जनसँख्या और क्षेत्रफल की दृष्टी से यह दुनियाँ का दुसरे नंबर का देश हैं पहले स्थान पर चीन आता हैं . भारत जिस तरह जन संख्या एवम क्षेत्रफल में बड़ा हैं, उसी तरह कई सभ्यताओं से मिलकर बना हैं जिसमे कई जाति एवम सिधांतों का समावेश हैं . जब अनेकता के एकता होती हैं, तब ही एक देश समृद्ध बनता हैं लेकिन व्यवस्था सुचारू रहे, इसके लिए जरुरी हैं कि सभी की सुरक्षा हो,जनता में सुरक्षा का भाव हो . इसी कारण सभी देशों में अपना- अपना सुरक्षा दल होता हैं जो नियमित रूप से देश की जनता के लिए कार्य करता हैं .

सुरक्षा किसी भी देश का अभिन्न अंग होता हैं और इसका श्रेय देश के जल, थल, वायु के सैनिको, अफसरों, देश का पुलिस विभाग एवम कई सुरक्षा एजेंसियों को जाता हैं . यह सभी अपनी व्यक्तिगत जिन्दगी को छोड़ देश वासियों को सुरक्षित रखने के अपने दायित्वों का निर्वाह करते हैं . यह सभी ऐसे नौ जवान हैं जो अपने जिन्दगी में देश को सर्वोपरि रखते हैं . तब ही हम सभी देशवासी अपने घरों में शांति से रह पाते हैं, सो पाते हैं और अपने जीवन को ख़ुशी से जी पाते हैं .

उन्ही जिंदादिल इंसानों को राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस के दिन देश की आवाम शुक्रिया अदा करती हैं , अपने दिल के भावों को व्यक्त करती हैं . ऐसे दिन ही हमें एक अवसर प्रदान करते हैं कि हम अपने फौजी भाइयों को धन्यवाद कह सके, उनके कार्यों के लिए उनका अभिवादन कर सके . ऐसे तो वे लोग किसी दिन के मौहताज नहीं, लेकिन फिर भी राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस जैसे दिन निम्मित का कार्य करते हैं जिनके जरिये वर्ष में एक दिन देश एकजुट होकर, एक स्वर में हमारे सुरक्षा दलों का अभिवादन करता हैं .

हमारे देश में और देश के बाहर ऐसे बहुत से लोग हैं जो देश की एकता और अखंडता को नुकसान पहुँचाते हैं . वे पूरी कोशिश करते हैं कि देश की व्यवस्था को तोड़े और हमें हानि पहुँचाये . उन्ही के नापाक इरादों को ध्वस्त करने के लिये हमारे देश का पुलिस बल, सैन्य बल एवम अन्य सुरक्षा बल सदैव तैयार रहते हैं . इन्ही सुरक्षा बलो के कारण देश में शांति का माहौल रहता हैं इसलिए ही राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस के दिन इन सुरक्षा बलों के हौसला अफजाई और अभिवादन के लिए उत्सव मनाया जाता हैं और हमारे लिए यह सभी सुरक्षा बल कितने महत्वपूर्ण हैं, यह इस दिन सभी को समझाया जाता हैं .

मौजूदा स्थिती में कई दुश्मन घात लगाये देश को हानि पहुँचाने की मंशा से बैठे हुए हैं , ऐसे में राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस देश की जनता को भी जागृत करता हैं और उन्हें अपने कर्तव्यों से अवगत कराता हैं . सदैव देश की रक्षा किसी सुरक्षा बल के द्वारा ही हो जरुरी नहीं, हम सभी देशवासियों को भी देश की सुरक्षा का दायित्व निभाना चाहिये . जिसके लिये हमें देश के हर एक नियम का पालन गंभीरता से करना चाहिये और दूसरों को भी इसके लिये प्रेरित करना चाहिए . देश की सुरक्षा के लिए जितने फौजी उत्तरदायी हैं, उतने ही हम नागरिक भी . हम सभी को देश की सुरक्षा के लिए एकजुट होकर कार्य करना जरुरी हैं . वर्तमान में जिस तरह सीमाओं से देश में घुसपैठ हो रहा हैं उसमे बाहर से ज्यादा आतंरिक लोग दोषी हैं . हमें जाने अनजाने में भी उन लोगो की सहायता नहीं करनी चाहिए और साथ ही ऐसी गलत जानकरी मिलने पर इसके बारे में सुरक्षा बलों को जानकारी देनी चाहिए . जब तक हम सभी एकजुट होकर कार्य नहीं करेंगे देश में सुरक्षा नहीं आएगी .

ऐसे दिवस ही युवा पीढ़ी में देश के लिए जस्बा भरती हैं . उन में देश के प्रति प्रेम और अपने कर्तव्य को जगाती हैं . देश की स्वतंत्रता के लिए किये गए संघर्षों से नयी पीढ़ी समय बीतने के साथ दूर होती जा रही हैं ऐसे में ऐसे दिवस ही उन्हें भारत के इतिहास एवम सपूतों के बलिदान की कहानी सुनाते हैं जिससे युवाओं को देश और उसकी स्वतंत्रता का मौल पता चलता हैं .

इसी तरह देश में कई ऐसे मुद्दे हैं जो सुरक्षा के अंतर्गत आते हैं और इनको हल करने के लिए देश में एकता का होना अनिवार्य हैं और यही एकता इस राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/ नेशनल सिक्यूरिटी डे का उद्देश्य होना चाहिए .

अन्य पढ़े :

  1. राष्ट्रीय एकता दिवस
  2. स्वच्छ भारत अभियान
  3. राष्ट्रीय डाक दिवस
  4. अहिंसा दिवस का महत्व
Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

labh-pancham

लाभ पंचमी महत्व | Labh pancham Mahatv In Hindi

Labh pancham Mahatv In Hindi लाभ पंचमी को सौभाग्य लाभ पंचम भी कहते है, जो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *