ताज़ा खबर

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना | Rashtriya Swasthya Bima Yojana in Hindi

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना | Rashtriya Swasthya Bima Yojana in Hindi

भारत के तात्कालिक सरकार द्वारा देश के लोगों के लिए कई तरह के कल्याणकारी योजनायें चलाई जा रहीं है. देश में कई ऐसे गरीब लोग मौजूद हैं, जो विभिन्न तरह के स्वास्थ सम्बंधित विकारों से परेशान हैं, किन्तु गरीबी की वजह से वे दवाईयां भी नहीं खरीद पाते. सरकार ने देश के ऐसे गरीब लोगों को दवा मुहैया कराने के लिए इस योजना की शुरुआत की है. इस योजना की सहायता से सरकार उन लोगों की मदद करेगी.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की लॉन्च सम्बंधित जानकारियां (rashtriya swasthya bima yojana information)

इस योजना का लॉन्च अप्रैल 2008 में हुआ था, जिसे पुनः तात्कालिक सरकार द्वारा वर्ष 2014 में लॉन्च किया गया. इस योजना की घोषणा नरेंद्र मोदी ने की थी. इस योजना का संचालन ‘मिनिस्ट्री ऑफ़ लेबर एंड एम्प्लॉयमेंट’ की तरफ से किया गया है.

Rashtriya Swasthya Bima Yojana

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की मुख्य विशेषताएँ (objective of rashtriya swasthya bima yojana)

  1. मेडिकल सशक्तिकरण (medical empowerment) आमतौर पर ये देखा जाता है कि देश के अन्दर प्राइवेट हॉस्पिटल बेहद ही महंगे होते हैं, जहां पर आम लोगों द्वारा इलाज करा पाना लगभग नामुमकिन होता है. इस वजह से कई रोगी अपना सही इलाज नहीं करवा पाते हैं. सरकार द्वारा जारी की गयी इस योजना के अंतर्गत ऐसे गरीब लोग अपना इलाज सरकारी अस्पताल में आसानी से पूर्ण रूप से करा पायेंगे.
  2. बेहतर मेडिकल इलाज (medical empowerment) : इस योजना के अंतर्गत सरकार गरीबों को पहले की अपेक्षा बेहतर मेडिकल ट्रीटमेंट देने की कोशिश करेगी. इस योजना के अंतर्गत लगभग सभी सरकारी एवं निजी मेडिकल शाखा समाहित की जाएंगी.
  3. स्टेकहोल्डर्स को लाभ (benefits of stakeholders) : इस योजना के अंतर्गत ऐसी संरचना बनायी गयी है जिससे कि यहाँ एक तरफ गरीबों को लाभ होगा, वहीँ दूसरी तरफ सरकारी अस्पताल, प्राइवेट अस्पताल और इंश्योरेंस कंपनी को भी काफी लाभ प्राप्त हो सकेगा.
  4. इंश्योरेंस (insurance): इस योजना के अंतर्गत इंश्योरेंस कंपनी बीपीएल लोगों को लाभ देगी. इसके अंतर्गत ये इंश्योरेंस, कंपनी केंद्र और राज्य सरकार को प्रदान करेगी. इस तरह से गरीबी रेखा के लोग इस पालिसी की तरफ आकर्षित होंगे.
  5. अस्पताल को लाभ (benefits of hospital)

इस योजना के अंतर्गत सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पतालों को इस बात का भय नहीं होगा कि उनके मेडिकल बिल कौन भरेगा. इस कारण निजी अस्पताल भी बिना किसी संशय के गरीबों को ट्रीटमेंट दे सकेगी.

  1. प्राइवेट और पब्लिक मेडिकल के बीच स्वास्थ प्रतिस्पर्धा : इस योजना के अंतर्गत सरकार ने निजी और सरकारी अस्पताल को एक पंक्ति में लाने की कोशिश की है. इस वजह से दोनों मेडिकल सेक्टर में एक स्वास्थ प्रतिस्पर्धा आ रही है, जिसका लाभ लोगों को अच्छे उपचार के रूप में प्राप्त हो सकेगा.
  2. कई मध्यस्थ संस्थानों को लाभ : इस योजना के अंतर्गत कई एनजीओ और एमएफ़आई को भी लाभ प्राप्त हो सकेगा. कई ऐसे संस्थान जो केंद्र और राज्य सरकार से सहायता लेकर गरीबों के लिए अच्छी दवा मुहैया कराने का कार्य करते हैं, उन्हें काफी सहायता प्राप्त होगी और वे बेहतर कार्य कर पाएंगे.
  3. आईटी सेक्टर का प्रयोग (use of it sector): केंद्र सरकार अपने लगभग सभी योजनाओं में आईटी सेक्टर का प्रयोग कर रही है. सरकार अपनी इस योजना के लिए भी आईटी तथा आधुनिक तकनीको का प्रयोग कर रही है, ताकि योजना का संचालन बेहतर तरह से हो सके. इससे योजना सम्बंधित समस्त डाटा सरकारी सर्वर में सुरक्षित रहेगा.
  4. ट्रांसपोर्ट के भाड़े का लाभ : सरकार ने इस योजना के अंतर्गत दवाओं का लाभ देने के साथ ही, एम्बुलेंस खर्च देने का भी ऐलान किया है. इसके अनुसार सरकार रोगी को किसी ग्रामीण या पिछड़े स्थान से हॉस्पिटल ले जाने का भी खर्च देगी. हालाँकि सरकार इसके लिए रू 1000 से अधिक का खर्च नहीं देगी.
  5. कैशलेस प्रक्रिया (cashless process) : इस योजना का लाभ उठा रहे लोगों को किसी भी तरह से पैसे जमा करने की चिंता नहीं होगी. इसके साथ ही लाभार्थी को किसी तरह के बिल का भुगतान करने की भी आवश्यकता नही है. भुगतान सम्बंधित सभी कार्य स्मार्ट कार्ड द्वारा किया जा सकेगा.
  6. भारत के हर कोने में होगा मान्य: स्मार्ट कार्ड इस बात से परे कार्य करेगा कि वह देश के कौन से हिस्से में बनाया गया है. कोई भी व्यक्ति जिसने देश के किसी भी हिस्से से स्मार्ट कार्ड बनवाया है, उसे देश के किसी भी स्थान पर इसका प्रयोग करने की आज़ादी होगी.
  7. इस योजना के अंतर्गत समस्त कार्य सरकार आधुनिक तकनीक के प्रयोग से कर रही है. इस योजना के लिए आवेदक को अपने समस्त बायोमेट्रिक डिटेल सरकार के पास जमा कराने होंगे. अतः सरकार के पास लाभार्थियों के समस्त बायोमेट्रिक डिटेल होने की वजह से किसी भी तरह की गलती होने की आशा नहीं होगी.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत विभिन्न हॉस्पिटल की सूची (rashtriya swasthya bima yojana hospital list)

इस योजना के अंतर्गत सरकार ने कई विभिन्न अस्पतालों को अपने अधीन रखा है, ताकि देश के विभिन्न हिस्से तक यह योजना पहुंच सके. जहां एक तरफ यह सूची केंद्र सरकार द्वारा जारी की गईं है, वहीँ किसी राज्य में चयनित अस्पतालों की सूची दूसरी तरफ राज्य सरकार द्वारा भी जारी की जायेगी. किसी भी लाभार्थी को किसी अस्पताल में दाखिल होने से पहले इस बात का ध्यान रखना होगा कि उस अस्पताल को सरकार ने इस योजना की सूची में शामिल किया है या नहीं. नीचे सरकार की सूची की औपचारिक वेबसाइट दी जा रही है, जहां से आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. http://www.rsby.gov.in/Hospitals.aspx?id=1

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए आवश्यक योग्यताएँ (rashtriya swasthya bima yojana eligibility)

इस योजना के अंतर्गत सरकार ने कुछ विशेष शर्तें जारी की हैं, जिसके अंतर्गत यह सुनिश्चित किया जा सकेगा कि योजना का लाभ सही लोगों को प्राप्त हो रहा है.

  1. गरीबी रेखा से नीचे (help for poor peoples): इस योजना के अंतर्गत सरकार ने केवल उन लोगों को लाभ देने की योजना बनायी है जो गरीबी रेखा से नीचे हैं. अतः इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी का गरीबी रेखा से नीचे का होना अनिवार्य है.
  2. विभिन्न अव्यवस्थित सेक्टर के श्रमिक : इस योजना के अन्तर्गत सरकार ने यह तय किया हैं कि जो भी व्यक्ति किसी ऐसे स्थान पर कार्य कर रहा है. जहां पर उसे अधिक पैसे प्राप्त नहीं हो पाते और वह अपना इलाज नहीं करा सकता है, वह अपना इलाज करा पायेगा.
  3. स्मार्ट कार्ड की आवश्यकता : यदि इंश्योरेंस प्राप्त लाभार्थी को इस योजना के तहत कैश लेस सुविधा प्राप्त करना हो तो उसके पास स्मार्ट कार्ड का होना अनिवार्य है. इस कार्ड के बिना लाभार्थी को किसी भी तरह के योजना सम्बंधित लाभ प्राप्त नहीं हो सकेंगे.
  4. पांच सदस्यों के लिए : इस योजना के अंतर्गत सरकार किसी भी परिवार के पांच लोगों को योजना का लाभ प्रदान करेगी. अर्थात केवल पांच लोग ही स्मार्ट कार्ड की सहायता से अपना उपचार करा सकेंगे.
  5. राशन कार्ड की आवश्यकता (need of ration card): आवेदकों के पास राशन कार्ड का होना अनिवार्य है. जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं होगा. उन्हें इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं होगा. क्योंकि इसी से गरीबी रेखा के अंदर आने वाले लोगों की पहचान की जा सकेगी.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभार्थी (beneficiaries of the scheme rashtriya swasthya bima yojana)

इस योजना के अंतर्गत केवल उन लोगों को लाभ प्राप्त होगा जो आज भी गरीबी रेखा से नीचे के हैं. योजना के आरंभिक समय में 25 राज्यों का चयन किया गया था, जिसके अंतर्गत 36 मिलियन लोगों को इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त हो सका था.

वर्ष 2014 में इस योजना के पुनः लॉन्च के बाद सरकार ने इसके अंतर्गत गरीबी रेखा के ऊपर के गरीब लोगों को जैसे रिक्शा चलाने वाला, सैनिटेशन वर्कर, वेंडर्स, टैक्सी और ऑटो ड्राईवर आदि को भी शामिल किया गया.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज: (rashtriya swasthya bima yojana documents)

इस योजना के लिए आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी नीचे दी जा रही है.

  • आवेदक को आवेदन पत्र में अपना आधार संख्या देना होगा. आवेदक के पास राशन कार्ड का होना भी आवश्यक है. आवेदक को आवेदन के साथ राशन कार्ड का फोटोकॉपी देने की आवश्यकता होती है.
  • आवेदक के पास बीपीएल कार्ड का होना आनिवार्य है. चूँकि यह योजना बीपीएल लोगों के लिए है, अतः इस योजना के अंतर्गत आवेदन देने वालों के पास बीपीएल कार्ड का होना अनिवार्य है.
  • आवेदक के पास आय प्रमाण पत्र होने की आवश्यकता है. इस योजना का लाभ केवल गरीब उठा सकते हैं, अतः इस योजना के अंतर्गत आवेदक को रजिस्ट्रेशन फॉर्म के साथ इनकम सर्टिफिकेट देने की आवश्यकता अनिवार्य है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के नियम (rashtriya swasthya bima yojana rules) :

बीमा योजना के मुख्य विशेषताओं का वर्णन नीचे किया जा रह है.

  • पैसों की सीमा: इस योजना के अनुसार सरकार पंजीकृत व्यक्ति के परिवार के पांच लोगों को रू 30,000 तक का मेडिकल इन्शुरेंस सहायता देगी. इसके ऊपर मरीज को खुद से ही खर्च करना होगा.
  • बीमा का समयकाल : यह इन्शुरेंस राशि एक वर्ष के लिए मान्य होगी. यदि कोई लाभार्थी एक वर्ष के बाद पुनः लाभ प्राप्त करना चाहता है, तो उसे पुनः अपने स्मार्ट कार्ड को रिन्यू कराने की आवश्यकता होती है.
  • कार्ड रिन्यू कराने की आवश्यक राशि : स्मार्ट कार्ड को रिन्यू कराने के लिए आवेदक को 30 रूपए जमा कराने होते है. इस राशि को जानबूझकर ही काम रखा गया है जिससे गरीब को कोई दिक्कत ना हो.
  • भुगतान का तरीका : इस योजना के अंतर्गत सरकार भुगतान के लिए पैसे कैश के रूप में नहीं देगी बल्कि सारा लेनदेन बैंक अकाउंट के जरिये होगा. अतः आवेदक के पास बैंक अकाउंट का होना अनिवार्य है. सरकार सबसे पहले राशि बीमा अकाउंट में देगी. इसके बाद इन्सुरेंस कंपनी किसी भी लाभार्थी के द्वारा प्रयोग किये गये अस्पताल में मेडिकल बिल का भुगतान करेगी.
  • प्रीमियम अमाउंट : इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को वार्षिक तौर पर प्रीमियम अमाउंट जमा कराने की आवश्यकता होती है. आवेदक को सालाना तौर पर रू 750 जमा कराना होता है. हालाँकि यह प्रीमियम अमाउंट का भार लाभार्थी पर नहीं जाता क्योंकि इसका 25% हिस्सा राज्य सरकार और 75% हिस्सा केंद्र सरकार के द्वारा भुगतान किया जाता है.
  • यदि किसी भी व्यक्ति को आपातकाल में इलाज की आवश्यकता होती है, तो इसके लिए यह योजना एक बहुत ही महत्वपूर्ण है. इसका कारण यह है कि सरकार के द्वारा जारी कार्ड का प्रयोग करके बिना कैश के इलाज कराया जा सकेगा. अतः यह सिस्टम पूरी तरह से कैशलेस है.

पंजीकरण फॉर्म की प्राप्ति (Rashtriya swasthya bima yojana application form)

गरीबी रेखा से नीचे तथा ऊपर भी साक्षरता की कमी होने की वजह से सरकार ने इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण की प्रक्रिया ऑफलाइन ही रखी है. आवेदक किसी भी एनरोलमेंट केंद्र में जा कर इस योजना का फॉर्म प्राप्त कर सकता है. एक बार फॉर्म पूरी तरह से भर जाने पर सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ फॉर्म जमा कराने की आवश्यकता होती है. फॉर्म जमा भी पंजीकरण केंद्र में ही होता है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत पंजीकरण कैसे कराएं: (How to apply for rashtriya swasthya bima yojana)

  • सरकार योजना के अंतर्गत लाभ प्रदान करने से पहले उन सभी आवेदकों की सूची तैयार कराएगी, जो इस योजना के अंतर्गत सच में लाभ प्राप्त करने के लायक है. एक बार लिस्ट बन जाने के बाद यह उन बीमा पालिसी के ऑफिस पहुंचा दिया जायेगा, जिसे सरकार ने योजना के अंतर्गत चुना है.
  • इसके बाद सभी पालिसी एजेंट इन गरीबी रेखा के नीचे के लोगों के घर जायेंगे और उन्हें इस पालिसी के अंतर्गत पंजीकरण कराने के लिए प्रोत्साहित करेंगे. इसके बाद उन लोगों की एक सूची बनाई जायेगी जो इस योजना के अंतर्गत लाभ उठाना चाहते हैं.
  • इसके उपरान्त एक दिन सभी इच्छुक आवेदकों को पंजीकरण केंद्र बुलाया जायेगा. इस समय सभी आवेदकों को उनके राशन कार्ड दिखाने होंगे. इसके बाद आवेदकों को अपने सभी बायोमेट्रिक डिटेल देने की आवश्यकता होती है.
  • एक बार सभी बायोमेट्रिक डिटेल जमा करा देने पर सरकार के प्रतिनिधि इन्हें हेल्थ पालिसी कार्ड प्रिंट करा कर दे देते हैं. किसी भी आवेदक को इस कार्ड के लिए 30 रुपए देने की आवश्यकता होगी, जिसके अन्दर समस्त बायोमेट्रिक डिटेल जमा होंगे. यह सभी प्रक्रिया अधिकतम 20 मिनट में पूरी हो जाएगी, अतः आवेदक को प्रतीक्षा करने की जरूरत नहीं है.  

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना स्मार्ट कार्ड क्या है: (Rashtriya swasthya bima yojana smart card)

केंद्र सरकार ने इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण कराने वाले लोगों को स्मार्ट कार्ड देने की योजना बनायी है. यह एक तरह का पहचान पत्र होगा, जिसके प्रयोग से लोग मेडिकल बीमा पॉलिसी का लाभ उठा पायेंगे. इस कार्ड में एक चिप लगा हुआ होता हैं, जो किसी परिवार के सभी तरह की जानकारी को अपने अन्दर समाहित रखता है.

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड का लाभ (smart card benefits)

इस कार्ड का प्रयोग लाभार्थी अस्पताल में इलाज कराने के दौरान कर पायेगा. इस कार्ड के जरिये अस्पताल और बीमा कंपनी दोनों को लाभार्थी सम्बंधित समस्त जानकारी हासिल करने में मदद प्राप्त होगी. इस कार्ड को प्रत्येक वर्ष रिन्यू कराने की आवश्यकता होगी.

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड कैसे प्राप्त करें (how to get  smart card)

इस योजना के अंतर्गत एक बार आवेदन फॉर्म जमा करने पर यह विभिन्न आवश्यक डिपार्टमेंट में भेजा जाता है. इसके बाद सरकार के प्रतिनिधि इन दस्तावेजों को प्रिंटिंग मशीन में डाल कर प्रिंट कर के कार्ड बनायेंगे. यही कार्ड लाभार्थी को दिया जाएगा.

  • कार्ड खो जाने पर (How to get duplicate RSBY card):

एक बार कार्ड खो जाने पर यह कार्ड पुनः प्राप्त किया जा सकता है. सरकार के पास आवेदकों के सभी बायोमेट्रिक डेटा जमा ही रहेंगे. आप किसी पंजीकरण केंद्र में संपर्क करके नया कार्ड प्राप्त कर सकते हैं.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड की जांच प्रक्रिया (RSBY card verification)

एक परिवार को केवल एक कार्ड प्राप्त होगा. यह कार्ड उस आदमी के नाम पर होगा, जिसने आवेदन दिया था. परिवार के किसी व्यक्ति के अस्पताल में भर्ती हो जाने के बाद हॉस्पिटल द्वारा इस कार्ड का परीक्षण होगा और लाभ प्रदान किया जायेगा.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना लाभ कैसे क्लेम करें: (How to claim rashtriya swasthya bima yojana in hindi)

इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी निम्नलिखित तरह से लाभ क्लेम कर सकता है,

  • इस योजना के अंतर्गत लाभ क्लेम करने की प्रक्रिया तेज और सरल है. यदि कार्ड धारक अथवा परिवार का कोई भी व्यक्ति हॉस्पिटल में भरती कराया जाता है, तो सबसे पहले इस कार्ड को हॉस्पिटल में दिखाने की आवश्यकता होती है.
  • हॉस्पिटल के अथॉरिटी द्वारा कार्ड लेकर डेटा स्कैन किया जाएगा. यदि सभी जानकारियां औपचारिक रूप से सही हुईं तो बेहद आसानी से हॉस्पिटल में इलाज प्राप्त होने में कोई समस्या नहीं आएगी.
  • हॉस्पिटल खुद ही रोगी संबंधी सभी आवश्यक दस्तावेज इन्शुरेंस कंपनी को भेज देता है. इन्शुरेंस कंपनी के अफसर दस्तावेजों की जांच के बाद तुरंत ही अस्पताल को पैसे भेज देते है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का बजट (Rashtriya swasthya bima yojana budget) :

इस योजना की सफलता के लिए काफी अधिक बजट की आवश्यकता होती है. वर्ष 2012- 13 के दौरान इस योजना के लिए कुल 1100 करोड़ की राशि तय की गईं थी. इस योजना में यह पाया गया है कि योजना की सफलता के लिए लगभग 3,300 करोड़ रूपए की आवश्यकता पड़ने वाली है. ताकि सभी जरुरत मंदों को  इस योजना का लाभ दिया जा सके.  

अन्य पढ़े:

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

3 comments

  1. योजना निश्चित रूप से बहुत लाभकारी है, यदि इसकी जागरूकता अभियान चलाने का फैसला सरकार द्वारा, आंगनबाड़ी केंद्र और अन्य सरकारी संगठन/संस्थान के माध्यम से किया जाना सुनिश्चित करें

  2. Really Helpful & nice info. Aaapka Bahut Bahut Dhanyawaad..

  3. rsby योजना का काम लेने के लिये ओर जानकारी पाने के लिये कहा सम्पर्क करे
    Sir
    mo. 09981854434

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *