ताज़ा खबर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम की जानकारी | Royal Challengers Bangalore team Squad information in hindi

Royal Challengers Bangalore team Squad information in hindi यह टीम कर्नाटक और बैंगलोर में स्थित एक फ्रेंचाइज टीम है इसको रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के नाम से जाना जाता है. संक्षिप्त में इसे आरसीबी भी कहते है. यह टीम आईपीएल में खेलती है आईपीएल अर्थात इंडियन प्रीमियर लीग. रॉयल चैलेंजर्स का घरेलु मैदान एम चिन्नास्वामी स्टेडियम है जो कि बैंगलोर में स्थित है. इस टीम की अगुयाई अर्थात इसकी कप्तानी विराट कोहली करते है. टीम को अच्छे प्रशिक्षण की जरुरत पड़ती है इस टीम के प्रशिक्षक अर्थात कोच डैनिएल वेटोरी है. आईपीएल हर वर्ष होता है यह 20 ओवर का खेल होता है.

Royal Challengers Bangalore RCB Team Squad 2015 In Hindi

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम आईपीएल (Royal Challengers Bangalore team IPL)

टीम को जानने से पहले इसके फ्रैंचाइज़ी इतिहास के बारे में जानना आवश्यक है क्योंकि इसके बिना हम आईपीएल को अच्छी तरह से समझ नहीं पाएंगे. आईपीएल अर्थात इंडियन प्रीमियर लीग एक टूर्नामेंट है जो भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा आयोजित किया जाता है, और इसको चलने में इसका साथ देते है अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल. 2008 में इस तरह के टूर्नामेंट की शुरुआत हुई. अप्रैल से जून तक बीसीसीआई ने 8 क्रिकेट टीमों की सूची बनाई, जिसमे बैंगलोर सहित भारत के अलग अलग शहरों के नाम पर टीम को बना कर अंतिम रूप दिया गया. इन टीमों को 20 फ़रवरी 2008 को मुम्बई में नीलामी के लिए प्रस्तावित किया गया था. बैंगलोर की टीम को विजय माल्या ने 111.9 मिलियन डॉलर की बोली लगा कर इसको ख़रीदा था. यह बोली आईपीएल टीम को खरीदने वाली दूसरी सबसे बड़ी बोली थी. सबसे बड़ी बोली मुम्बई इंडियन्स की टीम के लिए लगी थी, जिसको रिलायन्स इंडस्ट्रीज ने 111.9 मिलियन डॉलर की बोली लगाकर ख़रीदा था.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम का इतिहास (Royal Challengers Bangalore team history in hindi)

आईपीएल में टीम का सफर 2008 से शुरू होकर अभी तक जारी है. उनके सफ़र का विवरण निम्नलिखित है –

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2008 में (Royal Challengers Bangalore team 2008)

20 फ़रवरी 2008 को जब टीमों की नीलामी हुई थी तब एक मात्र राहुल द्रविड़ ही ऐसे खिलाड़ी थे, जिनकी बोली सबसे ज्यादा की लगी थी. दक्षिण अफ्रीका के जैक कैलिस को रॉयल चैलेंजर ने 900000 डॉलर का भुगतान कर ख़रीदा था और राहुल द्रविड़ को आईकॉन प्लयेर के रूप में 1035000 डॉलर की बोली लगी थी. इनके अलावा इस टीम में अनिल कुंबले जो की उस वक्त भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान थे उनका भी चयन हुआ था. इसके साथ ही प्रवीण कुमार, जहीर खान वेस्ट इंडीज के शिवनरायण चंद्रपाल ऑस्ट्रेलिया के नाथन ब्रेकन और कैमरन व्हाईट, दक्षिण अफ्रीका के मार्क बाउचर और डेल स्टेन भी इसमें शामिल है. इसके अलावा पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के उप कप्तान मिस्बौल हक़ भी इस टीम में शामिल थे लेकिन वो अधिकांशतः इस टीम में अपना योगदान नहीं दे पाए.

टीम सिर्फ़ 4 सीजन के लिए ही खेल पाई जिनमे से 10 मैच वो हार गई थी और नीचे की श्रेणी से दुसरे नम्बर की टीम रही थी. राहुल द्रविड़ ने कुल मैच में 300 रन बनाये थे केवल एक वो ही ऐसे खिलाडी थे जो थोडा बहुत खेल भी पाए थे. जैक कैल्लिस ने जब कुछ मैच में टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन नहीं किया तो उनको फिर चारू शर्मा द्वारा निकाल दिया गया, जोकि उस वक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी थी. फिर उनके जगह पर ब्रिजेश पटेल को टीम में जगह मिल गई. उस वक्त टीम खेल से ज्यादा अपने विवादों के लिए चर्चित रही. इस टीम के कोच वेंकटेश प्रसाद को भी बर्खास्त कर दिया गया था, क्योंकि वो कथित तौर पर टीम के विरोधी गतिविधियों में शामिल थे. विजय माल्या ने सार्वजनिक तौर पर टीम के हार का ठीकरा राहुल द्रविड़ और कोच वेंकटेश प्रसाद पे फोड़ा. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने सही खिलाडियों का चयन नहीं किया. इस तरह के वक्तव्य के बाद टीम के क्रिकेट अधिकारी मार्टिन क्रोवे ने इस्तीफ़ा दे दिया. उसके बाद 2009 से आईपीएल सीजन के लिए दक्षिण अफ्रीका के कोच रॉय जेंनिंग्स को चुन लिया गया.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2009 में (Royal Challengers Bangalore team 2009)

2009 के सीजन मे सबसे महंगे खिलाडी रहे रॉयल चैलेंजर्स टीम के केविन पीटरसन, जिनकी कीमत 1.55 डॉलर से अधिक की लगी थी. फिर टीम ने रोब्बिन उत्थपा, मनीष पाण्डेय, पंकज सिह, डीलयान डू परिज को भी ख़रीदा, जोकि किसी और टीम से पहले सीजन में जुड़े हुए थे. विजय माल्या ने बैंगलोर रॉयल चैलंजेर्स के लिए अपने खजाने को खोल दिया था वो किसी भी तरह से अपने टीम को मजबूत करना चाहते थे. 2009 में विजय माल्या ने कहा कि राहुल द्रविड़ की जगह केविन पीटरसन कप्तानी की कमाल सम्भाल लेंगे. लेकिन टीम सीजन 2 के लिए इस टीम के कप्तान बने अनिल कुम्बले और उनकी कप्तानी में टीम ने सफल भूमिका भी निभाई. इस टीम ने जीत के साथ अपने खेल की पारी की शुरुआत की और उन्होंने राजस्थान रॉयल्स को हरा कर जीत का स्वाद सीजन 2 के लिए चखा. इस टीम का हर एक खिलाडी अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे थे, जिसमे मनीष पांडे ने बहुत अच्छी कोशिश की. 73 बॉल में 114 रन बनाकर उन्होंने इपोल में एक नया मुकाम गढ़ दिया.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2010 में (Royal Challengers Bangalore team 2010)

2009 से 2010 में चैलेंजर्स ने आईपीएल का मिश्रित स्वाद चख लिया था. तीसरे सीजन में अंग्रेज खिलाड़ी एओइन मॉर्गन को 220.000 डॉलर के रूप में भुगतान कर टीम के लिये ख़रीदा गया. इस वक्त अनिल कुंबले कप्तान थे इस टीम ने पुरे इस सीजन में 35 मैच खेले जिनमे उन्होंने 19 मैच जीते और 16 मैच हार गए. 2008-2009 में कोच वेंकटेश प्रसाद थे. फिर उसके बाद 2011 से 2013 में भी वही टीम के कोच पद पर रहे. 2010 में यह टीम सेमी फाइनलिस्ट भी रही है.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2011 में (Royal Challengers Bangalore team 2011)

2011 में जब नीलामी हो रही थी तब शासी परिषद् ने आईपीएल की टीम के लिए ये शर्त रखी, कि हर टीम अपने चार बड़े खिलाडी को 4.5 मिलियन डॉलर चुकता करके रख सकती है. लेकिन रॉयल चैलेंजर्स ने सिर्फ अपने एक खिलाडी को छोड़ कर बाकि सब की नीलामी होने दी. ऐसा करके बाद में उसने अपने सभी खिलाडियों को खो दिया. बाद में फिर आरसीबी ने श्री लंका के तिलकरतने दिलशान के लिए 650000 डॉलर की बोली लगा कर खरीद लिया. फिर जहीर खान को 900000, नेदरलैंड्स के रयान टेन दोएस्चाते को 400000 में, इसके साथ सौरभ तिवारी को भी 1.6 मिलियन डॉलर की एक भरी कीमत के साथ खरीद लिया. बाकि के खिलाडी जैसे की चितेश्वर पुजारा ऑस्ट्रेलिया के डेनियल नन्नेस की भी खरीदारी इस टीम ने की. न्यूजीलैंड के कप्तान डेनिअल विटोरी के लिए 550000 डॉलर की कीमत चुकाई ये चोटिल हो गये. उसके बाद इनकी जगह पर क्रिस गेल को लाया गया था जो टीम के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हुए, उन्होंने कोलकाता नाईट राइडर्स के विरोध में 49 गेंदों पर 107 रन बनाकर टीम को जीत दिलाने में कामयाब रहे.

2011 में टीम ने अच्छी शुरुआत करते हुए नई टीम कोच्ची तुकेर्स केरला को हराया, लेकिन फिर उसके बाद तीन बड़ी टीमों से उसका सामना हुआ जिसमे शामिल है मुंबई इंडियन्स, डेक्कन चार्जर्स और चेन्नई सुपर किंग से उसे हार का सामना करना पड़ा. लेकिन क्रिस गेल की वजह से जब टीम केकेआर के खिलाफ जीती तो फिर टीम में नई जान आ गयी और उसने कोच्ची और राजस्थान को हरा दिया. इस तरह से आरसीबी हार जीत का सामना करते हुए वह सेमिफाईनल तक पहूँच गयी. 2011-2012 में 28 मैच हुए जिसमें से 15 मैच आरसीबी ने जीता और 10 मैच को हार गया.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2012 में (Royal Challengers Bangalore team 2012)

2012 में टीम के मुथैया मुरलीधरन और एबी डिविलियर्स ने दिल्ली के खिलाफ जीत हासिल कर पाचवें सीजन की अच्छी शुरुआत की. इस टीम की फाइनल प्ले ऑफ़ स्लॉट के लिए चेन्नई के साथ प्रतियोगिता की. यह टीम रन रेट में भी चेन्नई के साथ बनी हुई थी, लेकिन हैदराबाद से मिली हार ने इस टीम के फाइनल मे जाने के सपने को इस सीजन में तोड़ दिया था. 2013 में आरसीबी की टीम कुछ अच्छा नहीं कर पाई लेकिन क्रिस गेल का बल्ला इस सीजन में भी आरसीबी के लिए चलता रहा.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2014 में (Royal Challengers Bangalore team 2014)

2014 के सीजन में भी आर सी बी ने क्रिस गेल और विराट कोहली को अपने टीम में बनाये रखा.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2015 में (Royal Challengers Bangalore team 2015)

2015 के सीजन में भी बहुत ज्यादा बदलाव न करते हुए अपने ज्यादतर खिलाडियों पर भरोसा जताया, आरसीबी ने इस सीजन में राजस्थान रॉयल्स को हरा कर क्वालीफायर 2 के लिए अपना स्थान सुरक्षित कर लिया. लेकिन अफ़सोस वह क्वालीफायर में चेन्नई सुपर किंग्स से हार गयी.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2016 में (Royal Challengers Bangalore team 2016)

2016 में टीम के मालिक विजय माल्या का नाम घोटाले में आने की वजह से अमृत थौमस को आरसीबी का अध्यक्ष बनाया गया. इस सीजन में इस टीम ने बहुत अच्छा प्रदर्शन प्रदान करते हुए गुजरात लायन्स को हरा कर फाइनल में अपनी जगह बनाई, लेकिन फिर बाद में उसे सनराइजर्स से हार का सामना करना पड़ा. आरसीबी फाइनल में पहुचने के बाद यह उसकी तीसरी सबसे बड़ी हार थी.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम सन 2017 में (Royal Challengers Bangalore team 2017)     

आईपीएल 2017 में पांचवे मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने दिल्ली डेयर डेविल्स को 15 रनों से हराया.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम की कप्तानी (Royal Challengers Bangalore team captain)

इस टीम की कप्तानी इस बार भी विराट कोहली ही संभाल रहे है. सीजन 10 में इस टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपने आप को बहुत ही अच्छे ढंग से बेहतरीन पारी खेलते हुए ये साबित कर दिया है, कि टी 20 में वो कितने सफल बल्लेबाज है. उनका सबसे ज्यादा रन 113 है और स्ट्राइक रन रेट 152.03 है. इसके साथ ही 16 इनिंग्स में उन्होंने 973 रन बनाये है.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम के मालिक (Royal Challengers Bangalore team owner)

रॉयल चैलेंजर्स के मालिक यूनाइटेड स्पिरिट्स है. यह किंग फिशर की सहयोगी है. 2016 से किंगफ़िशर के साथ यूनाइटेड स्पिरिट, हीरो साईकल, ब्रितानिया, एसर, हिमालया इत्यादि कंपनियों ने मिल कर आईपीएल आरसीबी टीम के लिए किट तैयार की. चुकि विजय माल्या अभी वितीय विवाद को लेकर देश से बाहर है, तो उनकी सहयोगी यूनाइटेड स्पिरिटस ने इस टीम को आगे बढ़ाने का काम किया है.

आईपीएल सीजन 10 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाडी (Royal Challengers Bangalore team 2017 players)

विराट कोहली बल्लेबाज
सचिन बेबी बल्लेबाज
हर्शल पटेल गेंदबाज
केदार जाधव बल्लेबाज
मंदीप सिंह बल्लेबाज
पवन नेगी आल राउंडर
श्रीनाथ अरविंद गेंदबाज
शेन वास्टसन आल राउंडर
ए बी दे विल्लेर्स बल्लेबाज
त्रविस हेड विकेट कीपर
प्रवीन दुबे आल राउंडर
के एल राहुल विकेट कीपर
अनिकेत चौधरी गेंदबाज
स्टुअर्ट बिन्नी आल राउंडर
युज्वेंद्र चहल गेंदबाज
इकबाल अब्दुल्ला आल राउंडर
तबरेज़ शम्सी गेंदबाज
आदम मिलने गेंदबाज
क्रिस गेल आल राउंडर
त्यमल मिल्स गेंदबाज
सामुएल बद्री गेंदबाज
बील्ली स्तान्लाके गेंदबाज
अवेश  खान गेंदबाज
सरफ़राज़  खान आल राउंडर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम का रिकॉर्ड (Royal Challengers Bangalore team 2017 record)

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने कई रिकॉर्ड बनाये है जो निम्न प्रकार से है-

  • यह टीम पहली ऐसी टीम है जिसने आईपीएल के इतिहास में सबसे बड़े रन जोकि उन्हें पुणे द्वारा मिला था उसका पीछा करते हुए जीत हासिल की थी. इस टीम ने 2013 में पुणे वार्रियर के 263/5 के रन को बीट किया था.
  • दूसरा रिकॉर्ड इस टीम के खिलाडी क्रिस गेल द्वारा 66 बॉल्स में 175 रन बनाने का था.
  • क्रिस गेल के ही नाम एक और रिकॉर्ड है, वे आईपीएल में 30 बॉल में सेंचुरी बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए.
  • इस टीम का सबसे बड़ा रिकॉर्ड यह है कि यह टीम आईपीएल के लिए खरीदी गयी दूसरी सबसे बड़ी टीम थी, इसको खरीदने के लिए 111.3 मिलियन डॉलर चुकाया गया था.
  • विराट कोहली जोकि आईपीएल टीम के सबसे महंगे खिलाडी थे, उनको इस टीम ने 15 करोड़ रूपए के सैलरी देकर खरीद लिया.
  • इस टीम के खिलाडी विराट कोहली और ए बी डे विल्लिएर्स द्वारा 2015 में सबसे ज्यादा साझेदारी में रन 215 बनाने का रिकॉर्ड है.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम की विशेष बातें (Royal Challengers Bangalore team facts)

2016 में यह टीम फ़ाइनल तक गई लेकिन सनराईजेर्स हैदराबाद की टीम से इनको हार का सामना करना पड़ा. टीम की सबसे बड़ी विशेष बात यह है कि इसके प्रसंशकों की संख्या बहुत ज्यादा है खास कर बैंगलोर के वफादार प्रसंशक. यह टीम जब भी अपने घरेलू मैदान में उतरती तो खुशी से प्रसंशक आरसीबी के नारे लगाने लगते है. वहा के लोगों ने इस टीम को एक उपनाम भी दिया है बंगायेल ओरे. कभी कभी टीम के संस्थापकों द्वारा प्रसंशकों को टीम को चियर्स करने के लिए कीट भी मुहैया कराया जाता है. टीम ने कभी भी अपने खेल से लोगों का मनोरंजन ही किया है.

टीम की खास बात यह भी रही है कि इस टीम ने आईपीएल में 124 मैच खेले है जिनमे से 60 इन्होने जीता है और 59 हारा है. तथा 5 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला. सबसे अच्छा यह टीम दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेली है. उनके साथ 15 मैच हुए है जिनमे टीम ने 8 में जीत दर्ज कराई है और 5 हारे है, इसके साथ ही 2 के नतीजे नहीं आ पाए. ये टीम चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ भी अच्छा खेली है. इस टीम का सबसे अच्छा प्रदर्शन 2009 और 2011 में रहा है. यह टीम इन सालों में दूसरी विजेता टीम के रूप में अपना नाम दर्ज करा चुकी थी.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम की जर्सी (Royal Challengers Bangalore team jersey)

2008 में टीम की जर्सी का रंग लाल और गोल्डन पीला रंग था, जोकि थोडा बहुत कन्नडा के झंडे से मिलता जुलता था. उसके ऊपर खिलाडियों का नाम सफ़ेद रंग में लिखा हुआ था और जर्सी के पीछे नम्बर को काले रंग से लिखा गया था. कुछ समय बाद पीले रंग को बदल कर सुनहरे पीले रंग में कर दिया गया था. जर्सी में हर सीजन में कुछ न कुछ बदलाव होते ही रहे है 2010 में जर्सी का रंग नीला कर दिया गया था. सबसे बड़ा बदलाव 2014 में हुआ जिसमे नीले रंग के ऊपर खिलाडियों का नाम और नम्बर सुनहरे रंग में अंकित था. फिर जर्सी का रंग दो रूपों में आने लगा घरेलु मैचों के लिए अलग और दुसरे मैचों के लिए अलग रखा गया, जिसमे काले रंग को शामिल किया गया. बहुत ही मशहुर कंपनी रिबोक ने 2008 से 2014 तक टीम के लिए कीट का निर्माण किया. 2015 में एडिडास ने कंपनी के लिए कीट का निर्माण किया, उसके बाद 2016 और 2017 में जेवेन कंपनी ने टीम का निर्माण किया.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम की लोगो (Royal Challengers Bangalore team logo)

विजय माल्या अपने सबसे ज्यादा बिकने वाले शराब के ब्रांडों में से किसी एक को टीम के नाम के साथ जोड़ना चाहते थे. अंततः रॉयल चैलेंज का नाम टीम के साथ जोड़ कर रॉयल चैलेंजर्स रखा गया. लोगो में आर सी को एक लाल घेरे में दिखाया गया है और यह अंग्रेजी के बड़े अछरों में पीले रंग से लिखा गया है, और किनारे वाले घेरों में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को काले रंग से लिखा गया है. घेरे के ऊपर बीच में शेर की गर्जना के साथ रॉयल चैलेंजर्स का मुकुट दिया हुआ है. 2009 मे लोगो में एक छोटा सा बदलाव हुआ जिसमे सोने जैसा जो पीला रंग होने के आलवा और कोई बदलाव नहीं हुआ. इस लोगो में लाल और पीले रंग के घेरे के बीच सफ़ेद रंग की बिंदी से भी घेरे बने हुए है. यह टीम का जब ग्रीन मैच होता है तब उसके लिए भी एक अस्थाई लोगो का भी इस्तेमाल करती है. जहा हरे पौधों से लिखे हुए भी चारों तरफ से हरे पौधे रहते थे. फिर लोगो को 2016 में हटा दिया गया.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम का गाना (Royal Challengers Bangalore team songs)

सबसे पहली बार जब यह टीम आईपीएल में 2008 में उतरी थी तब इसका गाना था ‘जीतेंगे हम शान से’. लेकिन टीम कुछ अच्छा नहीं कर पाई फिर 2009 में दुसरे सीजन के लिए गाना आया जिसको अमित त्रिवेदी ने कम्पोज किया था, और रेडियुजन्य एंड आर बैंगलोर के लिए अंशु शर्मा द्वारा लिखा गया था. वह गाना था ‘गेम फॉर मोर’. 2013 के लिए इसका गाना था ‘हियर वी गो द रॉयल चैलेंजर्स’ था. 2016 में टीम के लिए गाना था ‘प्ले बोल्ड रॉयल चैलेंजर्स’ को गाया गया.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम का एम्बेसडर (Royal Challengers Bangalore team ambassador)

2008 में कैटरीना कैफ़ को इस टीम का ब्रांड एम्बेसडर के रूप में रखा गया था, लेकिन फिल्मों में अधिक व्यस्तता के वजह से वो अपना ज्यादा समय नहीं दे पाई. शुरूआती सीजन में दीपिका पादुकोण, रम्या, पुनीत राजकुमार और उपेद्र भी इसके एम्बेसडर में शामिल थे.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम की आइडेंटिटी (Royal Challengers Bangalore team identity)

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम को सशक्त बनाने में जिनकी अहम् भूमिका रही है उनके वर्णन निम्नांकित है :

नाम भूमिका
यूनाइटेड स्पिरिट मालिक
डेनियल वेटोरी कोच
विराट कोहली कप्तान
अविनाश वैध टीम मैनेजेर
ब्रिजेश पटेल सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर
रुस्सेल्ल अडम्स वी पी वाणिज्यक संचालन और क्रिकेट अकादमी
भारत अरुण अस्सिस्टेंट कोच
अल्लान डोनाल्ड गेंदबाजी कोच
एवन स्पीच्ली फिजोथेरेपिस्ट
ट्रेंट वूधिल्ल बैटिंग कोच और फील्डिंग कोच
शंकर बासु स्ट्रेंग्थ और कंडीशनिंग कोच

अन्य पढ़े :

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

footballrules

फुटबॉल खेल का इतिहास व उसके नियम | Football history rules Facts in hindi

Football history rules in hindi फुटबॉल एक विश्वप्रसिद्ध खेल है. इसे कई देशों में बहुत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *