ताज़ा खबर
Home / वेडिंग स्पेशल / शादी की तैयारी कैसे करें | Shadi Taiyari Or Wedding Preparation Tips In Hindi

शादी की तैयारी कैसे करें | Shadi Taiyari Or Wedding Preparation Tips In Hindi

Shadi Taiyari Or Wedding Preparation Tips In Hindi शादी की तैयारी कैसे करें ? यह एक बहुत बड़ा चिंता का विषय हैं और इसकी चिंता वही समझ सकता हैं जिसके घर में आज से एक महीने बाद शादी हो लेकिन ऐसी चिंताओं का समाधान ही तो आज कल इंटरनेट पर मिलने लगा हैं इसलिए आज इस आर्टिकल में जरिये हम आपको बताते हैं कि शादी की तैयारी कैसे करें ?

shadi ki taiyari kaise karen wedding preparation tips hindi

शादी की तैयारी कैसे करें

Shadi Taiyari Or Wedding Preparation Tips In Hindi

शादी के लिए लड़का एवम लड़की के राजी हो जाने पर शादी की तैयारी का टेंशन सर पर आ जाता हैं नीचे शुरू से आखरी तक कैसे शादी की तैयारी करना चाहिए उसके विषय में जरुरी पॉइंट लिखे गये हैं जो दोनों पक्षो पर लागु किये जा सकते हैं |

  • शादी का बजट तैयार करें :

आज के समय में शादी एक सबसे बड़ा खर्चा मानी जाती हैं इसलिए सबसे पहले शादी का एक रफ बजट जरुर तैयार करे | किस चीज में कितना खर्च करना चाहते हैं इसका एक मोटा सा हिसाब नोट करके रखे | खासतौर पर तीन अहम् बजट

  1. शादी की पार्टी का खर्च
  2. गहने एवम कपड़ो का खर्च
  3. देने वाले गिफ्ट्स का खर्च
  • शादी का टाइप तय करें (Shadi Time):

आप किस रीती रिवाज से शादी करेंगे | अपनी कास्ट के हिसाब से शादी की रित का पता करें और उसके हिसाब से शादी के सभी फंक्शन कितने दिनों में होने हैं | यह तय करें |उदाहरण के लिए शादी या तो दो दिनों का फंक्शन होती हैं या पांच दिनों का | यह तय करना आपके उपर निर्भर करता हैं इसलिए सबसे पहले आपको दिनों का चुनाव करना चाहिए |

  • शादी की तारीख तय करे (Shaadi Date):
  1. अगर आपके घर में शादी मुहूर्त के हिसाब से होती हैं तो सबसे पहले अपने पंडित को बुलाकर शादी की तारीख तय करें |
  2. अगर आप मुहूर्त में विश्वास नहीं करते हैं तो अपनी सौहालियत के मुताबिक तारीख तय करें |
  • वेन्यु / शादी हॉल / गार्डन तय करें (Shadi Venue):

शादी की तारीख तय होते ही कितने दिन का फंक्शन होना हैं, उस हिसाब से जल्द से जल्द एक अच्छा वेन्यु / शादी हॉल / गार्डन तय करें | इसमें देरी ना करें वरना मन मुताबिक जगह ना मिलने से शादी की हर तैयारी फीकी सी लगती हैं |

  • गेस्ट / मेहमान की लिस्ट बनाये (Guest List):

मेहमानों की लिस्ट बनाये और शहर के बाहर से आने वाले मेहमानों को सबसे पहले फोन से सूचित करे | और उन्हें अपने टिकट बुक करने के लिए कहे | साथ ही उनसे उनके आने एवं जाने की तारीख और समय भी पुछले | यह पूछने में शर्म महसूस न करे क्यूंकि यह आपके मेहमानों की सुविधा के लिए महत्वपूर्ण हैं | उसके हिसाब से उनके रुकने की उचित व्यवस्था करें क्यूंकि शादी के दिनों में आसानी से होटल या धर्मशाला नहीं मिलती | इसलिए इसकी बुकिंग शादी के लगभग दो महीने पहले से ही कर दे |

  • ट्रेन/ बस / एयर बुकिंग अथवा अन्य साधन बुकिंग :

अगर आपको बारात लेकर जाना हैं तो ट्रेन / बस/ एयर टिकट बुकिंग करवाये शादी के समय में बहुत भीड़ होने कारण कंफर्म टिकट मिलना मुश्किल हैं |इसके अलावा अगर आपको बस, कार आदि से जाना हैं तो उसकी बुकिंग भी टाइम पर करें |

  • शॉपिंग की तैयारी (Shopping Preparation)

सबसे पहले लिस्ट बनाये जिसमे

  1. मेहमानों को देने वाले गिफ्ट की लिस्ट बनाये और उसके हिसाब से उन्हें लेना शुरू करें |
  2. स्वयं के कपड़ो की लिस्ट बनाये | कब क्या पहनना हैं और कितने ड्रेस आपको चाहिए क्यूंकि कपड़ो को सिलवाना हैं तो उसमे काफी टाइम लग सकता हैं इसलिए यह सब पहले से ही सोचे लगभग 1 से दो महीने पहले | अपने बजट के मुताबिक इसका चुनाव करें इससे फिजूल खर्च नहीं होगा |
  • शादी पार्टी मेन्यु (Shadi Party Menu):

‘यह भी एक महत्वपूर्ण कार्य हैं जिसमे आपको सबसे पहले यह तय करना होगा कि आपको कितने दिनों के लिये खाना बनवाना हैं और उसमे कितने टाइम का भोजन एवम नाश्ता देना हैं | उसके हिसाब से ही मेन्यु लिस्ट तैयार करें |साथ ही मौसम का भी ध्यान रखे | गर्मी के मौसम का मेन्यु एवम ठंड के मौसम के मेन्यु में बहुत अंतर होता हैं उसे ध्यान में रखकर ही लिस्ट बनाये |

विशेष नोट : भोजन उचित मात्रा में बनवाये | अगर फिर भी मात्रा अधिक हैं तो उसे फेंके नहीं, पहले से ही भोजन ले जाने वाली संस्था से कांटेक्ट बनाकर रखे | आपके इस कार्य से भोजन व्यर्थ न होकर जरुरतमंदों के पास पहुंचेगा |

  • शादी के कार्ड  (Shadi Card):

शादी से दो महीने पूर्व कार्ड तैयार करवा ले और पोस्ट से भेजने वाले कार्ड तुरंत भेज दे लेकिन शहर के बाहर के मेहमानों को फोन अथवा मेल द्वारा इन्फॉर्म जरुर करें | कार्ड की सॉफ्ट कॉपी सभी को मेल के जरिये भेजे क्यूंकि कार्ड टाइम पर मिले या नहीं इसकी जिम्मेदारी कोई नहीं ले सकता | अतः याद से बाहर के मेहमानों को फोन अथवा इ मेल जरुर करें |

शहर के मेहमानों को भी शादी के पन्द्रह दिन पूर्व तक कार्ड देने की प्रक्रिया खत्म कर दे अर्थात शादी के एक महीने पहले से ही कार्ड बांटना शुरू कर दे | यह कार्य बाँट ले आपके घर के अन्य सदस्यों को भी इस कार्य में शामिल करे अथवा किसी बाहरी व्यक्ति को  इस काम के लिए चुन सकते हैं | इसमें आप उस व्यक्ति के द्वारा कार्ड भेजे और बदले में खुद अपने गेस्ट से फोन पर सम्पर्क करके उन्हें इनवाईट करें इससे आपका समय बचेगा और फोन कॉल करने से गेस्ट को भी बुरा नहीं लगेगा |

यह सभी कार्य शादी के पन्द्रह दिन पहले ख़त्म हो जाना चाहिये | इसके बाद वे कार्य जिन्हें आप शादी की तारीख के नजदीक आने पर करेंगे |

  • शादी के सभी कार्यों को बाँट ले | एक सूचि में यह लिखे कि कौन सी जिम्मेदारी किस व्यक्ति को दी हैं और समय-समय पर उस व्यक्ति से जिम्मेदारी के बारे में पूछे और उन्हें याद दिलायें |
  • गेस्ट की रफ लिस्ट बनाकर रफ कॉपी में उनके रहने की व्यवस्था को तय करें अर्थात आपके पास कितने कमरे हैं, या किस जगह आपको उन्हें ठहराना हैं | उस जगह से आपके शादी का वेन्यु कितना दूर हैं | उसमे कितने लोग रुक सकते हैं | यह सब तय करके अलॉटमेंट लिस्ट बनाये |
  • बाहर से आने वाले गेस्ट से संपर्क करके तय करें कि वो किस दिन, कितने बजे आयेंगे| उसी के हिसाब से उन्हें रिसीव करने की उचित व्यवस्था करे | यह कार्य किसी विश्वसनीय को सौंपे लेकिन समय पर याद दिलाने का कार्य खुद करें |
  • शादी में पूजा संबंधी सभी सामग्री तैयार करके एक साथ पैक करे | शादी की पूरी रित पता करे | उसे एक जगह क्रमशः नोट करें और उसके हिसाब से उनका समय निर्धारित करे कि किस दिन कौनसी रित कितने बजे होनी हैं और उसमे कौनसी सामग्री लगेगी साथ ही उस रित में कौन से सदस्यों का होना जरुरी हैं | इन सभी बातों की लिस्ट तैयार करें और सामान को उसी तरह से अलग- अलग फंक्शन के हिसाब से पैक करे | साथ ही रित में लगने वाले अहम् सदस्यों को सूचित जरुर करें कि उन्हें कितने बजे किस रित में शामिल होना जरुरी हैं |
  • शादी के समय जब आप पूजा में बैठ चुके हैं तब आपको सामान लेने में असुविधा ना हो इसलिए हर एक पैकिंग के उपर एक लिस्ट लगाये जिसमे रस्म का नाम एवम उसमे लगने वाली सामग्री की लिस्ट लगी हो |इससे आपको कुछ भी याद रखने की जरुरत नहीं पड़ेगी एवम कार्य भी आसानी से हो जायेगा | लिस्ट के होने से उसे कोई भी आसनी से ढूंढ सकेगा |
  • शादी के एक हफ्ते पूर्व ही अपना एवम सभी परिवारजनों का बेग तैयार कर ले | किस रस्म में कब क्या पहनना हैं उसे उसका ध्यान रखते हुए पैकिंग करें | सभी सामग्री एक बेग में इकट्ठा कर ले |
  • शादी की सभी रस्मो की लिस्ट बनाकर उसमे समय नोट करके उसकी कुछ प्रति बनाकर उसे उस स्थान पर लगाये जहाँ रस्मे होनी हैं | इससे क्रम में गड़बड़ नहीं होगी साथ ही समय लिखा होने पर सभी को समय का पता होगा जिससे रस्म समय पर शुरू हो सके |
  • शादी के दिन में सभी खास परिवार जनो को गेस्ट को अटेंड करने का काम पहले ही सौंप दे उनके रहने के हिसाब से उन्हें कहाँ भेजना हैं कितने बजे भोजन एवम ब्रेक फ़ास्ट, चाय आदि की व्यवस्था हैं यह सब जानकारी अपने मेहमानों को जरुर दे | शादी में मेहमानों का ध्यान रखना भी अहम् हैं यह जीवन भर का आपका व्यक्तित्व तय करता हैं |
  • शादी की प्रत्येक रस्म के लिए 10 मिनिट पूर्व खुद तैयार रहे तब ही यह उम्मीद आप अपने मेहमानों से कर पाएंगे | सभी कार्य समय पर करेंगे तो आपको पूरी शादी में बहुत आनंद आएगा |
  • शादी में दूल्हा एवम दुल्हन की सभी तैयारी ध्यान से करें | उनका बेग तैयार कर सभी सामग्री उसमे रखे जिससे कुछ छूटे नहीं | यह कार्य शादी के पन्द्रह दिन पूर्व से करें |
  • शादी में बारात के स्वागत की तैयारी की जिम्म्मेदारी जिसे दी हैं उससे पूरी जानकारी ले स्वयं दो दिन पूर्व सभी जानकारी का अवलोकन करें |
  • शादी के गिफ्ट्स एवम लिफाफे आदि के लिए पहले से खाली बेग तैयार रखे और इसकी जिम्मेदारी किसी विश्वसनीय एवम जिम्मेदार व्यक्ति को दे | अक्सर गिफ्ट्स से भरा बेग खो जाता हैं | अतः इसे भी विशेष कार्य में रखे |
  • शादी के बाद जब गेस्ट अपने घर जाते हैं तो उनका रीटर्न गिफ्ट पहले से ही तैयार करके उनके नाम के साथ रखे और उनके जाने के समय उन्हें दे | शहर के बाहर के गेस्ट को साथ में भोजन पैक करके दे उसे प्रॉपर पैकिंग में ही दे ताकि उन्हें रखने में परेशानी ना हो |
  • अपने घर को साफ़ करके ही शादी के स्थान पर जाए जिससे जब आप शादी के बाद घर पहुंचे तो आपको आगे की रस्मे करने अथवा रेस्ट करने में कोई परेशानी न हो |

शादी में विशेष रूप से रस्मे निभाई जाती हैं जिसकी जिम्मेदारी पंडित की होती हैं जिसके लिए आपको कुछ दिन पहले ही उपरोक्तानुसार रस्मो की तैयारी करना चाहिये इससे आपके सभी कार्य आसानी से होंगे |

रस्मो के अलावा शादी की पार्टी एवम लेडिस संगीत की तैयारी अहम् होती हैं जिसके लिए भी आपको कुछ दिन पहले से जुटना जरुरी हैं उसके लिए भी आवश्यक टिप्स उपर के बिन्दुओं में दी गई हैं |

महिला संगीत को सफल बनाने के लिए कुछ बिंदु ध्यान में रखे :

1 सबसे पहले DJ की व्यवस्था कर ले |
2 शादी के कौन-कौन डांस कर सकता हैं उसकी लिस्ट बनायें, हो सके तो उस मेम्बर से बात करके उसका पसंदीदा सॉंग पुछले |
3 शादी में लगने वाले सभी अच्छे सॉंग जरुर इक्कट्ठा कर ले क्यूंकि सबसे बड़ी परेशानी तब होती हैं जब समय पर सॉंग नही मिलते | सॉंग में फेमस शादी सॉंग, कुछ पुराने डांसिंग सॉंग और लेटेस्ट सॉंग की लिस्ट बनाकर उन्हें एक CD,DVD अथवा पेनड्राइव में लेले |
4 वैसे तो कई दिनों पहले से डांस की तैयारी शुरू हो जाती हैं लेकिन अगर आपके पास टाइम न हो तो उपरोक्त पॉइंट के हिसाब से गाने निकाल ले और स्वयं ही सॉंग का सिलेक्शन करके डांस करने वालो को बता दे |  इससे भी आसानी से एक अच्छा महिला संगीत हो सकता हैं |
5 संगीत में एक अच्छा एकंर/ संचालक जरुर रखे क्यूंकि अगर संचालक अच्छा होता हैं तो दर्शकों का मन लगा रहता हैं साथ ही दर्शक खुद ही परफॉरमेंस देने आ जाते हैं |

यह थी कुछ आसान टिप्स जिनसे आप अपना महिला संगीत बेहतर बना सकते हैं | इसके आलावा अगर आप कोई कोरियोग्राफर हायर करके प्रेक्टिस करके अपना संगीत देना चाहते हैं और दे सकते हैं तो सबसे बढ़िया हैं |

 :-) महिला संगीत स्क्रिप्ट एवम शादी के सॉंग :-) 

अन्य पढ़े

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

Mehndi Dark Colour And Long Lasting

मेहँदी का गहरा रंग और उसे लम्बे समय तक रखने के तरीके | Mehndi Dark Colour And Long Lasting Tips in hindi

Mehndi (Heena) Dark Colour And Long Lasting Tips in hindi हमारे भारतीय समाज में मेहँदी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *