ताज़ा खबर
Home / सीरियल अपडेट / “एक हंसीना थी” शौर्य गोयंका पर आया खतरा, इस बार दुर्गा की जीत तय हैं |

“एक हंसीना थी” शौर्य गोयंका पर आया खतरा, इस बार दुर्गा की जीत तय हैं |

स्टार प्लस पर प्रसारित होने वाले सीरियल “एक हँसीना थी” में एक दिलचस्प मोड़ आने वाला हैं | लास्ट कुछ एपिसोड में शाक्षी गोयन्का की चाल दुर्गा पर भारी पड़ रही थी जिससे दुर्गा पूरी तरह टूट चुकी थी और सब कुछ छोड़ कर चली जाना चाहती थी लेकिन दयाल ठाकुर के समझाने के बाद दुर्गा अपने इरादे मजबूत करती हैं और शौर्य को सभी घर वालो के साथ माता के मंदिर बुलाती हैं | जिसके बाद शाक्शी और परेशान हो जाती हैं उसके इतने बड़े प्लान के बाद भी दुर्गा शौर्य से शादी करने को तैयार हैं | उसी बीच दुर्गा और शौर्य लॉन्ग ड्राइव पर जाते हैं जहाँ दोनों ने शादी से पहले वैष्णव देवी जाने का फैसला किया और जिसके लिए शौर्य ने शाक्शी से इजाजत भी लेली | बेटे के प्यार में अंधी शाक्शी बहुत परेशान हैं और शौर्य को कहीं जाने देना नहीं चाहती और पायल की हालत से बौखलाई दुर्गा शौर्य को अपने जाल में फसाने का पूरा इंतजाम कर चुकी हैं |

hasina

सूत्रों के मुताबिक अगले कुछ एपिसोड में शौर्य गोयन्का को paralysis होने वाला हैं और दुर्गा की चाल कामयाब होने वाली हैं | अपने बेटे को हर मुसीबत से बचाने वाले गोयन्का परिवार की नींव हिल जायेगी जब उनका बिगड़ा नवाब एक अपाहिज की तरह उनके सामने होगा |लेकिन इस सबके के बावजूद शाक्शी को लगता हैं कि अब दुर्गा शौर्य से शादी नहीं करेगी लेकिन दुर्गा अभी भी तैयार हैं यह जानकार शाक्शी और परेशान हो जाती हैं |

अब क्या करेगी शाक्शी गोयन्का ? और क्या दुर्गा और शौर्य की शादी होगी ? क्या देव दुर्गा का सच जान पायेगा ? ऐसे कई क्या हैं और कई सवाल है |

बहुत सारे सवालों के जवाब मिलेंगे जिसके लिए रात 8 pm को star plus पर आना होगा |

एक हंसीना थी एक दिलचस्प कहानी हैं जिसके पात्रों द्वारा किया गया काम, लिखे गये संवाद काफी पसंद किये जा रहे है | सास बहू ड्रामे से हटकर बना यह सीरियल अब ऊँचाइयों पर हैं | इस तरह के सीरियल से हिंदी टीवी सीरियल का ट्रेक कुछ बदलेगा | घिसीपीटी लव स्टोरी और सास बहू से अब दर्शको का भी मन टूट चूका हैं पर जब तक अच्छे option नहीं होंगे दर्शक भी देखने के लिए मजबूर हो जाते हैं |

एक हंसीना थी से सभी को काफी उम्मीदे हैं | अब तक story एक सही दिशा में बढ़ रही हैं लेकिन भारतीय टीवी के धारावाहिक कब अपना ट्रेक छोड़ दे इसका कोई अनुमान नहीं लगा सकता हैं | इसलिए directer से रिक्वेस्ट करते हैं कि इसे इसी तरह चलाते रहें और सही वक्त तक एक यादगार अंत भी दे | हिंदी सीरियल चालू तो जोर शोर से होते हैं पर उन्हें खत्म करना डायरेक्टर भूल जाते हैं |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

kahani-ghar-ghar-ki-serial

कहानी घर घर की ओल्ड स्टार प्लस सीरियल | Kahani Ghar Ghar ki Old Serial In Hindi

Kahani Ghar Ghar ki Old Star Plus Serial In Hindi सन 2000 में भारत के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *