ताज़ा खबर

मिशनरीज़ ऑफ चैरिटी की प्रमुख सिस्टर निर्मला ने ली विदा

Sister Nirmala Mother Teresa successor Dies In Hindi सिस्टर निर्मला ने कहा अलविदा | यह दुखद घटना 22 जून सोमवार को हुई | जिसकी खबर आज सुबह मिली जिस पर सभी ने शौक व्यक्त किया | 

सिस्टर निर्मला जोशी जिन्हें मदर टेरेसा के बाद मिशेनरी फाउंडेशन की बाग़डोर दी गई थी | अब हमारे बीच नहीं रही | सिस्टर निर्मला जोशी ने 81 साल की उम्र में देश को अलविदा कह दिया | जिस पर श्री मोदी जी एवम ममता बेनर्जी ने ट्विट करके शौक व्यक्त किया |

मिशेनरी ऑफ चैरिटी ने बताया कि सिस्टर निर्मला पिछले कुछ वक्त से बीमार थी | उनकी उम्र भी अधिक थी इसलिए दिन पर दिन कमज़ोर होती जा रही थी |जिसके बाद 22 जून को उन्होंने अंतिम विदा ली |

Sister Nirmala Mother Teresa successor Dies In Hindi

5 सितम्बर 1997 को मदर टेरेसा की मृत्यु के बाद सिस्टर निर्मला मिशेनरी ऑफ चैरिटी की जनरल बनाई गई थी इनकी नियुक्ति मदर टेरेसा की मृत्यु के छ: महीने पूर्व 13 मार्च को की गई थी |

सिस्टर निर्मला के बाद अब सिस्टर मेरी प्रेमा इस जगह पर आई हैं जिसकी घोषणा अप्रैल 2009 में की गई थी | अब सिस्टर मेरी इस परम्परा को आगे बढ़ाएंगी |

सिस्टर निर्मला ने अपना पूरा जीवन मानव सेवा को समर्पित किया आज उनके सभी चाहने वालो गहरा आघात पहुँचा हैं | उनके पार्थिव शरीर को मदर हाउस लाया जायेगा जहाँ 4 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा | जिसमे सभी लोग सम्मिलित हो सकते हैं |

सिस्टर निर्मला का जन्म 1934 रांची झारखण्ड ब्रिटिश इंडिया में हुआ था | इनका परिवार नेपाल से था यह नेपाल के ब्राहमण परिवार से थी एवम  पिता ब्रिटिश आर्मी में थे | हिन्दू होने के बावजूद सिस्टर निर्मला ने मिशेनरी स्कूल से अपनी पढाई पूरी की 24 वर्ष की उम्र तक वे हिन्दू थी पर वे मदर टेरेसा से काफी प्रभावित थी अतः उन्होंने रोमन केथेलिक से अपना धर्म बदला और वही पर सेवा देने में अपनी ज़न्दगी लगाई | सिस्टर निर्मला पॉलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेज्यूएट हैं | इनकी सेवा से प्रभावित होकर इन्हें 2009 में भारत ने पद्म विभूषण से सम्मानित किया था |

मदर टेरेसा के बाद सिस्टर निर्मला ने पूरी शिद्दत के साथ अपना कार्य किया | बड़ा मुश्किल हो जाता हैं जब मदर टेरेसा जैसे महान व्यक्तित्व का कार्यभार संभालना हो लेकिन सिस्टर निर्मला ने भलीभांति अपने कर्तव्य का निर्वाह किया | मदर टेरेसा के कार्यों को उनकी करुणा को पूरी दुनियाँ ने जाना हैं | उसी से प्रभावित होकर सिस्टर निर्मला ने अपना जीवन मानव सेवा में लगाया और आगे सिस्टर मेरी प्रेमा इस जगह पर दिखाई देंगी |धर्म कोई भी हो उसका मूल मानव सेवा हैं और जो इस पथ पर आगे बढ़ता हैं वो हर मायने में धर्म, जाति के इस भेद से कई ज्यादा उपर होता हैं |

सभी को इस खबर से गहरा आघात पहुँचा हैं | नम आँखों एवम भारी ह्रदय से हम सभी सिस्टर निर्मला की आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हैं |Sister Nirmala Mother Teresa successor Dies In Hindi  इस बारे में आप भी अपनी भावनायें व्यक्त कर सकते हैं |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

gurugram गुरुग्राम

Gurgaon rename gurugram details in Hindi | गुड़गांव अब गुरुग्राम

Gurgaon Rename Gurugram Details Hindi हरियाणा की सरकार ने बहुत से चिंतन एवम विचार विमर्श …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *