ताज़ा खबर

मानव को अंतरिक्ष में भेजने का ISRO ने किया सफल परिक्षण

भारतीय अनुसन्धान केंद्र (ISRO- Indian Space Research Organization) ने मंगलयान की सफलता के बाद GSLV Mk-III X/CARE का सफल परिक्षण किया | यह सबसे अधिक वजन का नयी पीढ़ी का रॉकेट कहा जा रहा हैं |यह परिक्षण 18/12/14 की सुबह 9.30 किया गया जिसके लिए आंध्रप्रदेश में श्रीहरिकोटा के सतीश भवन अंतरिक्ष केंद्र को चुना गया | GSLV Mk-III यान का वजन 630 टन, लम्बाई 43.43 मीटर बताया जा रहा हैं | यह विमान 155 करोड़ की कुल लागत में तैयार किया गया |

ISRO के अध्यक्ष के. राधा कृष्णन के मुताबिक इस रॉकेट का निर्माण कार्य कई वर्षों पहले ही शुरू कर दिया गया था जिसका गुरूवार को परिक्षण किया गया जो कि सफल रहा | विमान को लेकर जिस तरह के मापदंड तैयार किये गये थे विमान उन सभी पर खरा उतरा | उन्होंने बताया ठोस तथा तरल इंजन का व्यवहार निश्चित मापदंड़ो के अनुकूल हैं |

GSLV Mk-III largest Rocket news in hindi

 GSLV Mk-III विमान अपने साथ प्रायोगिक क्रू मॉडल भी लेकर किया यह प्रायोगिक मॉडल बिना किसी मानव के अन्तरिक्ष में गया | इस क्रू मोड्यूल को एटमॉस्फेरिक री एंट्री एक्सपेरिमेंट कहा गया | यह मॉड्यूल बहुत छोटा हैं जिसमे दो व्यक्ति आ सकते हैं | यह परिक्षण अन्तरिक्ष से धरती की और आने के लिए किया गया | यह मॉड्यूल समुद्र से 126 किलोमीटर की दुरी तय करने के बाद यान से अलग हो गया धरती की तरफ बढ़ने लगा और आखरी में यह मॉड्यूल बंगाल की खाड़ी में गिरा जिसके लिए पैराशूट की मदद ली गई |इसकी गति को मोटर के जरिये नियंत्रित किया गया |  नौ सेना द्वारा इस मोड्यूल को एन्नोर बंदरगाह पर ले जाया जायेगा जो कि तमिलनाडु चेन्नई के पास हैं | इसके बाद इसे तिरुवंतपुरम स्थित विक्रम साराभाई अनुसन्धान केंद्र में ले जाया जाना हैं |

GSLV Mk-III X यह सबसे बड़ा यान हैं जो अन्तरिक्ष में भेजा गया इसे खासतोर पर अन्तरिक्ष से वापस लौटने के लिए तैयार किया गया हैं | इस तरह ISRO मानव को अन्तरिक्ष में भेजने में सफल साबित हुआ | यह देश के लिए गौरव की बात हैं मंगलयान के बाद GSLV Mk-III X की कामयाबी एक सुखद समाचार हैं | हमारा देश विकासशील से विकसित देश की दिशा में अपने कदम बढ़ा रहा हैं | ISRO के सभी वैज्ञानिको को देश की तरफ से बधाई और धन्यवाद देते हैं जिनके कठिन प्रयासों का सफल परिणाम आज देश के सामने हैं |

GSLV Mk-III X की सफलता कई नए बिन्दुओं की शुरुवात हैं सफल परिक्षण कई रास्ते खोल देते हैं | आइये सभी मिलकर इस ख़ुशी में शामिल हो जाए और भविष्य के लिए प्रार्थना करे |

Successful Largest Rocket Experiment by ISRO News In Hindi इस जानकारी में अगर कोई कमी लगे तो हमें अवश्य लिखे |

इसी तरह से हिंदी ब्लॉगिंग में जो हिंदी पाठक अपना सहयोग देना चाहते हैं वे deepawali.add@gmail.com पर सम्पर्क करें | आपकी कृति नाम एवम फोटो के साथ published की जाएगी |

अन्य जानकारी के लिए पढ़े :

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

gurugram गुरुग्राम

Gurgaon rename gurugram details in Hindi | गुड़गांव अब गुरुग्राम

Gurgaon Rename Gurugram Details Hindi हरियाणा की सरकार ने बहुत से चिंतन एवम विचार विमर्श …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *