ताज़ा खबर

Suhana Safar With Annu Kapoor 98.7 Big FM (Radio Show) Written Update

“सुहाना सफ़र with Annu Kapoor” 92.7 BigFM एक famous Radio Show:इस show में Actor Annu Kapoor filmy दुनियां की famous personalities के बारे में खास बाते audiences के सामने रखते हैं | और साथ ही होते हैं सदाबहार नगमे |

उनकी इस अच्छी कोशिश को हम आपके सामने written form में रखने जा रहे हैं |

anu kapoor

1. इस episode की starting में Annu साहब ने famous Rekha के जीवन कुछ पहलु सामने रखें
2. Famous writer Saleem Khan ने बचपन में की एक चौरी और उसके लिए उन्हें कैसी सजा मिली|
3. Legend S. D Barman साहब की life के एक अफसाने को भी share किया कि कैसे life में money बचा कर एक आम इन्सान की तरह cycle पर सफ़र किया |
4. Simi Garewal ने “कर्ज” में काम करने से किया था इनकार |
5. “कागज़ के फूल” के set पर हुई एक घटना ने Gurudtta साहब को कैसे किया परेशान |

1.Rekha के जीवन की छोटी से झलक :
रेखा bollywood की जानी मानी personality हैं इनकी life बहुत कठिनाइयों से गुजरी | Rekha की mother Pushpavali थी जो कि Telugu की famous actress थी और इनके Father Gamini Ganeshan Tamil के जाने माने अभिनेता | पुश्पावली, जेमिनी गणेशन की 3rd wife थी उनकी खास बनती नहीं थी | इसका असर Rekha की life पर पड़ा उन्हें बहुत कम उम्र महज़ 13 years में अपनी माँ के साथ अकेले रहना पड़ा और उसी दौरान1969में उन्हें फिल्म का offer आया Rekha का मन नहीं था कि वो filmy दुनिया में जाये लेकिन उनकी माँ ने उन्हें मनाया कहा कि “Film की shooting south Africa में होगी जहाँ उसे घुमने मिलेगा बहुत अच्छा experience होगा ”| जैसे कोई छोटे बच्चे को मनाया जाता हैं उसी तरह Rekha को भी मनाया गया और Rekha ने फिल्म sign कर ली | Film के कुछ part Mumbai में shoot किये गए उस दौरान Rekha के experience बहुत ख़राब थे वह एक healthy चबी actress थी जिस कारण उन्हें fix diet दिया जाता था Rekha ने अपने एक interview में बताया कि film city की life बहुत ख़राब थी उनके लिए इसलिए उन्होंने अपनी छोटी sister को कभी फिल्मो में आने नहीं दिया | Annu Kapoor कहते है कि Rekha की life struggles में बीती| घर बसाना चाहती थी पर किस्मत ने साथ नहीं दिया और जिसे love करती थी वह भी नहीं मिल पाया | जीवन अधुरा ही रह गया |

2.Sleem Khan (famous story writer, father of Salmaan Khan):
Sleem Khan MP की famous city Indore के रहने वाले थे और उनके father police में थे |जब Saleem महज़ 10 years के थे तब उनके area में एक मुल्ला जी आते थे जिन्हें सब मामाजी कहते थे वह toys बेचते थे उन्हें देखने सभी बच्चे इकठ्ठे हो जाते |एक दिन Saleem भी उन्हें देख रहे थे उन्हें एक toy पसंद आ गया और उन्होंने उसे चुरा लिया और आकर अपनी sister को दिया उनकी sister ने यह बात अपनी अम्मी mother को बता दी उनकी अम्मी ने Saleem को बहुत डाटा और सिपाही से कहा “इसे लेकर जाओ उस मुल्ला जी के पास और माफ़ी मांगने के साथ सभी के सामने अपनी गलती को स्वीकारने को कहा गया”| Saleem गए उन्होंने वह toy वापस किया और मुल्ला जी से कहा “गलती से ले आया था और वापस रख दिया ”| साथ आये सिपाही ने उन्हें डाटा और याद दिलाया कि उनकी अम्मी ने क्या कहा था तब Saleem ने सच स्वीकार किया और सबके सामने कहा कि उसने toy चौरी किया था| वहां खड़े सभी लोग हंस रहे थे इस घटना के बाद Saleem ने स्वीकार किया कि वह life के किसी भी मोड़ पर कितनी ही तकलीफ हो कभी भी चौरी नहीं करेंगे | Annu Kapoor ने कहा कि उस दौर की सभी माताओं को वो सलाम करते हैं जिन्होंने अपने बच्चो को एक नेक तालिम दी |

3.अगला किस्सा उन्होंने सुनाया S.D Barman का “किस तरह पैसे बचाए “ :
उस दौरान जब sachin dev साहब काम करते थे तब वह local train से travel करते और station से studio तक वे cycle rikhsha से आते जो कि उन्हें रोज का बेकार का खर्चा लगता industry में Kishor Kumar रुपए पैसो को लेकर काफी उठा पटक मचाते थे उनके साथ Sachin Dev भी इस मामले में कम न थे | उनके रोज के इस खर्चे पर विचार किया और अपने assistant से पूछा कि वह studio कैसे आता है उसने reply किया कि उसका घर पास ही हैं इसलिए वो अपनी cycle से ही आजाता है तब Sachin साहब ने पूछा क्या उसकी cycle में career हैं| Assistant ने बड़े ही सोच में पड़कर reply किया कि हाँ हैं | तब S D Barman साहब ने उसे कहा कि कल से उन्हें अपने साथ station से studio अपनी cycle पर बैठा लाने में कोई दिक्कत तो नहीं होगी ? Assistant ने कहाँ नहीं कोई परेशानी नहीं | उस दिन से Barman साहब cycle पर पीछे बैठ कर studio आते | Annu Kapoor कहते है कि assistant का तो पता नहीं पर इस तरह s d barman ने पैसा बचाया और एक नाम कमाया |

4. Simi Garewal ने क़र्ज़ में काम करने से इनकार किया था |
Simi ने कई films में काम किया पर एक यादगार character की तलाश जारी थी | और उनकी सफलता को पंख लगे उनके “Karza” के character “Kamini Verma” से | पर ताजुब्ब की बात यह है कि Simi ने Subhash Ghai को पहले इस character के लिए इनकार कर दिया था यह एक negative role था और Simi अपनी image negative नहीं बनाना चाहती थी पर Subhash Ghai को भी इस role के लिए Simi ही चाहिए थे वे भी Simi को मनाते रहे | Simi नहीं मानी तब Subhash Ghai ने उन्हें emotional blackmail किया और कहा कि अगर Simi नहीं मानी तो वह movie नहीं बनायेंगे और उनकी 18 month की मेहनत बेकार हो जाएगी | तब कहीं जाकर Simi ने हाँ किया लेकिन पूरी shooting के दौरान उनका मन नहीं मान रहा था उन्होंने Subhash Ghai से कहा इस character की darkness को थोडा कम कर दे पर Subhash Ghai ने कहा कि अगर ऐसा किया तो character का impact ख़त्म हो जायेगा और shooting को continue ही रखा | बाद में Simi को इसी character से एक नयी पहचान मिली |

5. “कागज़ के फूल” के set पर हुई एक घटना ने Gurudtta साहब को कैसे किया परेशान :
“कागज के फूल” के set पर एक scene की shooting में junior artist के साथ काम करना था पर एक female artist गायब थी सब उसी का wait कर रहे थे तभी एक sport boy उसे ढूंढता हुआ एक room में पहुंचा जहाँ वो female artist अपनी छोटी सी बेटी को feed करा रही थी वहां पहुंचकर उस sport boy ने बिना कुछ सोचे उसे डाट दिया और जोर जोर से चिल्लाने लगा कि उसके कारण पूरी unit परेशान हैं और वो यहाँ बैठी हैं | यह सब Gurudatta देख रहे थे और उन्हें उस boy पर गुस्सा आया और उसने उसे वहां से उसी वक्त जाने को कहा और उस female artist से कहा कि वो आराम से अपने बच्चे को feed कराये और उसे सुला कर आये तब तक सभी उनका wait करेंगे | Gurudatta को इस घटना ने काफी emotional कर दिया था उन्हें काफी तकलीफ हुई थी यह सब देख कर | बाद में shooting की गई और female artist को money भी दिया | इसके बाद में भी Gurudatta साहब के दिमाग में यह घटना घर कर गई थी इसलिए बाद में उन्होंने इस घटना को film का एक हिस्सा बनाया और कागज के फूल के लिए इस घटना को shoot किया गया | यह व्याख्या Vaheeda Rehman जो कि इस movie की heroin थी उन्होंने अपने interview में share किया |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *