ताज़ा खबर

संगठन तहरिक-ए-तालिबान ने ली ज़िम्मेदारी कहा यह उनके खिलाफ छेड़ी गई मुहीम का बदला हैं |

इंसानियत पर हैवानियत का यह गंदा खेल | पाकिस्तान के पेशावर में आर्मी स्कूल पर संगठन तहरिक-ए-तालिबान के छह आतंकियों ने मौत का गंदा खेल खेला और 160 लोगो को मार दिया जिसमे 124 मासूम बच्चे थे | 900 बच्चो को सुरक्षित बाहर निकाला गया | इन आतंकियों में से दो ने खुद को मानव बम बनाकर विस्फोट किया | दहशत फ़ैलाने के लिए उन मासूमो के सामने ही उनके टीचर पर पेट्रोल डालकर उन्हें जिन्दा जलाया गया | सूत्रों के मुताबिक किसी भी डेड बॉडी को पहचान पाना कठिन हैं क्यूंकि हॉस्पिटल में लाशें बिना सर के पहुंचाई गई हैं |

इस आतंकी घटना की ज़िम्मेदारी तालिबान संगठन के प्रवक्ता मोहम्मद खोरसानी ने ली, उसने कहा यह आतंक तालिबान का बदला हैं, पाकिस्तानी जवानो ने वजिरस्तान में उनके बीवी बच्चो को परेशान किया हैं| इस अमानवीय बर्ताव से वे अपनी ताकत और बैकोफ़ इरादों को बताना चाहते हैं | कितने कायर हैं ये जो मासूमों पर अपनी ताकत आजमा रहे हैं |

इस घटना के बार नवाज़ शरीफ ने दुःख व्यक्त किया साथ ही यह भी कहा – इन आतंकियों से डरने का वक्त खत्म हुआ, इस घटना से डरकर वे पीछे नहीं हटेंगे | पाकिस्तानी सरकार से तालिबान को ख़त्म करने की जो मुहीम शुरू की हैं वो इसी तरह कायम रहेगी |

आतंकवाद को पनाह देने वाले इस देश को आतंकवाद ने यह कैसा नजराना दिया | जवानो के मासूम बच्चो को किस तरह बेहरहमी से मार डाला गया | आज पाक सोचने पर मजबूर होगा कि काश इन जालिमो को पनाह नहीं दी होती | देश की प्रगति में रूकावट हैं ये आतंकी | यह पाकिस्तान के लिए आस्तीन का सांप हैं | इन आंतकियों ने ही अज्ञान का और क्रूरता का पाठ सिखाया हैं इन पाकिस्तानियों को, जिनके कारण हर देश का मुसलमान सजा भुगत रहा हैं |

पाक को यह समझने की जरुरत हैं  – हर एक आज़ादी की कीमत चुकानी पड़ती हैं, अभी नहीं तो कभी नहीं, एक बार डटकर इन  कायरों का सामना करे, इन्हें अपनी ज़मीन से खदेड़ दे, फिर देखे, आने वाले समय में पाक भी एक सुन्दर राष्ट्र बन जायेगा |

इन जैसे आतंकियों पर कोई कैसे भरोसा कर सकता हैं जिन्हें मासूमों पर एक पल की दया नहीं आई | वर्ल्ड ट्रेड सेंटर हो या 26/11 का हमला या और भी कई गंदे खोफनाक हमले पर इन सभी के आगे मासूमो पर बरसाय इस कहर को सुन पाना भी कठिन हैं |

पाकिस्तान ने तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की |  देश में भी प्रधानमंत्री मोदी ने इसकी निंदा की साथ ही तीन मिनिट का मौन रख उन मासूमों को श्रधांजलि दी |इस घटना के बाद ओबामा ने भी बैठक बुलाई और घटना की चर्चा की गई |  इस बैठक में बिडेन, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुसान राइस, ख़ुफ़िया एजेंसी के सदस्यों को भी शामिल किया गया | इस घटना से सभी देश सतर्क हैं | सीमा पर भी पुखते इंतजाम कर दिए गये हैं |

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

kulbhushan yadav

कुलभूषण जाधव कौन है | Who is Kulbhushan Jadhav in hindi

Who is Kulbhushan Jadhav in hindi कथित तौर पर जासूस बता कर पकिस्तानी सरकार ने कुलभूषण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *