ताज़ा खबर

अखरोट के फायदे | Walnuts benefits in hindi

Walnut (Akhrot) benefits (khane ke fayde) in hindi अखरोट एक खाने योग्य पदार्थ होता है जोकि जग्लांस प्रजाति (Juglans) परिवार के पेड़ों की संपत्ति होती है. अखरोट हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग होने वाले बहुत ही साधारण से घटकों में से एक है. अखरोट दो प्रकार के होते है एक काला अखरोट और दूसरा जग्लांस रेग़िया (साधरण भूरे रंग का). अखरोट गर्मी में बढ़ना शुरू होता है और सितम्बर से अक्टूबर तक फ़सल पक जाती है. इस मौसम में अखरोट अपने आप ही पेड़ों से गिर जाता है.

अखरोट स्वाद में बहुत अच्छा होता है इसलिए इसका उपयोग कई प्रकार की खाने की चीजों में किया जाता है. अखरोट सिर्फ खाने में ही नही अपितु स्वास्थ्य, सौन्दर्य के लिए भी लाभकारी पदार्थ है. यह एक तरह का सूखा मेवा होता है, यह बहुत लोगों का पसंदीदा है.

Walnuts Benefits

अखरोट हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है क्यूकि केंसर, मधुमेह, थाइरोइड आदि और भी कई प्रकार की बीमारियों से बचने के लिए यह उपयोगी और फायदेमंद है. अखरोट बालों और त्वचा के लिए बहुत लाभकारी है. बहुत सी दवाइयों में भी इसका उपयोग किया जाता है, इससे शरीर की अनचाही चर्बी को भी कम किया जा सकता है.

अखरोट में पाए जाने वाले घटक (Walnut Nutrition Facts) –

अखरोट में निम्न घटक अलग-अलग मात्रा में पाए जाते है जोकि शरीर के लिए लाभकारी हैं.

क्र.म.       घटक मात्रा प्रति 100ग्राम मात्रा प्रतिशत%
1. कैलोरी 654  
2. पानी 4%
3. प्रोटीन 15.2g  
4.

 

 

 

कार्बोहाइड्रेट

·        स्टार्च

·        शक्कर

·        फाइबर

13.7g

0.06g

2.6g

6.7g

 
5. वसा

·        सैचुरेटेड

·        मोनोअनसैचुरेटेड

·        पोलीअनसैचुरेटेड

·        ओमेगा-3

·        ओमेगा-6

·        ट्रांस वसा

65.2g

6.13g

8.93g

47.17g

9.08g

38.09g

0

 
6. विटामिन

·        विटामिन A

·        विटामिन C

·        विटामिन D

·        विटामिन E

·        विटामिन K

·        विटामिन B1(थियामाइन)

·        विटामिन B2(राइबोफ्लेविन)

·        विटामिन B3(नियासिन)

·        विटामिन B5(पंथोठेनिक एसिड)

·        विटामिन B6(पिरिडॉक्सिन)

·        विटामिन B12

·        फोलेट

·        कोलिन

 

1ug

1.3mg

0ug

0.7mg

2.7ug

0.34mg

0.15mg

1.13mg

0.57mg

 

0.54mg

0ug

98ug

39.2mg

 

0%

1%

5%

2%

28%

12%

7%

11%

 

41%

25%

7%

7. मिनरल्स

·        कैल्शियम

·        आयरन

·        मैग्नीशियम

·        फोस्फोरस

·        पोटैशियम

·        सोडियम

·        जिंक

·        कॉपर

·        मैंगनीज

·        सेलेनियम

 

98mg

2.91mg

158mg

346mg

441mg

2mg

3.09mg

1.59mg

3.41mg

4.9mg

 

10%

36%

40%

49%

9%

0%

28%

176%

148%

9%

अखरोट की विशेषताएँ (Features of Walnuts) –

  • अखरोट गोलाकार होते है, जोकि अखरोट के पेड़ों के एक ही बीज वाले कठोर फल होते है और पुरे पकने के बाद उसका गुदा उपयोग में लाया जाता है.
  • अखरोट के बीज पकने के बाद उसका छिलका हटाने से, एक झुर्रीदार आवरण वाला अखरोट मिलता है, जिसका उपयोग खाने में होता है.
  • अखरोट का गुदा बाहर निकालने के लिए दस्ताने का उपयोग करते है, क्यूकि इससे त्वचा में खुजली होने लगती है और त्वचा का रंग भी परिवर्तित हो जाता है.
  • यह आवरण एक कर्नल से घेरा होता है जोकि दो आधे अलग -अलग भाग के बटवारे से बना होता है. इस आवरण में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जोकि वातावरण की ओक्सीजन से आवरण के अंदर के बीज की रक्षा करता है.
  • अखरोट का बाहरी आवरण कठोर होता है और अंदर से इनका बीज मानव शरीर के मस्तिष्क के आकार का होता है.
  • इसमें कुछ रासायनिक तत्व होते है जोकि वनस्पति को बढ़ने से रोकते है और उन्हें गन्दा करते है. इसलिए इसे फूल और सब्जियों के बगीचे के पास इसे नहीं लगाना चाहिए.

अखरोट का चयन (How to choose good Walnuts) –

अखरोट 3 अलग-अलग प्रकार के आते है – छोटा, बड़ा और मध्यम. पूर्ण रूप से इसके शैल की जाँच करिए. जिस शैल में छेद या दरार हो उसको उपयोग में नही लाना चाहिए. यदि आप जाँच करके किसी शैल को उपयोग में लेते है, तो वह पक्का अंदर से कुरकुरा और फूला हुआ मिलेगा. अखरोट को बाजार से खरीदते समय उसकी जाँच करनी चाहिए कि उसका रंग भूरा है या नही, हाथ में लेकर उसके वजन की जाँच करनी चाहिए. इस प्रकार अखरोट का सही तरीके से चयन करके उपयोग में लाना चाहिए.

अखरोट का संचय (How to store Walnuts) –

अखरोट का संचय वायु रहित डिब्बे में सूखे और ठंडी जगह पर करना चाहिए ताकि इसमें सूर्य की किरणें न पड़ सकें. अखरोट 3 महीने तक ख़राब नही होते, किन्तु इसे फ्रिज में 6 महीने तक रख सकते है. यदि एक साल बाद इसका उपयोग करेंगे, तो शायद यह ख़राब हो सकता है. अखरोट में दूसरे खाने की चीज को अवशोषित करने की क्षमता होती है जिससे यह ख़राब हो जाते है. इसलिए इसे प्याज, गोभी और मछली से दूर रखना चाहिए. इस प्रक्रार अखरोट का संचय किया जा सकता है. प्याज के फायदे पढने के लिए यहाँ क्लिक करें.

अखरोट के फ़ायदे (Walnuts Benefits In Hindi)

अखरोट के फायदे निम्न है –

  • अखरोट स्वास्थ्य के लिए
  • अखरोट स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा के लिए
  • अखरोट स्वस्थ बालों के लिए
  • अखरोट व्यंजन बनाने के लिए
  • अखरोट के दुष्प्रभाव
  • अखरोट स्वास्थ्य के लिए (Walnuts benefits for health) –

अखरोट के स्वास्थ्य के लिए बहुत फ़ायदे है इसे बहुत सी बीमारियों से बचने के लिए उपयोग में लाया जाता है.

  • ह्रदय के लिए (Walnut for heart)

अखरोट में बहुत अधिक मात्रा में ओमेगा-3 चर्बीदार अम्ल पाया जाता है जोकि कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम के लिए बहुत फायदेमंद होता है. हर दिन कुछ अखरोट खाने से शरीर में खून के स्त्राव को संभाला जा सकता है. यह ओमेगा -3 चर्बीदार अम्ल शरीर में ख़राब कॉलेस्ट्रोल को कम करना है और अच्छे कॉलेस्ट्रोल के उत्पादन को बढ़ावा देता है. इसलिए यह शरीर के लिए फायदेमंद है.

  • इम्युनिटी के लिए

अखरोट में बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होता है जोकि इम्यून सिस्टम को स्वस्थ करता है और बीमारियों को शुरुआत से रोकता है. हर रोज अखरोट को भोजन में शामिल करना स्वस्थ रहने के लिए फायदेमंद है.

  • मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए

अखरोट में पाया जाने वाला ओमेगा -3 चर्बीदार अम्ल मस्तिष्क के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है यह नर्वस सिस्टम को आसानी से चलने में मदद करता है. इससे याददाश भी बढती है.

  • स्तन केंसर के लिए

अमेरिकन संस्था ने कैंसर के लिए बहुत से अनुसंधान किये और 2009 में इस अनुसन्धान को जारी किया कि हर रोज अखरोट खाने से स्तन केंसर के खतरे को कम करने में सहायता मिलती है.

  • विद्रोहजनक बीमारियों के लिए

अखरोट में पाए जाने वाले चर्बीदार अम्ल से विद्रोहजनक बीमारियों जैसे अस्थमा, गठिया रोग और खुजली में बहुत फ़ायदा मिलता है. गठिया रोग का घरेलु इलाज यहाँ पढ़ें.

  • हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए

अखरोट में एक बहुत ही महत्वपूर्ण चर्बीदार अम्ल पाया जाता है जिसे अल्फ़ा- लिनोलेनिक अम्ल कहते है. यह अम्ल हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ बनाता है. अखरोट में पाया जाने वाला ओमेगा-3 चर्बीदार अम्ल विद्रोहजनक बीमारियों के साथ –साथ हड्डियों को बहुत समय तक मजबूत रखने में भी  सहायक होता है.

  • अच्छी नींद और तनाव के लिए

अखरोट में मेलाटोनिन होता है जोकि नींद के लिए बहुत अच्छा होता है. साथ ही इसमें पाया जाने वाला अम्ल खून के स्त्राव को संभालकर तनाव को दूर करता है. अच्छी नींद के लिए घरेलु उपाय यहाँ पढ़ें.

 

  • गर्भावस्था के लिए (Walnuts for pregnancy) –

अखरोट में विटामिन B –काम्प्लेक्स के ग्रुप जैसे थियामाइन, राइबोफ्लेविन, फोलेट आदि होते है जोकि गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत जरुरी होते है.

  • कब्ज और पाचन सिस्टम के लिए

अखरोट में फाइबर होता है जोकि पाचन शक्ति को सुचारू रूप से चलाता है. अखरोट का सेवन करने से आँतों में भी फ़ायदा मिलता है. साधारण प्रोटीन के स्त्रोतों जैसे मीट, रोज के उत्पाद आदि में फाइबर कम मात्रा में होता है.

  • डायबिटीज को रोकने के लिए

अखरोट शरीर में ग्लूकोज को कंट्रोल करता है. अखरोट में पॉलीअनसेचुरेटेड चर्बीदार अम्ल होता है जोकि लीवर में इंसुलिन की रचना करने में सहायक होता है. अखरोट में मिनिरल्स और फाइबर होते है जोकि ग्लूकोज लेवल को कम करने के लिए जरुरी होते है. डायबिटीज के लक्षण एवं घरेलु उपाय यहाँ पढ़ें.

  • आंतरिक सफाई के लिए

अखरोट हमारे आंतरिक भाग का वैक्यूम क्लीनर होता है जोकि अंदर की सफाई करता है. इससे पाचन सिस्टम को अच्छे से चलने में सहायता मिलती है.

  • वजन घटाने के लिए

अखरोट में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जोकि वजन घटने में सहायक होते है इसलिए अखरोट वजन घटाने के लिए बहुत अच्छा घटक है. वजन कम करने के उपाय यहाँ पढ़ें.

  • फंगल इन्फेक्शन के लिए

यह फंगस के लिए बहुत अच्छा नही होता है, फंगल इन्फेक्शन से पाचन शक्ति और त्वचा दोनों में प्रभाव पड़ता है. काला अखरोट फंगल के परिणाम के खिलाफ बहुत प्रभावकारी होता है लेकिन इसके साथ दूसरा इलाज भी जरुरी होता है.

  • अखरोट स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा के लिए (Walnut for skin) –

अखरोट स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है. यह निम्न प्रकार से त्वचा के लिए आवश्यक है.

  • त्वचा का बुढ़ापा रोकने के लिए

अखरोट त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है क्युकि इसमें विटामिन B होता है. यह तनाव को दूर करने में सहायक होता है जिससे त्वचा में झुर्रियां नही पड़ती. अखरोट में विटामिन E और एंटीओक्सिडेंट पाए जाते है जोकि त्वचा का बुढ़ापा रोकने के लिए फायदेमंद है.

  • त्वचा में नमी के लिए

अखरोट के तेल को हल्का गर्म करके सूखी त्वचा में हर रोज लगाना चाहिए, इससे त्वचा को नमी मिलती है और त्वचा स्वस्थ रहती है.

  • आँखों के काले घेरे के लिए

अखरोट के तेल से रोजाना आँखों की मालिश करना चाहिए, इससे आँखों को तनाव मुक्त और साथ ही आँखों के काले घेरे को साफ़ किया जा सकता है.

  • त्वचा के निखार के लिए (Walnut face pack) –

त्वचा में निखर लाने के लिए 4 अखरोट, 2 चम्मच ओट्स, 1 चम्मच शहद, 1 चम्मच मलाई और 4 बूँद जैतून के तेल को साथ में पीसकर मिला लीजिये और इस मिश्रण को त्वचा में लगाइए. कुछ समय बाद गर्म पानी से धो लीजिये. त्वचा के रंग में निखार आयेगा.

अखरोट त्वचा को संक्रमण से भी बचाता है इसलिए यह फायदेमंद है.

  • अखरोट स्वस्थ बालों के लिए (Walnuts for hair) –

अखरोट बालों के लिए भी सहायक घटक है इससे निम्न प्रकार के फ़ायदे होते है.

  • लम्बे और मजबूत बालों के लिए

अखरोट में पाए जाने वाले तत्व जैसे पोटेशियम, ओमेगा-3, ओमेगा-6, और ओमेगा-9 चर्बीदार अम्ल होते है जोकि बालों को मजबूत बनाने में सहायता करते है. अखरोट के तेल से बालों को लम्बे, मजबूत, स्वस्थ और कोमल बनाया जा सकता है.

  • गंजेपन को रोकने के लिए

अखरोट के तेल को बालों में लगाने से गंजेपन की परेशानी से बचा जा सकता है.

  • रुसी के लिए

बालों में रुसी की समस्या रूखे बालों की वजह से होती है. अखरोट के तेल से बालों को नमी मिलती से जिससे बाल रूखे नही होते. इससे रुसी की समस्या से बचा जा सकता है. रुसी की समस्या का घरेलु उपाय यहाँ पढ़ें.

इस प्रकार बालों के लिए अखरोट बहुत अच्छा उत्पाद है इससे और भी बहुत से फायदे है.

  • अखरोट के दुष्प्रभाव (Walnut side effects in hindi) –

अखरोट के फ़ायदे के साथ -साथ कुछ दुष्प्रभाव भी है, जिनके बारे में जानना बहुत जरुरी होता है.

  • अखरोट से एलर्जी

अखरोट 8 एलर्जिक खाने में से एक है. अखरोट से एलर्जी भी हो सकती है जिससे बचने के लिए उपयुक्त इलाज करना ही सही है.

  • अन्य ओषधियों के साथ प्रतिक्रिया

अखरोट अन्य ओषधि के साथ विपरीत प्रतिक्रिया करता है, इसलिए इसे डॉक्टर की सलाह के बिना उपयोग में नही लाना चाहिए.

  • त्वचा के केंसर

काले अखरोट में कुछ रासायनिक तत्व ऐसे पाय जाते है जोकि त्वचा में केंसर जैसी समस्या को पैदा कर सकता है.

  • कोशिकाओ के DNA में बदलाव

काले अखरोट में कुछ रासायनिक तत्व ऐसे होते है जोकि प्रोटीन के लेवल को कम कर देते है जिससे DNA सेल ख़राब हो जाती है और परिणाम बहुत ही घातक होता है.

  • अखरोट से अश्वीय विद्रोहजनक बीमारियां का भी प्रभाव पड़ता है.
  • अखरोट में पाए जाने वाले कुछ तत्व शरीर से आयरन को अवशोषित कर लेते है जिससे आयरन की मात्रा कम हो जाती है.
  • अखरोट से लीवर और किडनी भी ख़राब होने का खतरा होता है.
  • अखरोट से त्वचा में घमोरियां भी फ़ैल सकती है.
  • अखरोट से बच्चों के जन्म में भी त्रुटी हो सकती है.
  • अखरोट शरीर के तरल पदार्थ को सुखा देता है, जिससे बहुत परेशानी होती है.

अखरोट का इस्तेमाल संभल कर करना चाहिए और डॉक्टर की सलाह के बिना इसे उपयोग में लाना बहुत ही कठिन साबित हो सकता है.

  • अखरोट व्यंजन बनाने के लिए

अखरोट स्वाद में बहुत अच्छा होता है इसलिए इसका उपयोग कई प्रकार के व्यंजन बनाने में भी किया जाता है. बच्चों के लिए अखरोट की कैंडी निम्न विधि से बनाई जा सकती है

अखरोट कैंडी बनाने की विधि (Walnut candy recipes) –

   सामग्री

  • चीनी – ¼ कप
  • शहद – 1 चम्मच
  • पानी – 2 कप
  • नमक – स्वादनुसार
  • अखरोट – 3-4 कप
  • एल्युमीनियम फॉयल
  • बेकिंग शीट

   विधि

  • बेकिंग शीट और एल्युमीनियम फॉयल को एक साथ लाइन में रखिये.
  • एक बर्तन में नमक, पानी, शहद, चीनी को एक साथ मिलाइए.
  • अब इस मिश्रण को गैस पर 3-4 मिनिट के लिए मध्यम आंच में रख दीजिये.
  • अब इसमें अखरोट डालकर आंच धीमी कर दीजिये.
  • यह तब तक रखिये जब तक मिश्रण सुनहरे रंग का ना हो जाये.
  • अब इस मिश्रण को बेकिंग शीट पर फैला दीजिये.
  • इसे ठंडा होने दीजिये और छोटे –छोटे भाग में काट लीजिये.
  • फिर इसे फ्रिज में रख दीजिये.
  • इसे वायु रहित डिब्बे में रखिये जिससे यह ख़राब नही होगा.

इस तरह यह बच्चों का पसंदीदा व्यंजन तैयार हो जायेगा. ऐसे ही अखरोट का इस्तेमाल और भी कई प्रकार के व्यंजन में किया जा सकता है.

  • अखरोट का उपयोग बिस्कुट, मिठाई और केक में भी किया जा सकता है.
  • अखरोट का उपयोग घर में बनाई हुई मिठाई, सलाद, और दही से बनी चीजो में उपरी परत में सजावट के लिए भी किया जा सकता है. दही के फायदे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

इस तरह अखरोट खाने से कुछ फ़ायदे है और कुछ नुकसान भी है. इसलिए अखरोट का इस्तेमाल संभल कर और डॉक्टर की सलाह से करना चाहिए.

Surbhi

सुरभिदीपावली वेबसाइट की लेखिका है| जिनको जीवनी व हिंदी के अन्य सभी विषयों मे लिखने का शोक है|

यह भी देखे

raisins

मुनक्का या किशमिश के फ़ायदे व नुकसान | Raisins benefits and side effects in hindi

Raisins benefits and side effects in hindi मुनक्का अर्थात किशमिश को पुराने ज़माने से स्वास्थ्य के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *