ताज़ा खबर
Home / सेहत / स्वस्थ आहार क्या है और कैसे खाएँ | What is healthy diet and how to eat in hindi

स्वस्थ आहार क्या है और कैसे खाएँ | What is healthy diet and how to eat in hindi

What is healthy diet and how to eat in hindi स्वस्थ आहार लेना सभी चाहते हैं, पर पता नहीं होता कि कौन सी खाने पीने कि चीज़े हमारे लिए जरुरी हैं . हम बस इतना ही जानते हैं कि oil, Ghee, butter, sugar etc. हमारे लिए हानिकारक हैं पर ऐसा नहीं हैं .सभी चीजों की एक सीमित मात्रा हमारे लिए जरुरी हैं .इस आर्टिकल में बताया जा रहा हैं कि आप क्या चीजे खा सकते हैं जो आपको स्वस्थ बनाने में सहायक हैं .

स्वस्थ आहार क्या है  और कैसे खाएँ?

What is healthy diet in hindi

healthy1

Following points would help you for having a healthy life:

  • Soup (सूप):
    पालक, टमाटर, गाजर, लोकी, मिक्स वेजीटेबल  यह सभी सूप आपके लिए उपयोगी हैं .
  • Liquids:
    छांछ (thin buttermilk), नारियल पानी (coconut water), जूस (संतरा, मौसम्बी आदि)
  • vegetables (सब्जियां):
    हरी पत्तेदार सब्जियां , पत्तागोभी, कद्दू, लोकी, ककड़ी (cucumber), प्याज, टमाटर, गाजर , करेला, भिन्डी, फूलगोभी, शिमला मिर्ची, फल्लिया (beans), गिलकी .
  • Grains (अनाज) :
    गेहूं , दलिया, रवा, कुरमुरा,जों .
  • दाले (pulses):
    खड़ा मूंग , चावली, मोठ, सोयाबीन, राजमा, green and yellow मूंग दाल .
  • Milk/Milk Product (दूध के सामान):
    दही (curd without cream), skimmed milk (दूध को उबालने के बाद उसे फ्रिज में रखे दुसरे दिन सुबह उसकी मलाई हटाकर या उसे छान कर उपयोग करे), छाछ.
  • Non-Veg (नॉन वेज):
    यह माना जाता हैं कि नॉन वेज सेहत के लिए ख़राब होता हैं जो कि बिलकुल गलत है. इसकी भी उचित मात्रा बहुत जरुरी हैं . नॉनवेज में हाई प्रोटीन होता हैं . इसके अलावा अंडा भी बहुत फायदेमंद होता है. अंडा का सफ़ेद व् पीला भाग दोनों ही  बहुत फायदे मंद हैं . मछली, चिकन सभी कि उचित मात्रा खाना चाहिए, इससे शरीर में सभी तरह के पोषक तत्व मिलते है . इसमें कोलेस्ट्रोल की मात्रा कम होती है, ओमेगा 3 व् फैटी एसिड भी प्रचुर मात्रा में  होता हैं . नॉनवेज को उबालकर, भाप के द्वारा पका कर, ग्रिल कर के, रोस्ट या बेक कर के खाना चाहिए. चिकन को फ्राई करके खाने से ये शरीर को नुकसान पहुंचाता है, व् बहुत हैवी भी हो जाता है.
  • Sugar (शक्कर):
    शक्कर की मात्रा कम से कम ही रखे, दिन भर में 2 tsp शक्कर ही की जरूरत हमारे शरीर को होती है, इतनी ही लें. इससे ज्यादा लेने से ये फैट में बदलने लगती है.
  • Water (पानी):
    12 to 15 गिलास पानी ले. बहुत अधिक ठंडा पानी ना ले . और पानी की अधिकतम मात्रा दिन के समय यानि शाम 7 के पहले ही लें. इसके बाद 1-2 गिलास से ज्यादा न पियें.
  • oil (तेल):
    एक दिन में 2 से 3 tsp तेल शरीर  के लिए पर्याप्त हैं .
  • Fruits (फल):
    रोज 2 से 3 फल जरुर ले . यह आपके भोजन के आवश्यक तत्व आपके शरीर तक पहुँचाने में सहायक होते हैं . सेव(Apple) , पपीता (papaya) , संतरा(Orange) ,  मौसंबी (Sweet lemon) , तरबूज (water melon) , आडू (peach) , अमरुद  (guava) , बेर (plum),  लीची (lichi) यह सभी फल सेहत के लिए अच्छे हैं . लेकिन आम (mango) , अंगूर (grapes) , चीकू (chiku) एवम केला (banana) ना ले .
  • उपवास (fast):
    उपवास का हिन्दू रीती रिवाज में एक अहम हिस्सा हैं. वैसे हफ्ते  में एक दिन कुछ न खाना फायदेमंद होता हैं, जिसके लिए उपवास एक अच्छा बहाना हैं. पर अगर आप इस एक दिन भूखा नहीं रह सकते, तो साबूदाना और आलू जैसी चीजे खाकर अपने पुरे महीने को ना ख़राब करे. उपवास के नाम पर आजकल अधिक घी, तेल, वसायुक्त खाना खाया जाता है, जो कि शरीर के लिए नुकसानदेह है. पूरा दिन भूखा रहकर एक बार में इतना हैवी खाना बहुत सी परेशानियों की वजह बन जाता है. उपवास के दिन आप skimmed milk, दही, लस्सी, एवम छाछ ले और इसके अलावा फल, जूस, नारियल पानी, सूप भी बना के ले सकते है. इसके अलावा आप खाने में राजगीरा, मोरधन, मूंगफली भी ले सकते हैं. हाँ लेकिन उपवास के दिन भूखे न रहें, कुछ न कुछखाते रहें.

 इस तरह के खाने को बिलकुल न खाएं (Foods to be avoided for healthy diet):

1. डीप फ्राई(deep fried) : पूरी, भजिया, पराठे, आचार, कचोरी, समोसा, पापड़
2. जैम, केक, मिठाइयाँ, पेस्ट्री, पुडिंग, आइसक्रीम, कस्टर्ड, खीर
3. सब्जी (vegetables): आलू, अरबी, सुरन, गराडू
4. बटर, चीज, म्योनीस (mayonnaise)
5. अत्याधिक मात्रा में ड्राई फ्रूट नारियल, नट्स न सेवन न करें. एक सिमित मात्रा में इन्हें खाया जा सकता है.
6. अल्कोहल, सॉफ्ट ड्रिंक, सोडा, कैन जूस
8. नूडल्स, पिज़्ज़ा, बर्गर, पास्ता, मक्रोनी, साबूदाना, चावल
9. preserved food
10. Full cream Milk

ध्यान रखने योग्य बाते :

  • सुबह का नाश्ता (Breakfast) जरुरी है, इसे कभी भी मिस ना करे .
  • ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के बीच ज्यादा लम्बा गैप ना दे . अधिक समय भूखा रहने से BMR (body का METABOLISM Rate कम होता है जिससे वजन एवम फैट बढ़ता हैं)
  • खाने को एन्जॉय करके खाएं . टीवी देखते हुए, मोबाइल या लैपटॉप चलाते हुए बिलकुल  ना खाये .
  • धीरे धीरे एवम चबा चबा कर ही खाना खाये .
  • भोजन के बीच में पानी ना ले .
  • दो से ज्यादा चाय/काफी ना ले . हो सके तो बलैक टी/ ब्लैक काफी/ ग्रीन टी ले, लेकिन ज्यादा नहीं .

स्वस्थ्य शरीर में स्वस्थ्य मस्तिष्क का वास हैं . पेट भरने के लिए ही कमाया जाता है, अगर भूख नाम की चीज ना होती तो आप और हम कभी इतना ना पढ़ते और ना कमाने के लिए इतनी मेहनत करते, पर हम भाग दौड़ की ज़िन्दगी में यह भूल गए हैं, कि शरीर का हेल्थी रहना कितना जरुरी हैं .

अगर अपनी खाने की आदत पर आपका कण्ट्रोल होगा, तो कोई बीमारी आपके शरीर पर घर नहीं कर सकेगी. स्वस्थ रहने से हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. छोटे मोटे इन्फेक्शन से हमारे शरीर में कोई फर्क नहीं पड़ता है.

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

यह भी देखे

palak juice

पालक के फायदे व नुकसान | Spinach benefits and side effects in hindi

Spinach (Palak) ke benefits (fayde) and side effects in hindi हरी पत्तेदार सब्जी खाने की …

3 comments

  1. Is it true if we eat rice at night do we put on weight ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *