ताज़ा खबर

Will Kejriwal be a Prime Minister ?

AAP_CHIEF_ARVIND_K_1698740f

Kejariwal की जीत को देखकर एक ही dialog याद आता है “कहते है अगर किसी चीज को दिल से पाना चाहों, तो सारी कायनाथ तुम्हे उससे मिलाने की कोशिश में लग जाती है |” “कितनी शिद्दत से तुम्हे पाने की कोशिश की, कि हर ज़र्रे ने तुम्हे, मुझसे मिलाने की साजिश की” ओम शांति ओम का यह डायलॉग Aap की जीत का आधार बन गई है यह नेता की नहीं जनता की जीत है |
Arvind Kejriwal Delhi के chief minister तो बन ही गए है लेकिन उनकी fans following को देख कर ऐसा लगता है जैसे future में Arvind prime minister पद के प्रबल दावेदार हो सकते है | जिस तरह रामलीला मैदान में इतनी ठण्ड में लगभग 1 लाख लोगो की भीड़ ने उनका बिना किसी political career के जोरो शोरो से अभिवादन किया,यह बहुत बड़ी बात है | Delhi एक ऐसी जगह है जहां famous politician का होना आम बात है जैसे Mumbai को film star का होना | Delhi में लोगो की इस तरह की दिवानगी आम संकेत नहीं है | आज बच्चा बच्चा Kejriwal को जानता है |
हर तरफ से इतनी लुट मची है और आम आदमी इस कदर घबरा चूका है कि उसके पास किसी नए व्यक्ति पर भरोसा करने के अलावा कोई option नहीं है|kejriwal अपने वादे पुरे कर पाते है या नहीं, यह कोई नहीं जानता,लेकिन उनकी जीत से जरूरी था उन नेताओं को समझाना, जिन्होंने देश को अपनी जागीर समझ रखा है| आज उन्हें भी पता चल जायेगा कि मतदान में क्या ताकत होती है, अगर वो सही तरह से चलते तो कभी उनका यह हाल नहीं होता, कम से कम मत दान की शक्ति का आभास देश के हर नागरिक और नेताओ को पता चल ही गया |
आम आदमी को सोंच है कि बिना पढ़ा लिखा व्यक्ति नेता तो बन ही सकता है| कितने शर्म की बात है कि देश की बड़ी बड़ी responsibility एक अनपढ़ व्यक्ति या कम पढ़े लिखे व्यक्ति के हांथों में हो| कई नेता तो खुद जेल में बैठकर election लड़ते है और जीत भी जाते है| शायद उनका सोंचना है कि हमारे प्रिय नेता नेहरु जी, इन्दिरा, शास्त्री जी आदि जैसे महान व्यक्ति भी जेल गए थे पर उन्हें कौन समझाये कि वह सभी देश को बचाने के लिए जेल गए थे ,ना कि देश को खाने के लिए | आज यह परिभाषा बदल चुकी है स्वतन्त्रता के वक्त जेल जाना गर्व की बात थी और आज जेल जाना निहायत ही शर्म की बात है |
खैर, आज देश की राजधानी के लोग जाग चुके है, यह बहुत अच्छी और बड़ी शुरुवात है| अब इसे पुरे देश में फैलाना आम आदमी का कर्तव्य है | मतदान की ताकत का ऐसा असर बरसों बाद लोगो ने देखा, शायद कईयों ने पहली बार ही इस ताकत को समझा |अब हर एक आम सच्चा आदमी देश की राजनीति में बैखोफ आ सकता है क्यूंकि जनता ने यह विश्वास उत्पन्न किया है कि वो सच्चाई के साथ है | शुरुवातो दौर में जब झाड़ू का sign जगह जगह दिखता था, तब हर व्यक्ति हंसी उड़ाता था और यह दिल्ली तक ही नहीं बल्कि दुसरे शहरों में भी एक मजाक की तरह लिया जाता था, लेकिन आज वही sign और उसकी party Delhi की government बना चुकी है, इतनी तेजी से आगे बड़ना आसान नहीं है पर सच्चाई का साथ तो भगवान खुद देते है |
जो नेता यह कहते है कि Kejriwal को politics की समझ नहीं है हम उनसे पूछते है क्या वो लोकतंत्र को समझते है ? नेता को देश भक्त होना चाहिए और जो देश भक्त होता है वो कभी नहीं हारता,किसी देश भक्त को लालचा नहीं होती, न सत्ता की लालच, न पैसो की लालच | लेकिन अगर kejriwal और उनकी team politics नहीं समझती तो क्या यहाँ तक पहुँच पाती ? बिना किसी political background के इस जगह को महज़ first attempt में बड़े बड़े दिग्गजों ने हासिल नहीं किया | इसी तरह यह कहना गलत नहीं होगा कि Kejriwal भविष्य में प्रधानमंत्री बन सकते है |
Kejriwal को इस जगह पर पहुँचाने का पूरा श्रेय Anna को जाता है, भले ही Anna, Kejriwal से नाराज है लेकिन भारत के स्वतन्त्रता की लड़ाई में भी दो दल हुआ करते थे नरम दल एवम गरम दल,दोनों ही दलों का उद्देश्य देश की स्वतन्त्रता था | वैसे ही आज देश को भ्रष्टाचार मुक्त करना और एक स्वच्छ राजनीति देश को देना, यही Aam Aadmi Party (Aap) और Anna का उद्देश्य है | इतिहास में भी गुरु, चेले आमने सामने आये है, महाभारत में अर्जुन और द्रोण आमने सामने थे, लेकिन दोनों चाहते बस धर्म की रक्षा थे पर वो दोनों अपनी अपनी जगह पर धर्म के नाते बंधे हुए थे, इसलिए आमने सामने थे पर अलग अलग नहीं | आज वैसे ही Kejriwal के साथ Anna प्रत्यक्ष रूप से नहीं खड़े है पर हाँ वो उनसे अलग भी नहीं है |
दिल्ली की जनता से सीखने की जरुरत है, सच का रास्ता कठिन है पर नामुमकिन नहीं | अगर हम सभी जाग जाते है तो हमारा देश भी विकासशील नहीं, विकसित देश के गिनती में खड़ा होगा |देश को जरुरत है सच्चे नेता की और नेता को जरुरत है सच्चे साथियों की|

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *