ताज़ा खबर

ये जो है ज़िन्दगी सीरियल जानकारी | Yeh Jo Hai Zindagi TV Serial in hindi

Yeh jo hai zindagi tv serial in hindi “ये जो है ज़िन्दगी, थोड़ी खट्टी थोड़ी मीठी, फिर भी हंस कर इसे जीने का एक अलग ही है मजा|” ये लाइन हमारे जीवन को चरितार्थ करती है. हमारे जीवन में भी कभी उतार चढाव, कभी ख़ुशी कभी गम होते, लेकिन हंस कर जिंदगी के सब कठिनाईयों को पार करने में एक अलग ही मजा होता है| ये जो है ज़िन्दगी सीरियल भी हमें यही सिखाता है| दूरदर्शन में आने वाले इस सीरियल ने अपने कांसेप्ट की वजह से बहुत लोकप्रियता हासिल की थी| पहले दूरदर्शन के सीरियल की ये खास बात होती थी, इसमें दिखाए जाने वाले सीरियल में यहाँ वहां बिना सर पैर की, जिसका जीवन से कोई लेना देना ही नहीं होता है, उस टाइप का कुछ नहीं दिखाया जाता था| इसके सीरियल की कहानी ज्यादातर साधारण सी, आम आदमी की होती थी| देख भाई देख, पड़ोसन, फौजी, नुक्कड़, बागले की दुनिया ऐसे ही कुछ सीरियल है|

ये जो है ज़िन्दगी सीरियल जानकारी

Yeh Jo Hai Zindagi TV Serial in hindi

दूरदर्शन के ये पुराने सीरियल हमारी धरोहर की तरह है, जिसे हम संभाल कर रखना चाहते है| इन सीरियल को जिसने देखा है, वो आज भी इसके बारे में बातें करते है, दूरदर्शन के उस दौर को याद करते है| कई ऐसे लोग है, जो चाहते है ये सीरियल वापस टीवी पर दिखाए जाने लगे| इन सीरियल को सब ओरिजिनल रूप में ही देखना चाहते है, क्यूंकि अगर आज इन सीरियल को बनाया जायेगा तो उसमें 21वीं सदी की झलक होगी, जो उस पुरानी याद से हमें दूर कर देगी|

Yeh jo hai zindagi serial

ये जो है ज़िन्दगी सीरियल मुख्य जानकारी, स्टार कास्ट (Yeh jo hai zindagi serial cast) –

1. प्रेजेंट बय ओबरॉय फिल्म
2. लेखक शरद जोशी
3. निर्माता परेश नंदा, मीना ब्रोका, परवेज मलिक
4. निर्देशक मंजुल सिन्हा, कुंदन शाह, रमण कुमार
5. सह निर्देशक अशोक पंडित
6. थीम सोंग लेखक – विनोद शर्मा

गायक – किशोर कुमार

7. म्यूजिक अजीत सिंह
8. कलाकार शफ़ी ईमानदार, स्वरुप संपत, राकेश बेदी, सतीश शाह, टिकू तलसानिया, फरीदा जलाल, सुलभा आर्य, विजय कश्यप, रीना वाधवा, जावेद खान अमरोही, जतिन कनाकिया
9. एपिसोड 61 (2 सीजन)

ये जो है ज़िन्दगी सीरियल (Yeh jo hai zindagi serial)–

ये जो है ज़िन्दगी सीरियल 1984 में आना शुरू हुआ था, जो हर शुक्रवार रात 9 बजे आया करता था| सीरियल 20-25 min का आता था| कहते है सीरियल के टेलीकास्ट के समय फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी असर पड़ता था. रात को जब ये शुक्रवार को आता था, फिल्म हॉल खाली रहते थे| सीरियल की लोकप्रियता इतनी की आज भी इस सीरियल की कॉपी लन्दन की एक गैलरी में संभाल कर रखी गई है|

सीरियल के टाइटल ट्रैक को महान गायक किशोर कुमार ने गया था, जो अपने आप में एक बड़ी बात है| किशोर जी की आवाज के दीवाने तब से लेकर आज भी लोग है| इस सीरियल के टाइटल सोंग को आज भी गुनगुनाया जाता है|

ये जो है ज़िन्दगी सीरियल कहानी (Yeh jo hai zindagi serial story) –

ये जो है ज़िन्दगी दूरदर्शन पर आने वाला पहला कॉमेडी सीरियल था| 1984 में आया ये सीरियल ये आम परिवार की कहानी थी, जिसमें रोजमर्रा की कहानी को नाटकीय, कॉमेडी ढंग से प्रस्तुत किया जाता था| सीरियल की कहानी शादीशुदा जोड़े रंजित वर्मा, उनकी पत्नी रेनू वर्मा व् रेनू के भाई राजा के इर्द गिर्द घुमती है| इसके अलावा सीरियल में वर्मा परिवार के बंगाली पड़ोसी भी थे, रंजित का बोस भी था| सीरियल में हर एपिसोड में नई कहानी होती थी| सीरियल का मुख्य आकर्षण सतीश शाह थे, जो हर एपिसोड में अलग अलग रूप में नजर आते थे| 80 के दशक में सतीश शाह को कॉमेडी का किंग कहा जाता था| सीरियल के एपिसोड में कभी रंजित रेनू के बीच लड़ाई दिखाई जाती है, तो कभी रेनू को बचत करने का भूत सवार हो जाता है| इसमें छोटे से छोटे मुद्दे को उठाया जाता था, जैसे बॉस का घर आना, पड़ोसी के घर शादी, घर में अचानक मेहमान का आना, डाइटिंग आदि|

सीरियल की लोकप्रियता को देखते हुए, इसका दूसरा सीजन भी लाया गया| इसकी कहानी में बदलाव किया गया, इसमें रंजित और रेनू विदेश चले जाते है, और राजा रंजित की आंटी (फरीदा जलाल) के साथ रहता है, इनके साथ उनका नौकर (जावेद खान) भी रहता है| दुसरे सीजन की राजा और उसकी गर्लफ्रेंड निवेदिता के उपर रहती है| दूसरा सीजन लम्बा चलता है, लेकिन इसको पहले जितनी लोकप्रियता नहीं मिलती है|

ये जो है ज़िन्दगी सीरियल कास्ट डिटेल्स –

  • शफ़ी ईमानदार – सीरियल में मुख्य किरदार निभाते है, जिनका नाम रंजित वर्मा होता है| ये मध्यम परिवार का होता है, जो अपनी बीवी रेनू के साथ रहता है| रेनू का भाई भी इनके साथ रहता है, जिससे रंजित परेशान रहता है| शफ़ी एक महान कलाकार है, जिन्होंने टीवी सीरियल के अलावा बहुत सी बॉलीवुड फ़िल्में भी की थी| शफ़ी की मौत 13 मार्च 1996 को हार्ट अटैक के चलते हो गई थी|
  • स्वरुप संपत – रेनू वर्मा का ये किरदार एक कामकाजी औरत का था, जो घर के साथ साथ बाहर काम भी करती थी| रेनू एक आम औरत की तरह थी, जो हर छोटे बड़े मुद्दे पर अपने पति से लड़ाई करती थी| स्वरुप संपत ने 1979 में मिस इंडिया का ख़िताब हासिल किया था| स्वरुप को उस समय कई सीरियल फ़िल्में ऑफर हुई, लेकिन उन्होंने सब मना कर दिया और ये जो है ज़िन्दगी चुना, क्यूंकि उन्हें लगता था, ये किरदार ज्यादा अच्छा और क्रिएटिव है| स्वरुप बॉलीवुड के महान कलाकार परेश रावल जी की पत्नी है, जो अब कुछ फिल्म में नजर आती है| आखिरी बार वो करीना की फिल्म की एंड का में नजर आई थी|
  • राकेश बेदी – रेनू के भाई राजा होते है, जो बेरोजगार और कुवारा है| राजा की बेरोजगारी से उसके दीदी, जीजा दोनों परेशान रहते है| राजा हर आती जाती लड़की को लाइन मारता रहता है| राकेश बेदी टीवी में एक जाना माना नाम है, जिन्होंने बहुत सी फिल्मों में भी काम किया है|
  • सतीश शाह – कॉमेडी किंग सतीश शाह को किसी परिचय की जरुरत नहीं है| इस सीरियल में सतीश हर एपिसोड में जान डाल देते थे, वे कभी वकील, डोक्टर, दोस्त, मेहमान के रूप में नजर आते|
  • फरीदा जलाल – रंजित की आंटी होती है| जो कुछ कुछ एपिसोड में नजर आती थी|

सीरियल में अपने आप में एक नयापन था, इसे आज भी आप देखोगे तो लगेगा की नहीं कि ये 22 साल पुराना है| सीरियल की कहानी को आज भी हम अपनी ज़िन्दगी की कहानी से जोड़ सकते है|

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *