5 साल मोदी सरकार के काम | 5 Year Modi Government information in hindi

5 साल मोदी सरकार की जानकारी ( 5 Saal Modi Sarkar or 5 years modi government information in hindi)

साल 2019 में मोदी सरकार के कार्यकाल के 5 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं. इस साल अप्रैल – मई में आम चुनाव होने वाले हैं. जिसमें यह पता चलेगा कि क्या मोदी जी अपने द्वारा किये कार्यों में सफल हो पाए है या नहीं एवं क्या लोग उन्हें वोट देकर फिर से भारत का प्रधानमंत्री बनायेंगे या नहीं. खैर यह तो जब चुनाव होगा, तब पता चल ही जायेगा. किन्तु अभी हम इस लेख में आपको मोदी जी के पिछले 5 वर्षों में किये गए कार्यों और उससे होने वाले प्रभाव की जानकारी दे रहे हैं.

5 saal modi sarkar

मोदी सरकार के कार्यकाल में न केवल जीडीपी के बेहतर प्रदर्शन के लिए पिछले आकड़ों में वृद्धि हुई है, बल्कि घाटे, सब्सिडी, लोन और कीमतों पर भी जोर दिया गया है. इसके अलावा उन्होंने विदेशी निवेशों को काफी आकर्षित किया है, और साथ ही उद्योग में निजी घरेलू निवेश को पुनर्जीवित करने के लिए संघर्ष कर उन्होंने यह साबित किया, कि जिन नौकरियों का उन्होंने वादा किया था, उसे उन्होंने पैदा किया है. मोदी सरकार के 5 सालों के कार्यों को आप निम्न बिन्दुओं के आधार पर समझने की कोशिश करें.

  • नोटबंदी द्वारा विकास में कोई कमी नहीं आई :- नोटबंदी के बाद भारत सन 2018 में फ्रांस को पीछे छोड़ते हुए 6 वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया है. यह सन 2020 में यूके, जोकि 5 वें स्थान पर है, उसकी जगह भी ले सकता है. सन 2000 के बाद से विश्व की अर्थव्यवस्था में भारत की हिस्सेदारी 1.5 % से 3.2 % हो गई है. हालांकि इस अवधि में चीन का हिस्सा 3.6 % से बढ़कर 15 % हो गया है. मोदी सरकार के कार्यकाल में जीडीपी का विकास रिकॉर्ड पिछले 5 सालों में 7.6 % रहा है.
  • डॉलर के मुकाबले रुपया 18 % गिरा :- कहा जा रहा है कि पहले से अब तक में डॉलर के मुकाबले रूपये में 18 % की गिरावट आई है.
  • राष्ट्रीय आय में कृषि की हिस्सेदारी में गिरावट आई है :- सन 2017 – 18 में कृषि क्षेत्र का जीडीपी में योगदान 15 % गिरा है और आगे भी यह कम होता जा रहा है. और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में आ रहा यह संकट लॉन्ग – टर्म ट्रेंड का एक लक्षण कहा जा रहा है.
  • सब्सिडी भी नीचे आ गई है :- सन 2012 – 13 में कुल खर्च के 18.2 % की सब्सिडी में सन 2016-17 में 11.8 % तक की कमी आई है.
  • जाँच में कमी :– रोजकोषीय घाटा एक प्रतिशत से अधिक नीचे आया है, जिससे सन 2013 – 14 के बाद विश्व स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में कमी आई है.
  • विदेशी निवेश में वृद्धि :- मोदी सरकार के पिछले 4 वर्षों के दौरान 2017-18 में विदेशी निवेश ने 61 बिलियन डॉलर को पार करते हुए, पिछला रिकॉर्ड तोड़ दिया. इस निवेश का एक हिस्सा मौजूदा व्यवसायों को प्राप्त करने के लिए था, ना कि नये लोगों को स्थापित करने के लिए था.
  • जॉब उत्पन्न करने में सरकार का कदम :- सन 2016 में उन बेरोजगार लोगों की दर जो अपने लिए नौकरी की तलाश नहीं कर रहे थे 17.3 % थी, जो जनवरी 2018 में 7.5 % और दिसम्बर 2018 में 9.5 % तक पहुँच गई. वहीँ उन बेरोजगार लोगों की दर जो अपने लिए नौकरी की तलाश कर रहे थे 8.7 % थी, जो जनवरी 2018 में 5 % और दिसंबर 2018 में 7.3 % तक पहुंच गई.
  • गरीबी में गिरावट भी आई है :- सन 2004-05 में ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी की दर 41.8 % एवं शहरी क्षेत्रों में 25.7 % थी, जोकि गिरते – गिरते सन 2018 से अब तक में ग्रामीण क्षेत्र में 4.25 % एवं शहरी क्षेत्र में 3.79 % हो गई है.

मोदी सरकार की चौथी वर्षगाँठ का समारोह (Modi Government’s 4 Year Anniversary Celebration)

मोदी सरकार की चौथी वर्षगाँठ समारोह में कुछ निम्न बिन्दुओं पर ध्यान केन्द्रित किया-

  • मोदी जी पिछले 4 सालों में अपनी सरकार की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए रैलियों को संबोधित करेंगे. पार्टी कई राज्यों में रैलियों का आयोजन करेगी, खास कर उन राज्यों में रैलियों का आयोजन किया जायेगा, जो चुनाव क्षेत्र से हैं जैसे राजस्थान और मध्यप्रदेश.
  • वर्षगाँठ समारोह में लोकसभा की बड़ी राजनीतिक लड़ाई पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा, जो दूर नहीं हैं.
  • इसके अलावा, वर्षगाँठ समारोह मनाने की तैयारी करने के लिए चार केन्द्रीय मंत्रियों की एक समिति का गठन किया गया हैं. जिसमें सड़क परिवहन मंत्री, रेल मंत्री, पेट्रोलियम मंत्री एवं सूचना तथा प्रसारण मंत्री शामिल हैं.
  • एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के मुताबिक छोटे वीडियो और स्लाइड शो के माध्यम से एनडीए सरकार की पहलों को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों के माध्यम से उजागर किया जायेगा.
  • मोदी जी द्वारा एक पुस्तिका का शुभारंभ किया जाएगा, जिसमें उनके पिछले 4 सालों में किये गए कार्यों का बखान किया गया है.
  • सूत्रों के अनुसार, इस साल के उत्सव का विषय यह है कि इस साल मुख्य रूप से उन लाभार्थियों को आमंत्रित किया जायेगा, जोकि उज्वाला योजना, सौभाग्य योजना एवं प्रधानमंत्री आवास योजना जैसी सरकार की गरीब परिवारों के लिए की गई पहलों से लाभ प्राप्त कर रहे हैं.
  • सरकार विपक्ष के आरोपों का पिछले चार वर्षों में किये गये पहलुओं के पूर्ण तत्थों और आकड़ों एवं समाज के गरीब वर्ग को कैसे फायदा पहुंचा हैं, जैसे मुद्दों के साथ मुकाबला करेगी.

मोदी सरकार द्वारा सन 2019 तक किये गये कार्य (Work Done By Modi Government Till 2019)

सरकार ने बैंकिंग, बिजली, टैक्सेशन एवं व्यापार रैंकिंग समेत कई कार्यों में आसान सुधार लाने के लिए कई कार्य किये.  इनमे से कुछ इस प्रकार हैं-

  • GST का कार्यान्वयन :- यह देश की अर्थव्यवस्था में सुधार लाने का इस साल का एक मात्र सबसे बड़ा कार्य था. शुरूआती परेशानियों के बाद हाल के महीनों में GST के माध्यम से राजस्व संग्रह स्थिर हो गया. जिससे ये कहा जा सकता है कि जी एस टी बिल लाना एक बहुत अच्छा कदम था.
  • करदाताओं की संख्या में वृद्धी :- इस साल यानि सन 2017-18 में प्रत्यक्ष कर 02 लाख करोड़ रूपये के ऐतिहासिक आकड़ें पर पहुँच गया, जोकि पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में 18 प्रतिशत अधिक हैं. सन 2016-17 में आयकर रिटर्न की संख्या 5.43 करोड़ थी, जबकि साल 2017-18 में यह 6.78 करोड़ हो गई.
  • विदेशी निवेशकों के आकर्षण में वृद्धी :- इस साल बाहरी निवेश को अट्रेक्ट करने में प्रगति हुई हैं. सन 2016-17 में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश का प्रवाह 60 अरब डॉलर से अधिक हो गया था, किन्तु वित्तीय वर्ष 2018 के पहले 9 महीनों में, भारत ने 20 अरब डॉलर आकर्षित किये. सरकार ने रक्षा और विमानन जैसे संवेदनशील क्षेत्रों सहित कई क्षेत्रों में एफडीआई सीमाओं को लिब्रेलाइस्ड बनाया.
  • मजबूत अर्थव्यवस्था :- मोदी जी ने देश में पहली बुलेट ट्रेन लाने के लिए जापान के साथ हाथ मिलाया. जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था में 7% से अधिक की दर से बढ़ोत्तरी हो रही हैं, जोकि भविष्य के लिए सकारात्मक संकेतों में से एक हैं. इसके अलावा भी कई ऐसे कार्य किये गए जिससे देश की प्रगति हो.
  • मेक इन इंडिया एवं डिजिटल इंडिया प्रोग्राम :- सरकार ने आम लोगों को सीधे प्रभावित करने के लिए यह प्रोग्राम शुरू किया था. मेक इन इंडिया की घोषणा यह सुनिश्चित करने के लिए की गई कि बहुराष्ट्रीय कंपनियां देश में अपनी योजनायें शुरू करें, जिससे रोजगार पैदा हो एवं अर्थव्यवस्था में योगदान हो सके. इसके लिए कई देशों ने सम्बंधित राज्य एवं केंद्र सरकारों के साथ सौदे पर हस्ताक्षर किये. इसके अलावा डिजिटल इंडिया जैसी पहल ने भविष्य के लिए रास्ता तय किया हैं. साथ ही ई- तरीकों का प्रचार किया गया, जिससे 2020 तक सभी गांवों में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी शुरू होगी, जोकि भविष्य में सफलता का एक महान उत्प्रेरक साबित होगा.
  • स्वच्छ भारत अभियान :- जब यह पहल शुरू की गई तो लोगों द्वारा मजाक उड़ाया गया, कि सरकार इस तरह के छोटे मुद्दों को महत्त्व दे रही हैं. हलाकि पिछले ढाई सालों में इस पर गति तेज हुई हैं. बड़े शहरों ने स्वच्छता के महत्व को महसूस करना शुरू कर दिया है. रेलवे स्टेशन और सार्वजनिक स्थानों पर पहले की तुलना में काफी सफाई दिखाई देने लगी हैं.
  • ग्रामीण भारत पर विशेष ध्यान :- प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना सबसे सराहनीय योजनाओं में से एक रही है. जिस तरह से सरकार ने ग्रामीण महिलाओं तक स्वच्छ ऊर्जा पहुँचाने के लिए समान्य महिलों से उनकी सब्सिडी छोड़ने की पहल की, यह बहुत ही सराहनीय रहा. इसके अलवा कृषि सिंचाई योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना एवं सुकन्या समृधि योजना जैसी कई योजाओं पर भी विशेष ध्यान दिया गया. हाल ही में सरकार ने 100% भारतीय गांवों में विद्युतीकरण की भी घोषणा की हैं.
  • कीमत में कमी लेकिन रहने की लागत में वृद्धी : मुद्रास्फीति के आंकड़े सरकार के लिए अपनी पीठ थपथपाने का अवसर देने के लिए पर्याप्त अनुकूल है, लेकिन लोग एक ही भावना को साँझा नहीं कर सकते. लगभग 66 प्रतिशत लोग मानते है कि मोदी सरकार के तीन वर्षों में जरूरी चीजों की कीमतों और जीवन व्यय की कीमतों में वृद्धी हुई है.
  • रोजगार निर्माण सबसे बड़ी चुनौती : पिछले साल के सर्वेक्षण के मुकाबले नौकरी सृजन ने सरकार के प्रयासों से नाखुश लोगों में 20 प्रतिशत की वृद्धी हुई है. सरकार ने बुनियादी ढांचे के लिए सकारात्मक प्रभाव पैदा किया है. और लोगों का मानना है कि सिंचाई, सड़कों और दूरसंचार क्षेत्र में बुनियादी ढांचा का विकास तेजी से हो रहा है.
  • विमुद्रीकरण : भ्रष्टाचार और काले धन को बाहर करने के लिए सरकार ने एक अहम फैसला लिया 500 और 1000 के नोट को बंद कर. यह मोदी जी द्वारा किया गया एक मुख्य कार्य था. विमुद्रिकरण क्या है उसके फ़ायदे एवं नुकसान यहाँ पढ़ें.
  • सर्जिकल स्ट्राइक्स : एक सर्वे से पता चला है कि 81 प्रतिशत लोगों का मानना है कि नरेंद्र मोदी सरकार के तहत दुनिया में भारत कमि छवि और प्रभाव में सुधार हुआ है. मोदी सरकार ने पड़ोसी देश पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक की. भारतीय सेना द्वारा हुआ सर्जिकल स्ट्राइक यहाँ पढ़ें.

मोदी सरकार के द्वारा लागू की गयी योजनाए और अहम फैसले  (Modi sarkar yojana and decisions):

इन अलग अलग योजनाओ को हमने अलग अलग वर्गो मे विभाजित किया है :

  • बालिकाओ के लिए 
सुकन्या स्मृध्दि योजना   देश मे बालिकाओ के हित को देखते हुये ये योजना लागू की गयी थी, जिसके अंतर्गत बालिकाओ के नाम से खाते खोले गए. इस खाते पर 9.2% दर पर चक्रवर्ती ब्याज की घोषणा की गयी और इसे टैक्स मुक्त भी रखा गया.
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना   इस योजना की घोषणा प्रधान मंत्री जी ने पानीपत हरियाणा मे की थी. जिसके मुख्य दो उद्देश्य कन्या भ्रूण ह्त्या को रोकना और बेटियो की सुरक्षा था .
  • गरीबो और अल्पसंख्यकों के लिए
राष्ट्रीय स्वास्थ बीमा योजना   इस योजना के अंतर्गत गरीबो का मेडिकल इनशयोरेंस किया गया, इसका लाभ कर्मचारी वर्ग के अनेक लोग ले सकते है .
प्रधान मंत्री आवास योजना   इस योजना के अंतर्गत अगले 7 वर्षो मे भारत मे हर एक परिवार को अपना घर प्रदान करने का उद्देश्य रखा गया है.
अल्प संख्यक नयी मंजिल योजना   अल्प संख्यक छात्रो के शिक्षा के मार्ग मे आने वाली रुकावटो को दूर करने के उद्देश्य से यह योजना का आगाज किया गया. इस योजना मे ऐसे प्रयास किए गए, जिससे की छात्रो को कॉलेज की पढ़ाई के लिए भटकना ना पड़े और शीघ्र दाखीला मिल जाए.
जन ओषधि योजना   इस योजना के अंतर्गत आम इंसान को कम कीमत पर अच्छी दवाई उपलब्ध करने की पहल की गयी है.
पढ़ो परदेश स्कीम   यह स्कीम भी अल्प संख्यकों के लिए शुरू की गयी, इसके अंतर्गत विदेश मे अध्यन की इच्छा रखने वाले छात्रो को ऋण की ब्याज सबसिडी दी जाएगी.
प्रधान मंत्री उज्जवल योजना   इस योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा के अंतर्गत आने वाले परिवारों को फ्री एलपीजी कनैक्शन दिये जाएंगे.
  • शिक्षा संबंधित योजनाए
इबस्ता पोर्टल   यह भी डिजिटल इंडिया से जुड़ा हुआ एक प्रोजेक्ट है इस पोर्टल के जरिये छोटे शहरों और ग्राम वासियो को मदत मिलेगी उन्हे हर जानकारी इसके जरिये आसानी से मिल जाएगी परंतु इसके लिए सबसे पहले शिक्षा के क्षेत्र मे डिजिटल होना आवश्यक है.
विद्या लक्षमी पोर्टल   इस योजना के अंतर्गत छात्रो को लोन, ऋण से संबन्धित जानकारी इस पोर्टल के जरिये आसानी से मिल सकती है.
  • वृद्धो के लिए
अटल पेंशन योजना   वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट 2015 मे इस योजना की घोषणा की जिसका मुख्य उद्देश्य आम आदमी को बुढ़ापे मे कुछ राशी उसकी मदत के लिए प्रदान करना है.
प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना   जनता के भविष्य को ध्यान मे रखते हुये इस योजना को क्रियान्वयन मे लाया गया. इसके अंतर्गत कम प्रीमियम पर बीमा पॉलिसी उपलब्ध कराई गयी.
प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना   यह एक तरह की जीवन बीमा पॉलिसी है जिसके अंतर्गत किसी भी कारण से पॉलिसी धारक की मृत्यु होने पर बीमा राशी मिलने का प्रावधान है.
  • अर्थ व्यवस्था और नए उद्योगो और युवा शक्ति संबंधित योजनाए
प्रधान मंत्री मुद्रा बैंक योजना   छोटे व्यापारियो की मदत के उद्देश्य से इस योजना का आगाज किया गया. इस योजना के अंतर्गत 20 करोड़ के फ़ंड और 3 हजार करोड़ की वित्तीय मदत की घोषणा की गयी.
प्रधान मंत्री जनधन योजना   15 अगस्त 2014 के दिन प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की जिसके नियमानुसार प्रत्येक परिवार को अपना बैंक मे अकाउंट बनाना था जिसमे उन्हे 1 लाख रूपय की बीमा राशि और क्रेडिट कार्ड प्रदान किए गए.
गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम   इस स्कीम मे आपके पास रखे हुये सोने को बैंक मे रखने के एवज मे बैंक आपको ब्याज देगी तथा यह मिलने वाला ब्याज बिना किसी टैक्स के होगा.
गोल्ड बोंड स्कीम   इस स्कीम के अंतर्गत 5 ग्राम, 10 ग्राम 50 ग्राम और 100 ग्राम सोने के बोंड दिये जाएंगे. इसमे ग्राहक एक साल मे 100 ग्राम सोने के बोंड खरीद सकता है. इसके बदले ग्राहक को ब्याज दिया जाएगा.
प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना   यह योजना राष्ट्रीय कौशल विकास के उद्देश्य को लेकर लायी गयी एक योजना है. इसके अंतर्गत देश के युवा वर्ग को संगठित करके उनके कौशल को निखारकर उन्हे रोजगार प्रदान करना मुख्य उद्देश्य है.
प्रधान मंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना   इस योजना को खनिज क्षेत्र से जुड़े लोगो के कल्याण के लिए शुरू किया गया इस योजना के लिए फ़ंड जिला खनिज मूलधार से लिया जाएगा.
स्टार्ट अप इंडिया स्टेंड अप इंडिया   इसके अंतर्गत छोटे बड़े उद्योगों को शुरू करने के लिए सरकार द्वारा प्रोत्साहन दिया जाएगा . इसमे लोन सुविधा, मार्गदर्शन और अनुकूल वातावरण को शामिल किया गया है.
  • अन्य योजनाए (Modi Government other yojana and decisions) 
डिजिटल लॉकर   डिजिटल लॉकर डिजिटल इंडिया की और पहला कदम था परंतु इसके लिए भी व्यक्ति के पास आधार कार्ड होना जरूरी है और इसके लिए व्यक्ति को थोड़ा बहुत टेक्नालॉजी का ज्ञान भी आवश्यक है.
स्वच्छ भारत अभियान   2 अक्टूबर 2014 को इस अभियान की शुरवात की गयी और इसमे सबसे पहले गंगा के तट को साफ किया गया और सन 2019 तक पूरे भारत को स्वच्छ बनाने की बात काही गयी.
स्मार्ट सिटि योजना   इस योजना के अंतर्गत पूरे भारत मे 100 शहरो को स्मार्ट सिटि बनाने की योजना है और जिसमे हर राज्य से कम से कम एक शहर शामिल किया गया है.
न्यू पेंशन स्कीम   इस योजना का मुख्य उद्देश्य वृद्धा अवस्था मे आर्थिक सहायता प्रदान करना है ताकि वृध्दा अवस्था मे व्यक्ति को जीवन यापन के लिए कुछ राशी मिल सके.
रक्षा बंधन योजना   इस योजना की शुरवात रक्षा बंधन के अवसर पर भाइयो को बहनो के प्रति कर्तव्य निष्ठ बनाने और बचत के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से की गयी थी. इसमे बहुत कम राशी 5000 रूपय पर एफ़डी प्रदान की गयी और इस पर जीवन बीमा पॉलिसी और दुर्घटना बीमा पॉलिसी देने की घोषणा की गयी.
डिजिटल इंडिया   इस व्यवस्था का मुख्य उद्देश्य ग्राम पंचायत को इंटरनेट के जरिये जोड़ा जाना है ताकि अर्थ व्यवस्था मे सुधार किया जा सके.
वन रेंक वन पेंशन स्कीम   यह सैन्य कर्मियों के लिए लायी गयी योजना है परंतु इस योजना का लाभ वीआरएस पूर्व रिटायरमेंट लेने वाले व्यक्ति नहीं ले पाएंगे .
फसल बीमा योजना   इस योजना का मुख्य उद्देश्य मौसम की मार से प्रभावित किसानो को लाभान्वित करना है. इसके जरिये करीब 13 करोड किसानो को खेती के लिए, लिए गए लोन मे राहत दी गयी.
एक भारत श्रेष्ठ भारत   इस योजना के अंतर्गत अलग अलग राज्य एक दूसरे की भाषा और सभ्यता का प्रचार करेंगे ताकि इनमे आपसी मतभेद को भूलकर एकता का भाव आ सके.
रियल स्टेट बिल   इस योजना के अंतर्गत आम आदमी को अपने घर के लिए बिल्डरों के द्वारा धोके का शिकार होने से बचाने के लिए कई कानून लागू किए गए तथा उसे कई अधिकार भी दिये गए.

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए कुछ अलग प्रयास  (Modi sarkar development, efforts and Achivements ):

  • अपने कार्यकाल मे अभी तक एक भी दिन की छुट्टी लिए बिना नरेंद्र मोदी जी ने एक अपने कार्य को पूर्ण लगन के साथ करने का प्रयास किया है, इसके चलते हुये उन्होने कई विदेश यात्राए की.
  • प्रधान मंत्री द्वारा नरेंद्र मोदी एप लॉंच किया गया अपने कार्य कल मे सबसे अच्छा और अलग काम मोदी जी ने अपना एप लॉंच करके किया है. इस एप के जरिये उनकी हर दिन की एक्टिविटी को इस एप मे अपडेट किया जाता है और इससे जुड़े लोग अपने प्रधान मंत्री द्वारा मैसेज और मेल प्राप्त करते है. इसे आप अपने मोबाइल के प्ले स्टोर मे जाकर डौंलोड़ कर सकते है.
  • स्वच्छ भारत की सफल शुरवात : स्वच्छता अभियान के चलते आजकल इंडिया मे कई जगह परिवर्तन हुये है. सबसे पहले देखे तो धार्मिक स्थल बनारस मे गंगा के घाट की स्थिति पहले से कई गुना सुधर गयी है और रेल्वे स्टेशन और सार्वजनिक स्थल भी अब पहले से ज्यादा साफ रहने लगे है, अगर सब कुछ इसी तरह प्रगति पर रहा और जनता का साथ रहा तो सही मे सं 2019 तक स्वच्छ भारत का सपना साकार होगा.
  • सयुक्त बैठक को संबोधित करने का मौका मिला : नरेंद्र मोदी संयुक्त बैठक को संबोधित करने वाले इंडिया के पांचवे प्रधान मंत्री है. जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्य मंत्री थे, उस समय उनकी अमेरिकी नीति को देखते हुये उन्हे यह आमत्रण दिया गया.
  • भीम एप्प लोंच किया : अपने तीसरे साल के कार्यकाल में मोदी जी ने भीम राव आंबेडकर जी के नाम पर भीम एप्प लोंच किया जोकि एक डिजिटल भुगतान एप्प है.

इन सभी बिन्दुओं के अलावा मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल में कई बड़े फैसले लिए हैं, जिसके चलते देश में काफी बदलाव आया है और उन्हें इसके लिए आगे याद भी रखा जायेगा.   

 अन्य पढ़े:

Sneha

स्नेहा ने पुणे से एमबीए किया हुआ है. दैनिक भास्कर में कुछ समय काम करने के बाद इन्होने दीपावली के लिए फाइनेंस से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया. इसके अलावा इन्हें देश दुनिया के बारे नयी-नयी जानकारी लिखना पसंद है.
Sneha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *