ताज़ा खबर

आधार पेमेंट एप डाउनलोड लाभ व उपयोग | Aadhar Payment App Download Benefits Use in hindi

Aadhar Payment App Download Benefits in hindi प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश की व्यवस्था में पारदर्शिता लाने के लिए डिजिटल प्लेटफार्म का अधिक से अधिक इस्तेमाल कर रहे हैं. इस दौरान इन्होंने ऐलान किया है कि सरकार जल्द ही पेमेंट करने के लिए एक नयी डिजिटल सुविधा को शुरू करने वाली है. इसके आरम्भ के पीछे लोगों के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान बनाना और ऐसी सुविधा को लाना है जिसे कम पढ़े लिखे लोग भी समझ सकें और प्रयोग कर सकें. आधार पे एक आधार संलग्न खाते के हिसाब से काम करेगा, जिससे सिर्फ अंगूठे की सहयता से हर तरह के लेनदेन किये जा सकेंगे. आधार कार्ड को लिंक करें यहाँ पढ़ें.

आधार पेमेंट एप क्या है और उसके लाभ व् उपयोग (Aadhar Payment merchant app Benefits and Use in hindi)

भारत सरकार देश के व्यापारियों के लिए ‘आधार पे’ नामक एक सुविधा का प्रारंभ करने वाली है. इस सुविधा के लांच के दौरान कम से कम 20 बैंकों के प्रतिनिधियों के शामिल होने की बात कही जा रही है. सरकार ने अपनी अमुद्रिकरण नीति के पहले भीम एप्लीकेशन का इजाद किया था, जिसकी सहायता से ग्राहक राशि भुगतान कर सकते थे. इसके बाद सरकार पुनः आधार ऐप की शुरुआत करने वाली है. आधार पे भुगतान का सबसे आसान और सस्ता तरीक़ा है. ये सुविधा आम नागरिकों के लिए हैं, जिसका लाभ कोई भी आदमी उठा सकता है. साथ ही इस सुविधा की सबसे बड़ी खासियत ये है कि इसके लिए लोगों को किसी भी तरह के फोन की आवश्यकता नहीं है. सरकार इस सुविधा को शहर से लेकर गाँव तक पहुँचाने में जुटी हुई है. देश की बहुत बड़ी जनसँख्या इस सुविधा को अपनाने जा रही है. सरकार ने इसके लिए एक एप्लीकेशन जारी किया है. नीचे एक एक करके इस सुविधा का वर्णन किया जा रहा है.

 

aadhaar-pay

आंबेडकर दिवस पर शुरुआत (Aadhar Payment app launch date)

प्रधानमन्त्री मोदी ने इस सुविधा को बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर के जन्मदिवस पर 14 अप्रैल से शुरू करने का ऐलान किया है. भारत के अर्थ मंत्री ने सभी आर्थिक संस्थानों को इस बात से आगाह कर दिया है कि वे जल्द से जल्द आधार पे सिस्टम के लिए तैयार हो जाएँ. इस महीने इस बात को ध्यान में रखते हुए आईडीबीआई बैंक वह पहला संस्थान बना जो इस सुविधा को अपने तंत्र में लागू कर रहा है. बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर का जीवन परिचय एवं जयंती यहाँ पढ़ें.

इस नीति से पहले प्रधानमन्त्री ने भारत इंटरफ़ेस फॉर मनी (भीम) ऐप की शुरुआत की थी, जिसे लोच करते हुए प्रधानमन्त्री ने कहा था कि वे देश के कम पढ़े लिखे नागरिक यहाँ तक कि अंगूठा छाप लोगों को भी अपने डिजिटल इंडिया की मुहीम से जोड़ना चाहते हैं. किन्तु अब इसी अंगूठे का छाप किसी व्यक्ति के बैंक, परिचय और यहाँ तक कि व्यापर का मार्ग बनेगा. प्रधानमंत्री ने राज्य सरकारों के अधीन आने वाले बैंकों को भी इस मुहीम के लिए तैयार हो जाने के लिए कहा है. सरकार के अनुसार अगले दो हफ़्तों में लगभग 5 लाख व्यापारी इस प्लेटफार्म को अमल में लाने वाले हैं. भीम एप्प और उसे डाउनलोड और उपयोग करने का तरीका यहाँ पढ़ें.

आधार भुगतान प्लेटफार्म (Aadhar Payment app Plateform)

आधार पे अन्य मशहूर डिजिटल पे जैसे पेटीएम, फ़ोनपे अथवा फ्रीचार्ज की तरह काम करेगा, किन्तु आधार इन तरीक़ों से अधिक आसान है क्यों की इसमें ग्राहक को अपने मोबाइल नंबर इस्तेमाल करने की आवश्यकता नहीं है. इसकी सहायता से एक ऐसा आदमी भी राशि भुगतान कर सकेगा जिसके पास स्मार्टफ़ोन या फ़ोन में कोई विशेष एप्लीकेशन नहीं है. नीचे इससे सम्बंधित कुछ विशेष बातें दी जा रही हैं.

  • इस सिस्टम के चलने के लिए सिर्फ दुकानदार अथवा व्यापारी के पास स्मार्टफोन रहना ही काफ़ी है. व्यापारी के स्मार्टफोन में स्थित आधार पे एप्लीकेशन पर ग्राहक को अपना फिंगर प्रिंट डालना होगा. फिंगर प्रिंट की सहायता से ही ट्रांसक्शन बहुत आसानी से किया जा सकता है.
  • इस एप्लीकेशन से आधार की सहायता से उस खाते से भुग्तान की सुविधा होगी जो आधार से संलग्न है. इससे ग्राहक को किसी तरह का अतिरिक्त शुल्क देने की आवश्यकता नहीं होगी.
  • सरकार ने राज्यों द्वारा संचालित बैंकों को PoS टर्मिनल के मासिक शुल्क 100 रूपए से अधिक का नहीं करने को कहा है. भारत में बायोमीट्रिक PoS मशीन की क़ीमत 2000 रूपए है. आधार पे की सहायता से P2P ट्रांसक्शन नही हो पायेगा क्यों कि फिंगर प्रिंट स्कैनर बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए आवश्यक होता है.
  • तात्कालिक सरकार के डेटा के अनुसार भारत में फरवरी 2017 तक 98 प्रतिशत अथवा 108 करोड़ वयस्क लोगों को आधार कार्ड दिया जा चूका है.

आधार पे एप्लीकेशन है क्या (Aadhar Pay merchant app)

बाज़ार में डिजिटल सुविधा के तहत कई पेमेंट एप्लीकेशन आए हैं, जैसे पेटीएम, फ्री चार्ज, फ़ोन पे और कई अन्य तरह के मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल डिजिटल पेमेंट के लिए किया जाता रहा है. किन्तु इसका इस्तेमाल मुख्यतः एक ख़ास तबका, जो पढ़ा- लिखा, धनी और स्मार्ट फ़ोन चलाने वाला है, वही कर पाता है. आधार पे एप्लीकेशन एक ऐसी सुविधा है जिसके इस्तेमाल के लिए ग्राहक को फ़ोन रखने की आवश्यकता नहीं होती. जिस आदमी को ग्राहक पैसे भुगतान करना चाहता है, सिर्फ और सिर्फ उसे ही स्मार्ट फ़ोन और इस एप्लीकेशन को रखने की आवश्यकता होगी. आधार कार्ड के पंजीकरण के समय लोगों को अपना बायोमीट्रिक डिटेल मसलन फिंगर प्रिंट और रेटिना स्कैन देना पडा था. आधार पे ऐप इसी बायोमेट्रिक डिटेल का इस्तेमाल करता है. आधार पे भुगतान के समय ग्राहक को भुगतान पूरा करने के लिए अपना फिंगर प्रिंट दर्ज कराना पड़ता है.

आधार पेमेंट एप्लीकेशन से लाभ (Aadhar Pay app benefits)                                    

सरकार की कोई भी योजना लोगों के जीवन को सरल बनाने के लिए होती है. ये सुविधा भी सरकार इसी मक्सद से लागू करना चाहती है, ताकि हर तरह और हर तबके के लोगों को डिजिटल प्लेटफार्म के अंतर्गत लाया जा सके. इस एप्लीकेशन से ग्राहक और व्यापारी दोनों को ही व्यापार करने में सुविधा होगी. नीचे आधार पे एप्लीकेशन के प्रयोग के लाभ दिए जा रहे है

  • इस सुविधा का लाभ उठाने वाले ग्राहक को किसी भी तरह की तकनीकी वस्तु की कोई आवाश्यक्त नहीं है. ग्राहक को सिर्फ आधार के लिए पंजीकृत होना चाहिये.
  • इसके प्रयोग को सरकार ने किसी भी तरह के अतिरिक्त शुल्क अथवा कर से मुक्त रखा है, अतः आधार पे एप्लीकेशन के इस्तेमाल के लिए ग्राहक को सर्विस टैक्स अथवा वैट नहीं देना होगा.
  • आधार पे के लिए ग्राहक को किसी डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड अथवा किसी भी तरह के पिन को याद रखने की आवश्यकता नहीं है.
  • इसके प्रयोग से बहुत ही जल्द भुगतान हो जाता है. यह एप्लीकेशन, भुगतान के लिए पाए गये फिंगर प्रिंट वाले आधार से संलग्न बैंक खाते का इस्तेमाल भुगतान के लिए करता है.

आधार पेमेंट एप्लीकेशन डाउनलोड (Aadhar Pay app download)

सरकार ने आधार पे के लिये औपचारिक रूप से एक आधार पेमेंट एप्लीकेशन वेबसाइट का निर्माण कराया है, जहाँ से इसे डाउनलोड किया जा सकता है. ये वेबसाईट है : https://aadharpaymentapp.org/. इसके अलावा इसके लॉन्च होने का बाद इसे गूगल प्ले से भी डाउनलोड किया जा सकता है. ये एप्लीकेशन सभी एंड्राइड और आईओएस यूजर के लिए उपलब्ध है. इसके इस्तेमाल से व्यापारी मास्टर कार्ड अथवा वीसा इस्तेमाल के लिए टैक्स देने से बच जाएगा. नीचे इसके लिए आवश्यक क़दमों का ज़िक्र किया जा रहा है.

  • सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर से ‘आधार पेमेंट एप्लीकेशन’ डाउनलोड करें. ये एप्लीकेशन प्ले स्टोर पर मुफ्त उपलब्ध है.
  • एप्लीकेशन पर क्लिक करके वहाँ दी गयी सभी नियम और शर्तों को पढ़ें और अग्री करें.
  • इसके बाद इन्टरनेट की सहायता से कुछ समय में एप्लीकेशन डाउनलोड हो जाएगा. डाउनलोड हो जाने पर एप्लीकेशन इनस्टॉल कर लें.
  • इस एप्लीकेशन के डाउनलोड का सही लिंक इस एप्लीकेशन के लॉन्च के बाद प्राप्त हो सकेगा. 14 अप्रैल यानि आज के दिन इस एप्लीकेशन के लॉन्च के लिए मुक़रार किया गया है.

बायोमेट्रिक रीडर कैसे इनस्टॉल करें (Biometric Reader for Aaadhar Payment)

  • ‘आधार पेमेंट एप्लीकेशन’ के डाउनलोड हो जाने के बाद अपने दूकान अथवा स्टोर में स्थित बायोमेट्रिक मशीन के साथ संलन करें.
  • इस संलग्नता के लिए आपको कुछ आवश्यक डिटेल एप्लीकेशन में देने की आवश्यक होती है.
  • इसके बाद उस बैंक के सभी डिटेल जमा करें जिसका प्रयोग आप अपने व्यापार के लिए करते हैं. ये बैंक खाता आधार कार्ड से संलग्न होना अनिवार्य है.

आधार पे के लिये आवश्यक डिटेल (Aadhar Payment app information)

हालाँकि आधार पे के लिए किसी विशेष इलेक्ट्रॉनिक मशीन की आवश्यकता नहीं है लेकिन इस एप्लीकेशन के इस्तेमाल के लिए कुछ आवश्यक जानकारी देने की आवश्यकता होती है. ग्राहक को कम से कम अपने आधार संख्या को याद रखने की आवश्यकता होती है. फिंगर प्रिंट देते समय ग्राहक को अपनी ऊँगली साफ़ रखना अनिवार्य है. नीचे कुछ आवश्यक जानाकारी का ज़िक्र किया जा रहा है.

  • ग्राहक की आवश्यक जानकरी :
  • ग्राहक की आधार कार्ड संख्या
  • एक ऐसा बैंक अकाउंट, जिससे यूजर का आधार कार्ड संलग्न हो, की सभी जानकारी
  • व्यापारी के आवश्यक जानकारी : व्यापारी को इसके इस्तेमाल के लिए कुछ अतिरिक्त सुविधाओं की आवश्यकता होती है.
  • एक बढ़िया स्मार्ट फ़ोन
  • एक अच्छा इन्टरनेट
  • आधार पेमेंट एप्लीकेशन
  • फिंगर प्रिंट स्कैनर
  • आधार संलग्न एक बैंक अकाउंट

आधार पे का कार्य प्रणाली (Aadhar Payment app operating system)       

  • व्यापारियों को इसके लिए आधार पे एप्लीकेशन तथा साथ ही अपनी दूकान पर एक फिंगर प्रिंट रखने की आवश्यकता होती है. ये फिंगर प्रिंट पेमेंट के समय स्मार्ट फ़ोन से एक यूएसबी से संलग्न होता है. स्कैनर की क़ीमत 2000 रूपए से शुरू होती है.
  • भुगतान के समय ग्राहक को अपनी आधार संख्या तथा फिंगर प्रिंट देना होता है.
  • आधार पे ऐप में आधार संख्या देने पर आधार से संलग्न सभी बैंक खाते एप्लीकेशन में दिखाई देने लगते है. ग्राहक को इन खातों में से इच्छानुसार बैंक अकाउंट चुनने का मौक़ा मिलता है. ये विकल्प तभी आएगा जब ग्राहक के एक से अधिक बैंक खाते आधार से संलग्न हो.
  • ग्राहक को अपनी ऊँगली फिंगर प्रिंट स्कैनर पर रखनी होती है. ये फिंगर प्रिंट एक तरह से पिन का काम करता है, जिसकी सहायता से ग्राहक अपना बैंक खाता भुगतान के लिए इस्तेमाल कर पाता है.
  • इसके बाद एप्लीकेशन आधार डेटा बेस में पहले से दर्ज ग्राहक के फिंगर प्रिंट से ये फिंगर प्रिंट मैच कराने की कोशिश करता है. एक बार मैच हो जाने के बाद एनसीपीआई की तरफ से एक ‘गो अहेड’ का सन्देश आता है.
  • एनसीपीआई इसके बाद एक अकाउंट से दुसरे अकाउंट में पैसे भेजने के काम को अंजाम देता है और भुगतान की प्रक्रिया पूरी हो जाती है.

आधार पेमेंट एप्लीकेशन की सीमायें (Aadhar Payment app disadvantages)

आधार पे की कुछ सीमाये भी देखी जा रही हैं, इसके कुछ सीमाएं नीचे दी जा रही हैं.

  • आधार पे एप्लीकेशन यद्यपि एक तरफ ग्राहक के लिए काफ़ी सुविधाएँ दे रहा है, किन्तु दूसरी तरफ़ व्यापारियों के लिए अतिरिक्त खर्च का कारण भी बन गया है. व्यापारियों को अतिरिक्त रूप से एक फिंगर प्रिंट स्कैनर खरीदने की ज़रुरत है. हालाँकि ये एक ही बार खरीदना होगा तथा पीओएस मशीन से सस्ता भी है.
  • इसका इस्तेमाल एक आदमी से दुसरे आदमी के बीच भुगतान के लिए नहीं किया जा सका है. क्योंकि इस ऐप में पहले से व्यापारी के बैंक की सभी जानकारी डाली हुई होती हैं और इसके लिए फिंगर प्रिंट स्कैनर की आवश्यकता होती है.
  • ये एक ऑनलाइन एप्लीकेशन है, अतः इसके लिए इन्टरनेट की आवश्यकता पड़ती है. व्यापारी के लिये इन्टरनेट भी अतिरिक्त खर्च की तरह होता है. इसके बावजूद इसका इस्तेमाल ऐसी जगहों पर नहीं किया जा सकता है जहाँ पर नेटवर्क की समस्या है. इन्टरनेट की समस्या होने पर ये सिस्टम किसी भी तरफ से काम नहीं करेगा.

आधार पेमेंट एप एवं यूपीआई एप में तूलना (Difference between UPI and Aadhar payment app)

आधार पेमेंट एप्लीकेशन तथा अन्य यूपीआई एप्लीकेशन में तुलना स्वाभाविक है. क्योंकि ये दोनों ही ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा देते है. इन दोनों ऐप की कार्यप्राणाली भी लगभग एक ही जैसी है. परिस्थिति के अनुसार ये दोनों एप ही अपनी अपनी जगह पर विशेष महत्व रखते हैं. मसलन फण्ड ट्रान्सफर के लिए यूपीआई ही ऊतम विकल्प है और इसके लिए किसी तरह के फिंगर प्रिंट स्कैनर की आवश्यकता भी नहीं होती. वहीँ किसी दूकान पर आधार पे बहुत बढ़िया विकल्प साबित होने वाला है क्योंकि इसके लिए किसी भी कार्ड की आवश्यकता नहीं होती है. इससे समय और अतिरिक्त शुल्क से बचत होती है.

आधार पेमेंट का विकल्प (Aadhar Payment app options)

कैशलेस इकॉनमी के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड जैसी सुविधाओं का आविर्भाव हुआ, किन्तु इसे जारी करने वाले विभिन्न बैंक इसके लिए अतिरिक्त शुल्क लेते हैं. साथ ही इसके प्रयोग के समय भी अतिरिक्त सर्विस टैक्स देना होता है. मास्टर कार्ड तथा वीसा इसके लिए अमाउंट का 2 से 3 प्रतिशत तक चार्ज करते हैं. अतः कई लोग इस अतिरिक्त शुल्क से बचने के लिए डेबिट अथवा क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने से बचते हैं और बहुत ज़रूरी होने पर ही कार्ड का इस्तेमाल करते हैं. अतः देश में कैश लेस अर्थव्यस्वस्था लाने के लिए आधार पेमेंट एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है. क्योंकि इसके इस्तेमाल के लिए ग्राहक अथवा व्यापारी को किसी तरह के अतिरिक्त शुल्क भरने की आवश्यकता नहीं है, अतः ऐसा माना जा रहा है कि इसे अधिक से अधिक लोग अपनाएंगे.

आधार पेमेंट एप्प पर सरकार का ऐलान (Aadhar Payment app government)

साकार के अनुसार देश में लगभग 40 करोड़ लोगों ने अपना आधार अपने बैंक अकाउंट से संलग्न करा चुके हैं. ये आंकड़ा देश के पूरे वयस्कों का लगभग 50% है. इस तरह एक बड़ी संख्या में लोग इसके इस्तेमाल के लिए तैयार हैं. साथ ही कई लोगों को आधार मिल चूका है, वे लोग भी जल्द से जल्द अपना बैंक अकाउंट आधार से संलग्न करवा लेंगे. इसके इस्तेमाल से तंत्र में पारदर्शिता आने और भ्रष्टाचार कम होने की बहुत सम्भावना है.  

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *